किराएदार भाभी को चोदकर बर्थडे सेलिब्रेट किया–5

Kirayedar Bhabhi ko chodkar birthday celebrate kiya-5

भाभी को लंड चूसाने में मुझे बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था।
मैं– आह आह ओह आह आह ओह ऊंह ओह भाभी।और चूसो मेरे लन्ड को।मेरा लन्ड कब से आपकी चूत का प्यासा था।आह आह ओह आह आह भाभी।
भाभी मेरे लन्ड पूरा मुंह में भरकर चूस रही थी। मैं भाभी के सिर को पकड़े हुए था।
मैं– आह आह भाभी आपके मुंह में तो जादू है।आज मेरे लन्ड को बहुत ठंडक मिल रही है।आह आह आह ओह भाभी।
भाभी लगातार मेरा लन्ड चूस रही थी।ऐसा लग रहा था शायद भाभी बहुत टाइम से लंड की प्यासी थी।भाभी को लंड चूसते हुए बहुत टाइम हो गया था। अब मैं भाभी के मुंह को फिर से चोदना चाहता था। अब मैंने भाभी के सिर को अच्छी तरह से पकड़ा और भाभी के मुंह में लंड सेट कर के भाभी के मुंह को चोदने लगा। मुझे खड़े खड़े भाभी के मुंह को चोदने में चोदने में बहुत अच्छा लग रहा था।मेरे लन्ड को भाभी के मुंह में उतर कर बहुत शांति मिल रही थी।मेरे हर एक शॉट के साथ भाभी के बड़े बड़े बूब्स फुल स्पीड में उछल रहे थे।

bhabhi with devar sex

मैं– आह आह ओह भाभी।अब आया ना शानदार मज़ा।आह आह ओह भाभी।
मैं भाभी का सिर पकड़कर भाभी के मुंह को बुरी तरह से चोद रहा था।भाभी का सांस लेना भी मुश्किल हो रहा था।तभी मैंने थोड़ी देर के लिए भाभी के मुंह में लंड ठूंस दिया तो भाभी की गांड़ फटकर हाथ में आ गई। अब बहुत देर की घपाघाप के बाद मेरा लंड ढीला पड़ने वाला था।तभी मैंने भाभी के मुंह में लंड फंसा दिया और मेरे लन्ड का सारा माल भाभी के मुंह में भर दिया। कुछ देर बाद भाभी मेरे लन्ड के माल को पी गई। अब मैं ढेर हो चुका था।
लेकिन भाभी अब फुल चार्ज्ड थी। अब वो मेरे ढीले पड़ चुके लंड को फिर से मसलने लगी और धीरे धीरे उसे चूसने लगी। अब धीरे धीरे मेरे लन्ड में भी करंट दौड़ने लगा और कुछ देर बाद मेरा लन्ड फिर से तन गया। अब मैंने फिर से थोड़ी देर तक भाभी के मुंह को चोदा।फिर भाभी को नीचे पटक कर उनकी चूत को बुरी तरह से ठोक डाला।भाभी फिर से बुरी तरह से पनिया गई।

भाभी– ओह रोहित,आज तक तू मेरी जान ही निकाल कर मानेगा।
मैं–हां भाभी।
अब मैं मेरी टांगो को फैलाकर बैठ गया और भाभी को मेरे लन्ड पर बैठाकर उनकी टांगो को मेरे कंधो पर रख लिया। अब भाभी ने बाहों के घेरे में मुझे कस लिया। अब मैं भाभी की कमर पकड़कर गांड़ हिला हिलाकर भाभी की चूत में लंड पेलने लगा।इस पोजिशन में मुझे भाभी को चोदने में बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था।भाभी चुपचाप बिना कुछ कहे चूत चुदवा रही थी।फिर मैंने बहुत देर तक भाभी को इसी तरह से ठोका।
अब मैं नीचे फर्श पर ही लेट गया। अब भाभी ने मेरी टांगो को फैलाकर मेरे लन्ड को पकड़ लिया और अच्छी तरह से मुंह में भर भरकर लंड को चूसने लगी।भाभी को लंड चूसने में बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था। मैं भी बड़ी शिद्दत से भाभी को लंड चुसवा रहा था।

unni mary hot

मैं– आह आह ओह भाभी क्या लंड चूसती हो आप यार।मज़ा आ रहा है।आह आह आह बस ऐसे ही मेरे लन्ड को चूसती रहो।आह आह ओह आह आह भाभी।
भाभी लपालप मेरे लन्ड को चूस रही थी।उनके बालों की काली घनी घटाए मेरे लन्ड को पूरा ढक रही थी। थोड़ी देर बाद मैंने भाभी को मेरे ऊपर चढ़कर चूत में। लंड फसाने को कहा तो भाभी तुरंत तैयार हो गई।
अब मैंने मेरी टांगो मोड़कर ऊपर कर दी। अब भाभी मेरे ऊपर चढ गई और चूत में लंड फांसकर मेरे होंठो को चूसने लगी।इस तरह से हमें अलग ही मज़ा मिल रहा था।भाभी के लंबे लंबे बालों में मेरे चेहरे को पूरा ढक लिया था। अब भाभी धीरे धीरे गांड़ उछाल उछाल कर चूत में लंड लेने लगी।भाभी के बड़े बड़े बूब्स मेरे मुंह के सामने ही लटक रहे थे। अब थोड़ी देर बाद भाभी मेरे मुंह पर बूब्स को रगड़ने लगी।उन्हें मेरे मुंह पर बूब्स रगड़ने में बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था।
भाभी– आह आह ओह मेरे सैंया,चूसो ना मेरे बूब्स को।आह आह ओह मेरे सैंया।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  ट्रैन में चोदा बहन की बुर उसकी मर्ज़ी से-11

मैं भाभी के बूब्स को चूसने की पूरी पूरी कोशिश कर रहा था लेकिन बूब्स मेरे मुंह में सही तरीके से नहीं आ पा रहे थे।फिर भाभी ने बहुत देर तक इसी तरह से मज़ा लिया।
अब भाभी 69 पोजिशन में मेरे ऊपर चढ़ गई। अब वो मेरे मुंह पर चूत रगड़ते हुए मेरे लन्ड को चूस रही थी। अब मैं भी अच्छी तरह से भाभी की चूत को चाट रहा था।भाभी की चूत की नमकीन खुशबू मुझे पागल कर रही थी।इधर भाभी कहर बनकर मेरे लन्ड पर टूट पड़ी थी।वो बीच बीच में लंड को भी काट रही थी। अब मैं भी भाभी की चूत को काटने लग गया। अब हम दोनो एक दूसरे की चीजो का भरपूर मज़ा ले रहे थे। मैं भाभी की चूत को बुरी तरह से चाट रहा था।फिर बहुत देर बाद भाभी ने मेरे लन्ड को छोड़ा। अब हम दोनो खड़े हो गए। अब मैंने भाभी को  से घोड़ी बनने के लिए कहा तो भाभी बेड को पकड़कर तुरंत घोड़ी बन गई।

bhabhi ki c

अब भाभी की गांड़ मेरे सामने थी। अब मैंने भाभी की गांड़ पर अच्छी तरह से केक लगाया और फिर मेरे लन्ड पर भी केक लगाकर मैंने लंड को भाभी की गांड मारने के लिए अच्छी तरह से तैयार कर लिया।अब मैंने भाभी की गांड़ के छेद में लंड सेट किया और ज़ोरदार धक्का देकर लंड भाभी की गांड़ में घुसा दिया मेरा लन्ड भाभी की गांड़ को फाड़ता हुआ अन्दर घुस गया।लंड गांड़ में घुसते ही भाभी बुरी तरह से चिल्लाने लगी।
भाभी– आईईईई आईईईई आईईईई मर गई।आईईईई।आईईईई।
तभी मैंने लंड का दूसरा ज़ोरदार शॉट मार दिया। अबकी बार मेरा पूरा लन्ड भाभी की चूत में घुस गया। अब मैं भाभी की गांड़ पकड़कर अच्छी तरह से भाभी की गांड़ मारने लगा।भाभी को गांड़ मरवाने में बहुत ज्यादा दर्द हो रहा था।भाभी की गांड़ का छेद बहुत ज्यादा टाइट था।शायद मै ही भाभी की गांड़ का उद्घाटन कर रहा था।
भाभी–आईईईई आईईईई आईईईई आईईईई आह आह। आह आह ओह आह आह ओह।
मैं दे दना दन भाभी की गांड़ फाड़ रहा था।मुझे भाभी की गांड़ फाड़ने में बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था।भाभी की चीखे पूरे माहौल को और ज्यादा सेक्सी बना रही थी।

भाभी– आईईईई मम्मी,मर गई।आईईईई,आईईईई ओह रोहित,प्लीज मत बाहर निकाल ले ना।मुझसे तेरा लंड सहन नहीं हो रहा है।आईईईई।
मैं– भाभी कोशिश करो,सब सहन हो जाएगा।बहुत मज़ा आ रहा है आपकी गांड़ मारने में।आह आह आह।बहुत टाइट गांड़ है भाभी।
भाभी– आईईईई आईईईई नहीं ,मै मर जाऊंगी। बाहर निकाल ले ना तेरा लंड।
मैं– भाभी अब लंड तो बाहर नहीं निकलेगा।
भाभी ज़ोर ज़ोर से चीख रही थी और मै ज़ोर ज़ोर से भाभी की गांड मार रहा था। मैं भाभी की गांड़ में लंबे लंबे छक्के मार रहा था।भाभी बुरी तरह से दर्द से तड़पते हुए गांड मरवा रही थी।मेरा लंड भाभी की गांड़ में जबरदस्त ठुकाई कर रहा था।मेरे लन्ड को झेल पाना भाभी के मुश्किल होता जा रहा था।
मैं– आह आह ओह भाभी,क्या मस्त गांड़ है आपकी।आह आह मज़ा आ गया मेरे लन्ड को।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Eid Me Aunty Ki Chut Ki Eidi – ईद में आंटी की चुत की ईदी
marwadi aunty in saree

भाभी– यहां मेरी जान निकल रही है यार। प्लीज जल्दी से मार लेे गांड़।
मैं– नहीं भाभी,गांड़ तो आज अच्छे से ही मारूंगा।
गांड़ मरवाते मरवाते भाभी की जान हलक में आ गई थी।तभी भाभी की चूत में से गरमा गरम रस नीचे झरने लगा। मैं समझ गया कि भाभी निपट चुकी है। मैं तो अभी भी भाभी की गांड़ के सुराख को अच्छे से ढीला कर रहा था।
कुछ देर बाद मैंने भाभी को बेड के किनारे से हटाकर नीचे फर्श पर पटक दिया।भाभी अब तक बुरी तरह से निढाल हो चुकी थी। अब मैंने भाभी का एक हाथ पीछे उनकी पीठ पर मोड़कर पकड़ लिया और दूसरे हाथ से भाभी की पीठ को पकड़कर भाभी की गांड मारने लगा।मेरा लन्ड अब तक भाभी की गांड़ के सुराख को बहुत ज्यादा ढीला कर चुका था। भाभी का दर्द अब कम हो चुका था। अब वो आराम से गांड़ मरवा रही थी। मैं ताबड़तोड़ तरीके से भाभी की गांड़ मारता जा रहा था।मेरा लन्ड अब तक भाभी की गांड़ के गुलाबी छेद को बाहर निकाल चुका था।

मैं– आहहह आह्हझ आहह ओह भाभी,लो और लो मेरा लन्ड।
अब मैंने भाभी के हाथ को छोड़ा और मैं घुटनों के बल बैठ गया। अब मैंने भाभी की गांड़ को खींचकर मेरे लन्ड में फंसा लिया और फिर से भाभी की गांड में मेरा लन्ड धूम मचाने लगा। अब भाभी पूरी निढाल होकर आगे हाथ करके फर्श पर पसर चुकी थी।भाभी अच्छी तरह से समझ चुकी थी कि आज रोहित उनको बुरी तरह से चोदने वाला है।भाभी फर्श पर लेटी हुई धीरे धीरे सिसकारियां भर रही थी। मैं ताबड़तोड़ भाभी की गांड मार रहा था।
बहुत देर तक गांड़ ठुकाई के बाद अब मेरा लन्ड बहने वाला था।तभी मैंने लंड भाभी की गांड़ में रोककर पूरा माल भाभी की गांड़ में भर दिया। अब मैं पसीने पसीने होकर भाभी के जिस्म पर ही पड़ गया।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
dever bhabi xxx video

थोड़ी देर बाद मैंने प्रमिला भाभी की गांड़ को फिर मसलना चालू कर दिया।फिर मैंने भाभी की छरहरी पीठ को अच्छी तरह से किस कर डाला। अब मेरा लन्ड फिर से भाभी की गांड़ में धूम मचाने के लिए तैयार था। अब मैंने भाभी को उठाया और उन्हें सोफे को पकड़कर घोड़ी बना दिया। अब मैंने फिर से भाभी की गांड को केक में मसल दिया और मेरे लन्ड पर भी केक लगाकर भाभी की गांड़ में लंड ठोक दिया। अब मैं फिर से गांड़ हिला हिलाकर भाभी की गांड़ पेलने लगा।मेरा लन्ड गपाघाप भाभी की गांड़ में अन्दर बाहर हो रहा था।
भाभी– आह आह आह आह ओह आह ऊंह आह आह।
मैं–भाभी,आपकी गांड़ मारने में बड़ा मज़ा आ रहा है।आह भाभी।

भाभी निढाल होकर गांड़ मरवा रही थी। अब तक भाभी की गौरी चिकनी गांड़ लाल हो चुकी थी।मेरे लन्ड का कहर अभी भी जारी थी।भाभी गांड़ मरवा मरवा कर बुरी तरह से थक चुकी थी।
भाभी– रोहित प्लीज अब चूत में डाल दे यार।गांड़ में बहुत ज्यादा दर्द हो रहा है।
मैं– ठीक है भाभी।
अब मैंने भाभी को सोफे पर पटका और फटाफट भाभी की चूत पर केक लगा दिया। अब मैंने जल्दी से भाभी की टांगो को हवा में लहरा दिया और फिर एक ही पल में मेरा लन्ड भाभी की चूत में घुस गया। अब मैं दे दना दन सोफे पर भाभी की चूत चोदने लगा।भाभी धीरे धीरे आहे भरते हुए चूत चुदवाने का पूरा मज़ा ले रही थी।
भाभी– आह आह आह आह ओह आईईईई आह आह ऊंह बहुत मज़ा आ रहा है रोहित।ऐसे ही चोद मुझे।
मैं– हां भाभी,ऐसे ही चोद रहा हूं आपको।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  राज ने मारी रानी की चूत
bhabhi ki chudai xnxx com

मैं भाभी को खचाखच चोदे जा रहा था।भाभी भी गांड़ उचका उचका कर चूत चुदवा रही थी। आज तो भाभी की चूत फट चुकी थी।मेरे लंड ने भाभी की चूत की हालत खराब कर दी थी। अब थोड़ी देर में ही भाभी फिर से झड़ गई।मैंने फिर भी भाभी को चोदना जारी रखा।
थोड़ी देर बाद मैंने भाभी की चूत में से लंड बाहर निकाला। अब मैं सोफे पर पूरा झुककर भाभी के मुंह में लंड पेलने लगा।भाभी भी मेरे लन्ड को अच्छी तरह से मुंह में डालने लगी।सोफे पर भाभी के मुंह को चोदने में मुझे अलग ही मज़ा आ रहा था।मेरा लन्ड भाभी के मुंह के थूक में पूरा गीला हो चुका था। मैं गांड़ हिला हिलाकर भाभी के मुंह को चोद रहा था।फिर मैंने बहुत देर तक भाभी को ऐसे ही सोफे पर पेला।

अब मैंने भाभी को सोफे से नीचे उतार दिया। अब मैं फर्श पर घोड़ा बन गया।भाभी मेरा इशारा तुरंत समझ गई। अब भाभी खुद घोड़ी बन कर मेरे लन्ड को चूसने लगी।मुझे तरह से भाभी को लंड चूसाने में बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था।भाभी ने घोड़ी बन कर बहुत देर तक मेरे लन्ड को चूसा।
अब मेरा लन्ड अंतिम पड़ाव पर पहुंच चुका था। अब मैंने भाभी को जल्दी से नीचे पटका और भाभी की चूत में लंड का घमासान मचाते हुए पूरा लंड का माल भाभी की चूत में भर दिया। अब मैं ढेर होकर भाभी से लिपट गया।

bhabhi ki chudai video hd

भाभी ने मुझे बाहों में भर लिया।
मैं– आई लव यू भाभी।
भाभी– आई लव यू टू रोहित।आज तुझसे चुदकर बहुत ज्यादा मज़ा आया।आज जिंदगी में मैंने पहली बार किसी दूसरे मर्द का लंड लिया है।
मैं– मुझे भी आपको चोदने में बहुत ज्यादा मज़ा आया है भाभी।आप वाकई में शानदार माल हो।

भाभी–अब तू जब चाहे तब मुझे चोद लेना।आज मेरी चूत सिर्फ तेरी ही है।
मैं– थैंक्स भाभी।
भाभी–वकाई में वंदना ने सही कहा था। तू गजब की चुदाई करता है।
मैं– हां भाभी,ये तो आपकी मेहरबानी है जो आपने मुझे चूत चोदने दी।
भाभी– मेहरबानी तो तेरे लंड की है जिसने मेरी चूत की प्यास बुझाई है।
मैं– हां भाभी ,चूत की प्यास बुझाना तो मेरा काम है।

bhabhi ki chudaai video

अब मैं भाभी के जिस्म पर खड़ा हो गया। अब मैंने भाभी को उनकी पैंटी पहनाई।फिर मैंने भाभी को ब्लाउज पहनाकर पेटीकोट का नाड़ा बांध दिया। अब भाभी ने साड़ी खुद ही पहन ली। अब मैंने भी मेरे कपड़े पहन लिए और हम दोनों बेडरूम से बाहर आ गए।
हम दोनों को देखते ही चाची ने कहा– और बताओ भाभीजी बर्थडे सेलिब्रेशन कैसा रहा?
भाभी–बहुत शानदार रहा है वंदना।लाइफ में पहली बार मुझे बर्थडे पर इतना अच्छा गिफ्ट मिला है।इस गिफ्ट को मै जिंदगी भर नहीं भूल पाऊंगी।
चाची–अच्छी बात है भाभीजी,अब खीरे ककड़ी को हाथ मत लगाना।जब चाहो तब रोहित का असली खीरा लेे लेना।

भाभी– हां ज़रूर वंदना।
चाची– और बता रोहित,भाभीजी की कली कली खिला दी ना?
मैं– हां चाची,आज तो मैंने भाभीजी को अच्छी तरह से खुश किया है।
चाची– चलो अच्छा है फिर तो।
अब भाभी गांड मटकाते हुए रूम में चली गई।
आज मै प्रमिला भाभी को चोदकर बहुत ज्यादा खुश था।इतनी रिपचिक माल को चोदना मेरे लिए बड़े सौभाग्य की बात थी।
आपको मेरी ये कहानी कैसे लगी मुझे मेल करके जरूर बताएं– [email protected]

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!