कुंवारी भांजी को चोद चोद कर प्रेगनेंट कर दिया-1

(Kunwari Bhanji Ko Chod Chod Kar Pregnant Kar Diya-1)

हेल्लो दोस्तों, मैं संदीप आप सभी का HotSexStory.xyz में बहुत बहुत स्वागत करता हूँ। मैं पिछले कई सालों से हॉट सेक्स स्टोरी का नियमित पाठक रहा हूँ और ऐसी कोई रात नही जाती तब मैं इसकी रसीली चुदाई कहानियाँ नही पढ़ता हूँ। आज मैं आपको अपनी स्टोरी सूना रहा हूँ। में उम्मीद करता हूँ कि यह कहानी सभी लोगों को जरुर पसंद आएगी। Kunwari Bhanji Ko Chod Chod Kar Pregnant Kar Diya.

मैं इलाहाबाद का रहने वाला हूँ। मैं शुरू से ही बहुत ठरकी आदमी था और जब बात चूत मारने की होती थी तो मैं खून के रिश्ते नाते भी भूल जाता था। मैं अपनी २ छोटी बहनों- पिंकी और ममता को चुपके चुपके घर वालो की नजर से बचकर अपने घर में ही चोद लेता था। मैं २८ साल का आदमी हो गया था, पर कोई नौकरी ना होने की वजह से मेरी शादी नही हो पा रही थी। अब मेरी शादी हो या ना हो, पर लंड तो रोज खड़ा होता ही था। इसलिए मैं कहीं न कहीं चूत की तलाश में रहता था। अब क्या मैं सारी जिन्दगी मुठ ही मारता रह जाता, इसलिए मैं अपनी सगी बहनों को चोद लिया करता था।                                              Kunwari Bhanji Ko Chod

कुछ दिन बाद रक्षाबंधन पड़ने वाला था। मेरी दीदी का फोन आगरा से आ गया।

“संदीप तुम ही घर आ जाना…मैं नही आ पाउंगी। तुम्हारे जीजा जी कुछ दिनों के लिए बंगलौर जा रहे अपने ऑफिस के काम से” दीदी बोला

“ठीक है दी {मैं प्यार से सिर्फ उनको दी कहकर बुलाता था} मैं रक्षाबंधन में आ जाऊँगा” मैंने कहा

कुछ दिनों बाद मैं इलाहाबाद से ट्रेन पकड़कर आगरा चला गया। मेरी मुलाकात अपनी भतीजी गीतांजली से हुई। जाते ही वो मेरे गले लग गयी। “मामाजी…. आ गये!!” गीतांजली चिल्लाकर बोली और मेरे गले लग गयी

“अरे मेरी भांजी कितनी बड़ी हो गयी है!!” मैंने हैरानी से कहा

दोस्तों, गीतांजली पहले १० १२ साल की बच्ची हुआ करती थी। पर अब तो कायाकल्प ही हो गया था। उसका जिस्म अब पूरी तरह से भर गया था और अब वो एकदम जवान और कडक माल लग रही थी। जैसे डिग्री कॉलेज में जाने वाली जवान लड़कियाँ। मैं तो अपनी भांजी को आँखे फाड़ फाड़कर देख रहा था। इतनी ही नही जब वो मेरे गले लगी तो उसके ३४” के दूध मेरे सीने में गड़ने लगे। इस बात में कोई आश्चर्य नही था की मेरी भांजी गीतांजली अब चोदने खाने लायक सामान हो गयी थी। रक्षाबंधन का त्योहार अच्छे से निपट गया। मेरी दीदी तो खाना बनाकर सो जाती और गीतांजली मेरे ही कमरे में रहती। मेरा उसे चोदने का बड़ा दिल कर रहा था। मैंने गीतांजली के मोबाइल फोन को चेक किया तो उसके बॉयफ्रेंड के साथ कई फोटो थे। मैंने उसे अपने पास बुलाया।                                 Kunwari Bhanji Ko Chod

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Maa Ke Sath Sexy Picnic Ke Maje Liye Goa Mein

“क्या है मामाजी????” वो हसंकर बोली

“भांजी……ये सब क्या है???” मैंने उसे बॉयफ्रेंड के साथ वाली फोटो दिखाते हुए पूछा

“मामा…..वो….वो…..वो…” गीतांजली के होठ तो जैसे सिल गये थे।

“तेरे बॉय फ्रेंड ने तुझे चोदा भी है क्या???” मैंने पूछा

“नही….अभी तो हमारा नया नया प्यार है!” वो बोली

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

मैं बिलकुल कपटी कंस मामा बन गया था। इसका मतलब की मेरी भांजी अभी एक बार भी नही चुदी है। मेरा लंड ये सोचकर खड़ा हो गया। मैंने झूठ मुठ का नाटक फैलाया।

“मैं जा रहा हूँ…..तेरी मम्मी को ये फोटो दिखा रहा हूँ!!” मैंने बहाने मारते हुए कहा

“नही मामा जी नही…..आपको मेरी कसम!! आप जो कहेंगे वो मैं करुँगी पर मम्मी पर ये फोटो मत दिखाओ!!” गीतांजली बोली

“भांजी …..बुर देगी????” मैंने प्रेम चोपड़ा के अंदाज में अपने ओठ घुमाते हुए कहा

वो मेरी तरफ नफरत भरी नजरो से देखने लगी। सायद उसके दिल में मेरे लिए जो प्यार था वो अब खत्म हो चुका था। कुछ देर तक वो खड़ी रही। उसके समझ नही आ रहा था की क्या बोले।

“ठीक है दूंगी….पर प्लीस मम्मी को ये फोटो मत दिखाना मामा जी!” गीतांजली बोली                           Kunwari Bhanji Ko Chod

मेरी दी तो अपने कमरे में सो रही थी। मैंने गीतांजली को अपने कमरे में बुला लिया और दरवाजा बंद कर दिया। उसने लाल टॉप और सफ़ेद लोवर्स पहन रखे थे। मैंने उसको अपने बिस्तर पर बुला लिया और उसे बाहों को भर लिया। “वाह…..मेरी किस्मत तेज थी जो मैं राखी बंधने आगरा आ गया। अब जी भरकर अपनी भांजी को चोद चोदकर इसके यौवन रस को लूटूंगा, मैंने खुश होकर सोचा। मैंने अपनी भांजी को बाहों में भर लिया और उसके नये नये होठ जो अभी अभी जवान हुए थे, मैं उनको चूमने लगा। उफ्फ्फ्फ़…मेरी भांजी गीतांजली कितनी मस्त माल लग रही थी। उसके होठ नही जैसी किसी शराब के प्याले थे। मैं उसके मुंह पर मुंह रखकर उसके लब चूसने लगा और मजा लेने लगा।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Dost Ki Maa Se Jabardasti Chudai Ka Maza Liya

कहाँ मैं २८ साल का आदमी था, और कहाँ ये १९ साल की कच्ची कली। आज इस बहन की लौड़ी को अपने लौड़े से रगड़कर चोदूंगा, मैंने सोचा। फिर मैंने गीतांजली का लाल टॉप और लोअर निकाल दिया। वो काली ब्रा और पेंटी में आ गयी। क्या महकता हुआ जिस्म था उसका। अब वो बच्ची नही रही थी। वो १९ साल की हो चुकी थी और चुदवाने को तैयार हो चुकी थी। उसकी छाती तो अब बहुत ही विशाल हो गयी थी और उसके ३४” के मम्मे तो मुझे ललचा रहे थे। भतीजी का जिस्म तो कैटरिना कैफ जितना मस्त लग रहा था। सर से पाँव तक भरा हुआ जिस्म था मेरी भांजी का।                                                                  Kunwari Bhanji Ko Chod

मैंने अपनी टी शर्ट और जींस निकाल दी और अपना अंडरविअर भी निकाल दिया। मैं गीतांजली के उपर लेट गया और उसके होठ पीने लगा। वो भी जवान थी, इसलिए उसे भी काफी अच्छा लग रहा था। मैंने उसके मम्मे पर हाथ रख दिया और तेज तेज से उसके होठ पीने लगा। कुछ देर में हम दोनों का अच्छा ताल मेल बैठ गया और अब गीतांजली खुलकर अपने मामा के यानी मेरे लब चूस रही थी। फिर हम दोनों ने एक दूसरे के मुंह में अपनी अपनी जीभ डाल दी और मजे से चूसने लगे। धीरे धीरे गीतांजली पूरी तरह खुल रही थी। कई मिनटों तक तो हम दोनों का ओंठो का गरमागर्म चुम्बन ही चलता रहा। गीतांजली सायद खुद ही कसकर चुदवाना चाहती थी। उसके खुद ही अपने हाथ से अपनी ब्रा के हुक खोल दिए और ब्रा निकाल दी।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  घर की चुदाई की देसी कहानी इन्सेस्ट सेक्स स्टोरी

उफफ्फ्फ्फ़…उसके गजब के सफ़ेद और उजले भरे भरे आम जैसे दिखने वाले दूध मेरे सामने थे। “मेरी भांजी इतनी गजब की माल हो गयी” मैं सोचा और फिर मैंने अपने दोनों पंजे उसके दूध पर रख दिए और दबाने लगा। मैंने आजतक ५ ६ लौंडिया चोद रखी थी, पर शायद गीतांजली सबसे मस्त माल थी। मैं उसके दूध को कस कसकर दबाने लगा। उसके चुचचे बेहद खूबसूरत थे, दिल कर रहा था की गीतांजली को चोदूँ नही बस उसके मम्मे ही ताड़ता रहू। मैं जोर जोर से अपने पंजे से उसके दूध दबाने लगा।“….हाईईईईई, उउउहह, आआअहह” गीतांजली कसमसाने लगी। मैंने लेटकर अपनी भांजी के स्तनों का पान करने लगा। उफ़ मैं कितना किस्मत वाला हूँ की एक १९ साल की कुवारी लौंडिया आज चोदने को मिल रही है। मैं मन ही मन में इश्वर को धन्यवाद करने लगा। मैंने गीतांजली के बाए मम्मे को मुंह में भर लिया और चूसने लगा। हाय…कितनी मीठी और नर्म नर्म छातियाँ थी मेरी भांजी की। निश्चित ही आज इसे अपने मोटे लंड से मैं चोदूंगा और आज इसका यौवन रस मैं लूट लूंगा। मैं प्लान बनाया।                                                 Kunwari Bhanji Ko Chod

 

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!