कुंवारी माँ की शादी और सुहागरात-2

Kunwari maa ki shaadi aur suhagraat-2

फिर मैंने धीरे से मम्मी का हाथ पकड़ा तो मम्मी शर्मा गयी. फिर मैंने धीरे से मम्मी का घूँघट उठा दिया और तब मम्मी क्या कयामत ढा रही थी? अब मम्मी की आँखे बंद थी. फिर मैंने अपनी जेब से हीरो की रिंग निकाली और मम्मी की और बढ़ा दी और कहा कि यह आपकी मुँह दिखाई है, बाकी के गिफ्ट सब देखने के बाद दूंगा. फिर मैंने दूध का गिलास उठाकर एक सीप लिया और कहा कि अब आप पियो, तो मम्मी ने दूध पी लिया.

फिर मैंने कहा कि में आपको अपनी पत्नी के तौर पर स्वीकार करता हूँ. अब मम्मी की बंद आँखों से आँसू बहने लगे थे. फिर मैंने मम्मी को पकड़कर अपने सीने से लगा लिया और कहा कि अभी तुम्हारी उम्र ही क्या है रीता? अभी तो तुम शादी की उम्र की हुई थी और तुम्हारी शादी हो गयी.

फिर मम्मी धीरे से बोली कि आप खड़े हो जाओ, तो में खड़ा हो गया. फिर मम्मी उठकर बेड से नीचे आई और मेरे पैरों पर गिरकर बोली कि मुझे आपने अपनाकर मुझ अभागन पर बहुत अहसान किया है, मुझे आशीर्वाद दो और आज से मेरा सब कुछ आपका है. फिर मैंने मम्मी को उनके कंधो से पकड़ा और कहा कि दूधो नहाओं पुतो फलो तुम 12 बच्चों की माँ बनो. अब मम्मी की हँसी छूट गयी और धीरे से बोली कि पहले एक तो दो. फिर मैंने कहा कि आज के बाद तुम्हारा नाम रीता छाबरा वाईफ ऑफ दीपक छाबरा है और तुम गिनती जाना, में तुम्हें कितने बच्चे देता हूँ. फिर यह कहकर मैंने रीता का चेहरा पकड़ा और गालों पर किस कर दिया, तो वो शर्मा गयी.

फिर मैंने रीता मम्मी को अपनी गोद में उठाकर बेड पर बैठा दिया और धीरे से अपने सीने से लगा लिया. अब रीता मम्मी के बूब्स जैसे ही मेरे सीने से चुभे तो मानो मुझे स्वर्ग मिल गया हो. अब में अपना एक हाथ उसके पेट पर फैरने लगा था और धीरे से उनकी आँखों को चूमने लगा था. अब रीता मम्मी की साँसे गर्म हो गयी थी. फिर मैंने धीरे से अपने होंठ उनके होंठो पर रख दिए और उनकी गुलाब की पंखुड़ियों को मसलने लगा. अब मम्मी भी मेरा साथ दे रही थी.

मैंने उनकी लंबी जुल्फे खोल दी और उनका पल्लू नीचे गिरा दिया. फिर मैंने उनको लेटा दिया और अब मम्मी की आँखे बंद थी और मेरे अंग अपना काम कर रहे थे और मम्मी गहरी साँसे ले रही थी. फिर मैंने मम्मी से कहा कि आज से आपका तन, चूचे, मन, सब कुछ मेरा है. फिर मैंने उसकी चूत पर अपना हाथ रखकर कहा कि यह स्त्री धन और फिर अपना लंड पकड़कर कहा कि यह लंड सिर्फ़ मेरा है तो मम्मी बोली कि नहीं बाकी सब आपका है, लेकिन यह लंड मेरा है, तो में हंस पड़ा.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मोटे लंड की तलाश मेरी प्यासी चूत के लिए

फिर मैंने मम्मी का ब्लाउज खोल दिया और जाली वाली ब्रा के ऊपर से ही उनके बूब्स चूमने लगा. फिर मैंने मम्मी को उनकी कमर के ऊपर से नंगी कर दिया और उनका हर अंग चूमने लगा. अब मम्मी मचल रही थी. फिर मैंने धीरे-धीरे मम्मी के सारे कपड़े उतार दिए और उनको पूरी नंगी कर दिया. अब मम्मी के पैरों की पायल बज रही थी. फिर मैंने देखा कि ब्यूटी पार्लर वालों ने बहुत मेहनत की थी. अब मम्मी के बूब्स पूरी मेहंदी की डिजाईन से भरे थे और चूत भी.

मैंने मम्मी की गोरी-गोरी चूत अपने हाथों से सहला दी. अब मम्मी गहरी साँसे ले रही थी और मेरी आँखों में देख रही थी. फिर मैंने अपनी जीभ मम्मी की चूत पर रख दी, तो मम्मी उछल पड़ी. फिर मैंने कहा कि क्या हुआ? तो उन्होंने कहा कि पता नहीं मेरा पहली बार है. फिर मैंने कहा कि क्या? तो उन्होंने कहा कि में अब तक कुँवारी हूँ.

फिर मैंने कहा कि तो आज यह बेटा अपनी कुँवारी माँ की चूत फाड़ देगा. फिर वो बोली कि मेरे पतिदेव की जो मर्ज़ी हो, वो अपनी पत्नी से करे, लेकिन मेरे पतिदेव, मेरे बेटे मुझे अपने लंड के दर्शन करने है. फिर मैंने तुरंत अपने सारे कपड़े उतार दिए, मेरी मम्मी पत्नी ने आज तक किसी से संभोग नहीं किया था. फिर मैंने अपना 8 इंच लंबा डंडा जो कि मोटाई में 3 इंच का हो चुका था और किसी गधे के लंड जैसा दिख रहा था. फिर मैंने अपना लंड अपने हाथ में पकड़कर रीता मम्मी के हाथ में दे दिया, तो वो चौंक गयी और बोली कि तुम मेरी चूत इससे फाड़ोगे. फिर मैंने कहा कि मम्मी जानेमन में इससे तुम्हें औरत बना दूँगा और तुम्हरी सील को तोड़ूँगा, तो वो डर गयी.

मैंने कहा कि डरो नहीं, अब यह तुम्हारा है. फिर वो कहने लगी कि यह तो कोई नहीं ले सकता. फिर मैंने कहा कि क्यों? तो उसने कहा कि यह इतना मोटा और लंबा जो है. फिर मैंने कहा कि डर मत पगली, शीला तो इसकी दीवानी है और तुम चूसकर तो देखो बहुत मज़ा आएगा, तो वो मना करने लगी.

फिर मैंने कहा कि अब में तुम्हारा मालिक हूँ, तुम्हारा हर अंग मेरा है, में जैसे मर्ज़ी हो करूँ, चल शुरू हो जा और मैंने उसको पकड़कर अपना लंड उसके मुहं में दे दिया. अब उसकी आँखों से आँसू निकल पड़े थे और उसे सांस लेने में भी परेशानी होने लगी थी. फिर मैंने 69 की पोज़िशन ली और उसकी चूत को चाटने लगा और अपना लंड उसके मुंह में अंदर बाहर करने लगा. फिर मैंने जानबूझ कर 10 मिनट के बाद ही उसके मुँह में अपना वीर्य छोड़ दिया.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  खुशबू के जिस्म को गुलाम बनाया

अब उसका मुंह मेरे लंड के माल से भर गया था. फिर मैंने कहा कि पी जा पति का माल, क्योंकि अब चूत की सील टूटेगी, गांड फटेगी और 4 घंटे तक माल भी नहीं निकलेगा. अब में तुम्हारी कोख भरूँगा, में तुम्हें अपने बच्चे की माँ बनाऊंगा, तो वो मुश्किल से मेरा सारा माल पी गयी. फिर मैंने कहा कि अब इसको चाटो और उसकी जीभ से मेरा पूरा लंड चटवाया. अब उसकी चूत पानी छोड़ रही थी, तो मैंने उसके पानी से अपने लंड को गीला किया और उसकी टांगे पूरी फैला दी.

अब उसकी सुंदर चूत मेरे सामने थी. फिर मैंने अपना लंड उसकी चूत पर सटाकर उसकी चूत को अपने लंड से सहलाने लगा. अब वो पूरी गर्म हो गयी थी और उसकी कुँवारी चूत लाल हो गयी थी. फिर मैंने एकदम से पूरे ज़ोर से धक्का मारा, तो मेरा लंड उसकी चूत को चीरता हुआ सिर्फ़ 2 इंच अंदर चला गया और वो ज़ोर से चीख पड़ी. फिर मैंने उसका मुँह अपने होंठो से बंद किया और ज़ोर-ज़ोर से 2 धक्के और मारे तो मेरा 6 इंच का लंड उसकी चूत में पूरा घुस गया.

अब वो बेहोश हो गयी थी और उसकी चूत बुरी तरह से फट गयी थी. फिर मैंने देखा कि वो बेहोश हो गयी है, तो मैंने मौके का फायदा उठाकर ज़ोर-ज़ोर से धक्के मार-मारकर 5-7 धक्को में अपना पूरा लंड उसकी चूत में घुसा दिया. अब उसकी चूत का बाजा बजाने के बाद मैंने उसको उल्टा किया और बेहोशी में ही उसकी गांड भी फाड़ दी. अब मेरा लंड उसकी गांड में बुरी तरह से घुस चुका था.

फिर मैंने उसको सीधा किया और अपना लंड सीधा उसकी चूत में घुसा दिया. फिर मैंने उसके मुंह पर पानी मारा, तो वो होश में आई और ज़ोर-ज़ोर से चिल्लाने लगी. फिर मैंने कहा कि रीता डार्लिंग तुम सुहागन बन चुकी हो, अब क्यों चिल्ला रही हो? मैंने तुम्हारे हर अंग पर मोहर लगा दी है, तुम्हारी गांड, चूत फाड़ दी है, अब तो बस मज़े करो और ऐसे ही लेटी रहो.

करीब 15 मिनट के बाद वो कुछ शांत हुई और फिर मैंने धीरे-धीरे हिलना शुरू कर दिया और फिर मैंने थोड़ी सी अपनी स्पीड भी बढ़ा दी. अब उसका दर्द ख़त्म हो चुका था और अब वो भी उछलने लगी थी. अब में पूरे जोश से उसकी चूत मार रहा था और वो भी अपने पूरे जोश से मुझसे अपनी चूत चुदवा रही थी. अब उसकी चूत का तबला दनदना दन बज रहा था. अब वो 6 बार अपना पानी छोड़ चुकी थी और अब वो मुझे हटाने की कोशिश करती और में अपनी रफ़्तार बढ़ा देता, तो वो फिर से गर्म हो जाती. आख़िर में जब वो 10 बार झड़ी, तो में भी झड़ गया. अब उसकी चूत की चुदाई करते हुए मुझे 3 घंटे हो चुके थे.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  बेशर्म माँ की चुदाई – बाप टूर पे गया बेटा बेशर्म माँ को चोदा

अब वो अपनी चूत चुदवा-चुदवाकर बहुत थक गयी थी, तो में कुछ टाईम तक रुक गया. फिर में और वो सो गये, अब मेरा पूरा माल वो अपनी बच्चेदानी में समा चुकी थी कि तभी दरवाजा खटखटाने की आवाज़ आई. फिर मैंने उठकर दरवाजा खोला, तो सामने शीला चाय लेकर खड़ी थी. फिर वो अंदर आई और एकदम से चीख पड़ी. फिर मैंने कहा कि क्या हुआ? तो वो बोली कि यह तो आपकी मम्मी है, इनकी चूत से इतना खून क्यों निकला? इनकी तो पहले से फटी होगी ना.

में हँसने लगा और कहा कि शीला डार्लिंग यह अभी तक कुँवारी थी और मैंने रात को सुहागरात में इनकी सील तोड़ी है, अब यह माँ बनेगी. फिर वो बोली कि तेल लगा लेते, तो मैंने कहा कि वो तेरी तरह रंडी नहीं है, वो मेरी घरवाली बन चुकी है और घरवाली की चूत मारने के लिए तेल नहीं लगाना होता है, पूछ ले इसको तेल लगाकर मारूं या सूखा. अब मेरी मम्मी पत्नी बोली कि बस सूखा मारो, अभी तो मज़ा आने लगा है हाय और तुम जाओ अभी, तुम 1 महीने तक इससे नहीं चुदवाओगी, जब तक में प्रेग्नेंट नहीं हो जाती हूँ.

फिर तो तुम और में मिलकर इसको और चूत में भी डलवायेगी. अभी यह सिर्फ मेरी चूत और गांड मारेगा, यह मेरा बेटा है, मेरा पति है, मेरा कसम है, मेरा लाड़ला है. अब में इसकी पत्नी हूँ, आजा मेरे बेटे अपनी माँ के अंदर अपना बीज डाल दे और मुझे गर्भवती कर दे, मुझे तेरे बच्चे पैदा करने है मेरे पतिदेव. फिर मैंने दरवाजा बंद करके फिर से उसकी चूत मारनी स्टार्ट कर दी. फिर एक महीने के बाद पता चल गया कि मेरे बीज ने कमाल कर दिया है. अब रीता मम्मी गर्भवती हो गयी है और आज वो मेरे 2 बच्चों की माँ है.

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!