कुंवारी नौकरानी को साहब ने चोदा-4

Kunwari naukrani ko sahab ne choda-4

फिर मैंने उससे कहा कि कोई बात नहीं है मत चूसो, में उसकी चूत पर अपनी जीभ को फेरने लगा वो पहले से ही बहुत ज़्यादा जोश में आ चुकी थी और मेरे जीभ फेरने से वो ज़ोर ज़ोर से आहे भरने लगी और अपने कूल्हों को ऊपर उठाने लगी. फिर कुछ ही देर बाद नीलू ने अपने आप ही मेरा लंड अपने मुहं में ले लिया और अब वो मेरा लंड चूसने लगी. मेरा 6 इंच का गोरा लंबा लंड अब टाइट होकर एकदम लोहे जैसा सख्त हो चुका था. अब मैंने अब ज्यादा देर करना ठीक नहीं समझा और में उसके ऊपर से हट गया और उसके दोनों पैरों के बीच में आ गया.

मैंने अपने लंड का सुपाड़ा जैसे ही उसकी चूत के बीच में रखा तो उसने एक ज़ोर की आह भरी और मैंने उसके दोनों पैरों को पकड़कर दूर दूर फैला दिया और मेरा लंड और उसकी चूत पहले से ही गीले थे. फिर जैसे ही मैंने लंड का चूत पर थोड़ा सा ज़ोर लगाया तो उसके मुहं से दर्द की वजह से ज़ोर की आईईईई आअहह निकल पड़ी और मेरे लंड का सुपाड़ा पूरा उसकी चूत के अंदर जा चुका था और वो दर्द से तड़पने मचलने लगी. उसके मुहं से आह्ह्हह्ह में मर गई प्लीज बाहर निकालो इसको उफ्फ्फफ्फ्फ़ में गई सीईईइ की आवाज आने लगी थी.

मैंने उससे पूछा कि क्या हुआ तो वो मुझसे बोली कि मुझे बहुत दर्द हो रहा है. में मर जाउंगी तुम अब बस करो छोड़ दो मुझे आह्ह्ह्हह्ह. फिर मैंने उससे कहा कि पहली पहली बार चुदाई करने में सबको ऐसा ही दर्द होता है, लेकिन कुछ देर बाद में दर्द नहीं होगा और उसके बाद तुम्हे बहुत मज़ा आएगा और तुम्हारा सब दर्द चला जाएगा तो वो कुछ नहीं बोली.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मासूम नौकरानी के बदन को रगड़ कर मज़ा लिया

अब मैंने अपने होंठ उसके होठों पर रख दिए और मैंने उसके होठों को चूमते हुए थोड़ा सा ज़ोर और लगा दिया और इस बार उसके मुहं से ज़ोर की चीख निकल गयी और मेरा लंड उसकी चूत में दो इंच तक अंदर चला गया, लेकिन दर्द की वजह से उसकी आँखों में आँसू आ गये तो में देखकर रुक गया और मैंने अब उसके दोनों पैरों को छोड़ दिया और में उसके बूब्स को सहलाते हुए उसके होठों को चूमने लगा. थोड़ी ही देर में वो शांत हो गयी तो मैंने अपनी तरफ से थोड़ा सा ज़ोर और लगा दिया.

इस बार वो और ज़ोर से चीख पड़ी और मेरा लंड उसकी चूत में तीन इंच तक चला गया. वो दर्द से तड़पने लगी ज़ोर ज़ोर से करहाने लगी और उसके पूरे चेहरे पर पसीना आ गया था. इसलिए मैंने अपना लंड और ज़्यादा अंदर डालने की कोशिश नहीं की फिर मैंने उसके होठों को चूमते हुए अपना लंड उसकी चूत में धीरे धीरे अंदर बाहर करना शुरू कर दिया.

वो अभी कुँवारी थी और मेरा लंड उसकी चूत में बहुत ज़्यादा टाईट था. कुछ देर तक वो चीखती रही और फिर बाद में वो धीरे धीरे शांत हो गयी. तो थोड़ी देर बाद मैंने महसूस किया कि अब उसे भी मज़ा आने लगा था तो मैंने लगातार धक्के लगाने शुरू कर दिए और करीब पांच मिनट में ही वो बहुत ज़्यादा जोश में आ गयी और उसने मुझे कसकर अपनी बाहों में जकड़ लिया और तभी वो झड़ गयी. उसके झड़ जाने से उसकी चूत और मेरा लंड एकदम गीला हो गया और में भी आज पहली बार किसी लड़की की चुदाई कर रहा था और में बहुत ज़्यादा जोश में आ गया था.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  चुद गयी नौकरनी मुझसे-2

मैंने थोड़ा सा ज़ोर और लगाया तो मेरा लंड नीलू की चूत में चार इंच तक घुस गया. इस बार वो ज़्यादा नहीं चीखी और उसके मुहं से केवल उफफफ्फ़ आह्ह्ह्ह राजू धीरे करो की आवाज़ ही निकली. मैंने अब अपने लंड को ज़्यादा अंदर डालने की कोशिश नहीं की, लेकिन लगातार धक्के लगते हुए नीलू को चोदने लगा था.

करीब दस मिनट की चुदाई के बाद जब वो दूसरी बार झड़ गयी तो मैंने उससे पूछा कि क्यों अब तुम्हे कैसा लग रहा है? उसने शरमाते हुए कहा कि हाँ अब मुझे बहुत मज़ा आ रहा है. अब मैंने उससे कहा कि अभी तो मेरा लंड तुम्हारी चूत के अंदर केवल एक ही बार अंदर गया है, जब में हर दिन अपना पूरा लंड तुम्हारी चूत के अंदर डालकर तुम्हारी चुदाई करूंगा तो तुम्हे और भी ज़्यादा मज़ा आएगा और तुम खुद हर दिन अपनी चुदाई मुझसे करवाना पसंद करोगी.

अब उसने अपने दोनों पैर मेरी कमर पर लपेट लिए थे और वो मेरे होठों को चूम रही थी. में भी अब बहुत ज़्यादा जोश में आ चुका था और में बहुत तेज़ी के साथ लगातार धक्के देकर नीलू को चोद रहा था क्योंकि में भी अब झड़ने वाला था. दोस्तों कुछ देर धक्के देने के बाद में भी उसकी चूत के झड़ गया और मैंने अपना पूरा वीर्य उसकी चूत में भर दिया और में बहुत धीरे धीरे अपने लंड को अब अंदर बाहर करने लगा, जिसकी वजह से उसकी चूत से मेरा और उसका वीर्य एक साथ मिलकर बाहर निकलने लगा और उसकी जांघो से बहकर आने लगा.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  चुदक्कड़ परिवार-2

अब में बहुत थक चुका था और में उसकी छाती पर कुछ देर लेटा रहा. फिर उसके बाद में उठा और वो उठकर सीधी बाथरूम चली गई. उसके आने तक में वहीं पर लेटा रहा और मैंने देखा कि वो मेरे साथ अपनी पहली चुदाई से बहुत खुश नजर आ रही थी. उसकी संतुष्टि मुझे उसके चेहरे से साफ साफ पता चल रही थी.

दोस्तों यह थी मेरी और मेरी नौकरानी की पहली चुदाई जिसमें हम दोनों ने मिलकर बहुत मज़े लिए और उन दिनों मैंने उसको बहुत बार चोदा, लेकिन पहली चुदाई के बाद होने वाली चुदाई में उसको थोड़ा दर्द कम हुआ. उसको भी चुदाई का अनुभव हो चुका था और मुझे बहुत ख़ुशी थी कि मैंने उसकी कुंवारी चूत को चोदने का जो सपना देखा था वो अब पूरा हो चुका था. मुझे उसकी सील को तोड़ने का मौका भी मिला था. उसके बाद हमारे बीच ऐसा बहुत बार हुआ और हमने सही मौका देखकर बहुत मज़े किए.

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!