लॉकडाउन में मिली भाभी की ठुकाई

Lockdown me mili bhabhi ki thukai

दोस्तो में कोई कहानी नही बनाता बस कुछ खूबसूरत घटना कहानी बनजाती है मेरी। दोस्तो मेरी सबसे ज्यादा रुचि मैरिड औरतो में होती है शादी के बाद उन में क्या निखार आजाता है जो कुआरी लड़की में भी नही मिलता मैरिड औरतो को सब पता होता है कैसे और कब करना है और कोई झिझक भी नही खुलकर इंजॉय करती है। मेरी ये कहानी ऐसी औरत की है। दोस्तो जब लॉकडाउन लगा सब अपने अपने घर मे कैद हो चुके थे जो लॉकडाउन में जहाँ अटक गया वो वही फस गया। मेरे घर के सामने एक भाभी जिस का नाम कोमल था उसके पति सेल्स के मैनेजर थे जो कि गुजरात मे जॉब करते थे और यहां कभी कभी ही आते थे वो भी लॉकडाउन में गुजरात मे अटक गए थे। वो यहां एक बैंक में जॉब करती थी।

कोमल रंग रूप गोरा था उसका फिगर 34-28-34 का था। वो जब ब्लैक साड़ी में रहती पहनती थी तो और भी खूबसूरत लगती थी। उसके गहरे गले का ब्लाउज में उसकी बॉब्स की दरार मुझे क्या किसी को भी पागल बना सकती थी। में हमेशा उसको उसकी सुंदरता को निहारता रहता था। कब इसके साथ कुछ हसीन पल बिताऊँ इसलिए मैंने कोमल भाभी से दोस्ती करने की सोची क्योकि उसका पति अभी तो लॉकडाउन में गुजरात मे अटका था तो मेरा काम हो सकता था। मेरा और उसका घर पास में ही है तो उसकी छत पर जाकर ऊपर से बाथरूम में उसको नहाते हुए देखता था। मुझे रोज उसके नहाने का समय मालूम था तो रोज उसी समय मे वहां पहुच जाता था एक रोज कोमल भाभी नहाने को आई तो उसके एक हाथ मे मोबाइल था बाथरूम में उसने पहले अपने कपड़े खोले फिर उसने मोबाइल में पोर्न वीडियो खोल चालू किया जिसे देख कर वो गरम हो गई थी और अपने एक हाथ से अपनी चुद रगड़ थी जिसे देखकर मेरी भी उतेजना बड़ रही मगर में चुपचाप सब देख रहा था मगर मेरा लंड अपने आकर में आगया था थोड़ी देर तो मैने ये देखा जब मुझसे बर्दाश्त नही हुआ तो वहां से सीथे बाथरूम में जाकर कोमल भाभी के नाम की मुठ मारनी परी मगर उसमे भी चेन नही मिल रहा था तो मैने मेरा दिमाक किसी और काम मे लगाना पड़ा मुझे।

दूसरे दिन में शाम को छत पर शांति से बैठा था कि सामने से कोमल भाभी भी छत पर आगई और मुझे अकेला देख कर पूछा क्या बात है जनाब आज छत पर अकेले बैठे है। मेने कहा बस ऐसे ही लॉकडाउन का मजा ले रहा हु और आप भी तो अकेले है आप के हबी नही आ पाए क्या गुजरात से तो कोमल भाभी ने कहा वहां से आने के लिए कोई साधन भी तो नही है न मेने कहा वो भी ठीक है फिर कोमल भाभी ने कहा चलो मेरे घर पर कुछ पिलाती हु यहां बैठोगे तो धूप तुम्हे बीमार कर देगी पहले ही बीमारी बहुत बड रही है मेने मन मे सोचा कि इसे कैसे बताऊ की मेरी क्या बीमारी है जो मुझे लग गई है।फिर में उसके घर में गया तो उसने कहा तुम यहां बैठो में ड्रेस चेंज करके आती हु। कुछ मिनिट के बाद, कोमल भाभी जब लाल गाउन पहन कर बाहर आई तो कयामत लग रही थी उसका गाउन मुश्किल से घुटने तक ही था जिससे उसकी चिकनी टांगे मस्त लग रही थी। कोमल भाभी मेरे सामने बैठी और कहा और मोहित क्या करते हो आप मेने कहा जॉब करता हु बस कोमल भाभी ने कहा सिर्फ जॉब ही और कुछ भी करते है वेसे आप की कोई gf है या नही?

हिंदी सेक्स स्टोरी :  भाभी ने कहा कि तुम बड़े शैतान हो-2

मुझे कोमल भाभी के ये सवाल आश्चर्य कर रहे है थे कि कैसे पराये के सामने खुले आम ऐसी बात कर रही है मन मे सोचा कुछ लोचा जरूर है मेने कहा नही अभी तक कोई ऐसी मिली ही नही जिसे में अपना दिल दे सकू।
कोमल भाभी ने कहा क्या मोहित आज के जमाने मे तुम्हारी कोई gf नही है मतलब तुम ने आज तक मजे नही लिए ये कह कर उसने अपनी टांग दूसरी टांग पर रखी जिससे उसकी चुद वाली जगह अब मुझे साफ दिख रही थी। जहाँ उसकी चुद पर एक बाल भी नही था। वह कितनी खूबसूरत लग रही थी मेरी आँखें तो वही अटक गई थी। वेसे कल तुम ऊपर झरोखे में से क्या देख रहे थे में अब समझा उसकी बात की कल उसने मुझे ऊपर से झांकते हुए देख लिया था। मेने सोच अब क्या सोचना जब वो इतना भाव दे रही है तो आगे बड़ना चाहिए आगे जो होगा देखा जाएगा। मेने आगे बड़ कर अपना हाथ उसकी नंगी जाँघ पर रख दिया।
मेने कहा जब से मैने तुमें देखा है तब से तुम्हारा दीवाना हो गया हूं और तुम्हारे साथ कुछ हसीन पल बिताना चाहता हु उसने कहा साफ कहो मेने कहा तुम्हारे साथ सेक्स करना चाहता हु ये कह कर मेने उसकी जांघ को रगड़ना शुरू कर दिया और धीरे से मेरे हाथ उसकी गहराई तक बडने लगे।

कोमल भाभी आप को शर्म नही आती एक मैरिड औरत पर बुरी नजर रखते हुए में डर गया इसका कैरेक्टर मुझे समझ नही आरहा था कि वो चाहती क्या है और अपना हाथ वहां से हटा लिया।
लेकिन मेरा लंड उसकी बातों से खड़ा होने लगा था। जो कि बाहर आने के लिए तरप रहा था। कोमल भाभी ने अचानक से मेरी पेंट के ऊपर से मेरे लंड को पकड़ लिया और कहा कि बोलने से ज्यादा करने का साहस चाहिए। मेने भी ताव में कह दिया मुझे एक मौका दो फिर अपना साहस दिखाता हु उसे क्या मालूम कि कितनी भाभी मेरे लंड के नीचे से आकर जा भी चुकी है और कितनो की चीखें भी निकलवाती है मेने तो कोमल ने कहा तो किसका इंतजार कर रहे हो आओ और शुरू हो जाओ में समझ गया कि पति के बिना इसे कैसे अकेला पन अधूरा लगता होगा। मेरे कुछ कहने से पहले उसने मुझे किस करना शुरू कर दिया। मेरा हाथ धीरे-धीरे से उसके गाउन के अंदर बड़े बॉब्स की और बढ़ने लगे। उसके बॉब्स को हाथ लगाते ही वो अपने कड़े पन में आने लगे में कोमल के बॉब्स को जोर से दबाने लगा। कोमल ने धीरे से मेरी पेंट की जिप को खोला और मेरी जांघिये को नीचे किया और मेरे लंड को धीरे धीरे हिलाने लगी। हम दोनों को किसस करते हुए उसके बैडरूम में गए कोमल ने मुझे बिस्तर पर धकेला और मेरी पेंट और जाँघिया हटा दिया। मेरे लंड को देखकर कोमल ने कहा वाउ आप के पास इतना बड़ा लंड है क्या आप जानते है मुझे बडे लंड के साथ क्या करना है? मेने पूछा क्या? कोमल ने कुछ नही कहा और सीधे-सीधे मेरे लंड को मुहद में लिया और चूसना चालू कर दिया कोमल मेरे लंड को जड़ तक चूस और चाट रही थी साथ ही मेरी गेंदों के साथ खेल रही थी।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  देवर जी आप कुछ ऐसा करो-3

कोमल के चूसने का अंदाज ऐसा था कि में सातवें आसमान में उड़ रहा था।अगले पंद्रह मिनिट तक कोमल ने मेरे लंड चूसा मगर उसके चूसने के अंदाज से में खुद पर काबू नही रख पाया और झरने के करीब आगया ये बात कोमल को भी मालूम थी उसने मुह से मेरे लंड को निकाला ही में झरने लगा जिससे उसका गाउन मेरे वीर्य से गंदा हो चुका था। कोमल ने कहा क्या इतना जल्दी झर गए मुझे तो अभी और मजा लेना था। मेने कहा ये तो सिर्फ छोटा ट्रेलर था बड़ा धमाका तो अब होगा। अब में आप को सेक्स का असली आनंद देता हूं। सिर्फ आप मजे लो ये कहकर मेने उसका गाउन हटा दिया। कोमल ने अंदर कुछ नही पहना था। उसको बिस्तर पर लिटाने के बाद उसके एक बॉब्स को पकड़ कर दबाने लगा उसके निपल को दबाने लगा उसके दूसरे बॉब्स को मुह में लेकर चूसना शुरू कर दिया। कोमल की कराहने आवाज करने लगीं में उसके निपल को दांतों से काटना शुरू कर दिया
जीभ को नुकीला करके उसके निपल पर फिराने लगा उसे बॉब्स को काट कर मेने उसके बॉब्स को लाल कर दिया। कोमल अब चूसना छोर कर आगे भी बड़ो मोहित मैं थोड़ा उठ गया, उसके होंठों को चूमा,कोमल आह!क्या यह मेरे होठों को काटने के लिए बने है क्या?

मैंने कहा, देखो, मैं कहाँ कहाँ काटता हूं।मैंने धीरे धीरे उसके होंठ चूमा, फिर उसकी गर्दन को चूमा। मैं नीचे आया और निपल्स को चूमा और फिर आगे चला बड़ा!अब, प्यार से, मैंने उसके पेट को चूमा और धीरे धीरे, मैंने अपनी उंगली से उसकी चुद को रगड़ना शुरू कर दिया। और साथ ही उनका दूध पीने लगा। वो भी मेरे लंड को मसलने लगी और में तेजी से उसकी चुद में ऊगली करने लगा दो ही मिनट में वो झड़ गईं। मेने उठ कर फिर से कोमल के मुँह में लंड डाल दिया और उनका मुँह चोद डाला।जिससे मेरे लंड में ताकत आगई थी फिर से मगर अब असली चुदाई की बारी थी.. तो मैंने नीचे जाकर कोमल की चुत को फैला कर अपना लंड सीधा उनकी चुत पर टिका दिया। सुपारा फांकों में फंसा कर एक जोर से धक्का मार कर पूरा लंड अन्दर पेल दिया। कोमल तो मजे में जोर से चिल्ला पड़ीं और मुझे सीने से लगाकर किस करने लगीं, मैंने जोरदार झटके चालू कर दिए। कोमल अभी अपनी गांड उठा-उठा कर मेरा साथ देने लगीं। वो लगातार ‘आहें..’ भर रही थीं ‘आहहह.. ऊमम.. आहह.. जोरर.. से करर.. आहहहह.. उम्म्ह… अहह… हय… याह… उम्महह.. आह.. मजा आ गया है..’

हिंदी सेक्स स्टोरी :  गावं की गर्म भाभी की चुदाई

उनकी कामुक आवाजें रूम में गूंजने लगी थीं। फिर मैंने कोमल को अपने ऊपर ले लिया और वो मेरे लंड पर उछल-कूद करने लगीं। अब वो मुझे चोदे जा रही थीं। वो बहुत भारी थीं.. तब भी मुझे उनको चोदने मजा आ रहा था। अब कोमल को डॉगी स्टाईल में करके पीछे से उनकी चुत में लंड घुसा कर पूरी स्पीड से चोदना शुरू कर दिया। कोमल ने बिस्तर पर घोड़ी बने हुए तकिया पूरी ताकत से पकड़ा हुआ था। कोमल इस दौरान चार बार झड़ चुकी थीं। अब मेरा भी निकलने वाला था.. तो मैंने उन्हें सीधा करके उनके मस्त बोबों पर मेरा पूरा माल छोड़ दिया और हम एक-दूसरे से लिपटे पड़े रहे। मैं एक हाथ उनकी चुत में घुसा कर लेटा हुआ था। जब तक उसका पति नही आगया उसको खूब रगड़ कर ठुकाई की मेने उसके पति के आने के बाद उससे मिलना मेरा कम हो गया।
दोस्तो, मेरी सेक्स कहानी आपको कैसी लगी.. मुझे जरूर बताना।
धन्यवाद
[email protected]

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!