लंड की गरम मलाई चटाई गरिमा आंटी को-2

(Lund Ki Garam Malai Chatai Garima Aunty Ko-2)

फिर वो मुझसे बोली कि बेटा दिल तो करता है कि में तेरा लंड हमेशा ऐसे ही चूसती रहूँ, लेकिन अब मुझसे रहा नहीं जा रहा है तुम अब मेरी चूत को तेज तेज धक्के मारो। अब मैंने उसको बोला कि हाँ ठीक है मेरी रंडी आंटी चल में आज तेरी चूत मारता हूँ और अब वो अपने दोनों पैरों को फैलाकर पलंग पर लेट गई। फिर उसी समय बिना देर किए उसकी चूत में मैंने अपना लंड डाल दिया और उस दर्द की वजह से उसका ज़ोर से चिल्लाना शुरू हो गया, मैंने अपना पूरा का पूरा लंड उसकी चूत में डाल दिया और धक्के देने लगा। अब वो बोली कि बेटा मुझे आज स्वर्ग का मज़ा मिल रहा है प्लीज़ ज़ोर ज़ोर से धक्के देकर इसको पूरा अंदर डालो और मेरी इस चूत को आज तुम पूरा फाड़ दो, इसकी मजेदार चुदाई करो इस मेरी चूत ने मुझे इतने दिनों से बहुत तकलीफ़ दी है। फिर में इसकी वजह से हर दिन अपनी उंगली को डालकर शांत किया करती थी, लेकिन फिर भी यह कभी भी शांत नहीं हुई क्योंकि इसको सिर्फ़ लंड की भूख थी और इसलिए आज तुम इसकी पूरी भूख को मिटा दो शांत कर दो इसको। अब मैंने उसको बोला कि चुपकर साली बहुत ज्यादा बोलती है, में उसकी चूत में धक्के मारे जा रहा था और वो मज़े के साथ अपनी चूत मरवा रही थी।        “Lund Ki Garam Malai”

फिर करीब दस मिनट तक बिना रुके लगातार जोरदार धक्के देकर उसकी चूत मारने के बाद मैंने उसको बोला कि चल गरिमा अब तू उल्टी लेट जा क्योंकि अब तेरी गांड की बारी है, में आज तेरी गांड को भी अपने लंड के मज़े देना चाहता हूँ। अब गरिमा मेरे मुहं से वो बात सुनकर बड़ी खुश होकर कहने लगी कि आज तुमने मेरे दिल की बात को अपने मुहं से कह दिया, में भी तुमसे आज अपनी गांड को मरवाना चाहती हूँ और में अपनी गांड में भी तुम्हारे लंड को महसूस करना चाहती हूँ और इसकी ताकत को देखना चाहती हूँ।

फिर मैंने उसके मुहं से यह बात सुनकर खुश होकर उसकी गांड के छेद पर अपने लंड का टोपा रखकर ज़ोर से दबाव बनाकर उसको गांड के अंदर डालना चाहा, लेकिन मैंने बहुत बार कोशिश करके देखा वो नहीं जा रहा था। अब में गरिमा से पूछा कि हरामजादी तेरी गांड इतनी टाइट क्यों है? इसमे मेरा लंड इतना ज़ोर लगाने पर भी अंदर नहीं जा रहा है ऐसा क्यों हो रहा है? फिर वो बोली कि बेटा आज पहली बार कोई मेरी गांड मार रहा इसलिए यह इतनी टाइट है और फिर मैंने बड़ी मेहनत से उसकी गांड के छेद में अपना लंड डाल दिया। दोस्तों उस दर्द की वजह से गरिमा अब ज़ोर ज़ोर से चीखने लगी दर्द की वजह से तड़पने लगी थी। “Lund Ki Garam Malai”

हिंदी सेक्स स्टोरी :  बीमार मामी की चूत की खुश्बू

फिर उसी समय मैंने उसके मुहं पर अपना एक हाथ रख दिया क्योंकि मुझे पता है कि पहली बार गांड मारने पर औरत दर्द की वजह बहुत ज्यादा चीखती चिल्लाती है, लेकिन मैंने उसके मुहं पर अपना हाथ रखकर उसकी बहुत जमकर गांड मारी। अब मुझे उसके साथ यह सब करने में बहुत मस्त मज़ा आ रहा था, लेकिन इतनी देर तक धक्के देने के बाद भी मेरा लंड अब भी तना हुआ था। फिर मैंने गरिमा की गांड से अपना लंड बाहर निकालकर उसके मुहं में डाल दिया और वो उसको मज़े लेकर चाटने और चूसने लगी और उसी समय मैंने उसको कहा कि गरिमा जी अब आप इसको चूस चूसकर इसका पूरा पानी निकाल दो। अब वो कहने लगी वाह क्या मस्त दमदार लंड है तेरा?

मेरी चूत और मेरी गांड दोनों को इतनी देर तक धक्के मारने के बाद भी यह अभी तक तना हुआ खड़ा है। अब वो मेरे लंड को चाटते चाटते मेरे आंड को भी चाट रही थी और उसी समय मैंने उनसे पूछा क्यों गरिमा तुम्हे कुछ शांति मिली या नहीं? तब वो बोली कि में अब तक तीन बार झड़ चुकी हूँ और मेरी चूत अब एकदम शांत है, लेकिन मेरी चूत को आज तक किसी ने भी नहीं चाटा, क्या तुम मेरी चूत को चाटोगे? तब मैंने बोला कि हाँ, लेकिन एक शर्त पर। अब वो पूछने लगी कि हाँ बताओ वो क्या है? मैंने उसको बोला कि तुम हमेशा मेरी रंडी बनकर रहोगी और मेरे लिए नई नई चूत का इंतज़ाम भी करोगी। “Lund Ki Garam Malai”

अब वो मेरी बात को सुनकर मेरी तरफ मुस्कुराते हुए बोली कि हाँ ठीक है में अपनी सहेलियों को भी तुम्हारे लिए तैयार करके ले आउंगी। फिर मैंने उसको कहा कि चुप साली रंडी मुझे तेरी उम्र की नहीं जवान चुदाई के लिए प्यासी औरते, लड़कियाँ चुदाई करने के लिए चाहिए। अब वो कहने लगी कि बेटा औरत जवान हो या बूढी मतलब तो उसकी चूत से होता है और वैसे भी तुम्हे एक जवान लड़की वो सब मज़ा नहीं दे सकती जो मज़ा हम अनुभवी औरते दे सकती है, क्योंकि हमे चुदाई के साथ साथ सभी बातों का पूरा पूरा अनुभव और उसकी पूरी जानकारियां भी होती है।
“Lund Ki Garam Malai”

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  नंगी बुआ की चूत चोदी

अब मैंने कहा कि हाँ चल ठीक है और हम दोनों 69 आसन में लेट गये और में उसकी चूत को चाटने लगा, गरिमा भी मेरे लंड को अपने मुहं में लेकर चूस रही थी। दोस्तों गरिमा की चूत आकार में इतनी बड़ी थी कि मेरा पूरा मुहं उसकी चूत में घुस रहा था, कुछ देर बाद उसकी चूत को चाटने से ही वो झड़ गई और उसकी चूत का पानी पीने के बाद में भी उसके मुहं में झड़ गया। अब गरिमा आंटी भी मेरा पानी पी गई और फिर में कुछ देर बाद नहाने चला गया, तब मैंने गरिमा को बोला कि चलो आंटी अब में अपने घर जाता हूँ शाम को में एक बार फिर से आ जाऊंगा, तब तक आप अपनी सबसे अच्छी दोस्त को बुला लेना। “Lund Ki Garam Malai”

फिर वो मेरे मुहं से यह बात सुनकर मुस्कुराते हुए बोली कि हाँ ठीक है, में तेरे लंड का इंतजार करूंगी और में अपने घर बड़ा खुश होकर चला आया, लेकिन शाम को जब में गरिमा आंटी के घर पर पहुंचा तब मैंने देखा कि वहां पर गरिमा की एक दोस्त बैठी हुई है। दोस्तों उसके बूब्स दूर से कपड़ो में बहुत अच्छे गोलमटोल आकर्षक नजर आ रहे थे और उसकी उम्र भी करीब 40 के आसपास होगी। तभी कुछ देर बाद गरिमा आंटी भी वहां पर आ गई और वो मुझसे उसका परिचय करवाते हुए कहने लगी कि बेटा यह मेरी दोस्त है और इसका नाम ज्योति है, इसका मर्द मर चुका है और मैंने इसको हम दोनों के बीच की सभी बातें उस काम के बारे में अच्छी तरह से समझा दिया है और अब यह हमारे इस खेल में हमारा पूरा साथ अपनी मर्जी से देने को तैयार है। अब मैंने वो सभी बातें सुनकर खुश होकर ज्योति की छाती पर अपना एक हाथ लगाया और तब छुकर मुझे महसूस किया कि उसके बूब्स एकदम टाइट थे। अब ज्योति मुझसे कहने लगी कि बेटा तुम आज इसको जी भरकर दबाओ इनका मज़ा लो और मुझे भी वो सभी मज़े दो जिसके लिए में बहुत समय से तरस रही हूँ। “Lund Ki Garam Malai”

हिंदी सेक्स स्टोरी :  आंटी को कोल्ड ड्रिंक पिलाकर खूब चोदा

फिर मैंने कहा कि ज्योति तेरी चूत कैसी है? वो बोली कि तुम खुद ही देख लो ना तुम्हे अब रोका किसने है? मैंने पूछा कि क्या तेरी चूत पर बाल है? वो बोली कि हाँ है। फिर मैंने उसको कहा कि तुम अपनी झाटे साफ क्यों नहीं करती हो? वो कहने लगी कि अगर तुम कहो तो में अभी साफ कर लूँ और फिर मैंने उसको कहा कि चल अब अपनी चूत के दर्शन तो मुझे करा दे। फिर यह बात सुनकर खुश होते हुए ज्योति ने झट से अपनी सलवार को खोल दिया और फिर अपनी पेंटी को भी उतार दिया, तब मैंने देखा कि ज्योति की चूत बहुत सुंदर थी। अब मैंने गरिमा आंटी को बोला कि चल गरिमा अब तू भी नंगी हो जा और फिर मेरी बात को सुनकर गरिमा भी तुरंत पूरी नंगी हो गई।
“Lund Ki Garam Malai”

दोस्तों जिसकी वजह से अब मेरे सामने दो औरते बिल्कुल नंगी खड़ी हुई थी और वो दोनों ही अपनी खा जाने वाली वजह से मेरे लंड को देख रही थी। फिर मैंने ज्योति को कहा कि अब तुम दोनों अपनी अपनी चूत को एक दूसरे की चूत से रगाड़ो यह बात सुनकर तुरंत ही ज्योति और गरिमा अब अपनी अपनी चूत को एक दूसरे की चूत से रगड़ने लगी और कुछ देर बाद उन दोनों को ऐसा करने में बड़ा मज़ा आने लगा। अब वो दोनों जोश में आकर नीचे लेटकर अपनी गरम चूत को किसी अनुभवी रंडियों की तरह रगड़ रही थी।

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!