लंड की गरम मलाई चटाई गरिमा आंटी को-1

(Lund Ki Garam Malai Chatai Garima Aunty Ko-1)

Lund Ki Garam Malai Chatai Garima Aunty Ko हैल्लो दोस्तों, यह अभी कुछ दिन पहले की बात है जब यह घटना मेरे साथ घटी। मेरे घर के पास में एक 35 साल की औरत रहती है उनका नाम गरिमा है, गरिमाजी एक ग्रहणी है उनका लड़का 12th क्लास में पढ़ता है और उनके पति एक लोकल ट्रांसपोर्ट कंपनी में काम करते है और इसलिए वो सुबह 7 बजे अपने घर से निकल जाते और रात को वो करीब 10 बजे तक वापस आते है। .

दोस्तों में अक्सर उनके घर किसी भी काम से या उनके बेटे से मिलने चला जाता हूँ, क्योंकि गरिमा का बेटा मेरा बहुत अच्छा दोस्त है। गरिमा को में हमेशा उनके नाम से यानी गरिमाजी कहकर बुलाता हूँ और में कभी कभी उनको गरिमा आंटी भी कहता हूँ, गरिमा का शरीर थोड़ा मोटा और उसके बूब्स बहुत बड़े आकार के है और उनकी गांड तो दिखने में एक बड़े आकार का कमरा है। दोस्तों जिसका मतलब वो ज्यादा आकर्षित औरत नहीं है, लेकिन मैंने कभी भी उनको अपनी गंदी नजर से नहीं देखा था। एक दिन में किसी काम की वजह से उसके घर चला गया, मैंने देखा कि वो उस समय आराम कर रही थी, मैंने उनसे पूछा कि गरिमा आंटी प्रमोद कहाँ है? प्रमोद उसके लड़के का नाम है।

फिर वो मुझसे कहने कि प्रमोद अपने पापा के साथ उसकी बुआजी के घर गया है और वो कल तक वापस आ जाएगा। अब मैंने उनको कहा कि आप आज घर पर अकेले हो आपको अगर कुछ भी काम हो तो आप मुझे जरुर बताना आंटी। फिर उसने बड़ी गंदी नजर से मेरी तरफ देखा और फिर कुछ देर सोचने के बाद वो बोली कि हाँ बेटा मुझे तुझसे आज बड़ा काम है। अब मैने उनके मुहं से वो बात सुनकर तुरंत पूछा कि हाँ बताईए ना आंटी आपको मुझसे क्या काम है? वो कहने लगी कि में अभी बताती हूँ, पहले में तुझे चाय दे दूँ और फिर में वहां बैठ गया।

अब गरिमा अंदर रसोई में चाय बनाने चली गई और कुछ देर बाद वो चाय लेकर आ गई और मुझसे पूछने लगी कि बेटा क्या तेरे पास कोई ब्लूफिल्म है? उनके मुहं से में यह बात सुनकर एकदम चकित हो गया और मन ही मन सोचने लगा कि आंटी यह क्या कह रही है? अब मैंने आंटी से पूछा क्या ब्लूफिल्म? वो बोली हाँ बेटा ब्लूफिल्म मैंने कभी नहीं देखी है। अब मैंने कहा कि हाँ मेरे पास है, वो बोली कि बेटा तू वो फिल्म लेकर आ मुझे आज उसको एक बार देखना है। फिर में उनका कहना मानकर घर से एक ब्लूफिल्म लेकर आ गया जब मैंने उस ब्लूफिल्म को चलाया, तब उस समय गरिमा आंटी मेरे साथ बैठी हुई थी और फिर फिल्म में कुछ देर बाद चुदाई शुरू हो गई।
“Lund Ki Garam Malai”

हिंदी सेक्स स्टोरी :  दोस्त की रंडी माँ और सेक्सी बहन

अब गरिमा आंटी मेरे पास बैठकर बड़े मज़े के साथ वो फिल्म देख रही थी, मुझे उनको देखकर बहुत हैरानी हो रही थी क्योंकि आज तक मैंने कभी भी आंटी को इस रूप में नहीं देखा था। दोस्तों वो बिल्कुल मेरे पास बैठी हुई थी फिल्म देखते हुए वो मुझसे पूछने लगी कि बेटा तूने कभी यह सब किया है? उनकी यह बात सुनकर मेरे लंड में हरकत शुरू हो गई थी। अब मैंने कहा कि आंटी मैंने तो बहुत बार यह सब किया है, वो यह बात सुनकर खुश हो गई और अब आंटी ने अपना एक हाथ साड़ी के साथ पेटिकोट के अंदर डाल दिया और यह सब देखकर मेरा लंड तन गया।

अब आंटी जोश में आकर उस फिल्म को देखने के साथ साथ अपनी चूत में ऊँगली भी कर रही थी और में चुपचाप बैठा हुआ था, तभी वो मुझसे बोली कि बेटा क्या तुम मेरी चूत में ऊँगली करोगे? तब मैंने चकित होकर उनको पूछा कि आंटी आप मुझसे यह क्या कह रही हो? वो बोली कि बेटा में सिर्फ अपनी चूत में ऊँगली डालकर ही अपने शरीर की गरमी को निकालती हूँ क्योंकि प्रमोद के पापा मेरे साथ सेक्स नहीं करते, उनको बहुत साल हो गये है मेरी चुदाई किए हुए और इसलिए यह काम मुझे हर कभी करता पड़ता है। अब मैंने उनको कहा कि आंटी मैंने कभी भी आपको इस नजर से नहीं देखा, वो कहने लगी कि बेटा में जानती हूँ कि तुमने मुझे कभी भी इस नजर से नहीं देखा, लेकिन मैंने हमेशा से तुझको अपनी गंदी नजर के साथ ही देखा है। फिर मैंने उनको कहा कि आंटी आप तो बहुत मोटी हो, वो पूछने लगी कि बेटा तो क्या समस्या है? उन्होंने तुरंत ही अपने पेटिकोट को ऊपर उठा दिया जिसकी वजह से अब उसकी चूत मेरी आँखों के सामने थी। अब मैंने देखा कि उसकी चूत आकार में ज्यादा बड़ी थी और उसके चारो तरफ काले घुंघराले बाल थे।
“Lund Ki Garam Malai”

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  स्वाती ने मुझसे अपनी माँ चुदवाई-2

अब वो अपनी चूत की तरफ इशारा करते हुए बोली कि बेटा क्या तुम मेरी इस चूत में अपना लंड डालोगे? मैंने बोला कि आंटी हाँ मेरा दिल तो कर रहा है कि में अपना लंड इसमे डाल दूँ, लेकिन आपका बेटा मेरा दोस्त है और अगर उसको पता चलेगा तो वो क्या सोचेगा कि उसके पक्के दोस्त ने उसकी माँ को चोद दिया? गरिमा आंटी ने कहा कि बेटा तुम बिल्कुल भी चिंता मत करो प्रमोद को कुछ भी पता नहीं चेलेगा। फिर मैंने उनको कहा कि ठीक है गरिमा आंटी, चलो आज में आपको शांत कर देता हूँ आप भी क्या याद रखोगी? “Lund Ki Garam Malai”

मेरे मुहं से यह बात सुनकर गरिमा आंटी बड़ी खुश हो गई, उसने बिना देर किए तुरंत अपने सारे कपड़े खोल दिए और वो अब बिल्कुल नंगी होकर मेरे सामने खड़ी हो गई। अब उसको अपने सामने पहली बार पूरी नंगी देखकर मुझे बड़ा अजीब सा लग रहा था, उसके बूब्स बहुत बड़े आकार के थे, उसका पेट भी बाहर निकला हुआ था और उसके कुल्हे भी बहुत मोटे थे। फिर मैंने गरिमा को कहा कि आंटी आपका यह शरीर तो बहुत बुरी हालत में है, तब वो बोली कि हाँ बेटा मुझे पता है क्योंकि बहुत दिनों से इसको किसी का लंड नहीं मिला है इसलिए इसकी यह हालत हो चुकी है, लेकिन अब तुम्हारा लंड मिल गया है तो इसकी वजह से मेरा फिगर भी अच्छा हो जाएगा।

दोस्तों मैंने अपने भी कपड़े खोल दिए, जिसकी वजह से मेरे लंड को देखकर गरिमा चकित होकर घूरते हुए बोली कि वाह क्या मस्त सेक्सी लंड है तेरा? और वो मेरे लंड को पकड़कर हिलाने लगी। अब मैंने कहा कि गरिमा आंटी प्लीज आप इसको अपने मुहं में ले लो आपको बड़ा ही मज़ा आएगा ऐसा करके। फिर वो मुझसे बोली कि बेटा यह भी क्या कोई कहने की बात है? अभी पहले तो में इसको अच्छी तरह से देख तो लूँ और उसके बाद में इसके साथ वो सब कुछ करूंगी और वैसे भी एक जवान लंड के दर्शन मुझे बहुत दिनों के बाद हुए है और वो भी इतना दमदार लंड जिसकी तारीफ करने के लिए मेरे पास कोई भी शब्द नहीं है। “Lund Ki Garam Malai”

हिंदी सेक्स स्टोरी :  नीलू आंटी ने मुझसे चुदवाया-2

अब मैंने उनको पूछा क्यों अंकल का लंड कैसा है? तब वो बोली कि उनका लंड तो पूरी तरह से खड़ा भी नहीं होता, उस लंड से चुदाई करने का सवाल ही नहीं उठता वो बस देखने और दिखाने के काम ही आ सकता है। फिर मैंने पूछा कि तुम फिर अब तक क्या करती थी? वो बोली कि बस बेटा में अपनी उंगली से ही अपनी चूत को शांत करती थी और कभी कभी में मोमबत्ती से भी काम चला लेती हूँ, लेकिन वो सब करके किसी को वो मज़ा शांति नहीं मिल सकती जो एक लंड से मिलती है।

अब मैंने पूछा कि आंटी आपने मुझसे पहले कभी क्यों यह सब नहीं बोला? तब वो बोली कि बेटा में तुझसे बात करने का कोई अच्छा मौका देख रही थी और वो मौका मुझे आज मिल ही गया। फिर मैंने उनको कहा कि चलो अब इसको चूसू और मज़ा करो, इतना सुनते ही गरिमा अब किसी भूखी कुतिया की तरह मेरे लंड टूट गई और वो बहुत तेज़ी से मेरे लंड को चाटने लगी और उसको चूसने लगी, वो उस समय बहुत जोश में थी। अब मैंने उसको कहा कि गरिमा प्लीज थोड़ा सा आराम से करो हमारे पास आज का पूरा दिन पड़ा हुआ है, तुम जितना चाहो इसका मज़ा ले सकती हो यह आज से बस तुम्हारा ही है। फिर वो मुझसे कहने लगी कि बहुत साल के बाद इतना मस्त स्वादिष्ट मजेदार लंड मिला है, इसलिए मुझसे अब रुका ही नहीं जा रहा है और वो मेरे लंड को ऐसे चाट रही थी जैसे कि वो एक अनुभवी रंडी हो, मैंने उसके बूब्स को पकड़ लिए और उनको दबाने मसलने लगा। फिर वो मुझसे कहने लगी कि बेटा थोड़ा ज़ोर से दबाओ ना मुझे बहुत अच्छा लग रहा है और फिर मैंने उसके बूब्स को ज़ोर से मसलना, दबाना शुरू कर दिया, वो साथ में मेरा लंड भी चूस रही थी और मुझसे अपने बूब्स भी मसलवा रही थी। “Lund Ki Garam Malai”

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!