लण्ड की प्यास चाची की चूत में बुझाई–4

Lund ki pyas Chachi ki Chut me Bujhaai-4, मैं बुरी तरह से चाची की चूत को खोद रहा था।मुझे चाची की चूत कुरेदने में बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था।तभी चाची की चूत में भूचाल आ गया और उनकी चूत से गरमा गरम माल बहने लगा।फिर मैंने बहुत देर तक चाची की चूत को सहलाया।

अब मैंने चाची की चूत पर मुंह रखा और उनकी बहती हुई चूत को चाटने लगा।मैं चाची की चूत की भीनी भीनी खुशबु से पागल हो रहा था।मैं उनकी चूत को कसकर चाट रहा था।चाची मेरे बालो को सहला रही थी।चाची की चूत चाटने में मुझे बहुत ही ज्यादा मज़ा आ रहा था।फिर मैंने चाची की बहुत देर तक चूत चाटी।

अब मैंने फिर से चाची की चुत पर लण्ड सेट किया और फिर ज़ोरदार धक्का देकर लंड चाची की चूत में ठोक दिया।अब मैं फिर से चाची की धुआंधार ठुकाई करने लगा।अब मेरे लंड के हर एक झटके के साथ चाची के बोबे बहुत बुरी तरह से हिल रहे थे।अब चाची की सिस्कारिया फिर से शुरू हो चुकी थी।
चाची– आह आह आह उँह आह अआईईई आहा आह अआईईई आह आहा।
मैं– ओह चाची बहुत मज़ा आ रहा है1।आह आप बहुत ही मस्त माल हो।आह आहा।
चाची– आह आहा अआईईई आहा धीरे धीरे कर यार……….. आईईईई ओह मम्मी।
मैं– चाची करने दो ना यार।आह आहा उँह।

मैं झमाझम चाची की चूत में लंड पेल रहा था।आज तो मेरा लंड जन्नत की सैर कर रहा था।इसी बीच चाची फिर से झड़ गई।अब मैं चाची की उफनती नदी में गोते लगा रहा था।फिर मैंने बहुत देर तक चाची को ऐसे ही पेला।अब मैने चाची को पलंग से नीचे उतार दिया और उन्हें घोड़ी बनने के लिए कहा।अब चाची तुरंत घोड़ी बन गई।
अब मैंने चाची की चूत में फिर से लंड सेट किया और उनकी कमर पकड़कर चाची को फिर से बजाने लगा।अब चाची को घोड़ी बनाकर पेलने में मुझे बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था।मैं गांड हिला हिलाकर चाची को घोड़ी बनाकर बजा रहा था।अब चाची आराम से सिस्कारिया भर रही थी।
चाची– उन्ह आहा आह आह आहा आईएईई आह आहा आईईईई ओह फाड् दी तूने तो मेरी……… आह आहा।
मैं– ओह चाची घोड़ी बनाकर पेलने में आपको बहुत ही ज्यादा मज़ा आ रहा है।आहा आहा आहा
चाची– पेल ले जितना पेलना हो।आह आहा अब मुझे कोई दिक्कत नहीं।आह आह आहा आईईई।
चाची घोड़ी बनकर चुपचाप मेरा लंड ले रही थी।मैं भी चाची को झमाझम लण्ड दे रहा था।चाची को घोड़ी बनाकर पेलने में मुझे अलग ही मज़ा आ रहा था।मेरा लंड आराम से अब चाची की चूत में पिघल रहा था।फिर मैंने चाची को बहुत देर तक घोड़ी बनाकर पेला।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मौसी से सेक्स ज्ञान-1

अब मैं चाची की गांड मारना चाहता था।अब मै चाची की गांड के सुराख़ में उंगली डालने लगा तो बड़ी मुश्किल से मेरी ऊँगली चाची की गांड में घुसी।अब मुझे समझ में आ चुका था कि चाची की गांड का अभी तक छेद नहीं खुला है।अब मैं चाची की गांड में उंगली करने लगा।चाची ऊँगली करने के लिए मना करने लगी।
चाची– यार रोहित उसमे उंगली मत डाल।आह बहुत दर्द होता है।
मै– अरे डालने दो ना चाची बहुत मज़ा आ रहा है।आह आह।
चाची– यार मत डाल ना।रहने दे।
चाची बार बार मना कर रही थी लेकिन मै नहीं मान रहा था।मै चाची की टाइट गांड में ऊंगली कर रहा था।चाची की गांड में ऊँगली करने में मुझे बहुत ही ज्यादा मज़ा आ रहा था।चाची धीरे धीरे मेरे इरादों को भांप रही थी।अब बहुत देर तक चाची की गांड में उंगली करने के बाद अब मैं चाची की गांड में लंड सेट कऱने लगा तो चाची मना करने लगी।
चाची– रोहित यार गांड में मत डाल।बहुत दर्द होता है उसमें।यार ……

मैं– अरे चाची कुछ दर्द नहीं होगा।आप पहले उसमे डालने तो दो।
चाची– नहीं यार मत डाल।मैं मर जाऊंगी।
मैं– अरे कुछ नहीं होगा आपको।
अब मेरा लण्ड चाची की गांड में सेट हो चूका था।अब चाची के पास गांड बचाने का कोई उपाय नहीं था। तभी चाची खड़ी होने की कोशिश करने लगी लेकिन मैंने उन्हें खड़ी नहीं होने दिया।अब मैंने चाची की गांड पकड़कर एक ज़ोरदार धक्का दिया और मेरा लंड चाची की गांड के सुराख़ को चीरता हुआ गांड में घुस गया।
गांड में लंड ठुकते ही चाची बुरी तरह से चीख पड़ी।
चाची– आईईईईई मम्मी मर गई।आईईईईई आईईईई ओह आईईईई ओह मम्मी, आईईईई बहार निकाल…………

तभी मैने फिर से लंड चाची की गांड में ठोक दिया।अबकी बार मेरा लंड पूरा अंदर घुस चूका था।चाची फिर से बहुत बुरी तरह से बिलख पड़ी।
चाची– आईईईई आईईईई आईईईई मर गई।आईईईई आईईईई आहा आह।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

अब मै लंड ठोक ठोंककर चाची की गांड मारने लगा।मुझे चाची की टाइट गांड मारने में बहुत ही ज्यादा मज़ा आ रहा था।चाची मेरे लंड के एक एक झटके से घायल हो रही थी।
चाची-आह आह आह आईईईई आहा आहा अआईईई ओह धीरे धी………. आह आह आईईईई आईईईई।
मैं– ओह चाची आज तो मैं आपकी गांड फाड़ दूंगा।आह आह।
मैं ज़ोर ज़ोर से फुल स्पीड में चाची की गांड मार रहा था।मेरा लंड चाची की गांड के आखिरी हिस्से तक दस्तक दे रहा था।मुझे तो चाची की गांड मारने में बहुत ही ज्यादा मज़ा आ रहा था।तभी चाची मेरे लंड के करंट को ज्यादा देर नहीं झेल पाई और वो झड़ गई।अब चाची की चूत से रस नीचे बहने लगा।अब चाची बुरी तरह से घायल हो चुकी थी।
चाची–आह आह आहा आहा अआईईई आहा आईईईई उँह आह आह आहा अआईईई आहा।
मैं– ओह चाची बहुत मज़ा आ रहा है।आह।
मैं लगातार चाची की गांड मारे।जा रहा था।अबतक मेरा लंड चाची की गांड को ढीला कर चूका था।गांड मरवाकर चाची बहुत बुरी तरह से थक चुकी थी।लेकिन अभी तक मेरे लंड की प्यास बुझी नहीं थी।मैं चाची की गांड में लागातार लण्ड पेल।रहा था।फिर मैंने बहुत देर तक चाची की गांड मारी।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  लण्ड की प्यास चाची की चूत में बुझाई–1

अब मैंने चाची को उठाकर वापस पलँग पर पटक दिया।अब मै फिर से चाची के ऊपर चढ़ गया।अब मैंने फिर से चाची के बोबो पर हमला कर दिया और उन्हें मुंह में भरकर बुरी तरह से चूसने लगा।अब बिच बीच में मैं चाची के बोबो को काट भी रहा था।अब दर्द के मारे चाची की गांड फट रही थी।
मैं तो पूरा मज़ा लेकर चाची के बोबो को चुस रहा था।मुझे चाची के बोबो को चूसने में बहुत ही ज्यादा मज़ा आ रहा था।फिर मैने जी भरकर चाची के बोबो को चुसा।फिर मैंने वापस चाची की टांगे फैला दी और उनकी चूत में लंड फिट कर दिया।अब मै फिर से चाची को चोदने लगा।
चाची–आह आह आहा उँह आह आहा अआईईई उँह आह आह आईईईई।
मेरा लंड झमाझम चाची की चूत में अंदर बाहर हो रहा था।चाची के बोबे बहुत बुरी तरह से हिल रहे थे।आज तो चाची को पहली बार चौदकर मेरा लण्ड तृप्त हो चुका था।मै चाची को जी भरकर चोद रहा था।अब चाची के भी सारे नखरे ख़त्म हो चुके थे।
चाची– आह आहा उँह आहा आहा अआईईई आईएईई बस रोहित अब रहने दे।मैं थक चुकी हूं।
मैं– अभी तो चाची आपको और चोदना है।
चाची चुद्वाकार बहुत बुरी तरह से थक चुकी थी।मेरे लंड का कहर अभी भी जारी था।मैं चाची को लगातार चोदे जा रहा था।अब मेरा लंड भी जवाब देने लग गया था।अब मैंने एकसाथ मेरे लंड की स्पीड बढ़ा दी और झमाझम चाची की चूत में घमासान मचा दिया।मेरे लंड कहर से चाची बहुत बुरी तरह से हिल गई।
चाची– आईएईई अआईईई अआईईई आह आह आहा अआईईई अआईईई आह आह अआईईई।
मैं चाची की चूत में ज़ोर से शॉट लगा रहा था।अब मेरा पानी निकलने वाला था तभी मैंने चाची को ज़ोर से कस लिया और मेरे लंड का पूरा माल चाची की चूत में भर दिया।अब मै पसीने से लथपथ होकर चाची से लिपट गया।

आज मैं चाची को चौदकर बहुत ज्यादा खुश था। चाची को चोदना मेरे लिए बड़े सम्मान की बात थी।फिर कुछ देर बाद हम दोनों उठे।चाची भी मुझसे चुदाकार बहुत ज्यादा खुश थी। हमारे कपडे पुरे कमरे में तीतर बितर पड़े हुए थे।अब चाची कपडे उठाकर पहनने लगी।उन्हें मेरे सामने नंगी होने में बहुत ज्यादा शर्म आ रही थी।फिर मैंने चाची को वापस मेरे पास खिंच लिया और मैं उनकी गांड को मसलने लगा।
चाची–अब क्या है? मिट गई ना तेरी प्यास?
मैं– हां चाची लेकिन थोड़ी सी कसक अभी बाकी है।
चाची– नहीं अब नहीं, बच्चे आने वाले है।
मैं–बच्चो के आने में अभी टाइम है।तब तक एकबार और करने दो ना।
चाची– अरे मुझे और काम भी करने है।
मैं–तो वो थोड़ी देर बाद कर लेना।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  सेक्सी मारवाड़ी आंटी की चुदाई

चाची तैयार नहीं हो रही थी लेकिन मै भी नहीं मान रहा था।फिर मैंने चाची को वापस घोड़ी बना दिया।अब मैंने फिर से चाची की गांड में लंड फिट किया और उनकी गांड मारने लगा।चाची फिर से सिस्कारिया भरने लगी।
चाची–आईईईई आईएईई उन्ह आह आह आईईईई आईईईई आह आह।
मैं– ओह चाची…………..
मैं झमाझम चाची की गांड मार रहा था। मेरा लंड फिर से चाची की गांड में कहर बरसा रहा था।फिर मैंने बहुत देर तक चाची की गांड मारी और सारा माल उनकी गांड में ही भर दिया।

अब मैंने चाची को छोड़ दिया।अब चाची खड़ी हो गई और पेंटी पहनने लगी।तभी मैने चाची का हाथ पकड़ लिया और खुद मैने चाची को पैंटी पहनाई।अब मैंने उन्हें ब्रा पहनाकर बलाउज पहना दिया।फिर मैंने चाची को पेटिकोट भी पहनाया।अब चाची ने साड़ी पहन ली। अब चाची कमरे से बाहर चली गई।अब मै भी कपडे पहनकर कुछ देर बाद कमरे से बाहर आ गया।
अब चाची उनका काम करने लग गई।मैं फिर वही बैठा रहा।फिर चाची ने हमारे लिए चाय बनाई।

चाची– यार अब जो हुआ उसका किसी को पता नहीं चलना चाहिए।
मैं– आप चिंता मत करो। किसी को कुछ पता नहीं चलेगा।
चाची–बहुत रगड़ा तूने मुझे।मेरी जान ही निकाल दी।
मैं– चाची मैं तो करता गया जैसा मुझे पता था लेकिन आपने बड़ी मुश्किल से चोदने दिया मुझे।
चाची– पहले मेरा मूड नहीं था चुदने का लेकिन फिर तूने मुझे परेशांन कर दिया तो फिर मुझे तैयार होना पड़ा।
मैं– अब तो चुदाकर खुश हो ना।
चाची– हां, बहुत ज्यादा।
अब हमने साथ में चाय पी और फिर मैं चाची को चोदकर घर आ गया।
आपको मेरी कहानी कैसी लगी मुझे मेल करके ज़रूर बताये– [email protected]

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!