माँ को कोठे की रण्डी बनाया-3

(Ma Ko Kothe Ki Randi Banaya-3)

एक लड़के ने उसकी चुत को चाटना शुरू कर दिया. उसी बीच एक लड़के ने अपना लंड निकाला और उसकी चुत के मुँह पर रख दिया.
मेरी माँ अब तक गरमा गई थी. वो बोली- आह चोद दो मुझे … जल्दी से … आह मेरे बेटे के आने से पहले मुझे तृप्त कर दो.
अभी उस लड़के ने लंड घुसाया ही था कि मेरी माँ की जल्दी चोदने की बात सुनकर उसने एक जोर के झटके के साथ लंड अन्दर पेल दिया.

वो अपना काम चालू ही कर रहा था कि तभी मैं वहां पहुंच गया और चिल्लाने लगा.
उन लोगों ने जल्दी से मेरी माँ को छोड़ा … और अलग खड़े हो गए.
मैंने मेरी माँ को देखा, वो ग़ुस्से में थी … क्योंकि वो फुल मूड में थी. लंड ने चूत को गर्म करके छोड़ दिया था.
अब मुझे लगा कि उसे सेक्स की भूख लगी है. उन चारों लड़कों ने उसे मेरे सामने ही किस किया और उसने भी ना नहीं बोला.वो चले गए.

अपर्णा ने अपने दूध सहलाते हुए मुझसे पूछा- तुम कहां चले गए थे?मैंने कहा- मैं तुम्हें ही ढूंढ रहा था.
वो चुप हो गई.तब मैंने कहा- तुम बुरा ना मानो, तो मुझे भी आज यहां की किसी रंडी को चोदना है.
उसने भी नशीली आंखों से मुझे देखा और कहा- चोद लो … लेकिन उसके बदले में मैं जो मांगूंगी, वो देना पड़ेगा.
मैंने कहा- ठीक है.मैं उसको उषा मौसी के कोठे पर लेकर चला गया. वहां का नजारा ऐसा था. दस मिनट में रंडी अलग अलग लंड ले रही थीं.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

उसे भी ये सब देख कर मज़ा आ रहा था. दवा अपने पूरे असर पर आ गई थी. वो सब देख कर मैंने एक रंडी को पैसे दिए और उसे लेकर अन्दर चला गया. मैंने मौसी को देख कर इशारा किया और आँख मार दी.
अब मैं देखने लगा कि ग्राहक लोग मेरी माँ के बारे में पूछ रहे थे कि ‘मौसी इसका कितना?’ ये बोलते वक्त वो मेरी माँ के मम्मे भी दबा रहे थे.तभी एक पुलिस वाला आया और मौसी से बोला- नया माल लाई हो मौसी!

ऐसा बोल कर उसने मेरी माँ को खड़ा किया और उसके मम्मे दबा दिए. माँ की चुत में उंगली डाली और बोला- इस बार के हफ्ते के बदले … ये दस दिन पोलिस स्टेशन रहेगी.
उस पुलिस वाले की बात सुनकर मेरी गांड फट गई कि अब माँ का क्या होगा.
अगले भाग में इस गंदी सेक्स कहानी को पूरा लिखूंगा. आप मुझे मेल करते रहिए कि आपको मेरी गन्दी कहानी कैसी लगी

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!