माँ किसी रण्डी के जैसे मेरा लंड चूस रही थी

(Maa Kisi Randi Ke Jaise Mera Lund Chus Rahi Thi)

हाय दोस्तो मेरा नाम है हिमांशु सिंह मै आज जो कहनि मै बताने जा रहा हूँ उसे पढकर आप अपने लड़ को अगर आप के बगल में आप की सगी मा भी हो तो आज उसकी चुत अपना लड़ डाल ही दोगे चलिये दोस्तो अब अपनी कहनि पर आत हु। दोस्तों इस वक्त 23 साल का हु। और हमारे घर में मेरी माँ और मैं रहते हैं और मेरी माँ की उम्र लगभग 35 साल की आस पास होगी और मेरी माँ बहुत ही सीधी है और मेरी दिखने में तो एकदम 18 की सील पैक लड़की लगती है और मेरी माँ की चुचीयां एकदम गोल थीं और उनके गाड़ पीछे की तरफ उभरी हुई थी और मेरी माँ एक स्कूल मे गणित की टिचर थी. Maa Kisi Randi Ke Jaise Mera Lund Chus Rahi Thi.

और मै इस वक्त 11 की पढाई कर रहा हूँ और हमारे घर में एक नौकरानी रहतीं है जिसका नाम पुजा था मै उसे जब भी मौका मिलता तो मै उसे चोद दिया करता था एक दिन जब मै कालेज से घर आया तो मै देखा कि मेरी माँ बहुत ही उदास बैठी थी तो मै माँ से पुछा की माँ की क्या है तो माँ ने कहा कुछ नहीं बेटा बस यही सोच रहीं की तेरे पापा तो अब इस दुनिया में नहीं रहे तो मै बात टालते हुए मैने माँ से कहा कि मुझे भूख लगी है माँ ने कहा कि आज तेरी मन पसंद मछली बनाई है तु जल्दी से हाथ पैर धुल के अजा फिर हमने खाना खाया और फिर मैं बाजार चला गया और वहाँ से मैंने एक देसी दारू खरीद ली और घर चला आया। और जब मैंने अपनी माँ को देखकर मेरी आँखे खुली की खुली रह गई मेरी माँ झाड़ू लगा रही थी और वक्त मेरी माँ नाईट में थी और उसने अद़र बनियान भी नहीं पहनीं थी जिससे उनकी चुचींया मुझे साफ़ दिखाई दे रही थी और मेरा लड़ पूरा 9 इच़ हो गया था अब मैंने अपनी माँ को चोदने का पूरा मन बना लिया था.

और एक दिन भगवान ने मेरी सुन और मुझे वो मौका भी मिल गया तभी हमने खाना खाया और मै अपने कमरे मे सोने के लिए जा रहा था तभी माँ ने कहा कि हिमाशु़ बेटा तुम मेरे पास मेरे कमरे सो जाया करो तो मैंने भी कहा कि ठीक है तो मैं उनके कमरे में जा कर सोने का नाटक बनने लगा और कुछ देर बाद माँ आई और उसने मुझको देखा मै तो पहले से ही नाटक कर रहा था और उसने मेरे सामने अपने कपड़े उतार रही थी जब मैंने ऐ नजरा देखा तो मेरा लड़ खड़ा हो गया तब उसे अपने काबु में किया और उनके बाद में माँ मेरे बगल में आ के लेट गई एक घंटे बाद मैंने अपनी माँ कि तरफ अपना मुंह कर के लेट गया फिर मैंने अपनी माँ कि गरम सारे निकलने का अनुभव किया अब मेरी माँ गहरी नींद में जा चुकी थी और मैने थोड़ी हिम्मत जुटाई और अपना एक हाथ माँ कि गरम चुचीया पर रख दिया और धीरे धीरे सहलाने लगा बीच बीच में उनके निप्पल को चुटकी काट लेता जिससे वो कुछ हरकत नहीं कर रहीं थी. “Maa Kisi Randi”

अब मेरी हिम्मत और बडी़ अब अपना हाथ उनकी चुत पर ले गया और साड़ी के ऊपर से ही सहलाने लगा मुझे अहसास होता था कि उनकी चुत से पानी निकल रहा है और माँ ने पूटीं भी नहीं पहनी हुई थी अब माँ चुचीयो पर आय और उनके ब्लाउज का हुक खोल दीऐ और उनकी चुचीयो को आजाद कर दिया और उनसे खेलने लगा और उन्हें चाटने लगा मै चुचींया चाटने मे इतना खो गया कि मुझे पता ही नहीं चला कि माँ कब उठ गयी और थोड़ी देर बाद जब मैं उनको देखा तो मेरी गाडी फट गई तो मैं झट से सोने का नाटक करने लगा तो ओ उठी और अपने ब्लाउज को निकाल दिया और बोलीं उठो और मैं डरते डरते उठा तो माँ ने कहा बेटा क्यों डर रहे हो मै तो माँ हु तुम्हारी जो करना हो कर लो आज मै तुम्हारी रखेल हु अब मैं और खुश था कि आज मेरी माँ मुझसे चुदने वाली थी तब मैने कहा कि माँ तुम्हे खुश कर दुगां और यह कहते हुए माँ के होठों को चुसने और उसका सारा रस पीने लगा. “Maa Kisi Randi”

अब माँ भी मेरा साथ दे रही थी अब मैं उनकी चुचीयो को पीने लगा कभी इसको तो कभी उसको दोनों बारी बारी चूस रहा था अब माँ और भी गरम हो गई थी तभी माँ ने कहा कि क्या तुम मुझे अपना लड़ नहीं चुसवागे मैं कहाँ क्यों नहीं लो चूस लो अब मैने लड़ को बाहर निकला मेरा 9इच़ का लड़ माँ ने कहा कितना बड़ा है तेरा लड़ और तभी माँ ने मेरा लड़ अपने हाथ में पकड लिया और हिलाने लगी फिर उसके बाद में मेरा लड़ अपने मुंह में लेकर चुसने अब मेरे मुह धीरे धीरे सिसकियां निकल रही थी अब माँ किसी रडी़ की तरह मेरे लड़ को चूस रही थी अब माँ 69 की पोजीशन में थी अब माँ कि साड़ी को उतारा दिया अब माँ ने लाल करल का पेटिकोट पहनी हुई थी मैने उनके पेटिकोट का नाणा अपने दातों से खोल कर निचे उतार दिया अब माँ कि चुत एकदम सटीक दिख रही थी और माँ चुत पे धने काले बाल थे अब मैं उनकी चुत पर अपना हाथ फेरने लगा अब माँ एकदम नगीं मेरे सामने लेटी थी अब मैं माँ कि चुत पर अपना मुंह ले गया और अपनी चीभ से माँ कि चुत को चाटने लगा और माँ कहा रही थी कि कितने दिनों बाद मेरी चूत को चाट रहा है.
“Maa Kisi Randi”

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

और मैने माँ कि चूत के अद़र अपनी चीभ डाल के माँ को चोदने लगा और माँ सिसकियां निकाल रही थी अअअअअउईईईईईईईईउउउमममममहहहहहहह मर ग ई उउउउउउउउहहहहह अ हहहहहह अहम अहमद अ हहहहह ओ हहहह ओहह सिइइइइग और मैं उनकी चुत में अपनी चीभ अद़र बाहर रहा था माँ चूत लाल हो चुकी थी तभी माँ ने कहा बेटा अब मत तडपा बेटा अब डाल दे और बना ले मुझे अपनी रखेल बेटा डाल दे अब मैं भी लेट न करते हुए उठा और माँ के दोनों जाघो को थोड़ा सा खोला और अपने लड़ को माँ कि चूत के पास आया और चूत पर सेट किया और एक जोरदार झटका मारा तो पूरा लड़ माँ चूत के अद़र समा गया माँ चीख उठी और उनके आखोँ से आसु बहने लगे और माँ चिल्ला रही थी मैने अपने झटके और बड़ा दिया और कुछ देर बाद में माँ को भी मजा आने लगा. “Maa Kisi Randi”

और वो भी अपना चुतड उठा उठा चुदने लगि माँ के सिसकियां निकल रही थी आआआआआइइइइइइइइऊऊऊऊऊऊऊअहहहहहहहअह अ औऔऔऔऔओओओओओओओहहहहहहहहह ईईईईईईईई उउउउउउउउउउ मार डाला रे चोद और चोद अपनी माँ को चोद मादरचोद बहनचोद आज से तु ही मेरा भातार चोद मादरचोद अपनी माँ कि चूत का भोसडा बना दे मादरचोद और मै अपनी माँ चोदे जा रहा हूँ अब मैं झडने वाला था तो मैंने पूछा कि निकालु मेरी रडीं माँ तो माँ ने कहा निकाल दे मेरी चूत में और बना दे अपने बच्चों की माँ मादरचोद और मैने अपना सारा माल माँ कि चूत में डाल दिया अब माँ भी झडने वाली थी तभी मैने अपना मुंह माँ कि चूत रख दिया और माँ कहने लगी कि बेटा कितने दिनों बाद मुझे लड़ मिला है आज मै बहुत खुश हूँ बेटा दोस्तों अब माँ कि गाडं भी मारता हूँ अब हम माँ बेटा का रिश्ता नहीं रहा गया अब दोनों पती पत्नी बन गए हैं तो दोस्तों कैसी लगी कहना कमेंट बॉक्स में जरूर लिख कर भेजे दोस्तो. “Maa Kisi Randi”