माँ ने बहन को बीवी बनाया-3

Maa ne behan ko biwi banaya-3

अब भैया हमें कभी छोड़कर मत जाना, कभी नहीं. अब उसकी कठोर चूचीयाँ मेरे सीने से रगड़ रही थी. अब मेरा मन उसे छोड़ने का नहीं कर रहा था.

अब वो बहुत रो रही थी और अब मेरी आँखों में आसूं थे, अब में उसे चुप करने लगा था और बोला कि चुप पागल, अब में आ गया हूँ ना, सब ठीक हो जाएगा. तो वो बोली कि भैया आप ऐसे हमें छोड़कर क्यों चले गये थे? पता है हमने आपके बिना कैसे-कैसे दिन काटे है? माँ तो सारा दोष मुझ पर ही लगाती थी, वो कहती थी कि सब मेरी वजह से ही हुआ है.

उसकी बॉडी का शेप बिल्कुल मस्त था. मैंने इतनी सुंदर लड़की कभी नहीं देखी थी, फिर मुझसे नहीं रहा गया तो मैंने अपनी बाहें फैला दी, तो वो दौड़कर आई और मेरी बाँहों में समा गयी.

फिर मैंने नोट किया कि माँ उठकर किचन में चली गयी थी, तो मैंने उसे अपने सीने से लगा लिया और उसके गोरे-गोरे गालों को बेहताशा चूमने लगा. अब वो भी मुझे पागलों की तरह चूमने लगी थी. फिर में उसे पर्दे के पीछे लेकर आ गया.

ये सुनकर मैंने धीरे से पूजा का हाथ दबा दिया, तो वो भी मुस्करा गयी. फिर रात होते-होते हम घर आ गये. अब माँ ने जल्दी से हमारा रूम ऊपर सेट कर दिया था. अब खुशी से मेरे कदम डगमगा रहे थे. फिर थोड़ी देर में पूजा रूम में आई, वो लाल साड़ी में गजब की लग रही थी. तो तभी पीछे से माँ भी आई, उसके हाथ में दूध के 2 गिलास थे. फिर माँ बोली कि बेटा तुम दोनों दूध जरूर पी लेना, केवल इसके दूध ही नहीं पीते रहना, तो हम दोनों मुस्करा गये, तो माँ बोली कि आराम से ये पूजा का फर्स्ट टाईम है और फिर माँ रूम से चली गयी.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  साली के बाद सासू माँ को चोदा

तभी मैंने डोर लॉक किया और पूजा को अपनी बाँहों में भर लिया. फिर तभी पूजा बोली कि अरे भैया इतनी भी जल्दी क्या है? अब तो में आपकी लुगाई हूँ जैसे चाहो वैसे करना, जरा कपड़े तो चेंज कर लूँ. फिर मैंने धीरे से उसकी चूचीयों पर अपना हाथ फैरा और उसे छोड़ दिया, तो वो मेरे सामने ही अपनी साड़ी और पेटीकोट उतारने लगी.

अब वो सुबह वाली पिंक ब्रा पेंटी में थी और अलमारी से अपनी नाइटी निकालने लगी थी. फिर मैंने कहा कि क्या फ़ायदा? उसे अभी फिर से उतारना पड़ेगा. फिर पूजा बोली कि मेरे भैया, मेरे सैयाँ आपको बहुत जल्दी है और इतना कहकर वो बेड पर आ गयी.

मेरी पूजा ब्रा-पेंटी में गजब की लग रही थी. फिर मैंने धीरे से उसकी ब्रा के ऊपर से उसकी चूचीयों को सहलाया और उसके लिप्स पर एक लम्बा स्मूच किया. फिर मुझसे रहा नहीं गया तो मैंने धीरे से उसकी ब्रा का हुक खोल दिया. अब उसके दोनों कबूतर आज़ाद थे.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

अब में उसकी चूचीयों को चूसने लगा था. अब पूजा सिसकारियाँ भरने लगी थी, अब हम अभी शुरूआत कर ही रहे थे. फिर तभी पूजा बोली कि माँ की बात याद है केवल इन्हें ही नहीं पीते रहना, दूध भी पीना है. फिर हम दोनों ने साथ-साथ दूध पीया और फिर मैदान में आ गये. फिर पूजा बोली कि क्या भैया मेरे तो सारे कपड़े उतार दिए? और खुद? चलो इन्हें उतारो जल्दी से, तो मैंने भी अपने कपड़े उतार दिए.

अब चड्डी में मेरा लंड तना हुआ था, तो उसे देखकर पूजा डर गयी और बोली कि हाए भैया, ये तो सचमुच काफ़ी बड़ा है. अब उसने मेरी चड्डी उतार दी थी. अब पूजा का हाथ लगते ही मेरा लंड 2 इंच और लम्बा हो गया था, मेरा लंड यही कोई 9 इंच का है.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Mummy Ki Chudai Hote Dekha

फिर तभी पूजा बोली कि भैया कितना प्यारा है? और उसे चूमा और बोली कि लेकिन भैया ये तो मेरी सहेली को फाड़ देगा. तो मैंने कहा कि जान इसे फाड़ने के लिए ही तो इतना ड्रामा किया है, ये एक ना एक दिन सभी की फटनी है और इतना कहकर मैंने पूजा की पेंटी उतार दी और फिर उसका अंग-अंग बेहताशा चूमा. अब पूजा भी अपने पूरे शबाब में आ गयी थी और अब वो भी मुझे चूमने लगी थी.

फिर मैंने धीरे से अपना लंड उसकी चूत के मुहाने पर टिकाया और हल्का सा झटका दिया, तो दर्द से पूजा ने अपनी आखें बंद कर ली. फिर मैंने से एक धक्का दिया तो इस बार मेरा आधा लंड अंदर चला गया. तो तभी पूजा चीखी आह, आह, हाईईईईई भैया, अब उसकी चूत खून से लथपथ हो गयी थी, तो मैंने फिर से एक ज़ोर का धक्का दिया.

अब मेरा लंड उसकी चूत की जड़ में जाकर बैठ गया था. अब पूजा की आखों में आसूं थे, तो तभी वो बोली कि भैया प्लीज अभी नहीं, अब वो बच्चों की तरह रोने लगी थी और में उसे दिलासा देता रहा और धक़्के भी मारता रहा. अब धीरे-धीरे उसे भी मज़ा आने लगा था, सचमुच 24 कैरेट सोने की चूत थी पूजा की.

फिर उस रात हमने यही कोई 5 बार सेक्स किया और सुबह के 5 बज़े सोए. फिर सुबह के 10 बज़े पूजा ने चाय के साथ मुझे उठाया. अब वो नहा ली थी, तो मैंने फिर से उसके गालों को चूमा और उसके गीले बालों में अपना मुँह रख दिया. तो वो बोली कि चलो छोड़ो भैया और चाय पीकर नीचे आ जाओ, माँ बुला रही है.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Maa behan ki chudai ki parivarik kahani-5

फिर जब में तैयार होकर नीचे गया, तो माँ बोली कि बेटा एक प्लान तो सफल हो गया, अब तुम दोनों को सेट करना है, अब में यहाँ का घर और जमीन बेच देती हूँ और हम सभी मुंबई में सेट हो जाते है और फिर हम सभी मुंबई में सेट हो गये. अब जल्दी ही पूजा गर्भवती हो गयी थी, अब हम बहुत खुश है और खूब चुदाई करते है.

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!