मैडम की गांड मारकर लंड की आग शांत की–2

Madam ki gaand markar lund ko shant ki- 2

कहानी के पहले भाग में आपने पढ़ा कि किस तरह से कल्पना मैडम को फिर से चोदने का मौका मिला। अब तक मै मैडम को पूरी नंगी कर उनके सेक्सी हॉट जिस्म के कतरे कतरे को पिघला चुका था।

अब मैं ब्लैकबोर्ड के पास रखी गद्दीदार चेयर पर बैठ गया और मेडम को मेरी गोद में बैठा लिया।ये वो ही चेयर थी जिस पर कल्पना मैडम बैठकर हमें पढ़ाती थी। अब मैं एक हाथ से मैडम के बूब्स को दबाते हुए वापस कल्पना मैडम की चूत को उंगलियों से चोदने लगा।मैडम फिर से आह आह ओह सी स्सिस स्सिसी आह ओह करने लगी। मेरा लन्ड पीछे मैडम की गांड के हॉल में जगह बना रहा था और आगे से मै मैडम की चूत में उंगलियां घुसा रहा था। मेरे दोनो और से मैडम के सुराखो में घिसाई करने की वजह से अब मैडम की गांड फटने लगी। वो मेरी गर्दन को पकड़ रही थी।
मैडम– आह आह ओह ओह आह आह आईईईई आईईईई ओह उम्म्म उन्नह आह।

मैडम खुद के होंठो को दबाती हुई मेरी गर्दन को पकड़ने लगी।
मैडम– उम्मम आह ओह रोहित अब तो रहने दे ना।
मैं– आह आह ओह मैडम आपकी ये चिकनी चूत,बहुत अच्छा लग रहा है।
मैडम– ओह रोहित बस कर ना।मेरी जान निकल रही है।
मैं– तो निकल जाने दो ना मैडम।
मैडम– ओह रोहित तू तो मुझे आज मार ही डालेगा उम्म उम्म आह ओह।
मैडम बहुत ज्यादा गर्म होने लगी। थोड़ी ही देर में मेडम की चूत फिर से बहने लगी। अब मैडम की सिसकारियां चरम सीमा पर पहुंच चुकी थी। अब उनका सेक्सी फिगर थर थर कांपने लगी।

मैडम– आईईईई रोहित मै तो गई।
तभी कल्पना मैडम ने फिर से चूत की भट्टी में से गरमा गर्म माल बाहर उड़ेल दिया।मैडम का लावा फिर से मेरे हाथो में भर गया। अब मैंने मैडम के गरमा गर्म लावा को उनके बूब्स और चेहरे पर चपेड दिया।मैडम फिर से पागल हो उठी।उनके हॉट फिगर से पसीना टपकने लगा। मैडम निढाल होकर थोड़ी देर तक मेरी गोद में ही बैठी रही।
अब कल्पना मैडम ने मुझे बेंच पर लेटा दिया। अब वो घायल शेरनी की तरह मेरी टांगो को किस करती हुई मेरी वी शेप की अंडरवेयर के ऊपर से ही मेरे लंड को चूसने लगी।उनकी इस हरकत से मेरा लंड बूम बूम होने लगा।
मेडम–आज तो तेरे लंड की खैर नहीं,पूरा चबा जाऊंगी।
मैं– ओह मैडम आज तो आप मेरे लन्ड को काट ही डालोगी ।

मैडम पागल होकर मेरे लन्ड को कभी सूंघती,तो कभी उसे काटती। मेरे जिस्म में अजीब सी हलचल होने लगी।मैडम की कातिल अदा मुझे पागल करने लगी।तभी मेडम ने मेरी अंडरवियर खोलकर लंड को बाहर निकाल लिया।
मैडम– वाह रोहित,कितना मस्त और बड़ा लंड है तेरा। आज तो मैं चूस चूस कर इसका पानी निकाल दूंगी।
मैं– खा जाओ मेरे लन्ड को मैडम। निकाल लो पानी।
अब मेडम मेरे लन्ड को ज़ोर ज़ोर से मसलने लगी।उन्हें मेरा लन्ड मसलने में बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था। मैं मैडम की कातिल हरकत से अधीर होने लगा। अब मेडम ने मेरे लन्ड को छोड़ा और मेरे पेट को चूमती हुई मेरी चेस्ट को किस करने लगी। अब मैं मैडम की रवेदार पीठ को सहलाने लगा।मैडम के लंबे लंबे बाल मेरी चेस्ट को छू रहे थे। अब मेडम मेरी चेस्ट को चूमती हुई मेरे होंठो पर पहुंच गई। अब मेरा लन्ड सीधे मैडम की चूत पर दस्तक देने लगा।

अब मैडम मेरे होंठो पर टूट पड़ी और ज़ोर ज़ोर से चूसने लगी।इधर मै मैडम के सुढ़ौल चूतड़ों को सहलाने लगा।मुझे मैडम के चूतड़ों को सहलाने में बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था।मैडम ने बहुत देर तक मेरे होंठो को चूसा।
अब मैडम वापस नीचे आई।    अब मेडम ने मेरे लन्ड के टोपे को मुंह में रखा और भूखी शेरनी की तरह मेरे लन्ड का शिकार करने लगी।वो मेरे पूरे लंड को मुंह में दबाने की कोशिश करने लगी लेकिन मेरा पूरा लन्ड उनके मुंह में नहीं आ पा रहा था।वो लपक लपककर मेरे लन्ड को चूस रही थी। तभी मेरी गांड़ फटने लगी और मै मैडम के बालो को सहलाने लगा।
मैं– ओह मेडम और चूसो और चूसो,पूरा दबा लो मेरे लन्ड को।
मैडम– आह आह ओह उम्म ओह।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  टीचर ने लंड पकड़कर खुशी दी

मैडम के बड़े बड़े बूब्स बुरी तरह से हिल रहे थे।मैडम गांड़ हिला हिलाकर मेरे लन्ड को चूसे जा रही थी।
मैं– ओह मैडम आप कमाल का लंड चूसती हो।आह मज़ा आ रहा है।ओह मैडम आह आह।
मैडम बिना रुके आज मेरे लन्ड को पिती जा रही थी।  कुछ देर बाद  मेरा शरीर अकड़ने लगा।तभी मैंने मैडम को कसकर मेरे लन्ड पर दबा लिया और मैंने लन्ड का पूरा गरमा गरम लावा मैडम के मुंह में डाल दिया।मैडम मेरे लन्ड के पूरे लावे को गटक गई। अब मैं पसीना पसीना होकर ढीला पड़ गया।
अब कल्पना मैडम आगे से उठी और मेरे सिर की तरफ से मेरे ऊपर चढ गई। अब मेडम की गरमा गर्म चूत मेरे मुंह को रगड़ रही थी और मैडम मेरे लन्ड को पकड़ कर सहला रही थी। धीरे धीरे मेरा लन्ड फिर से बैटिंग करने के लिए तैयार होने लगा। इधर मै मैडम की चूत का रिसता हुआ पानी पीने लगा।

मैडम– ओह रोहित,आज तो तूने मेरे जिस्म का पुर्जा पुर्जा हिला दिया है। उम्म आह ओह।
मैडम ने फिर से मेरे लन्ड को चूस चूसकर लाल कर दिया। अब तक मेरा लन्ड मैडम के थूक से पूरा गीला हो चुका था।मैडम अभी भी मेरे लन्ड को बड़े चाव से चूसती जा रही थी।
अब मेडम उठ खड़ी हुई और उन्होंने मुझे ब्लैकबोर्ड के सहारे खड़ा कर दिया। अब मैडम नीचे बैठ गई और बड़ी शिद्दत से मेरे लन्ड को मुंह में भर भरकर चूसने लगी। मैं भी मैडम के बालो में हाथ डालते हुए आराम से मैडम को लंड चुसाने लगा।
मैं– ओह आह आह ओह बस चूसती रहो मेरे लन्ड को। मज़ा आ रहा है मैडम।
अब पूरे हॉल में लंड चूसने की आवाज़ आ रही थी।मैडम आज किसी रण्डी से कम नहीं लग रही थी।
मैं– ओह मैडम आह ओह अब नहीं रहा जा रहा है।बस अब मेरे लन्ड को चूत दे दो।
मैडम– बस थोड़ी देर और चूस लूं।
फिर मैडम ने थोड़ी देर तक मेरे लन्ड को और चूसा।

अब मेरा लन्ड मैडम की चूत फाड़ने के लिए तैयार था। अब मैंने मैडम को बेंच पर लेटा दिया और उनकी मज़बूत टांगो को हवा में लहरा दिया। अब मैंने लंड का टोपा मैडम की चूत के खांचे में फिट किया और जोरदार धक्के के साथ पूरा लन्ड मैडम की चूत में उतार दिया। मेरा लन्ड एक ही बार में मैडम की चूत की गुफा को चीरता हुआ सीधा गुफा के भीतर पहुंच गया। मैडम दर्द से बिलबिला उठी।
मैडम– आईईईई रोहित, मर गई।आईईईई आईईईई ओह आईईईई।
मैं ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए मैडम को कसकर चोदने लगा। फिर कुछ देर बाद मेरे लन्ड ने मैडम को मज़ा देना शुरू कर दिया। अब मैडम नीचे से गांड़ उच्का उचकाकर मेरे लन्ड चूत में लपकने लगी। अब मेडम के मुंह से मादक सिसकारियां निकल रही थी। मैं मैडम की चूत में लगातार लंड पेलते हुए जा रहा था।मैडम आह आह उह करती हुई चुपचाप बेंच पर पसरी हुई थी।

आह क्या अजब गजब नज़ारा था यारो। पूरे क्लासरूम में बेंच ही बेंच लगी हुई थी। मैं ब्लैकबोर्ड के पास रखी हुई बेंच पर मैडम की चूत को ठोक रहा था।मैडम आज बड़ी चुदासी होकर मेरा लन्ड चूत में ठुकवा रही थी।पूरे हॉल में सन्नाटा पसरा हुआ था सिर्फ आह आह ओह आह आह ओह की आवाज़ गूंज रही थी।

अब तक मैडम चुदकर बेहाल हो चुकी थी।उनकी पूरी सेक्सी फिगर वाली बॉडी पानी पानी हो चुकी थी।
मैडम– आह आह ओह रोहित आह बड़ा मज़ा आ रहा है।ओह बस ऐसे ही मेरी चूत को चोदता रहे।
मैं– हां मैडम ऐसे ही चोद रहा हूं।आह आह ओह।आपकी चूत भी आपकी तरह बहुत ज्यादा सेक्सी है।
मैडम– तेरा लंड भी बहुत ज्यादा हब्सी है।देख मेरी चूत की क्या हालत कर दी।
मैं– ओह मैडम आह आह आह आज तो आपकी चूत के परखच्चे उड़ा दूंगा।
मैडम– हां फाड़ दे आज मेरी चूत को आह आह ओह आह।
अब तक मैडम बहुत ज्यादा गर्म हो चुकी थी।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

तभी मैंने मैडम की सेक्सी टांगो को छोड़ दिया और उनके मस्त शानदार बूब्स को पकड़ लिया।
मैडम– चोदो ना रोहित और ज़ोर से चोदो ना।आज तेरी मैडम की चूत का फिर से भोसड़ा बना दे।आह ओह आह ओह रोहित।
मैं– ओह आह ओह मैडम आज मेरा लन्ड फिर से आपकी चूत का भोसड़ा ही बनाएगा।
मैडम– आह ओह आह रोहित, ज़ोर ज़ोर से चोद मुझे, तेरी गांड़ में जितनी ताकत है उतनी लगा दे।
मैं– ओह मैडम आज तो पूरी शेरनी लग रही हो,लो फिर देखो लो मेरी गांड़ की पूरी ताकत।
अब मैं फुल जोश में आकर मैडम की चूत में धक्के लगाने लगा। अब मैडम की हालत खराब होने लगी।
मैडम– आईईईई आईईईई रोहित प्लीज धीरे डाल,तेरा लंड मेरी बच्चेदानी तक पहुंच गया है।
मैं– अभी तो सिर्फ बच्चेदानी तक ही पहुंचा है थोड़ी देर बाद मेरा लन्ड आपकी चूत को फ़ाड़ देगा।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Locked down me hostel incharge ki wife ki chudai

तभी मैंने तीन चार ज़ोरदार शॉट लगाए।मैडम अब तो रोने लग गई।पता नहीं आज इतना जोश मेरे लन्ड में कहां से आ रहा था।
मैडम– आईईईई रोहित आईईईई आईईईई ओह आईईईएईईईई ।बाहर निकाल ले।अब मुझसे तेरा लंड नहीं झेला जा रहा है।
अब कुछ ही देर बाद मैडम ने रोते हुए चूत का गरमा गर्म लावा मेरे लन्ड को पिला दिया। अब धीरे धीरे मैडम शांत होने लगी। अब फिर से उनकी मादक सिसकारियां निकलना शुरू हो गई। अब मैडम पूरी ठंडी पड़ चुकी थी मैं अभी भी पूरे जोश से मैडम को चोद रहा था। पूरे हॉल में फ्फ्फाच्च फ्फचच फ्फचछ फ्फस्क की आवाज़ गूंजने लगी।

मैडम– ओह आह ओह आह ओह रोहित तूने तो आज तेरी मैडम की जान ही निकाल दी।
मैं– मैडम जान की जान निकालने में ही तो चुदाई का असली मजा आता है।
मैडम– तो रोहित फिर से मेरी चीखे निकाल दे।चोद दे आज तेरी मैडम को जितना चोदना चाहे उतना।
मैं– ठीक है मैडम,आज तो मैं आपको चारो तरफ से पेलूंगा।
मैडम– पेल लेे, जहां जहां से पेलना चाहे।आज मै तुझे नहीं रोकूंगी।
मैं ज़ोरदार धक्कों के साथ मैडम को चोदता जा रहा था।मैडम फिर से धीरे धीरे गर्म होने लगी।
मैडम–और चोदो ना रोहित,ज़ोर ज़ोर से चोदो ना।आह आह तेरा लंड आज तो मेरी हालत खराब कर देगा।
मैं– चोद रहा हूं मैडम।
मैडम– आह आह ओह तो चोद ना रोहित,फिर से पूरा ज़ोर लगा दे।

अब मेडम को चोदते चोदते मुझे बहुत देर हो चुकी थी। अब मेरा लोहा पिघल चुका था।तभी मैंने मैडम को पसीने से लथपथ जिस्म में दबोच लिया और पूरा पिघला हुआ लोहा मैडम की चूत में भर दिया।फिर मैं आह आज ऊंह आह करता हुआ मैडम के ऊपर ही गिर पड़ा। अब मैडम ने मुझे बाहों में थाम लिया।
मैडम– ओह रोहित आज तो तूने सच में मेरी चूत को बड़ा मजा दे दिया।
कुछ देर बाद मैडम ने कहा– चल रोहित अब खड़ा हो जा। मैं तेरे लंड को फिर से गरम कर देती हूं। आज तो चुदाने में बड़ा मजा आ रहा है।
अब मेडम ने मुझे खड़ा करके फिर से बेंच पर लेटा दिया। अब मैडम फिर से मेरे लन्ड से खेलने लगी।वो धीरे धीरे मेरे लन्ड को मसलती हुई वापस लंड को चूसने लगी।धीरे धीरे मेरा लन्ड फिर से गरम होने लगा।
मैं– आह आह मैडम, चूसो ना और ज़ोर ज़ोर से चूसो।

मैडम मेरे लन्ड को काटने लगी। तभी मैंने मैडम के बालो को पकड़ लिया और मैडम के सिर को लंड पर दबाने लगा। कुछ देर बाद मैडम लंड को गर्म करने के बाद वापस मेरी छाती को चूमने लगी।मैडम की लंबी काली घनी घटाएं मेरी छाती पर फ़ैल रही थी।उस वक्त मेडम के कंगने और झुमके मैडम को और ज्यादा सेक्सी कामुक बना रहे थे। मैं मैडम के बालो में हाथ डालकर मैडम को प्यार कर रहा था।धीरे धीरे मेडम ने मेरी पूरी छाती को वापस चुंबनों से गीला कर डाला। अब मेरा लन्ड लोहे की रॉड बनकर खड़ा हो चुका था। अब मैडम ने गांड़ ऊंची करके चूत में लंड फंसा लिया और मेरी छाती को पकड़कर गांड़ हिला हिलाकर कर चुदाने लगी।

अब मैं भी नीचे से गांड़ उचका कर मैडम की कमर कसकर मैडम की चूत में लंड पेलने लगा। अब मैडम के बड़े बड़े बूब्स बहुत तेज गति से इधर उधर हिल रहे थे।मेरा लन्ड सीधा मैडम के पाताल लोक में डंका बजा रहा था।
मैडम– आह आह ओह आह रोहित,बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा है।आह आह ओह।
मैं– ओह मैडम,आप तो बहुत ज्यादा चालू हो।आह ओह। लो और लो मेरा लन्ड।
मैडम– ऊंह आह ओह ऊंह आह बस करता रहे ऐसे ही। तेरा लंड पूरा घुसा दे।आह ओह।
मैं– ओह मैडम लो,घुसा लो पूरा चूत में।आह ओह।
अब मैं ज़ोर ज़ोर से मेरा लन्ड मैडम की चूत में देने लगा। अब मेडम अधीर हो उठी।उनके चेहरे पर दर्द की लकीरें उभरने लगी।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  सेक्सी टीचर को घोड़ी बना दिया ट्रेन के टॉयलेट में

मैडम– आह ओह रोहित, चोदो ना ज़ोर ज़ोर से चोदो तेरी मैडम को।
मैं– हां मेरी मेडम, आज रोहित आपकी चूत का भरता बना डालेगा।
मैडम– आह ओह ओह रोहित, घुसा दे तेरा पूरा लन्ड,अच्छे से चोद डाल तेरी मैडम को।
मैं– आह आह ओह आह ऊंह लो घुसा लो पूरा लन्ड मेरी मैडम।
मैडम– ओह रोहित,मै तो मर गई,फिर से जाने वाली हूं।तभी मेडम ने मुझे बाहों में जकड़ लिया और पूरी झड़ गई। अब मैंने मैडम को मेरी बाहों में कस लिया।
मेडम की पूरी सेक्सी बॉडी पानी पानी हो चुकी थी।
अब मैंने मैडम को उठाया और उन्हें बाहों में उठाकर चेयर पर बैठा दिया। अब मैं नीचे बैठ गया और मैडम की चूत में उंगलियां डालने लगा तभी मेडम ने एक टांग मेरे कंधे पर रख दी जिससे मैडम की पूरी चूत अच्छी तरह से खुल गई।मेडम की चूत अंदर से बहुत ज्यादा गर्म हो रही थी। अब मैं ताबड़तोड़ मैडम की चूत को उंगलियों से चोदने लगा।
मेडम ज़ोर ज़ोर से सिसकारियां भरने लगी।

मैडम– आईईईई आईईईई रोहित आईईईई आईईईई ओह ओह आह।
मैं– ओह मैडम आह बहुत अच्छा लग रहा है।आह ओह।
मैडम– आह आह ओह आह रोहित मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा है।आह ओह आह मत कर ना प्लीज।
मैं– ओह मैडम करने दो ना।आह आह ओह।
मैडम– रोहित मान जा ना।
तभी मैंने मैडम की चूत के गर्भ गुफा तक उंगलियां पहुंचा दी।मैडम ज़ोर ज़ोर से चीख पड़ी।
मैडम– आईईईई मम्मी मर गई।आईईईई।
मैंने बहुत देर तक मैडम की चूत का ऐसे ही मज़ा लिया। अब मैंने मैडम की चूत में से उंगलियों को निकाला और चेयर पर मेडम को पीछे सरका कर खुद भी चेयर पर बैठ गया। अब मैंने मैडम की चूत में लंड रखा और गांड़ हिला हिलाकर मैडम की चूत में लंड पेलते हुए मैडम के बूब्स और होंठो से खेलने लगा। अब मेडम ने मुझे बाहों में भरकर जिस्म से चिपका लिया। अब मैं मैडम के होंठो को चूसने लगा और मैडम भी मेरे होंठो को खाने लगी।मेरा लन्ड अब मेडम की चूत में फिट हो चुका था।
मैडम– ऊऊं आह ऊंह ओह रोहित आज मै जिंदगी में पहली बार इतना मज़ा ले रही हूं।

मैं– मैडम ये सब मेरे लन्ड का कमाल है।
मैडम– हां रोहित तेरा लंड बहुत ज्यादा मज़ा देता है।
कुछ देर तक हम दोनों ने इसी तरह से मज़े लिए।
थोड़ी देर बाद मैं चेयर पर से उतर गया।  अब मैंने कल्पना मैडम की गांड को चेयर पर टिकाकर एक तरफ उनका मुंह लटका दिया और दूसरी तरफ उनकी टांगे कर दी जिससे मैडम की चूत ऊपर ही ओर खुल गई। अब मैडम के लंबे लंबे बाल नीचे फर्श को टच कर रहे थे।तभी मैंने एक तरफ से मैडम के मुंह में लंड डाल दिया और फिर मैडम के ऊपर पूरा झुककर मैडम की आग जलती हुई चूत को चाटने लगी।मुझे मैडम की गरमा गर्म चूत चाटने में बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था।इधर मैडम भी बिंदास होकर मेरा लन्ड चूस रही थी।हम दोनों चुदाई के अथाह सागर में डूबकर मजे ले रहे थे।मैडम ने चूस चूसकर मेरा लन्ड पूरा लाल कर दिया और मैंने भी मैडम की चूत में उबाल ला दिया।
मैं– आह आह मैडम कसम से आज तो मज़ा आ गया।
कुछ देर इस तरह से मजे लेने के बाद मैंने मैडम को खड़ा कर लिया।अब मेडम की गांड मारने की बारी थी।
कहानी जारी है,,,,,,,,,,,,,,,,,,
आपको मेरी ये कहानी कैसी लगी मुझे मेल करके जरूर बताएं– [email protected]

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!