मामी की चूत से लोड़े का मिलन-4

Mami ki choot se lode ka milan-4

मैंने देखा कि अब मेरी मामी मज़े से मचल उठी और तभी मैंने उसकी एक जांघ को अपने कंधे पर रख लिया और अपने मस्त जोशीले लंड को उनकी गीली कामुक चूत में टिका दिया और एक जोरदार धक्का देकर चूत के अंदर डाल दिया और फिर उसके बाद मैंने उसको इतनी रफ़्तार से धक्के देकर चोदना शुरू किया कि वो पूरी हिलने लगी.

दोस्तों मैंने महसूस किया कि मामी की चूत अब पहले से ज्यादा गीली चिकनी हो चुकी थी इसलिए मुझे धक्के देकर उनको चोदने में और भी ज्यादा मज़ा आ रहा था, क्योंकि मेरा लंड उनकी चूत में बड़ी ही आसानी से फिसलकर अंदर बाहर हो रहा था और धक्के दे देकर मैंने मामी की चूत को पूरी तरह से ढीली कर दिया था और मुझे डर था कि कहीं मामा को पता ना चल जाए और वो मुझसे नाराज न हो जाए, क्योंकि पहले मामी की चूत बहुत टाइट थी और मैंने उसको अपने लंड से चोद चोदकर इतनी ढीली कर दी थी.

मैंने कुछ देर धक्के देने के बाद अपनी चुदक्कड़ मामी से कहा कि चलो अब हम कोई दूसरी तरह से मज़े भी करके देखते है और वो तुरंत तैयार हो गई. अब मामी ने मुझे पलंग पर एकदम सीधा लेटने के लिए कहा तो में लेट गया और उसके बाद वो मेरे ऊपर चड़ गयी.

उसके बाद वो अपने पपीते के आकार के बूब्स के हल्के भूरे रंग के तने हुए निप्पल को नीचे झुकते हुए मेरे होंठो के पास लाने लगी. अब में उनके निप्पल को अपने मुहं में लेकर पहले कुछ देर चूसने लगा और उसके बाद में उनको हल्के से काटने भी लगा था, जिससे उनको दर्द हुआ.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  बड़ी गांड वाली मामी को जमकर चोदा उसके घरपर

मैंने उनके दोनों बूब्स को दबा दबाकर निप्पल को चूसकर एकदम लाल कर दिया था और गोरे रंग के निप्पल का रंग अब लाल हो चुका था. फिर वो उसके बाद मेरे लंड को पकड़कर मेरे लंड के टोपे से अपनी चूत के दाने को सहलाने लगी और उसके बाद धीरे धीरे वो उसको अंदर डालने भी लगी थी.

जब लंड पूरा का पूरा चूत के अंदर जा पहुंचा तो मामी मेरे लंड के ऊपर बैठकर उसकी सवारी करने लगी और अब वो ऊपर नीचे होकर धीरे धीरे हिलने लगी, जिसकी वजह से मुझे बहुत मज़ा आ रहा था और में उनकी कमर को पकड़कर सहारा देकर उनका साथ देने लगा था और जब वो मेरे ऊपर बैठकर ऊपर नीचे हो रही थी तो तब उनके बड़े बड़े बूब्स भी हिल रहे थे वो मस्त सेक्सी नज़ारा में कभी भी नहीं भूल सकता.

अब में मामी के गोरे गोरे बूब्स और उनकी गुलाबी गुलाबी निप्पल को अपने हाथ से सहला दबा भी रहा था और अब वो भी मेरे हाथ पर अपने हाथ को रखकर अपने बूब्स को दबा भी रही थी. वो उस समय बहुत जोश में थी इसलिए वो यह सब करने लगी थी.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

मैंने फिर मामी की गांड को कसकर पकड़ा और में उसको ज़ोर से दबाकर अपनी मुठ्ठी में कसने लगा और फिर कुछ देर धक्के देने के बाद मैंने अब मामी को अपने नीचे लेटा दिया और में उनके उपर मेढक की तरह चढ़कर बैठ गया.

में मामी को ज़ोर ज़ोर से धक्के देकर उनकी चुदाई करने लगा था. अब मामी अपने दोनों हाथों से मेरी गांड को पकड़कर मुझसे कहने लगी उफ्फ्फफ्फ्फ़ हाँ और ज़ोर से धक्के लगा आह्ह्ह्ह हाँ ऐसे ही धक्के देकर चोद मुझे आईईईई आज तुम मुझे जमकर चोदो, में कब से ऐसे मज़े मस्ती के लिए तरस रही हूँ आज मुझे कोई दमदार पूरे मज़े देने वाला लंड मिला है आज तू मुझे प्यासा मत छोड़ना, देता जा बस ऐसे ही धक्के में तुझसे कुछ भी नहीं कहूंगी और आज तू मेरी इस चूत को चोद चोदकर इसका भोसड़ा बना दे और इतना कहने के साथ ही साथ वो भी अपनी तरफ से मुझे धक्के मारने लगी थी.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मामी की चूत लाल कर दी

मैंने उनको धक्के देकर चोदना अब पहले से और भी तेज़ कर दिया था और तभी मैंने दो चार धक्के देने के बाद महसूस किया कि अब मामी की चूत से पानी निकल गया और वो झड़ने के बाद पूरी तरह से खुश चेहरे से संतुष्ट नजर आ रही थी वो एकदम निढाल होकर पड़ गई, लेकिन मैंने तब भी अपने धक्के देने बंद नहीं किए और में धक्के लगाता रहा और कुछ देर धक्के देने के बाद मैंने भी झड़कर अपना वीर्य उनकी चूत के अंदर ही गिरा दिया, जिसकी वजह से मेरा भी जोश धीरे धीरे ठंडा होता चला गया तब भी मेरा लंड उनकी चूत में ही था.

मामी ने मुझसे कहा कि मुझे ऐसे कभी भी किसी ने चोदकर यह सभी मज़े नहीं दिए है, मुझे तुम्हारा चुदाई करना का तरीका और यह जोश देखकर ख़ुशी के साथ साथ बड़ी हेरानी भी हो रही है, तुम बहुत अच्छी चुदाई करते हो तुम्हारे साथ में आज मज़ा ही आ गया.

दोस्तों में अब उस दमदार चुदाई की वजह से बिल्कुल ही थककर उनके ऊपर पड़ गया और अब में कुछ भी करने की बिल्कुल भी हालत में नहीं था. मेरे हाथ पैरों ने मुझे अब कुछ भी करने से जवाब दे दिया था और तभी मैंने पास की दीवार पर लगी घड़ी की तरफ देखा तो उस समय चार बज रहे थे.

दोस्तों यह ऐसी ही मस्त चुदाई मैंने पूरे 6 दिनों तक लगातार की और उनको मैंने हर बार जब भी मुझे मौका मिलता चोदकर चुदाई के मस्त मज़े दिए और फिर जब भी में अपनी मामी के घर पर जाता हूँ तो में अपनी मामी को किसी ना किसी बहाने से कभी होटल में ले जाकर तो कभी घर में ही चोदता हूँ और वो हर बार मेरा पूरा पूरा साथ देती है. हम दोनों चुदाई करके हमेशा बहुत ही खुश रहते है.

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!