मरीज का मोटा लंड पकड़ कर खुद मरीज बन गई-4

(Mareej Ka Mota Lund Pakad Kar Khud Mareej Ban Gai-4)

दोस्तों अब तो मेरे मुँह से उस दर्द की वजह से आह्ह्हह्ह्ह्ह ऊऊईईईई माँ की बड़ी तेज आवाज निकल गयी और में दर्द की वजह से छटपटाने लगी थी। अब उसका लंड अपना अंदर जाने का रास्ता बनाते हुए आगे बढ़कर मेरी चूत के आखरी हिस्से पर जाकर रुक गया था। फिर उसने बिना देर किए एक और ज़ोरदार धक्का लगा दिया, जिसकी वजह से उसका पूरा लंड मेरी चूत के अंदर चूत को फाड़ता हुआ समा गया। अब मेरे मुँह से निकल गया ऊऊफ्फ्फ्फ़ क्या तुम आज मुझे मार ही डालोगे? ऊईईई माँ में मर गयी। अब में बुरी तरह से दर्द की वजह से तड़पने लगी थी, वो अपने लंड को पूरा अंदर डालकर कुछ देर वैसे ही रुक गया और फिर धीरे-धीरे मेरा दर्द गायब हो गया। फिर उसने अपने लंड को थोड़ा बाहर निकालकर वापस से अंदर डाल दिया और फिर तो उसने बहुत ज़ोर-ज़ोर से धक्के लगाए। अब में भी पूरे ज़ोर से नीचे से अपने कूल्हों को उठाकर उसका पूरा साथ देने लगी थी। अब उसका लंड अंदर बाहर, अंदर बाहर जबरदस्त धक्कों के साथ मेरी चूत में आने जाने लगा था। फिर करीब बीस मिनट के बाद उसने मेरी चूत के अंदर अपना ढेर सारा वीर्य निकाल दिया।

दोस्तों में तो अब तक तीन बार अपना पानी निकाल चुकी थी, वो उसी समय थककर मेरे बदन पर लेट गया और में तो उसकी मर्दानगी की कायल हो चुकी थी। फिर वो कुछ देर बाद मेरे पास में लेट गया और में उस हालत में उसकी छाती के ऊपर अपना सर रखकर उसकी छाती के बालों से खेलने लगी थी और अब वो भीमेरे सर के बालों से खेल रहा था। फिर मैंने उसको कहा कि तुम्हारा बहुत बहुत धन्यवाद में आज बहुत खुश हूँ, मुझे चोदने वाला एक जबरदस्त लंड है जिसके धक्के खाकर तो मेरी हालत पतली हो गयी, लेकिन खुश मत होना में आज सारी रात तुम्हारी बराबरी करूँगी। अब वो मेरे मुहं सेयह बात सुनकर मंद मंद मुस्कुरा रहा था, मैंने उसकी आँखों में देखते हुए पूछा कि अब बोलो क्या तुम मुझसे प्यार करते हो? देखो यह चादर हम दोनों के मिलन की गवाह है, मैंने चादर पर लगे खून के धब्बों की तरफ इशारा किया था। फिर उसने अपना सर हाँ में हिलाया और फिर मैंने उसको पूछा क्या तुम मुझसे शादी करोगे? धत में भी कैसी पगली हूँ? आज तक मैंने तो तुमसे पूछा भी नहीं कि तुम शादीशुदा हो कि नहीं और अपना सब कुछ मैंने तुम्हें दे दिया।        “Mareej Ka Mota Lund”

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Raat ki baat-1

फिर उसने अपने होंठो पर एक कातिल मुस्कान लाते हुए पूछा कहा कि अगर में कहूँ कि में शादीशुदा हूँ तो? तब मैंने उसको कहा कि तो क्या? वो मेरी किस्मत है, अब तो तुम ही मेरे सब कुछ हो, चाहे जिस रूप में मुझे स्वीकार करो मुझे उस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता। अब उसको यह सभी बातें कहते हुए मेरी आंखे नम हो चुकी थी। फिर उसने हंसते हुए कहा कि जब तुमने सब कुछ सोच ही लिया तो फिर तुम जब चाहो फैरो का बंदोबस्त कर लो, में अपने घर भी खबर कर देता हूँ। अब मैंने खुश होकर उसको कहा कि हाँ जरुर और फिर मैंने अपने दोनों हाथ हवा में ऊँचे करदिए और फिर उस पर में किसी भूखी शेरनी की तरह टूट पड़ी थी। अब इस बार उसने भी मुझे अपने ऊपर खीच लिया था और दोबारा से हमारे बीच एक और जोरदार चुदाई का दौर शुरू होगया।
“Mareej Ka Mota Lund”

दोस्तों इस बार में उसके ऊपर चढ़कर उसके लंड पर चढ़ाई कर रही थी, क्योंकि अब शरम किस लिए? वो तो अब मेरा होने वाला पति था। फिर कुछ देर तक मज़े करने के बाद वो मुझे घोड़ी बनाकर पीछे से अपना लंड डालकर धक्के मारने लगा था। अब मेरी नजर अचानक से सिरहाने की तरफ ड्रेसिंग टेबल पर लगे कांच पर गयी और मैंने देखा कि उस समय हमारी बड़ी ही शानदार जोड़ी लग रही थी।

अब वो खुश होकर पीछे से लगातार धक्के लगा रहा था और उन तेज धक्कों की वजह से मेरे बड़े आकार के बूब्स लगातार आगे पीछे होकर उछल रहे थे। फिर में कुछ देर बाद आसन को बदलकर कांच के सामने आ गयी थी औरमैंने देखा कि उसका मोटा काला लंड मेरी चूत में जाता हुआ बहुत मस्त लग रहा था। अबमें एक के बाद एक कई बार लगातार अपना पानी छोड़ रही थी, उसके बाद भी वो बहुत देर तक मेरी चुदाई करता रहा। फिर थोड़ी देर के बाद उसने अपना ढेर सारा वीर्य मेरी चूत में डाल दिया और उसका वीर्य मेरी चूत से उफन कर बिस्तर पर गिर रहा था। अबवो थककर मेरे ऊपर गिर पड़ा था और हम दोनों ही पसीने से लथपथ हो चुके थे, हमारी सांसे बड़ी तेजी से चल रही थी। फिर कुछ देर तक हम दोनों एक दूसरे को चूमते हुए ऐसे ही लेटेरहे, मैंने उसको पूछा कि तुम खुश तो हो ना? तब इशान ने कहा कितुम जैसा साथी पाकर कौन खुश नहीं होगा? हर बच्चा परी के सपने देखता है, लेकिन मुझे तो आज सच में परी मिल गयी है। फिर हम दोनों साथ-साथ नहाए और तैयार होकर फिर मैंने खाना बनाकर उसको अपने हाथों से खिलाया और उसने भी मुझे खिलाया।               “Mareej Ka Mota Lund”

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  बाबा जी की यात्रा-1

फिर हम वापस बेडरूम में आ गये और फिर रात भर हमारा प्यार वैसे ही चलता रहा और सुबह होने तक तो उसने मेरा बड़ा बुरा हाल कर दिया था। अब मुझे ऐसा लग रहा था कि मानो मुझे चक्की में डालकर पीस दिया हो और मेरीचूत का हाल तो बहुत ही बुरा था, पहले ही मिलन में इतनी घिसाई तो उसकी हिम्मत तोड़ने के लिए बहुतथी। अब मेरी चूत लगातार उस ताबड़तोड़ चुदाई की वजह से लाल होकर सूज गयी थी और अब मुझे वहाँ पर फोड़े की तरह बड़ा तेज दर्द हो रहा था।
“Mareej Ka Mota Lund”

फिर सुबह तक तो मेरे शरीर में उठकर खड़े होने की ताकत भी नहीं बची थी और सुबह के करीब छे बजे वो उठा और तैयार होकर मेरे घर से बाहर निकल गया, लेकिन जाने से पहले उसने मेरे होंठो पर एक चुंबन देकर मुझे उठाया था। फिर उस समय मैंने उसके सामने विनती करते हुए कहा कि अब तुम मुझे अकेला छोड़कर मत जाओ और तब उसने मुझसे कहा कि पागल लड़की है, पहले हमारी एक बार शादी हो जाने दे उसके बाद तू मुझे हमेशा के लिए बाँध लेना। फिर मैंने कहा कि अच्छा ठीक है, लेकिन अभी तुम मुझे सहारा देकर उठा तो सकते हो और तब उसने मुझे सहारा देकर उठाया।

फिर उसके जाने के बाद में सोफे पर ढेरहो गयी और बस उसी के साथ बिताई पूरी रात हर एक पल के बारे में सोचती रही, मेरी आँखों के सामने से उसका चेहरा जाने को तैयार ही नहीं था। फिर सुबह मुझसे मिलने मेरी एक मात्र सहेली मानसी आ गई और उसने मेरी हालत को देखकर बड़े ही शरारती अंदाज में मुझसे पूछाकि क्या हुआ मेरी बन्नो रानी? तब मैंने सब सच सच उसको अपना पूरा हाल वो सभी बातें बताना शुरू किया और वो भी उन बातों को सुनकर बहुत खुश हुई। फिर एक ही महीने भर के बाद हम दोनों ने एक सादे समारोह में एक मंदिर में जाकर शादी कर ली और तब मेरे घरवालों ने मुझे समझाने की बहुत कोशिश कि, लेकिन वो मेरा निश्चय देखकर शांत हो गये थे।
“Mareej Ka Mota Lund”

हिंदी सेक्स स्टोरी :  कोमल की कोमल कोमल चूत

फिर मैंने अपने तबादले के लिए भी बात चलाई जो कि बड़ी ही जल्दी मंजूर भी हो गया था। फिर नई जगह पहुंच जाने के बाद मैंने अपनी शादी की बात को सभी को बता दिया, लेकिन तब तक में पहले से ही तीन महीने की गर्भवती थी। फिर मेरी पक्की सहेली मानसी ने भी मेरे साथ ही उसी जगह के लिए तबादला ले लिए जो कि मंजूर भी हो गया था। अब इशान ने एक छोटी मोटी सी नर्सरी खोलली है और अब हम दोनों अपने इस जीवन में बहुत खुश है।                “Mareej Ka Mota Lund”

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!