मौसी को रात में पापा ने पेला दिन में मैंने ठोका–1

Mausi ko raat me papa ne pela din me maine thoka-1

लंड और चूत के सभी खिलाड़ियों को मेरा प्रणाम। मैं रोहित आप सबके बीच एक नई कहानी लेकर फिर से हाज़िर हूं।उम्मीद करता हूं आपको मेरी कहानी लंड मसलने पर और चूत में उंगली डालने पर मजबुर कर देगी।
मैं 25 साल का नौजवान लौंडा हूं। अब तक मेरा लन्ड अच्छी अच्छी मालों की झीलों का पानी निकाल चुका है।मेरे लन्ड को पकी पकाई चूत बहुत ज्यादा पसंद है।मेरा लन्ड 7 इंच का है जो अच्छी अच्छी मालों की हवा टाइट कर देता है।
मेरी ये कहानी मेरे कॉलेज टाइम की है।उस टाइम मै लगभग 20 साल का था और दो तीन चूत की सील तोड़ चुका था।इसके अलावा मैंने मेरी पड़ोसी आंटी को भी दिन में तारे दिखा दिए थे।

गर्मी का मौसम चल रहा था। उस टाइम मेरी गरिमा मौसी मामाजी के यहां से प्रोग्राम में लौटते टाइम मेरी मम्मी के साथ हमारे घर आई थी।मेरी गरिमा मौसी उस टाइम लगभग 34 साल की थी।ये मेरी सबसे छोटी मौसी से बड़ी थी। गरिमा मौसी बहुत ज्यादा चिकनी गौरी थी।उनका पूरा जिस्म बहुत ज्यादा भरा हुआ था।मौसी ने नैन नक्श , गुलाबी होंठ, गौरी चिकनी कलाइयां ,उठी हुई गांड़ हर किसी को लंड मसलने पर मजबुर कर दे।
मौसी के बड़े बड़े बूब्स लगभग 36 इंच के थे। साड़ी में से मौसी के बूब्स की कसावट बहुत अच्छी तरह से नजर आती थी।मौसी के बूब्स को देखकर कई बार मेरे दिमाग़ में मौसी के लिए तड़प उठती थी लेकिन फिर मै दूर हट जाता था।मौसी की चिकनी कमर लगभग 34 साइज की थी।उनकी कमर पर चमड़ी कई बल खा रही थी।

मौसी की उठी हुई गांड़ लगभग 34 साइज की थी।साड़ी में मौसी की गांड की कसावट मुझे पागल कर जाती थी।मौसी की गांड को देखकर कई बार मै मेरे लन्ड को मसल चुका था।
मतलब यो कह सकते है कि मौसी लंड को मज़ा देने वाली एक हॉट सेक्सी माल है। जिसको भी मौसी मज़ा देती होगी उसके तो भाग ही खुल जाते होंगे।
मैं तो मौसी को देख देखकर आहे भरता था लेकिन उन्हें चोदने का सपना ,सिर्फ सपना ही था।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Anita ki chudai

मामाजी के यहां से आने के बाद मम्मी और गरिमा मौसी ने आराम किया।फिर दोनों ने मिलकर खाना बनाया।फिर रात को 8 बजे करीब मम्मी पड़ोसी भाभी के यहां संगीत प्रोग्राम में चली गई और मैं दोस्तो के साथ नाइट वॉक पर चला गया। अब घर में सिर्फ पापा और गरिमा मौसी ही थी। रात के लगभग 9:30 बजे मै घर वापस आया तो देखा गेट खुला हुआ था।जैसे ही मै अंदर गया तो मम्मी पापा के बेडरूम से चुदाई की आवाजे आ रही थी।
मैं तुरंत समझ गया कि पापा गरिमा मौसी को बजा रहे हैं लेकिन फिर मैंने सोचा एकबार करीब से देखा जाए! आखिरकार इतने मज़े कौन लेे रहा है।तभी मै रूम के पास पहुंच गया। रूम के अंदर से आईईईई आईईईई आईईईई ओह जीजाजी आह आह आह ओह जीजाजी जैसी सेक्सी आवाजे आ रही थी।

मैं तुरंत समझ गया कि ये गरिमा मौसी ही है और पापा मौसी की बखिया उधेड़ रहे है। अब मैंने सोचा क्यों नहीं पूरा नज़ारा देखा जाए? तभी मै चेयर उठाकर ले आया और चेयर पर चढ़कर रोशनदान से चुदाई का नज़ारा देखने लगा।
देखा तो पापा गरिमा मौसी को फोल्ड करके अच्छी तरह मौसी को चोद रहे थे।पापा ने मौसी को पूरी लपेट रखा था।पापा और मौसी दोनों पूरे नंगे थे।मौसी ज़ोर ज़ोर से चीख रही थी।
मौसी– आईईईई आईईईई ओह आह अहा आईईईई।
पापा– आज तो गरिमा तेरी अच्छी से बजाऊंगा।बहुत दिनों बाद मौका मिला है।

मौसी– जीजाजी ,मै भी बहुत दिनो से आपके लंड के लिए तड़प रही थी।आज मेरी चूत की पूरी खुजली को मिटा दो।
पापा– हां गरिमा,आज तेरी चूत का पूरा पानी निकाल दूंगा।
मौसी– हां जीजाजी निकाल दो।
दोनो के दोनो चुदाई की आग में बुरी तरह से जल रहे थे। पापा ताबड़तोड़ तरीके से मौसी को चोद रहे थे।उनका ये नज़ारा देखकर मेरा लन्ड भी खड़ा हो गया और मै लंड मसलने लगा।तभी मेरे दिमाग की बत्ती जली और मैंने पापा और मौसी की चुदाई के नज़ारे को मोबाइल में कैद कर लिया। अब मैंने सोचा आज तो नहीं लेकिन कल तो मौसी की चूत मेरे लन्ड के नीचे आयेगी ही।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  मौसी को लंड दिखा कर पेला

खैर दोनो ने मम्मी के आने के डर से चुदाई की रस्म जल्दी खत्म कर ली। अब मैं तुरंत बाहर आ गया और फिर 11:30 बजे वापस आया।तब तक मम्मी भी आ चुकी थी। अब मैं लंड को पकड़ कर सो गया और सुबह होने का इंतजार करने लगा। सुबह होने पर पापा ऑफिस चले गए।फिर लगभग 10 बजे मम्मी उनकी महिला पार्टी की मीटिंग में चली गई। अब घर में मै और गरिमा मौसी ही बचे थे। अब गरिमा मौसी को चोदने के प्लान को अमलीजामा पहनाने का टाइम आ चुका था।
मैं गरिमा मौसी के पास गया।उस टाइम मौसी मिरर के सामने खुद को सेट कर रही थी।आज मौसी ने हरे रंग की साड़ी पहन रखी थी।उनके जिस्म से शानदार महक आ रही थी।मौसी को देखते ही मेरा लन्ड डोलने लगा।तभी मैंने मौसी से कहा– मौसी आज तो आप बड़ी सुंदर लग रही हो।

मौसी– थैंक्स रोहित।
मैं–रात तो आपने खूब मजे लिए मौसी।
मेरी बात सुनकर मौसी एकदम से चौंक गई।
मौसी– क्या मतलब?
मैं– मतलब वहीं जो आप समझ रही हो।
मौसी– मुझे कुछ समझ में नहीं आया।
मैं– समझ में नहीं आया या फिर अनजान बनने की कोशिश कर रही हो मौसी। मुझे सब पता है आपने रात को पापा के साथ खूब मजे लिए थे।

मौसी– क्या बकवास कर रहा है तू।
मैं– अच्छा आपको बकवास लग रहा है।तो फिर ये देखिए।
तभी मैंने मौसी को वीडियो दिखाना शुरू कर दिया। वीडियो क्लीयर नहीं था लेकिन वीडियो में मौसी और पापा को आसानी से पहचाना जा सकता था। वीडियो देखते ही मौसी के पैरो से ज़मीन खिसक गई।उनका गोरा चिकना जिस्म पसीने पसीने हो गया।
मैं– अब बताओ मौसी?
मौसी– यार रोहित प्लीज तू इसे किसी को मत दिखाना।मेरी बहुत ज्यादा बदनामी होगी। प्लीज रोहित प्लीज।
मैं– मै आपकी काली करतूतें मम्मी को बताऊंगा।आने दो मम्मी को।
तभी मौसी बहुत ज्यादा डर गई।वो हाथ जोड़कर मुझसे मिन्नते करने लगी।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मौसी को सील तोड़कर औरत बनाया-1

मौसी– रोहित भगवान के लिए किसी को कुछ मत बताना।
मैं– नहीं मौसी मै तो सबको बताऊंगा।
मौसी– नहीं रोहित, प्लीज मत बताना किसी को भी।मेरी लाइफ खराब हो जाएगी।
अब तो मौसी मेरे सामने रोने लगी गई।वो मुझसे मिन्नते कर रही थी।तभी मैंने मौसी को बेड पर बैठाया।
मैं– अच्छा चलो मै वीडियो को किसी को नहीं दिखाऊंगा लेकिन………………..मुझे भी तो कुछ चाहिए।
मौसी– क्या चाहिए तुझे?
मैं– वहीं जो आपने पापा को दिया है।

मेरी बात सुनकर मौसी चुप हो गई।मौसी ने कुछ नहीं कहा।तभी मैंने मौसी से फिर पूछा– बताओ ना मौसी दोगी ना।लेकिन मौसी फिर नहीं बोली। अब मैं मौसी की खामोशी को समझ गया।फिर थोड़ी देर बाद मौसी ने कहा– तुझे जो कुछ करना है वो कर लेे लेकिन किसी को कुछ नहीं बताना।
मैं– मौसी किसी को कुछ नहीं बताऊंगा।
मौसी की हां सुनकर मेरे लन्ड को पंख लग चुके थे। अब मैंने तुरन्त मैन गेट बंद कर दिया और फिर बेडरूम का गेट भी बंद कर दिया।

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!