मेरा स्कूल टाइम वाला सेक्स जिसमे चूत फटी मेरी

(Mera School Time Wala Sex Jisme Chut Fati Meri)

मैं एक छोटे से शहर की रहने वाली हू. मेरा नाम सोनाली है. मेरी एज 24 यियर्ज़ है. अभी मेरा फिगर 34द-28-36 है. घर मे मम्मी, पापा, बड़ी बहन, मैं और एक छोटा भाई है. मेरी बेहन मुझसे 4 साल बड़ी है और मेरा भाई मुझसे 3 साल छोटा है. मेरे पापा एक गवर्नमेंट जॉब मे है. Mera School Time Wala Sex Jisme Chut Fati Meri.

जब मैं 12त मे थी उस टाइम की स्टोरी है. मेरा स्कूल टाइम से ही बाय्फ्रेंड है जो की मेरे बचपन का दोस्त है. उसका नाम दिव्यांश है. वो बहुत ही क्यूट है. हम दोनो का घर एक ही मुहल्ले मे है.

हम एकदुसरे के घर हमेशा आते जाते रहते है. उस टाइम मोम ने मोबाइल अलाउ नही किया था तो हम लेटर्स लिखते थे. ज्ब भी वो मेरे घर आता या मैं उसके घर जाती या कही भी हम ज्ब कभी भी एकांत जगह मिलता तो हम एक दूसरे मे खो जाते थे. किस करना तो जैसे हमारा डेली रुटीन था.

जब से हम 7 क्लास मे गये थे उसी टाइम से. कभी कभी वो मेरे छोटे छोटे बूब्स को भी दबा देता था. चूत मे उंगली भी करता था मैं भी उसका मूठ मार देती थी. लेकिन इसे आगे हम कुछ नही कर पाते थे. करना तो मैं भी चाहती थी लेकिन कभी मौका ही नही मिलता था.

हालाँकि हमे साथ घूमने की आज़ादी थी हुमारे घरवालो की तरफ़ से. क्यूकी हम चाइल्डहुड फ्रेंड्स थे. मैं हमेशा घर पर झूठ बोल देती थी ग्रूप स्टडी का और दोनो पूरे टाइम मज़े करते थे बाइक से घूमते थे.

मैं बाइक पर उससे बहुत चिपक कर बैठती थी ऐसे की मेरे बूब्स आंड उसके बीच कोई गाप नही रहती थी की हवा भी निकल सके हुमारे बीच से. हम दोनो तड़प रहे थे सेक्स करने के लिए. हमने बहुत बार होटेल रूम बुकिंग करने की भी सोची थी. लेकिन वो रिस्की लग रा था तो हमने उस प्लान को कांसेल कर दिया.

नवेंबर का महीना था शादियो का सीज़न चल रा था. हुमारे मुहल्ले मे भी एक दीदी थी उनकी शादी थी. हम दोनो ने प्लान बनाया था की उनके शादी के दिन हमारे घर मे कोई नही रहेगा 4-5 घंटो के लिए उसी टाइम हम सेक्स कर लेंगे. आख़िर वो दिन भी आगया. मैने अपनी चूत को क्लीन शेव किया था उस दिन सुबह से ही मैं सज रही थी.                                   “School Time Wala Sex”

दीदी ने कह भी दिया था.. इतना क्या साज रही है मॉर्निंग से ही? दूसरे की शादी मे जाना है. तेरी शादी नही है आज. मैं सोच रही थी हा शादी तो किसी और की है लेकिन सुहागरात तो मुझे मनाना है. लेकिन मैने बोला कहा सज रही हू दी ?

शाम मे हम सभी शादी मे गये. वहाँ उसकी फॅमिली पहले से ही आ चुकी थी. वो मुझे ही देख रा था वो क्या वहाँ पर जीतने लोग आए थे सभी हम दोनो बहनो को ही देख रहे थे. वो मेरे पास आ गया और मेरी तारीफे करने ल्गा मेरे आँखो मे देख कर.

हमे कोई डर भी नही था क्यूकी किसी को हम पर शक नही होगा बिकॉज़ हम फ्रेंड्स थे और हमेशा दूसरो के सामने फाइट करते रहते थे. वो भी बहुत हॅंडसम आंड क्यूट दिख रा था.

वो मेरे और करीब आया पलक झपकते ही मेरे गाल पर किस कर दिया सबके सामने. मैं एकदम से चौंक गयी उसकी इस हरकत से. लेकिन हमारा भाग्य सही था की किसी ने हमे देखा नही था क्यूकी बारात आ गयी थी और सारे लोग उसमे बिज़ी हो गये.

मैने पहले उसके हाथ पर बहुत तेज चिकोटी कटी और बोली कोई देख लेता तो? उसने बोला तो क्या देख लेता तो देख ले प्यार करता हू. किसी और को नही अपने गफ़ आंड जो की मेरी होने वाली वाइफ है उसे किस कर रा था. मैं कुछ भी नही बोल पाई बस उसके भी गाल पर एक किस कर दिया. उसकी खुशी का तो ठिकाना ही नही रा.                           “School Time Wala Sex”

वो अपनी फॅमिली को ग्रूप स्टडी करनी है बोल के वहाँ से चला गया.कुछ देर बाद मैं सर दर्द का बहाना बना कर वहाँ से चली गयी. घर आते ही मैं अपने रूम को सही करने ल्गी. कुछ ही देर बाद डोरबेल बजी मुझे पहले से ही पता था की कौन है.

जैसे ही मैने डोर खोला दिव्यांश सामने खड़ा था उसने अपना बॅकपॅक भी लिया था. सही मे स्टडी करनी है क्या? मैने मज़ाक मे उससे पूछा. इतना बोलते ही वो मेरे होंठो पर टूट पड़ा और मैं भी उसका पूरा साथ दे रही थी.

मैने उसे अलग हो कर उसे अंदर आने को बोली फिर डोर लॉक की. मैं पीछे मूडी तो वो मुझे फिर से स्मूच करने ल्गा. मैने उस दिन ल़हेंगा- चोली पहनी थी. उसका एक हाथ मेरे नितंबो पर था और वो धीरे धीरे ल़हेंगे के उपर से मेरी गान्ड दबा रा था.

दूसरे हाथ से वो मेरी एक चुचि को दबा रा था. वो मेरी चोली को वही पर उतरने ल्गा था लेकिन उसे माना किया और बोली बेडरूम मे चलो. इतना कहते ही वो मुझे उठा कर मेरे बेडरूम मे लेकर आया और बेड पर लिटा दिया. और अपना बागपाक्क और जॅकेट वही किनारे रख दिया.                                                             “School Time Wala Sex”

मेरी साँसे बहुत तेज चल रही थी. वो फिर से मेरे होंठो को चूसने ल्गा और अपने दोनो हाथ मेरे पीठ पर ले जाकर मेरी चोली खोल दी आंड ब्रा के उपर से ही मेरे बूब्स दबाने ल्गा. वो मेरे ब्रा को भी उतार दिया. मेरे बूब्स को एक हाथ से दबा रा था और एक निपल को चूस रा था.

मैं अजीब अजीब सी आहह आहह की आवाज़े निकल रही थी. बारी – बारी उसने मेरे दोनो बूब्स को चूसा. अब वो मेरे पेट को चूम रा था और एक हाथ से ल़हेंगे के उपर से ही मेरी चूत को धीरे धीरे मसलने ल्गा. मुझसे अब रुका नही जा रा था. मेरे हाथ उसके बालो मे थी.

मैने उसके सर को पकड़ कर उसे उपर खिछा और उसके होंठो को बहुत तेज तेज चूसने ल्गी. उसकी टी-शर्ट उतार दिया मैने और उसके चेस्ट और नेक पर किस करने ल्गी उसे लोवे बाइट्स देने ल्गी. वो भी बहुत एग्ज़ाइटेड हो गया आंड मेरे गले पर लोवे बाइट्स करने ल्गा.

मैं उसका जीन्स निकाल दी. बॉक्सर के उपर से ही उसके खड़े लंड को पकड़ के धीरे धीरे मसलने ल्गी. उसके बॉक्सर को मैने निकल दिया और उसे मैने अपने होंठो से उसके खड़े लंड को टच करने ल्गी. वो मेरे बाल पकड़ लिया और अपना लंड मेरे मूह को पेलने ल्गा.

मैं भी उसके लंड को पूरे मज़े से चूस रही थी. हालाँकि मैने पहले भी उसका लंड चूसा था एक पार्क मे लेकिन पार्क होने के करना मैं एंजाय नही कर पाई थी ना ही उसे मज़ा आया था. आज मुझे उसका लंड चूस कर बहुत मज़ा आ रा था.                       “School Time Wala Sex”

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

उसका लंड 7 इंचस के करीब था मैने टेप से मेषर्मेंट तो नही किया था लेकिन हाथ मे पकड़ कर मालूम हो गया था. लंड चूस्ते चूस्ते कुछ देर बाद मैं थक गयी और लंड को मूह से निकाल दिया जो की अभी मेरी थूक से पूरी तरह गीला हो चुका था.

वो मेरे चुचियो को बहुत मजबूती से मसल रा था. जिससे मैं कसमसा गयी. वो मेरा ल़हेंगा उतार दिया. पानटी के उपर से ही चूत को मसलने ल्गा. मेरी थाइ(जाँघो) को चूमने ल्गा.

मेरी पनटी को भी उतार दिया उसने और मेरी क्लीन शेवन चूत को किस करने ल्गा. फिर वो मेरी चूत को चूम रा था. मेरी चूत के चारो तरफ अपनी जीभ से चाट रा था. फिर वो अपनी जीभ मेरी चूत मे घुसा के लीक करने ल्गा.

फिर अपनी एक उंगली मेरी चूत मे घुसाने ल्गा. अब मुझसे रुका नही जा रा था मैं उसका लंड पकड़ कर अपने चूत पर सेट किया और कमर उच्छाला लेकिन लंड मेरी चूत मे न्ही गया लंड फिसल गया.

उसने लंड को चूत पर फिर से सेट किया और मेरे उपर आकर मेरे होंठो को अपने होंठो से क़ैद किया, हंतो को बूब्स पर और एक तेज झटका. उस झटके ने मुझे पूरी तरह से हिला के रख दिया. ऐसा लग रा था की किसी ने मेरी चूत मे करेंट ल्गा दिया है.             “School Time Wala Sex”

मेरी आँखो से आँसू निकल गये. मेरी आवाज़ भी नही निकल रही थी. मेरे दोनो हाथ उसके पीठ पर थी और मेरे लंबे नाइल्स उसके पीठ मे उस धक्के के साथ ही चुभ गये थे मैं उसके पीठ को खरॉच रही थी. जिससे उसके भी आँसू निकल गये. वो पूरी तरह से रुक गया और स्मूच करने ल्गा जब मैं नॉर्मल हुई तो वो फिर से धीरे धीरे लंड को चूत मे हिलने ल्गा.

फिर एक धखा और पूरा लंड मेरी चूत के अंदर. इस बार मेरी चीख निकल गयी. और मैने उसे एक तेज चाटा मारा और रोने ल्गी लेकिन उसने फिर से मुझे किस करने ल्गा. कुछ देर बाद मुझे भी मज़ा आने ल्गी. और मैं उसके गाल पर किस करने लगी जहा मैने चटा मारा था.

वो भी मेरे बालो को सहला रा था. हम एक दूसरे के आँखो मे देख रहे थे और वो मुझे चोद रा था. मैने उसके होंठो को चूसने ल्गी और उसके होंठो को इतना ज़ोर से चूसा की उसके होंठो से खून निकालने लगा.

वो तेज धक्के मारना शुरू कर दिया और मेरे चुचियो को बहुत कस कर मसलने ल्गा मेरी तो जान ही निकल गयी थी. मैं अपनी कमर उठा उठा कर चुदने ल्गी और इस तरह मैं भी उसका साथ दे रही थी.                                    “School Time Wala Sex”

इसी तरह की 5 मिनिट के घमासान चुदाई के बाद मैं काँपने ल्गी मेरी साँसे बहुत तेज हो गयी थी. नवेंबर के महीने मे भी हम दोनो पसीने मे भीग चुके थे. मुझे नही पता था मैं क्यू ऐसे कांप रही हू लेकिन तभी मैं और झटके लेने ल्गी और झड़ने ल्गी.

वो मुझे बहुत कस के पकड़ लिया और अपनी चोदने की स्पीड बड़ा दिया. मुझे ऐसा सुख अभी नही मिला था. अब मैं झड़ कर शांत हो चुकी थी कुछ देर बाद मेरी चूत मे कुछ गर्म सा लिक्विड महसूस हुआ और वो भी ऐसे मेरी चूत मे ही झड़ गया. मेरे उपर ही कुछ देर तक पड़ा रा फिर मेरे साइड मे लेट गया.

कुछ देर रेस्ट करने के बाद मैने बेडशीट चेंज किया जो मेरे खून और हुमारे वीर्य के निशानो के साथ मेरी चुदाई की गवाही दे रही थी. हमने कपड़े पहने और मैने उसे घर जाने को बोली नही तो हमारे घर वाले भी आने ही वेल होंगे.

वो जाने से पहले अपने बाग से चॉक्लेट निकल कर दिया और मुझे फिर से स्मूच करने ल्गा और मेरे बूब्स दबाने ल्गा आंड जाते जाते मेरी पनटी भी लेता गया. मैं भी बहुत थक गयी थी इस लिए अपने रूम मे आकर सो गयी. वैसे भी मैं डोर की दूसरी चाभी मोम के पास थी.    “School Time Wala Sex”