मेरी बीबी को मेरे भांजे ने कुतिया बनाकर चोदा-2

Meri biwi ko bhanje ne choda-2

इस तरह से सब ठीक चलता रहा और 4 महीने गुजर गये। अब मुझे अपनी बीबी माही पर पूरा भरोसा हो गया की अब वो सुधर गयी है और बाहरी मर्दों को नही देखती है। कुछ दिनों बाद मेरे मकान मालिक ने कमरा खाली करा लिया इसलिए मुझे पास के सरिता विहार इलाके में किराए पर घर लेना पड़ा।

कुछ दिनों बाद मुझे पता चला की मेरा दूर का रिश्ते में भांजा लगता है जिसका नाम रतन है वो भी सरिता विहार में रह रहा है। इसलिए मैं रतन से मिलने चला गया। अब रतन अक्सर ही मेरे घर पर आ जाता। मेरी बीबी माही उसके लिए चाय नाश्ता लाती। दोस्तों कभी कभी रतन मेरे घर पर रुक भी जाता। मुझे पता नही चला और माही और रतन में इश्क हो गया। मैंने कुछ दिन शराब पी ली थी। दोस्तों क्या करूं मैं पीने खाने वाला आदमी हूँ। अगर शराब रोज न मिले तो कम से कम 3 4 दिन में तो लगा ही लेता हूँ। मुझे व्हिस्की पीना बहुत पसंद था। मैंने कुछ दिन पी ली और माही को मार पीट दिया। इसी बीच रतन रोज ही मेरे घर आ जाता और माही उसे रो रोकर अपने बदन के निशान दिखाती।

“मत रो मामी!! मत रो!!” रतन कहता और माही के हाथ पैर में निशान पर मलहम लगाने जग जाता। इसी तरह दोनों में कब इश्क हो गया ये माही को नही पता चला। अब दोनों मेरे पीठ पीछे मिलने लगे। जब भी अब मेरा दूर का भंजा रतन मेरे घर पर आता तो अंदर चला जाता और फिर मेरी चुदक्कड बीबी को खूब किस करता। बाहों में भरके मीठी मीठी बाते करता था। दूसरे दिन जब मैं फैक्ट्री गया तो फिर से रतन मेरे पीठ पीछे मेरे घर पर आ गया। आते ही माही भी उसके करीब आ गयी क्यूंकि अब रतन ही ऐसा लड़का था जिससे माही अपना दुःख सुख बाट सकती थी। मेरी चुदक्कड बीबी फिर से अपने घड़ियाली आंसू बहाने लगी। मेरा भांजा उसे चुप कराने लगा।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मामी बनी मेरी चुदक्कड़ बीवी-1

“मामी!! मामा तुमको मारते पीटते है पर मैं तो तुमको प्यार करता हूँ। मैं तुमको दुनिया की हर ख़ुशी दूंगा” रतन बोला और उसको बाहों में भर लिया

फिर उसके गालो पर चुम्मा देने लगा। ऐसे ही माही भी उससे पट गयी और दोनों प्यार करने लगे। धीरे धीरे रतन मेरी बीबी को बिस्तर पर ले गया और जहाँ जहाँ मैंने उस रांड को मारा था वहाँ मलहम लगाने के बहाने रतन ने माही ही पूरी साड़ी उतारवा दी। फिर उसके 36” के मस्त मस्त दूध वाले ब्लाउस को उपर से दबाने लगा। मेरी चुदासी बीबी “उ उ उ उ उ……अअअअअ आआआआ… सी सी सी सी….. ऊँ—ऊँ…ऊँ….” करने लगी। माही को पहले से पराये लंड खाने की आदत थी। वो तो पहले से कई मर्दों से चुदवा चुकी थी। दोनों कबूतर को दबा दबाकर रतन ने मेरी सेक्सी बीबी को गर्म कर दिया। फिर बलौस और ब्रा उतारकर उसके हरे भरे दूध को मुंह में लेकर चूसने लगा। ऐसे में माही भी मना न कर सकी।

“रतन!! मेरे भांजे!! आज तू आपनी मामी को प्यार दे दे। आज मुझे कसके चोद डाल बेटा!!” मेरी बीबी बोली

“मामी!! मैं तुमसे उम्र में 7 साल छोटा हूँ पर आज तुमको इतना चोदूंगा की मामा भी न चोद सके। मेरे मोटे लंड का कमाल तुमने नही देखा!!” बहनचोद रतन बोला

उसके बाद उसने मेरी बीबी के मस्त मस्त दूध को मुंह में लेकर चुसना शुरू कर दिया। माही आज फिर से एक नये मर्द को अपने यौवन का शिकार बना रही थी। जवानी में वो बड़े सुख ले रही थी। अब रतन उसके सुडौल छातियों को मुंह से लगा लगाकर रस पीने लगा तो माही भी उसको दुलार करने लगी। मैं तो उस वक़्त फैक्ट्री में था जब दोनों मजे लूट रहे थे। रतन ने करीब 30 मिनट तक मेरी अल्टर बीबी के दूध हाथ से दबा दबाकर और बड़े कर दिए और मुंह में ले लेकर चूस डाला। मेरी बीबी माही “ हूँउउउ हूँउउउ हूँउउउ ….ऊँ—ऊँ…ऊँ सी सी सी सी… हा हा हा.. ओ हो हो….”करने लगी।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  सुंदर भांजी के साथ चुदाई

“ओह्ह रतन!! तू उम्र में मुझसे छोटा है पर तुझे तो चुदाई शास्त्र बड़े अच्छे से आता है रे!!! तुझे तो काम क्रीडा का हर हुनर पता है!!” माही बोली

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

उसके बाद रतन ने उसकी साड़ी उतार दी। पेटीकोट का नारा खोल उसे भी उतार दिया। रतन ने मेरी बीबी की लाल रंग की चड्डी उतार दी। सामने मेरी बीबी की मस्त मस्त चूत रतन का बेसब्री से इंतजार कर रही थी। रतन अब माही के भोसड़े को बड़े ध्यान से देखना लगा। कितनी गदेदार चूत थी। ये देख देखकर रतन से अपनी आँखों को खूब सेका।

“आओ मेरे भांजे!! आज अपनी गर्म मामी को अपने मोटे लंड से चोद डालो!! देखो अच्छे से चोदना!” माही किसी रंडी की रह बोली

मेरी बीबी का भोसड़ा बहुत बड़ा था। उसे कई मर्दों ने पहले से चोद रखा था। पहले उसके पहले पति ने उसे कुछ साल चोदा था। फिर मैंने चोदा था। फिर दोस्तों मेरी बीबी ने मेरे गली के आवारा लड़के अम्बर से चुदवा लिया था। आज रतन चौथे नम्बर पर मेरी औरत को पेलने जा रहा था। वासना की आग आज रतन के बदन में भडक गयी। वो किसी बिल्ली की तरह माही के भोसड़े पर कूद पड़ा और मुंह लगाकर जल्दी जल्दी चूत चाटने लगा। एक एक कली, एक एक फाड़, एक एक परत को रतन चूसने लगा। अब मेरी सेक्सी बीबी “…….उई. .उई..उई…….माँ….ओह्ह्ह्ह माँ……अहह्ह्ह्हह…”करने लगी। रतन ने 18 20 मिनट तक माही के भोसड़े का दीदार भी किया और खूब चाटा चूसा भी। उसके बाद उस गांडू ने अपनी जींस पेंट उतार दी और फिर अंडरवियर उतार कर जल्दी जल्दी अपने लंड को फेटने लगा। 2 मिनट में उसका लंड लोहे की रॉड की तरह दिखने लगा। बिलकुल लोहे की तरह सख्त। मेरी अल्टर बीबी रतन का लौड़ा देखकर ललचा गयी।

“आजा भांजे!! अपनी मामी को अपना लंड चूसा दे!” माही बोली

रतन बेड पर खड़ा हो गया। उपर पंखा था। माही बेड पर बैठ गयी और जल्दी जल्दी रतन का लंड फेटने लगी। धीरे धीरे लंड पूरी तरह से फूल गया। अब मेरी चुदासी बीबी जल्दी से लंड को मुंह में लेकर चूसने लगी। रतन सी सी सी सी.. हा हा हा …..ऊऊऊ ….ऊँ. .ऊँ…ऊँ करने लगा। माही तो बिलकुल रंडी बन गयी। हाथ से जल्दी जल्दी फेट रही थी और किसी आइसक्रीम की तरह चूस रही थी। आगे पीछे सर हिला हिलाकर। काफी चुसना हुआ। अब रतन ने मेरी बीबी की चोटी को बर्बरता से पकड़ लिया और उसके मुंह में लंड घुसाकर चोदने लगा। माही के बालो की चुटिया को पकड़कर रतन ने अपने लौड़े से उसको मंजन करवा दिया। उसके गाल, नाक और आँखों पर लंड के सुपारे को 15 मिनट तक रगड़ता रहा।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मम्मी बन गयी अंकल आंटी की गुलाम-1

“चल छिनाल कुतिया बन!!” रतन किसी चोदू गुस्सैल आदमी की तरह बोला

मेरी सेक्सी बीबी माही फौरन कुतिया बन गयी। उसके बाद रतन ने अपना लंड पीछे से उसके भोसड़े में निर्ममता से घुसा दिया और चोदने लगा। आज वो किसी नीग्रो की तरह माही को पेल रहा था। माही “……मम्मी…मम्मी…..सी सी सी सी.. हा हा हा …..ऊऊऊ ….ऊँ. .ऊँ…ऊँ…उनहूँ उनहूँ..” चिल्ला रही थी। रतन ने उसके चिकने पुट्ठो को हाथ से खूब मारा और पेलता रहा। आगे घंटे उसने मेरी औरत को चोद चोदकर बुर फाड़ दी और चूत के अंदर ही झड़ गया। दोस्तों जब मुझे इस काण्ड के बारे में पता चला तो मैंने कैराना शहर ही छोड़ दिया। अब अपनी चुदक्कड बीबी माही को लेकर बनारस आ गया हूँ। पर आज ही डर रहता है की कही वो किसी नये मर्द को अपने प्यार के जाल में फंसाकर न चुदवा ले।

आपको स्टोरी कैसी लगी मेरे को जरुर बताना और सभी फ्रेंड्स नई नई स्टोरीज के लिए HotSexStory.xyz पढ़ते रहना। आप स्टोरी को शेयर भी करना।

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!