मेरी चुद्द्कड़ बीबी मेरे दोस्त से रोज चुदाती है.

Meri chudakkad biwi mere dost se roj chudati hai

हेलो दोस्तों कैसे हो लीजिये मैं जतिन मैं अपनी बीबी की पराये मर्द से चुदने की दास्ताँ को आगे बढाता हूँ. मैं अपनी बीबी की चुदाई कि आपके लिए लेकर आ गया हूँ.
जैसे की आप लोग जानते ही है, की मेरी बीबी को मेरे बड़े भाई और उसके बाद मेरे दोस्त उस्मान ने चोद चोद कर बहुत बड़ी चुद्द्कड़ बना दिया है, उस्मान तो मेरी बीबी को अब नियमित चोदता है, वो मालिनी को पुरे महीने चोदता है, उस्मान और मेरा ड्यूटी टाइम अलग अलग है, जब मेरी दिन की ड्यूटी रहती थी तो उस्मान मेरी बीबी को दिन भर चोदता था और मेरी मेरी रात की ड्यूटी होती थी तब उस्मान मालिनी की रात भर चुदाई करता था, यहाँ तक की मालिनी के पीरियड के समय वो उसकी गांड मारता था और अपने लंड से उसका मुह चोदता था. दोनों घर में नंगे ही रहते थे और घर के हर कोने में चुदाई होती थी. जितना मैं ८ सालो में अपनी बीबी को नही चोद पाया था उससे तो १० गुना ज्यादा तो उसे उस्मान ने २ माह में ही चोद दिया था.

एक दिन हमेशा की तरह रात को उस्मान मेरी बीबी को चोद रहा था, मैं अपने लैपटॉप पर दोनों की चुदाई का आनंद ले रहा था और मुठ मार रहा था, मेरी बीबी उस वक्त घोड़ी बनी थी और उस्मान उसकी गांड मार रहा था वो मालिनी की गांड में जोर जोर से धक्के लगा रहा था, मालिनी की चुत का पानी टप टप कर बिस्तर पर गिर रहा था वो अपनी आँखे बंद कर गांड मराने का आनंद ले रही थी, साथ ही वो आआआआअह्हह्हह्हह ईयाआआआआ उफ्फ्फ्फफफ्फ्फ्फ़इ यीईईईई इस तरह से जोर जोर से आवाजे निकाल रही थी जो उस्मान को मालिनी को रगड़ कर चोदने का जोश प्रदान कर रही थी, इस रगड़ाई में शायद मालिनी एक बार झड़ चुकी थी, सच में उस्मान एक बांका मर्द था जो मेरी बीबी को हर तरह से चोद रहा था जो एक मर्द में होना चाहिए था उससे कही ज्यादा उस्मान के पास था, मेरी बीबी काफी खुशकिस्मत थी जो उस्मान जैसे चोदु के द्वारा उसकी चुत की चुदाई होती थी, क्योकि हर चुदाई के बाद के बाद उस्मान के अन्डो से जो वीर्यपात होता था वो तारीफ़ के काबिल होता था उस्मान मेरी बीबी को करीब २ महीने से चोद रहा है, फिर भी हर बार की चुदाई या गांड मराई के बाद मालिनी की चुत या गांड उस्मान के वीर्य से लबालब भर जाती थी, उस्मान हर राउंड में करीब ५० से ७० ग्राम वीर्य निकालता था, मुझे अब समझ आने लगा था की औरत को मेरे जैसा ढीला छोटे लंड वाला नही बल्कि उस्मान जैसे मोटे और लंम्बे लंड वाले बांके मर्द से चुदना पसंद होता है, जब मैंने अपना और उस्मान का कोम्पेरिसन किया तो पाया की जितना वीर्य उस्मान एक राउंड की चुदाई में निकालता था उतना तो मैंने अपने पुरे जीवन में भी नहीं निकाला होगा.

इस बिच उस्मान और मालिनी की चुदाई चरम पर थी और कुछ देर बाद उस्मान के लंड ने भी माल निकलने के संकेते दे दिया गया और उसने अपना आखिरी धक्का मालिनी की गांड में मारा और वीर्य की पिचकारी उसकी गांड में छोड़ दी फिर दोनों धम्म से बिस्तर पर गिर गये उस्मान ने अपना लंड उसी तरह मालिनी की गांड में घुसा का रखा करीब पांच मिनट बाद उस्मान ने मालिनी की गांड से अपने लंड को आहिस्ते आहिस्ते बहार किया, जैसे ही पूरा लंड बहार आया मालिनी की गांड से उस्मान का गाढ़ा गाढ़ा चिपचिपा सा वीर्य निचे मालिनी की चुत में जाने लगा फिर मालिनी का माल और उस्मान का वीर्य मिलकर बिस्तर पर जमा होने लगे करीब १० मिनट तक दोनों ऐसे ही पड़े रहे फिर उस्मान ने मालिनी के गालो और ओठो पर किस किया और बोला – जान सच में तुम्हारे अन्दर जो चुदने की आग है, मैंने अभी तक किसी में नही देखि, तुम्हारी चुत या गांड के अन्दर जाते ही ये लंड पिघल जाता है, मुझे अपने लंड पर जो गर्व था वो तुम्हारी चुत और गांड ने मिटटी में मिला दिया तुम तो मेरे जैसे दो लंडो भी एक साथ ले सकती हो.
मालिनी – उस्मान तुम क्या बोल रहे हो मैं तुम्हारा मतलब नही समझ पा रही हूँ.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Gym waali bhabhi ki chudai

उस्मान – जान मैं ये कहना चाह रहा हूँ, की तुम एक साथ दो लोगो से चुदने पर ही तुम्हारी ये चुत की आग ठंडी हो सकती है.
मालिनी ने अपने दोनों हाथो को उठाकर एक अंगड़ाई ली और बोली – सच मेरी जान क्या मैं इतनी बड़ी चुद्दकड़ बन गयी जो एक साथ दो लंडो को अपनी चुत या गांड में ले सकू?
उस्मान – हां मेरी जान तुमको एक बार तो कमसे कम थ्रीसम चुदाई का मजा लेना चाहिए.
मालिनी – जान मुझे तो कोई प्रोब्लम नहीं है, बल्कि ये तो मेरी फंतासी भी है की मुझे दो दो मर्द पकड़ कर कस कर चोदे और मेरे गांड और चुत में एक साथ २ लंड फसे रहे, पर जानू ये पोसिबल नही है, क्योकि लंड तुम्हारे लंड जैसे ही होना चाहिए.

उस्मान – जान मुझे मालूम है की मेरे जैसा लंड बहुत कम मिलता है मेरे बहुत से दोस्त है, पर मेरे लंड जैसा एक भी नहीं हां वो कामचलाऊ चुदाई के लिए ठीक है, परन्तु जान मेरा एक दोस्त और भी है जिसका नाम बिलाल सुल्तान है, उसने भी दो दो शादिया की लेकिन उसकी दोनों बीबी उसे छोड़कर भाग गयी, क्योकी एक तो उसका लंड बहुत मोटा है मेरे लंड से भी बहुत मोटा ( करीब ५.५० इंच तक) और वो गांड मारने का बहुत शौक़ीन है गांड क्या मारता है, वो औरतो की गांड फाड़ देता है, इसीलिए उससे कोई नही चुदवाना चाहता, बेचारा इस समय मुठ मार कर गुजारा कर था है, तुम भी उसे सहन नही कर पाओगी.

मालिनी – जान “तुम भी उसे सहन नही कर पाओगी” ये बोलकर तो अब तुमने मेरी बेइज्जती कर दी अब तो ये मेरी इज्जत का सवाल है, अब जब तक बिलाल मेरी गांड नही मारता मैं तुमसे भी गांड नही मराउंगी अब तो मुझे बिलाल का लंड चाहिए ही चाहिए.
उस्मान – जान सोच लो बिलाल काफी वहशी है वो जानवरों की तरह चुदाई करता है.
मालिनी – अब चाहे जो हो अब बिलाल से गांड मराये बिना अब मुझे भी चैन नही मिलेगा.
उस्मान – तो ठीक है जान बाद में मत कहना की मुझे बताया नहीं.

ये कह कर उस्मान फिर से मालिनी पर पिल गया उस रात मालिनी ने उसे गांड मारने नही दी उस्मान ने मालिनी का मुँह चोदा और २ बार उसकी चुत मारी, मैं भी अपने काम में लग गया.
दुसरे दिन मैं घर गया तो मालिनी से औपचारिक बात हुयी, मुझे अपने ऑफिस के काम से ३ दिनों के लिए बहार जाना था तो मैंने ये बात मालिनी को बताया वो बहुत खुश हुयी, बेडरूम में जाकर अपनी पैकिंग करने लगा तो मालिनी ने उसी समय मुझसे छुप कर उस्मान को फ़ोन किया, मैं चुपके से बाते सुनने लगा..

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  भाभी ने स्टडी के साथ सेक्स में भी हेल्प किया-7

मालिनी – जानू बहुत बड़ी खुशखबरी है, वो ढीला ३ दिन के लिए बहार जा रहा है, तुम आज ही से बिलाल को यहाँ लेकर आ जाओ अब तिन दिन तक मेरे कोई छेद मै खाली नही रखना चाहती.
उधर से उस्मान भी कुछ बोल रहा था जो मुझे सुनाइ नही दे रहा था, मालिनी काफी खुश थी.
मैं – मालिनी तुम तिन दिन अकेले ना रह पाओ इसीलिए मैं उस्मान को तुम्हारे साथ रहने के लिए भिजवा देता हूँ. (मालिनी और उस्मान के बारे में जानने के लिए इस साईट पर इसी सीरिज की अन्य कहानिया “दोस्त ने बीबी को जमकर चोदा, “बीबी ने दोस्त से गांड मरवाई” जरुर पढ़े.). मुझे तो मालूम ही था की मेरे जाने के बाद उस्मान क्या करने वाला है, मैं करीब १० बजे सुबह घर से निकल गया, उस्मान कही बहार था तो वो रात के ७ बजे आने वाला था.

मैं रात में होटल में जाकर लैपटॉप चालू किया, उस समय मालिनी खाना बना रही थी, वो एक स्लीव पहने हुए थी जबकि निचे उसने जालीदार थोंग पेंटी पहनी थी जो की उसकी गांड को बमुश्किल ढक पा रही थी, वैसे भी ये नाममात्र के कपड़े तो थोड़ी देर में उतरने ही वाले थे
उस्मान की चुदाई से मालिनी की गांड काफ़ी बड़ी हो गयी थी दोनों बच्चे सो चुके थे, करीब ८ बजे उस्मान आया उसने आते ही पीछे से मालिनी को पकड़ लिया वो अपना लंड मालिनी की गांड में गड़ाने लगा साथ ही वो मालिनी के गले और गालो पर चुम्बन भी ले रहा था, मालिनी पलट गयी और दोनों प्रेमियों ने लिपलॉक कर लिया उस्मान मालिनी की स्लीव में हाथ डाल कर उसकी चुचियो को मसलते हुए उसकी स्लीव को एक ही झटके में उतार कर फेंक दिया मालिनी के मुह से अब हल्की हल्की सिस्कारिया निकल रही थी, इस बिच उस्मान ने मालिनी की चड्डी को भी मालिनी के बदन से अलग कर दिया मालिनी फिर से नंगी हो गयी उस्मान जोर जोर से मालिनी को चूमने काटने लगा मालिनी अब पूरी तरह गरम हो गयी थी.

कुछ देर बाद उस्मान ने उसकी चुत के पास हाथ ले जाकर गरम चुत को जोर जोर से रगड़ने लगा और फिर तुरंत ही अपनी दो उंगलियों को उसकी चिकनी चुत में दाल दिया. चुत में ऊँगली जाते ही मालिनी के मुह से आआआआआह्हह्हह्हह्हह की आवाज निकल गयी, उसकी चुत ने चिपचिपी सी चाशनी निकालना चालू कर दिया, जिसे उस्मान चुत से ऊँगली निकाल निकाल का चाटने लगा, उस्मान को इस थोड़ी चाशनी से मजा नहीं आ रहा था तो वो तुरंत ही घुटनों के बल निचे बैठ गया और उसकी दोनों टांगो को फैलाकर अपनी जीभ से मालिनी की रसीली, चिकनी चुत को चाटने लगा, मालिनी ने भी उस्मान के सर को पकड़ लिया और अपनी चुत पर जोर जोर से दबाने लगी वो मछली की तरह फडफडा रही थी, शायद मालिनी की चुत से मस्त खुसबू आ रही थी जिसे उस्मान नाक लगाकर और चाट कर महसूस कर रहा था, उस्मान ने करीब ४-५ मिनट तक मालिनी की चुत को बुरी तरह चाटा, चुत की चटाई मालिनी बर्दाश नहीं कर पाई और उसने उस्मान के मुह पर झड़ना चालू कर दिया लेकिन उस्मान अभी भी फुल फॉर्म में था पहले तो उसने मालिनी का गाढ़ा स्वादिस्ट रस चाट चाट कर ख़तम किया फिर बरी बरी से उसके दोनों थनों का दूध निचोड़ निचोड़ कर पीना शुरू कर दिया, मालिनी फिर से आआआआआआह्हह्हह्हह्हह्हह्हह उफ्फ्फ्फफ्फफ्फ्फ़ उस्स्स्सस इस तरह से कराहने लगी और बोली – बस….. अब बर्दाश्त नही होता, मेरे से अब रुका नहीं जा रहा है, बस अब मार लो मेरी चुत, चोद डालो मुझे ..आआआआह डालो मेरी चुत में अपना हथियार और चोद दो मेरी चुत को… येस्सस्स्स्सस्स्स्स पेल दो मुझे अपने लंड से.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Bhabhi Se Saja Me Liya Un Ki Virgin Chut Ka Maza-4

तब उस्मान ने उसे घोड़ी वाली पोजीशन में आने को कहा, मालिनी तुरंत ही घोड़ी बन गयी पर उसने उस्मान से कहा – जान, चुत ही मारना अपना वादा मत भूलना गांड तो अब बिलाल से मरवाने के बाद ही तुम्हे दूंगी और वो अपनी गांड को पीछे कर दिया, उस्मान ने पहले चुत को थोडा सहलाया, अपने लंड को मालिनी की चुत पर सेट किया और एक ही झटके में अपना लंड मालिनी की चुत में उतार दिया. वो अब जोर जोर से धक्के मालिनी की चुत में मारने लगा, धक्को की स्पीड तेज होने के साथ ही मालिनी की सिस्कारिया भी तेज होने लगी, चुत गीली होनी से कमरे में फच-फच की आवाजे गूंजने लगी. मालिनी जो जोर से उह्हह्हह्हह्हह्ह… आआआआहयस्स्स्सस्स्स फक मीईई कर रही थी. मालिनी काफी गर्म हो गयी थी, और इस चुदाई में एक बार फिर से झड़ चुकी थी, उसकी चुत से चिपचिपा पानी निकल रहा था फिर भी वो उस्मान के धक्को को बर्दाश्त कर रही थी.

करीब २० मिनट की जोरदार चुदाई के बाद उस्मान भी अपने चरम पर पहुँच गया था और अब वो अपने आखिरी झटको को जोर जोर से मालिनी की चुत में मार रहा था वो जोर जोर से हाफ़ने और उसका वीर्य निकलना चालू हो गया, गाढे गाढे वीर्य से मालिनी की चुत लबालब भर गयी और कुछ वीर्य ओवरफ्लो होकर निचे गिरने लगा. दोनों कुछ देर इसी तरह चिपके रहे फिर मालिनी बोली – जानू मेरा सरप्राइज कहा है, मैं कब से इंतजार कर रही हूँ, तुमने तो अपना मुह मीठा कर लिया अब मेरी गांड जिसका सुबह से इंतजार में कुलबुला रही है वो कहा है.
दोस्तों ये कहानी तो यहाँ ख़तम हो जाती है, परन्तु इसके बाद मेरी बीबी की बिलाल के द्वारा बहुत भयंकर चुदाई हुयी, मैं वो कहानी भी आपके लिए लेकर आऊंगा, मेरी कहानी पढ़कर जिन लंडधारियों ने अपना अपना लंड हिलाया होगा और जिन भी माताए, बहने और भाभियों ने अपनी चुत में ऊँगली की हो वो मुझे मेल द्वारा सूचित करे, मेरा मेल है [email protected] कुछ लोग मेरी बीबी को चोदना चाहते है और मुझे इस बारे में मेल करते है, तो मैं उन लोगो से माफ़ी चाहता हूँ की उस बारे में मैं उनकी कोई मदद नही कर पाउँगा ये प्रक्टिकली पासिबल नहीं है.
आपका जगत

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!