मेरी मॉम ने चूत चुदवा ली दूध वाले से

(Meri Mom Ne Chut Chudwa Li Dudh Vale Se)

अन्तर्वासना हिंदी सेक्स स्टोरी पढ़ने, पसन्द करने वाले मेरे प्यारे दोस्तो, मेरा नाम रेशमा है, मैं गुजरात से हूँ। मेरे उम्र अभी 24 साल की है, मेरा फिगर 34-28-36 है तथा कद 5 फुट 3 इंच का है। मेरा रंग दूध सा गोरा है। मैं देखने में बहुत खूबसूरत हूँ।

जो सेक्स कहानी मैं आपको बताने जा रही हूँ.. वो एकदम रीयल है। यह सेक्स स्टोरी मेरी मॉम की है। मेरी मॉम ने दूध वाले को पटा कर अपनी चूत चुदवाई थी। मेरी मॉम भी एक बहुत ही खूबसूरत औरत हैं। मेरी मॉम का नाम सरला है.. और उनकी फिगर बहुत ही कामुक है। उनका कद 5 फुट 4 इंच का है।
मेरे पापा काम के कारण ज़्यादातर बाहर ही रहते हैं।

कई साल पुरानी बात है.. उस वक्त मैं जवान हो चुकी थी। मेरी मॉम की उम्र उस वक्त 37 साल की थी।

उस वक्त हमारी कॉलोनी में मनोज अंकल दूध देने आते थे, वो एक बहुत ही ठरकी किस्म के आदमी थे, दूध देने के बहाने वो कॉलोनी की सब औरतों के उभारों को घूर-घूर कर देखते थे।

मेरी मॉम भी बहुत गोरी और देखने में बहुत खूबसूरत सेक्सी औरत हैं। कॉलोनी में सभी आदमी मेरी मॉम को गंदी नजरों से देखते हैं।
लेकिन मनोज अंकल मॉम से कुछ ज़्यादा ही हँसी मजाक करते थे।

एक दिन अंकल रात में करीब 8 बजे दूध का हिसाब करने आए। मैं उस वक्त खाना खाने के बाद अपने बेडरूम में पढ़ाई कर रही थी। तब अंकल की और मॉम की आवाज साफ सुनाई दे रही थी।

तब मॉम ने उनके लिए चाय बनाई। मनोज अंकल मॉम से कह रहे थे- भाभी जी, दूध पिलाए बहुत दिन हो गये!
मॉम बोलीं- ठीक है.. अभी ले आती हूँ।
मनोज अंकल ने मॉम के हाथ को पकड़ कर कहा- आ्ज अपना ताज़ा दूध पिलाओ ना?
मॉम ने उन्हें कहा- ओह… हम्म… रुको!

मॉम ने मुझे आवाज दी.. पर मैं लेटी हुई थी। तब मॉम मेरे रूम में आईं और मुझे देख कर चली गईं। उन्हें लगा कि मैं सोई हुई हूँ।

अब मॉम अंकल को अपने बेडरूम में ले गईं। कोई 5 मिनट बाद मैं बाहर आई। तो मैंने देखा कि मनोज अंकल मॉम के बेडरूम में थे और मॉम को किस कर रहे थे। मैं दरवाजे की दरार से उन दोनों को किस करते हुए देख रही थी।

अंकल मॉम के मम्मों को दबा रहे थे और मॉम मस्त में ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ कर रही थीं।
मुझे कभी ऐसा नहीं लगा था कि मेरी मॉम ऐसा भी कर सकती हैं।

मेरी मॉम की चूत में उंगली

कुछ देर बाद मॉम के कपड़े उतर गए। मेरी मॉम के गोरे बदन पर मनोज अंकल किस करते हुए मॉम से बोले- वाह.. सरला रंडी तू तो मस्त माल है.. तुझे चोदने में तो बहुत मजा आएगा।
यह कहते हुए अंकल ने मॉम की चूत में उंगली करने लगे।
यह हिंदी सेक्स स्टोरी आप HotSexStory.xyz पर पढ़ रहे हैं!

कुछ देर बाद अंकल ने पैंट और शर्ट उतार दी, अंडरवियर में उनका लंड एकदम खड़ा हुआ था। उनके बड़े से खड़े लंड को देख कर मेरे शरीर में झनझनाहट होने लगी।

मेरी मॉम ने भी अंकल की अंडरवियर का नाड़ा खींचा और अंकल का खीरे जैसा लंबा और मोटा लंड देख कर हैरान हो गईं।

फिर मनोज अंकल ने झुक कर मॉम की चूत में अपनी जीभ लगा दी और मॉम की चूत चूसते हुए मेरी मॉम की गांड और मम्मों भी दबाने लगे।
मेरी मॉम भी अपनी गांड उचका कर मजा ले रही थीं।

कुछ देर बाद अंकल ने अपना लंड मॉम के मुँह में दे दिया, मेरी मॉम अंकल के लंड को लॉलीपॉप की तरह चूसने लगीं।

कुछ मिनट में ही अंकल के लंड अकड़ गया और अंकल ने मेरी मॉम के मुँह में ही अपने लंड का रस छोड़ दिया। मेरी मॉम अंकल के लंड का रस मस्ती से चाट कर पी गईं।

मम्मी की चूत में अंकल का लंड

उसके बाद अंकल ने मेरी मॉम को लेटा कर अपना हब्शी लंड मॉम की चूत पर रख दिया। फिर जोर से धक्का मार दिया। मेरी मॉम की चीख निकल गई ‘आह्हहह.. जरा धीरे करो यार..’

अंकल बोले- रंडी, बहुत टाइट चूत है तेरी!
अंकल मॉम की गांड पर जोर-जोर से थप्पड़ मारते हुए धकापेल चोद रहे थे।
मेरी मॉम को अपनी चुदासी चूत चुदवाने में मजा आ रहा था, वो ‘आहा.. उहह.. उम्म..’ कर रही थीं।

अपनी मॉम की जबरदस्त चूत चुदाई देख कर मैं भी अपनी चूत में उंगली करने लगी।

कुछ मिनट बाद अंकल ने अपने लंड का पानी मॉम की चूत में छोड़ दिया। फिर लंड को चूत से खींच कर मॉम के मुँह में दे कर लंड चुसाई करवाने लगे।

सच में मेरा मन तो हो रहा था कि मैं भी चुद जाऊँ पर अभी यह सम्भव नहीं था।

तभी मैंने देखा कि अंकल का लंड वापस टाइट हो गया। अब मॉम अंकल के लंड पर बैठ गईं और अंकल के हब्शी लंड को अपनी चूत में लेकर उछलने लगीं।
अंकल नीचे से झटके मार रहे थे और मॉम ऊपर से अपनी चूत को लंड से चुदवा रही थीं।

मॉम की मादक सीत्कार निकल रही थी- आहाह.. उम्म.. उहह..

अंकल जोर-जोर से मॉम के मम्मों को मसल रहे थे। कुछ ही देर में कमरे में ‘फच.. फच..’ की आवाजें आने लगीं और अब अंकल ने मॉम को कस कर पकड़ कर अपने ऊपर खींच लिया।
कुछ देर वे दोनों ऐसे ही रहे।

अंकल ने मम्मी की गांड मारी

उसके बाद अंकल ने मॉम से कुछ गंदी बातें कीं, मॉम अंकल का लंड अपने हाथ में लेकर मसल रही थीं।

कुछ टाइम बाद मॉम डॉगी की तरह झुक गईं और अंकल मॉम की गांड का छेद अपनी जीभ से चाटने लगे… शायद गांड में लंड डालने का प्रोग्राम बन रहा था। अंकल अपना लंड मॉम की गांड में पेलने लगे।

वाओ.. उन दोनों की क्या मस्त चुदाई हो रही थी। मेरी चूत भी गीली हो गई थी। अब अंकल मेरी मॉम की गांड मार रहे थे, मॉम भी मजे से अपनी गांड मरवा रही थीं।

थोड़ी देर बाद अंकल ने मॉम की गांड से लंड निकाला और चादर से लंड पोंछ कर मॉम के मुँह में लंड का पानी छोड़ दिया। मेरी मॉम अंकल के लंड को चाट कर साफ कर दिया।

फिर वो दोनों नंगे ही बिस्तर पर लेट गए।

उसके बाद मैंने अपने रूम में जाकर अपनी चूत में उंगली की और अपना पानी निकाल कर सो गई।

अंकल घर से कब निकल गए.. मुझे पता ही नहीं चला.. पर मॉम सुबह बहुत खुश थीं।

मैं अपनी अगली कहानी में अपनी मॉम ने पड़ोस की आंटी को कैसे चुदवाया और किस-किस से मॉम की चूत चुदी.. ये सब मैं आपको जरूर बताऊँगी।

मेरी मम्मी की चूत चुदाई का आंखों देखा हाल कैसा लगा, प्लीज़ मुझे ईमेल करें, मैं आपको रिप्लाई जरूर दूँगी। आपकी हॉट एंड सेक्सी रेशमा

Loading...