मेरी प्यासी चूत में जीजू का लंड-2

(Meri Pyasi Chut Me Jiju Ka Lund-2)

लेकिन मैं भी गर्म हो गयी थी; जीजू जब मेरी चूची दबा रहे थे तो मुझे बहुत अच्छा लग रहा था और मुझे अपने बॉयफ्रेंड की याद आ रही थी कि मेरा बॉयफ्रेंड भी मेरी चूची को ऐसे ही दबाता था. मेरी चूत में से पानी भी निकल रहा था.

जीजू मेरे पीछे पीछे रूम में आ गए और मुझसे माफ़ी मांगने लगे. मैंने जीजू से कहा- कोई बात नहीं!
और उसके बाद शाम को हम दोनों लोग घर में अकेले थे. मुझे भी अपनी प्यासी चूत में लंड चाहिए था और जीजू तो मुझे चोदना ही चाहते थे. आज हम दोनों लोग घर में अकेले थे और दीदी और मम्मी दोनों लोग कपड़े खरीदने के लिए बाजार गए हुए थे.

जीजू मेरे कमरे में आये और मुझे अपनी बाँहों में लेकर मुझे किस करने लगे और बोलने लगे- मैं अब तुम्हारे बिना नहीं रह सकता हूँ. मैं तुम्हारे जिस्म को आज पाना चाहता हूँ और तुम्हें अपना बनाना चाहता हूँ.
मेरी प्यासी चूत भी जीजू के लंड से चुदवाना चाहती थी और हम दोनों लोग एक दूसरे को चूमने लगे. जीजू मुझे किस कर रहे थे और मेरे होंठों को चूस रहे थे. उनका एक हाथ मेरी चूची को दबा रहा था. जीजू मेरे होंठों का रसपान कर रहे थे.

हम दोनों लोग एक दूसरे को किस करने के बाद थोड़ा अलग हुए. हम दोनों लोग सांसें तेज चल रही थी और हम दोनों लोग सेक्स करने के मूड में आ गए थे. जीजू ने मेरी शर्ट निकाल दी और मेरी काली ब्रा जीजू को दिखने लगी. जीजू ने मेरी काली ब्रा भी निकाल दी और उसके बाद वो मेरी चूची को चूसने लगे, मेरे मम्मे दबाने लगे.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  गांड ऊपर उठाने लगी ताकि लंड गहराई तक जाए

मैं भी थोड़ा ढीली पड़ गयी थी और जीजू के सामने अपने आपको छोड़ दिया था. जीजू मुझे अपनी बाँहों में लेकर मेरी चूची को चूस रहे थे. मेरे जिस्म की जिस्म की खुशबू से जीजू मदहोश हो रहे थे. जीजू ने मुझे अपनी बाँहों में उठा कर मुझे बिस्तर पर लिटा दिया और उसके बाद उन्होंने मेरी जींस का बटन और जिप खोल कर उसे मेरी चिकनी जांघों पर से उतार दिया. अब मैं जीजू के सामने एक मॉडर्न पेंटी में थी.

जीजू का लंड भी खड़ा हो गया था और वो अपना लंड अपनी हाथ में लेकर जोर जोर से हिलाने लगे और मुझसे बोले- नेहा, तुम अपनी पेंटी उतार कर मुझे दिखाओ.
मुझे शर्म आयी और मैंने जीजू को पैंटी उतारने से मना कर दिया. इस पर जीजू ने खुद ही मेरी पैंटी उतार दी.

मेरी पेंटी निकालने के बाद जीजू मेरी चूत को अपने जीभ से चाटने लगे. जीजू मेरी चूत को चाटते हुए मेरी चूत को हल्का का काट भी दे रहे थे और मैं सिहर जा रही थी. जीजू ने मेरी चूत को बहुत देर तक अपनी जीभ से चाटा और उसके बाद जीजू ने अपना खडा लंड मेरी चूत की दरार पर रख दिया और मेरी चूत पर अपना लंड रगड़ने लगे. उनका लंड मेरी चूत के पानी से भीग गया था.
जीजू अपने लंड का टोपा मेरी चूत में घुसा रहे थे और बाहर निकाल रहे थे लेकिन उन्होंने पूरा लंड अंदर नहीं डाला. तभी जीजू ने मुझे अपना लंड मुझे चूसने के लिए बोला. मेरी कामुकता पूरे उफान पर थी तो मैं भी लंड चूसना चाह रही थी तो मैं जीजू का लंड चूसने लगी.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  साली राज़ी तो क्या करेगा काज़ी -1

जीजू कुछ देर अपना लंड चुसवाने के बाद अपना लंड मेरी चूत में डालने लगे. जीजू का लंड मेरी चूत में धीरे धीरे अंदर तक घुस गया.अब जीजू मुझे चोदने लगे. मैं भी जीजू का साथ दे रही थी और उनको किस कर रही थी, उनके बालों में अपना हाथ फेर रही थी.

जीजू ने अपनी चोदने की स्पीड बढ़ा दी और पूरे जोश में मुझे चोदने लगे. झटके लगने से मेरी चूची ऊपर नीचे हो रही थी और जीजू का लंड मेरी चूत में अन्दर बाहर हो रहा था. हम दोनों जीजा साली खूब मजा लेकर चुदाई कर रहे थे और जीजू अपना पूरा लंड एक झटके में ही अन्दर डाल रहे थे. मेरी चूत जीजू का पूरा लंड अन्दर ले ले कर खुश हो रही थी और मुझे बहुत शांति महसूस हो रहा था. मेरी प्यासी चूत को बहुत दिन के बाद लंड मिल रहा था और मैं बहुत मजे से जीजू के लंड से चुदवा रही थी.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

मेरी चूत चोदने में जीजू को भी बहुत मजा आ रहा था और वो बहुत जान लगाकर मेरी चूत को चोद रहे थे. मुझे इतना प्यार तो मेरे बॉयफ्रेंड ने भी नहीं किया था जितना प्यार जीजू मुझे कर रहे थे. मेरी चूत पर एक भी बाल नहीं था और जीजू का लंड आसानी से मेरी चूत में अन्दर जा रहा था. मेरे मुंह से सिसकारियाँ निकल रही थी ‘आह आह उम्म्ह… अहह… हय… याह… आह उम्म्ह…’ और जीजू मेरी चूत को चोद रहे थे.

मैं अपने जीजू के लंड से चुदकर बहुत अच्छा महसूस कर रही थी. हम दोनों लोग सेक्स करते करते अकड़ने लगे और हम दोनों का पानी निकल गया. हम दोनों सेक्स करने के बाद एक दूसरे से चिपक कर लेट गए और ऐसे ही कुछ देर तक लेटे रहे. जीजू ने मुझे अपनी बांहों में लिया हुआ था.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मेरी साली गरिमा को लंड दिखाया

कुछ देर आराम करने के बाद हम जीजा साली फिर से एक दूसरे को किस करने लगे.

जीजू मुझे चोदने के बाद मुझसे बोले- नेहा डार्लिंग, तुम्हारी कातिल अदाएं और तुम्हारे जिस्म ने मुझे तुम्हारा दीवाना बना दिया है.

मेरे जीजू हमारे घर कुछ दिन तक रुके थे और हम दोनों मौका देख कर सेक्स कर लेते थे. जब दीदी घर में होती थी तो हम दोनों पूरा सेक्स नहीं कर पाते थे तो हम ओरल सेक्स कर लेते थे. जीजू को मेरी चूत बहुत पसंद है और वो मेरी चूत को बहुत देर तक चाटते थे. मेरी गीली चूत को जीजू चाट कर एकदम साफ़ कर देते थे. और मैं भी जीजू का लंड चूस लेती थी. जीजू मेरी ब्रा और पेंटी को भी सूंघते थे और मेरी चूची भी चूसते थे.

जब तक जीजू दीदी हमारे घर में रहे, मैं और जीजू कई बार सेक्स कर चुके थे. उसके बाद जीजू जब भी हमारे घर आते हैं तो हम दोनों मौक़ा बना कर सेक्स करते हैं.

आप सबको मेरी कहानी कैसी लगी. आप सब मुझे मेल करके बतायें. आप सबके मेल से मुझे बहुत सहायता मिलती है अपनी अगली कहानी आप लोगों को बताने में!

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!