मेरी सेक्सी बहन शालिनी की चुदाई-2

(Meri Sexy Bahan Shalini ki chudai-2)

फिर मुझे समझने में टाईम नहीं लगा कि वो फोटो शायद उसने अपने बॉयफ्रेंड के लिए खींची होगी.. लेकिन फोटो को देखकर मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया. पहले तो मैंने उस फोटो ब्लूटूथ से अपने मोबाईल में डाला और फिर बाथरूम में जाकर उस फोटो को देखते हुए अपने लंड को हिलाने लगा उसके बूब्स बहुत ही बड़े और गोल थे. मुझे फिर उसका नशा होने लगा और मन किया कि में उसी हालत में उसे लूँ और उसके कपड़े निकालकर चुदाई कर दूँ.. लेकिन फिर मेरी हिम्मत नहीं हुई. फिर दिन ऐसे ही निकलते गये.. में कभी उसकी ब्रा, पेंटी को देखकर कभी उसकी नंगी फोटो को देखकर मुठ मारकर संतुष्ट होने लगा. फिर एक दिन पापा, मम्मी ने घूमने का प्लान बनाया और तय हुआ कि हम पहले ऋषिकेश और फिर मनाली घूमने जाएँगे. फिर रविवार की सुबह ही हम ऋषिकेश के लिए निकल गये एक गाड़ी करके.

पापा आगे ड्राईवर के साथ बैठे थे और शालिनी, में और मम्मी पीछे. फिर कुछ घंटो के सफर के बाद हम ऋषिकेश पहुंच गये और एक रूम लेकर रेस्ट करने लगे.. वहाँ पर ज्यादा भीड़ होने के कारण हम सिर्फ़ एक रूम ही लेकर रहे और हम सभी सफ़र से बहुत थके हुए थे और फिर हम लोग रात का खाना खाने के बाद सोने की तैयारी करने लगे. हमारा रूम बहुत बड़ा होने के कारण उसमे दो बेड लगे हुए थे जिसमे एक पर में और शालिनी और दूसरे पर मम्मी और पापा लेटे हुए थे.. लेकिन मेरा तो सोने का मन ही नहीं था. में तो बस इंतजार कर रहा था कि कब सब सोए और मुझे कुछ मौका मिल पाए. फिर शालिनी थके होने के कारण जल्दी सो गयी.. लेकिन में आंखे बंद करके मम्मी और पापा के सोने का इंतजार करने लगा.. लेकिन कुछ देर बाद कुछ धीरे धीरे बात करने की आवाज़ आई और शायद मम्मी, पापा भी हमारे सोने का इंतजार कर रहे थे.. लेकिन शायद एक रूम में सोने की वजह से कुछ समस्या थी और फिर इंतजार करते करते मेरी ही आंख लग गयी.

फिर सुबह मम्मी ने मुझे उठाया और नाश्ता करने के लिए बाहर आने को बोला.. क्योंकि में ही सबसे आखरी में उठा था और हम सभी लोगो ने फ्रेश होकर नाश्ते के लिए ऑर्डर किया और दिन का प्लान बनाने लगे. शालिनी को बाहर घूमना था.. लेकिन पापा शायद रूम में ही आराम करना चाहते थे. फिर आखरी में यही प्लान बना कि में और शालिनी घूमने जाएगें और मम्मी पापा होटेल में ही रहेंगे और आराम करेंगे और मुझे उनके वहाँ पर रुकने की वजह का आईडिया था. फिर हम तैयार होकर निकल गये..

हिंदी सेक्स स्टोरी :  दीदी का नंगा जिस्म कितना खूसबसुरत था-2

कुछ लोगो से पूछा कि यहाँ पर घूमने के लिए कौन सी जगह है.. लेकिन वहाँ पर कुछ ख़ास नहीं था. फिर शालिनी ने कहा कि चलो होटल ही चलते है.. तो मैंने मज़ाक में कह दिया कि उनको भी तो थोड़ा प्राईवेट टाईम दो साथ रहने के लिए और वो थोड़ा मुस्कुराई और समझ गयी.. लेकिन उस बारे में ज्यादा बातचीत ना करते हुए मैंने कहा कि बोलो कहाँ पर चलना है और फिर मैंने बोला कि चलो थोड़ा और आगे चलकर देखते है. फिर रास्ते में किसी ने बताया कि आगे ही एक बहुत बड़ा झरना है और वहाँ पर बहुत से अंग्रेज लोग आते है.

तो हमने सोचा कि चलो वहीं पर चलते है और वो एरिया थोड़ा सा रोड से हटकर था और बीच में थोड़ा सा जंगल भी था.. लेकिन आगे जाकर देखा तो वाकई में एक बहुत अच्छी जगह थी जहाँ पर एक बहुत सुंदर झरना बह रहा था. मेरा तो मन वहीं पर नहाने का करने लगा.. लेकिन शालिनी मना कर रही थी. फिर हमने थोड़ा ध्यान से देखा तो वहाँ पर कुछ अंडर गारमेंट्स भी पड़े हुए थे और कुछ कॉंडम के पेकेट भी देखे और उन चीज़ो पर मेरी और शालिनी की नज़र एक साथ पड़ी.. लेकिन उसने नज़र अंदाज़ कर दिया.

तो मैंने मज़ाक में कह दिया कि यहाँ का तो माहौल ही कुछ और है. फिर शालिनी को शायद वहाँ पर रुकने में ज्यादा रूचि नहीं थी.. लेकिन मेरा वहाँ से जाने का मन नहीं था और में कपड़े उतार कर सिर्फ़ अंडरवियर में पानी में कूद पड़ा और शालिनी वहीं पर बैठकर नॉवल पढ़ने लगी. फिर वो मेरे सामने इस तरह से बैठी हुई थी कि उसकी जांघे मुझे उसकी पेंटी के साथ नज़र आ रही थी और मेरा लंड खड़ा हो गया. फिर मन किया कि उसे पानी में ही खींच लूँ और अपने लंड को हाथ से सहलाने लगा और यह सब करते हुए शायद शालिनी ने मुझे देख लिया और फिर वो मुझे चोरी से मेरी हरकतें देखने लगी. तो मैंने भी सोचा कि कुछ बात आगे बड़ाने का इससे अच्छा मौका नहीं है. तो में वहीं पर पानी में थोड़ा अंदर जाकर मुठ मारने लगा और शालिनी मुझे टेड़ी नज़र से देखने लगी.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  बहन ने चुदवाया ब्लू फिल्म की तरह

फिर मैंने थोड़ा आगे जाकर शालिनी से मुहं घुमाकर पानी से निकलकर एक पत्थर के पीछे जाकर मुठ मारने लगा. मुझे पूरा यकीन था कि शालिनी को मेरी हरकत के बारे में 100% आईडिया है. फिर झड़ने के बाद में फिर से पानी में शालिनी के पास आ गया. तो शालिनी ने थोड़ा शैतानी सी स्टाईल में पूछा कि पानी से निकल कर कहाँ गया था? तो मैंने बोला कि में टॉयलेट गया था.. क्यों क्या हुआ? तो वो थोड़ा मुहं नीचे करके मुस्कुराई और चुप हो गयी. फिर मैंने मजे लेने के लिए बोला कि क्यों तुझे क्या लगा? तो उसने कोई जवाब नहीं दिया बस हल्का सा मुस्कुराई मुझे अब थोड़ा ग्रीन सिग्नल लगा. फिर हमने चलने का प्लान बनाया.. लेकिन मेरे गीले अंडरवियर को देखकर उसने बोला कि इसके ऊपर कैसे कपड़े पहनेगा. तो मैंने बोला कि फिर कैसे करूं? तो उसने हंसकर बोला कि इसके बिना ही पहन ले. फिर में भी झट से बोला कि बहुत अच्छा आईडिया है और फिर मैंने एक पत्थर के पीछे जाकर अंडरवियर उतार कर सीधे शर्ट पहन लिया.

फिर जब में शालिनी के पास आया तो उसने मुस्कुराते हुए कहा कि कैसा लगा रहा है? तो मैंने कहा कि बहुत खुला खुला लग रहा है. तो वो बस मुस्कुरा दी फिर हम होटल आ गये.. फिर मम्मी, पापा ने पूछा कि तुम कहाँ गये थे? तो हमने बताया कि बस यहीं पर आस पास ही घूमकर आ गये. फिर मैंने ध्यान दिया कि शालिनी मेरी तरफ कुछ ज्यादा ही ध्यान दे रही थी.. शायद उसने आज पहली बार मेरा खड़ा लंड अंडरवियर में देखा था. तो मैंने पूछा कि क्या देख रही है तो वो नज़र हटाकर बोली कि अब तो फ्रेश होकर चेंज कर ले. तो मैंने हंसते हुए धीरे से कह दिया कि ऐसे ही खुला खुला रहना में ज्यादा मज़ा आ रहा है.

फिर शालिनी ने कहा कि हाँ देख रही हूँ कि कुछ ज्यादा ही मज़ा आ रहा है और अब तू बड़ा भी हो गया है. मैंने फिर मज़ाक में कह दिया कि फिर तो अब मेरी शादी करा दो. तो अचानक मम्मी की आवाज़ आ गयी और शालिनी मम्मी के पास चली गयी और धीरे धीरे टाईम बीत गया और धीरे धीरे रात होने लगी. तो हम सब लोगो ने एक साथ बैठकर खाना खाया और सोने की तैयारी करने लगे.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मामा की लड़की की चुदाई-1

फिर मैंने भी धीरे से शालिनी को बोल दिया कि तुम भी तो रात को बिना उसके सोती हो.. तुम्हे भी क्या अच्छा लगता है? फिर वो थोड़ी सी गुस्से से देखती हुई बोली कि चुपचाप सो जा और थोड़ा सुधर जा.. तो मैंने भी हंसते हुए मुहं घुमा लिया और फिर हम सब कल की तरह लेट गये और फिर मैंने धीरे से शालिनी के कानो में कहा कि शायद हम मम्मी, पापा के लिए रुकावट बन रहे है.. तो उसने कहा कि तू बहुत बिगड़ गया है और फिर हम सो गये.

फिर अगले दिन सुबह मम्मी ने मुझे उठाया और हम सब नाश्ता करने लगे. आज पापा ने बोला कि आज हमे यहाँ पर अपने किसी मिलने वाले के यहाँ पर जाना है. तो अचानक शालिनी ने बोल दिया कि नहीं पापा हम वहाँ पर बोर हो जाएँगे.. मैंने और रोहित ने तो कुछ और प्लान कर रखा है क्यों रोहित? तो मैंने भी उसकी हाँ में हाँ मिला दी. फिर मम्मी, पापा ने कहा कि ठीक है और जाने की तैयारी करने लगे और हमे कहा कि तुम लोग थोड़ा जल्दी आ जाना. तो आज शालिनी ने एक बेग हाथ में लिया हुआ था हम फिर कल वाले रास्ते पर निकल गये तो मैंने कहा कि क्या इरादा है? तो उसने बोला कि हम कल वाली जगह पर ही चलते है और आज उसने बोला कि मुझे भी पानी में मज़े करने है. तो में मन ही मन बहुत खुश होने लगा. फिर कुछ ही देर में हम वहाँ पर पहुंच गये और में झट से कपड़े उतार कर पानी में आ गया और मैंने शालिनी को भी आने को कहा.

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!