मेरी वासना भरी नजरो के जाल में फांसी भाभी-1

(Meri Vasna Bhari Najro Ke Jal Mein Fasi Bhabhi-1)

नवरात्री के दिन थे, एक शनिवार के दिन में दांडिया खेलने के _लिए गया हुआ था, वह एक बहोत आमिर और पोश एरिया का लोन था. दांडिया खेलते खेलते एक घंटा हुआ था और मुझे एक आंटी नजर आ गयी थी. वह बहोत ही कयामत सी सुंदर दिख रही थी और में उसकी खूबसूरती मेरे शब्दों में बयान भी नहीं कर सकता था. उसकी उमर ३० साल के करीब की थी. उसका फिगर एकदम परफेक्ट था ३४-३०-२६ था. उसकी चमड़ी एकदम गोरी थी की उसको देख के किसी के भी मुह में पानी आ जाये. Meri Vasna Bhari Najro Ke Jal Mein Fasi Bhabhi.

में भी दिखने में काफी हेंडसम हु और में रोज जिम वगेरा करता हु. खेलते खेलते हम सामने सामने आ जाते थे, और में उसको बहोत ही वासना की नजर से देखता था, तो वह थोडा शर्माने लगी थी लेकिन मेने अपना काम जारी रखा. वह अब बार बार मुझे देखे जा रही थी और उसको पता चल गया था की में उसके पास ही देखे जा रहा हु, थोड़ी देर के बाद में थोडा साइड में गया और आराम करने लगा था.

१५ मीनट के बाद वह भी वह पर आ गयी और अपना मोबाइल निकाल कर कुछ करने लगी थी और फिर वह मेरे पास आई और उसका फोन मेरे हाथ में दे दिया और बोली की नंबर टाईप करो. मेने भी चुपचाप मेरा नंबर टाईप किया और मोबाइल उसके हाथ में रख दिया, फिर वह दांडिया खेलने चली गयी थी, मुझे लगा की वह मुझे कल कोल करेगी तो में निकलने लगा, तभी मुझे एक कोल आया और एक मीठी आवाज सुनाई दी.

वह : तुम कहा जा रहे हो?

में : आप कोण हे?

वह : में नम्रता हु, तुमने मुझे अपना नंबर अभी अभी दिया हे.

में : ओके, आप वह ओरत हे जिसने आज की रात की खूबसूरती बढ़ा दी हे.

वह : शट अप एंड थेंक यु.

में : में अब अपने घर पर जा रहा हु.

वह : मुझे थोड़ी देर के बाद पार्किंग में मिलना और यह कह कर उसने कोल काट दिया.

में पार्किंग में गया और १० मिनिट के बाद वह भी वहा पर आ गयी थी. वह उसकी bmw में थी.

में तो उनको देख कर एकदम हक्का बक्का रह गया, मेरे लिए यह एकदम मस्त अनुभव था. मेने आज तक बहुत आंटी की प्यास बजाई थी और उनको मजे भी दिए थे.

में ओरतो को ऐसे प्यास बुजाता हु के कोई भी बुजा ना सके.

मेने एक स्टोरी में बताया था की

जब तक सामने वाली न बोले की अब तुम्हारा निकाल दो तब तक में मेरा निकालता नही हु. और मुझसे खुश होने के बाद और किसी को वह कभी भी अपनी प्यास को बजाने के लिए बुलाती भी नहीं हे. वह मेरे पास आई और कहा की कार के अंदर आ जाओ.

में अंदर चला गया.                                     “Meri Vasna Bhari Najro”

उसने कहा : हाय, में नम्रता हु.

मेंने कहा  : हाय, में प्रेम हु.

उसने कहा  : तुम मुझे घुर घुर के क्यों देख रहे थे?

मेने कहा : मेरे अंदाज से ८०% लडके आपको ही घुर रहे थे. (मेरे इस जवाब से वह इम्प्रेस्ड हो गयी थी.)

उसने कहा  : तुम क्या करते हो?

मेंने कहा : में एक आयटी कम्पनी में काम करता हु, मेरे कुछ ग्राहक हे जिनकी प्यास में बूजता हु और में उनको सर्विस देता हु, वह मेरी बात सुनकर एकदम चकित हो गयी.

ठीक हे आज रात तुम फ्री हो क्या?

में : में आपके जैसी सुंदर लेडी के लिए हमेशा फ्री रहता हु.

उसने कार को स्टार्ट किया और एक घंटे के ड्राइव के बाद एक बहोत ही हाय प्रोफाइल सोसायटी में कार जाकर रुकी और में उसको फोलो करने लगा. उसकी गांड देख के लग रहा था की अभी साली को उठा के उसकी गांड को चूसने लग जाऊ.

हम ८ वे फ्लोर पर गये. में अंदर जाकर सोफे पर बैठ गया और वर मेरे सामने बैठी थी.

वह : और बताओ…

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

में : कुछ नहीं बस सब अच्छे से चल रहा हे.

वह : में जिंदगी से बोर हो चुकी हु, मेरा पति ज्यादातर टूर में घूमता रहता हे और में हमेशा अकेली रह जाती हु और मेरे बच्चे बोर्डिंग स्कुल में हे.

में : आप चिंता न करे, तुम्हारे पास बहोत पैसे हे और तुम कुछ भी खरीद सकती हो.

वह : लेकिन किसी को पता चल गया तो?

में : मुज पर विश्वास करे, में ओरतो की इज्जत करता हु और कोई प्रॉब्लम नहीं होती हे. इसीलिए मेरे ग्राहक आज तक सिर्फ मेरे हे, वह उठी और मुझे एक हग किया और बोली के थेंक यु सो मच और वह थोड़ी देर बाद बोली के तुम तो बहोत माहिर लगते हो ओरतो के बारे में.                “Meri Vasna Bhari Najro”

में : आजमा के देख लो. आपको भी पता चल जाएगा.

वह : में सब आजमाने वाली हु लेकिन तुम थोडा सब्र करो. और मुझे बताओ तुम्हारी फिज क्या हे?

मेने कहा : मेरी फिज तुम खुद डिसाइड कर लेना मुझे आजमाने के बाद.

वह : तुम जाओ और नहा लो, में भी नहा लेती हु.

में फिर थोड़ी देर बाद नहा के आया और उसे देखा तो एकदम पागल हो गया था.

उसने एक ब्लेक कलर का सेक्सी नाईटी पहना था और वह खाना लगा रही थी.

मेंने कहा : भगवान भी क्या खुबसुरत चीज बनाता हे..

वह : यु नॉटी, बस करो. तुम क्या पिओगे?

में : एक बियर पेग बस.

वह बियर के दो ग्लास लेकर आई और मेरे पास आकर एकदम चिपक के बैठ गयी थी, और हम भी ड्रिंक करते हुए बाते करने लगे थे.

मेने एक हाथ उसके जांघ पर रखा था और उसने मुझे बहोत ही प्यासी नजर से देखा और हम किस करने लगे थे. मेने उसे अपनी और खिंचा और उसे मेरी गोद में बैठाकर एकदम जोर जोर से वाइल्ड किस करने लगा था. में अपना एक हाथ उसकी बोडी पे घुमाने लगा था और उसने अन्दर कुछ भी नहीं पहना था, वह बहोत ही ज्यादा सॉफ्ट थी और मुझे बहोत मजा आ रहा था.

उसने कहा : मुझे तुम कभी मत छोड़ना, में तुम्हे कभी कोई कमी महसूस नहीं होने दूंगी, बस तुम मुझे कभी मत छोड़ना और मुझे बहोत प्यार करना.                                                                  “Meri Vasna Bhari Najro”

कहानी जारी है……