मोटी गांड वाली बहन को चोदा भाग-2

Moti gand wali behan ki chudai part-2

पिंकी ने बिना शर्म किए मेरे लंड के मुठ मारने लगी। और फिर उसने धीरे से अपने होठों से मेरे लंड को छुआ और चूमने लगे।

यह एहसास बहुत ही आश्चर्यचकित और शानदार था। मानो जैसे, मेरी कामुक इच्छाएं पिंकी को ही मांग रही हो।

फिर पिंकी ने मेरा लंड चूसना शुरू किया। और उसके नरम-नरम होथ और उसकी गरम जबान मेरे लंड पर घूम रही थी। यह एहसास, कितना शानदार था, कि बस मेरी अन्तर्वासना ही जानती थी।

पिंकी ने अपनी मुठी में मेरी गोटिया पड़की और उन्ह हल्के हाथ से दबते हुए मेरा लंग चुस्ती रही। वो बार बार मेरे टोपे को अपने नरम होठो से चूस रही थी। साथ ही साथ वो बार बार मेरी गोटिया भी चाट रही थी। मुझे हल्के दर्द के साथ मिल रहा था। उसका गर्म और थूक से भरा मुँह मेरे लंड से पानी से मिलकर नीचे टपकने लगा।

मेरा झड़ने ही वाला था की मैंने पिंकी को रोका और उसके गंदे मुँह को प्यार से चूमने लगा और अपने ही लंड का स्वाद लेने लगा। ये देख पिंकी ने मुझे मुस्कुरा कर देखा और हम दोनों प्यार से एक दूसरे की आँखों में देखने लगे।

फिर मैंने पिंकी को लेटआया। फिर मैंने अपना लंड धीरे से पिंकी की चूत में डालना शुरू करा।

क्योंकि यह पिंकी का पहली बार था। तो मैं धीरे-धीरे अपना लंड डाल रहा था। उसकी चूत सच में बहुत ही कसी थी, जो कि मुझे और ज्यादा उत्तेजित कर रही थी।

एक वर्जिन लड़की है, और वर्जिन लड़की के साथ कामुकता करने का सौभाग्य हर किसी को नहीं मिलता। जब मेरा पूरा लंड उसकी चूत में घुस गया।

तो वह चिल्लाई!

मैंने उसका मुंह बंद कर दिया, और उसे होठों पर चूमने लगा। फिर मैं धीरे-धीरे हिलने लगा और उसे चोदना शुरु कर दिया। उसकी चूत इतनी टाइट थी कि मुझे और मजा आ रहा था, फिर धीरे-धीरे मैंने अपनी रफ्तार बढ़ा दी । अगर अपने मेरी Sister Sex Story का पहला भाग नही पढ़ा तो निचे दिए गए लिंक पर क्लिक अरे और पहले भाग पढ़े।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  दीदी को मकान मालिक ने चोद डाला

मोटी गांड वाली बहन को चोदा भाग-1

उसको मैं चोदने लगा और उसके चुंचो को भी खूब जोर जोर से दबाने लगा। फिर इसके बाद मैंने तुमको अपने ऊपर बैठा लिया। और बोला पिंकी तुम अपने आप ही करो जो करना है। क्योंकि मैं तो थक गया था।

लेकिन पिंकी में बहुत ही जोश भरा हुआ था और वे जोर-जोर से मेरे लंड के ऊपर कूदने लगी।

उसका चेहरा, मेरे चेहरे के सामने था। और वह मेरे लंड पर कूद रही थी। मैंने उसके स्तनों को भी अपने दोनों हाथों में पकड़ रखा था और दबा रहा था।

पिंकी का सुंदर चेहरा मेरा लंड बैठी नहीं रहा था वह खड़ा का खड़ा था। फिर मैंने पिंकी को पीछे घूमने को बोला क्योंकि मुझे उसकी सुंदर गोल-गोल गांड देखनी थी। उसकी गांड कितनी गोरी और गोल-गोल थी। मैं उसकी गांड को जोर-जोर से दबा रहा था, और वो भी मेरे लंड पर खूब कूद रही थी। मेरी पूरी Antarvasna Story जाने के बाद आप खुद की बहन को भी कामुक नज़रो से देखे गे।

साथ में मुझे बहुत जोर भर गया और मैं उसकी गांड पर थप्पड़ मारने लगा। और बोला – और जोर से करो, पिंकी और जोर से करो।

पिंकी ने अपनी रफ्तार और बढ़ा दी, और वह आवाजे भी खूब निकालने लगी। जिसको सुनकर मुझे और मजा आ रहा था।

फिर मैने पिंकी को रोका और थोड़ा सा उठने को बोला। जैसे ही वह थोड़ा सा उठी, मैंने उसकी गांड पकड़ी। और मशीन गन की तरह चोदने लगा।

मैंने उसे खूब चोदा, और मैने उसकी गांड को खूब ठोका, धकाधक-धकाधक। उसके बाद मेरा वीर्य झड़ने ही वाला था, फिर मैंने अपना लंड जल्दी से बाहर निकाला। और पिंकी की पीठ पर अपना सारा वीर्य, यानी कि, अपना सारा माल झाड़ दिया।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

उसके बाद पिंकी और मैं जोर-जोर से सांसे भरने लगे, लेकिन मैं फिर भी उसे चूमता रहा। आधे घंटे बाद भी, मैं उसे चूमता रहा और उसकी गांड पर हाथ फिरता रहा। हम दोनों अभी भी गले से चिपके हुए हैं, हम दोनों का बदन पूरा नंगा था।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  समर वेकेशन वाली गरम चुदाई बहन के साथ

लेकिन हम अभी भी एक-दूसरे को चूमे जा रहे थे और अपनी अंतरवासना शांत कर रहे थे। जब हम दोनों को संतुष्टि मिल गई उसके बाद हम दोनों रुक गए, और जोर-जोर से हंसने लगे। पिंकी ने बोला – यह हम दोनों का एक छोटा सा राज है जो किसी को नहीं पता चलना चाहिए।

मैंने बोला- मैं चुटिया थोड़ी ना हूं, जो यह बात किसी को बताऊंगा। और यह लम्हा मुझे जिंदगी भर याद रहेगा।

फिर इस सब के बाद. मेरी जिंदगी दोबारा सामान्य हो गई, और पिंकी दुबई चली गई। लेकिन फिर भी हम दोनों बातें करते थे, ऑनलाइन वीडियो कॉलिंग से।

और पिंकी मुझे नंगी होकर अपना सुंदर और आकर्षक बदन दिखाती थी, वीडियो कॉलिंग से। और मैं उसके बदन को देख कर, मेँ खूब मुठ मारता था।

एक दिन मैंने पिंकी को बोला कि वह अपनी स्कूल की ड्रेस पहन कर मुझसे वीडियो कॉलिंग करें। पिंकी बोली – तुम बहुत ही शरारती हो! और ऐसी ही ख्वाहिश जाहिर करते हो।

मैंने कहा – क्या करूं, तुम इतनी हॉट जो हो और मैं तुम्हें रिमूव ड्रेस में देखना चाहता हूं। क्योंकि मुझे कॉस्पले सेक्स (Cosplay costume sex) करने का बहुत शौक था। लेकिन यार, मैं कभी कर नहीं पाया। तो सोचा कम से कम देख ही लूं।

पिंकी मेरी बात मान गई, और वो शनिवार की रात को अपनी स्कूल ड्रेस में ही मुझसे कॉल करी। उसको स्कूल ड्रेस में देख कर मेरा लंड खड़ा हो गया और मेरे लंड से पानी टपकने लगा।

मेरे मुंह से भी लार गिरने लगी, क्योंकि मैं हक्का-बक्का हो गया था। क्योकि वह बहुत ही सुंदर, आकर्षक और हॉट लग रही थी। वह मुझे उस वक्त किसी बहुत ही हॉट तेजस्वी देवी की तरह लग रही थी। जिसकी कामुकता का जादू मुझ पर हो रहा है।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  भाई तुझे ही हक़ है मेरी चूत मारने का

फिर धीरे-धीरे पिंकी ने डांस करना शुरू कर दिया। उसका यह उत्तेजित और आकर्षक डांस देखकर मेरी कामुकता और गई।

क्योंकि पिंकी एक बहुत ही अच्छी डांसर थी, और स्कूल ड्रेस में तो वह बस गजब लग रही थी। फिर धीरे-धीरे पिंकी ने अपने कपड़े खोलना शुरू करें।

और उसका सुंदर आकर्षक गोरा बदन देख कर, मैं अपने लंड से मुठ मारने लगा। फिर धीरे-धीरे में अपने चुँचे को अपने ही हाथों से दबाने लगी। और साथ ही अपनी जुबान से चाटने भी लगी।

फिर उसने मुझे डॉगी पोजिशन में अपनी कमर झुकाकर। अपनी गोल-गोल और गोरी गांड को दिखाया। और बोली – क्या तुम्हें मेरी गांड पसंद है? मैंने लार टपकाते हुए, एक पागल कुत्ते की तरह बोला, हां मुझे तुम्हारी कार्ड बहुत पसंद है!

वह लड़की जानती थी, कि कैसे आदमियों को छेड़ा जाता है और उनको कैसे सताया जाता है। फिर पता नहीं कहां से,…. वो एक एडल्ट खिलौना ले आई, जो कि लंड की शेप का था।

और उसने अपने दोनों टांगों को मेरे कैमरे के सामने फैला दिया और उस खिलौने लंड को अपनी चूत में डालने लगी। यह कामुकता भरा दृश्य देखकर, मैं अपने लंड से और जोर-जोर से मुठ मारने लगा।

और वह भी मेरे साथ-साथ जोर जोर से उस नकली खिलौने लंड को अपनी चूत में डाल रही थी। हम दोनों यह एक साथ कर रहे थे और दोनों को बहुत ही आनंद आ रहा था।

फिर अचानक से पिंकी का कम हो गया। और मैंने भी अपने लंड से पिचकारी छोड़ दी। शांत होने के बाद मैंने पिंकी से बोला – अरे तुमने तो यार आज सरप्राइज़ ही कर दिया!

और हमारी दोस्ती यूं ही बरकरार रही, और हमने आगे और भी बहुत हरकतें करें।

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!