नेहा दीदी की नंगी चूत 3

Neha didi ki nangi chut-3

अब तक आपने पढ़ा –

उस वक्त मैं कैसा महसूस कर रहा था; बता नहीं सकता।

एक तरफ यह एहसास मुझे मारे डाल रहा था कि मेरी दोनों बहनें कितनी बड़ी चुद्दकड़ रांड हैं…

नेहा दीदी कल राजू से चुदते हुए पकडे जाने पर भैया से बेरहमी से पिटी थीं और आज ही अशोक का लण्ड खाने लगीं; कैसी प्यासी है, इनकी चूत लण्ड खाने की:

मुझे बहुत अफ़सोस हो रहा था की मेरी दोनों बहनें दो कौड़ी की रंडियाँ हैं पर अशोक से दीदी की चुदाई देखने के बाद मेरा लण्ड फ़ुफ़कारें भी भर रहा था!!!

सच पूछिये, तो बड़ी असमंजस की परिस्थिति थी मेरे लिए… … …

अब आगे –

मेरा पायजमा खडा हो गया था। मेरा लण्ड फ़नफ़ना रहा था। मैं बेचेन हो गया था ये बात स्वाती दीदी जान गई थीं… …

मौका पाते ही वो बोलीं – राजा, जरा सब्र करो, रात तो होने दो… …

मैं कुछ कह पाता इसके पहेले माँ आ गईं और मैं चुप रहा।

रात में हम सोने के कमरे में आ गये तो मैंने झट् से दीदी के मम्मे पकड लिए और दबाने लगा।

स्वाती दीदी बोलीं – छोड; पागल हो गया है क्या…??

नेहा अभी तक कमरे में नहीं आई है; उसे सो जाने दे… बाद में हम ये सब करेंगे।

मैं बिना सोचे बोला – दीदी, मैं बडी दीदी को भी चोदना चाहता हूँ!! !!!

ये बात सुन कर वो हैरान हो गई और बोलीं – तु तो सचमुच पागल हो गया है, रे!!! !!

हिंदी सेक्स स्टोरी :  बहन चुदाई की कमी महसूस कर रही थी

मैंने कहा – हाँ!! मैं पागल ही हूँ… दोपहर में तुने क्या किया है; मैं सब जानता हूँ!!! !!

वो भडक उठीं और बोलीं – क्या जानता है तु… ??

मैंने कहा – अशोक को बुलाकर तुमने नेहा दीदी को चुदवाया है!!

दीदी – तुझे ये सब कैसे मालुम हो गया…??

मैं – मैं सब जानता हूँ…

अब दीदी थोडा घबरा गई और फ़िर वो बोलीं – मुझे थोडा सोचने दे; मैं कुछ करती हूँ… फ़िर कुछ सोचने के बाद बोलीं – तु अब सोने का नाटक कर, मैं तुझे सही समय पर उठाऊँगी… … तब तु नेहा को खुब चोदना!!! !!

फ़िर मैं चुपचाप सोने का नाटक करने लगा, कुछ ही पल में नेहा दीदी कमरे में आ गईं।

स्वाती उन्हें बोली – दीदी, लगता है आज अशोक ने तुम्हारी कुछ ज्यादा ही मारी है।

बडी दीदी धीरे से बोलीं – चुप कर, रवि सोया नहीं होगा!!!

स्वाती दीदी – नहीं, वो तो कब का सो चुका है; मेरी जान:

बड़ी दीदी – नहीं यार!! आज मुझे अशोक नहीं चोद पाया!! !!! हम दोनों का खेल शुरु हो जाता, इसके पहले ही तुने आवाज लगा दी थी। आज तो मैं भूखी ही रह गई।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

दोनों की बातें सुन कर मेरा लण्ड फ़न्फ़ना रहा था।

फ़िर स्वाती दीदी, नेहा दीदी के मम्मे मसलने लगीं। बड़ी दीदी भी स्वाती दीदी के मम्मे मसलने लगीं।

थोडी ही देर मे दोनों ने अपने कपडे भी उतार दिये और एक-दूसरे के मम्मे दबाने लगीं और कुछ ही देर में एक दूसरे की चूत में उंगली डालने लगीं!!!

हिंदी सेक्स स्टोरी :  रेखा दीदी ने चोदना सिखाया

दोनों अब तक बहुत गरम हो गई थीं।

बडी दीदी स्वाती से बोलीं – यार!! काश आज रात एक लण्ड मिल जाता… मेरी चूत की खुजली तो मिट जाती!! आज मुझे अगर लण्ड नहीं मिला ना तो लगता है मैं मर ही जाउंगी… … बता ना स्वाती; अगर तु मेरे जगह पर होती, तो क्या करती…??

स्वाती बोली – दीदी, अगर तुम्हे लण्ड चाहिये तो मैं अभी दिलवा सकती हूँ!! !!!

नेहा बोली – स्वाति तू तो जानती है मेरी बहन की मैं दो पैसे की रंडी हूँ, कुत्ते का लण्ड भी खा जाउंगी!! फ़िर देर किस बात कि है, मुझे तो आज लण्ड किसी भी हालत में होना ही है; चाहे फ़िर वो किसी का भी क्यों ना हो!!! !!

स्वाती बोली – दीदी, लण्ड तो कब का तैय्यार है; बस आपकी हाँ की देर है।

बड़ी दीदी बोलीं – चल, पागल कहीं की। इस वक्त हमें कहाँ से लण्ड मिलेगा…??

अब स्वाती दीदी बोलीं – दीदी, हमें तो सिर्फ़ लण्ड की जरुरत है ना और तु तो कह रही है कि तुझे किसी का भी लण्ड चलेगा।

कस्मसाते हुये नेहा दीदी बोलीं – यार, अगर किसी भिखारी का भी होगा ना; तो भी मैं चुदवाने को तैयार हूँ!!! तू तो जानती है ना की मैं चुड़दकड़ छिनाल हूँ, मेरी चूत में आग सी लगी है; यार…

अब देर ना करते हुये स्वाती दीदी ने मुझे कहा – रवि, मेरे प्यारे भाई उठो और अपनी नेहा दीदी कि चूत मारो!! !!!

ये क्या बक्वास कर रही है तू…?? नेहा दीदी, स्वाती से बोलीं… …

हिंदी सेक्स स्टोरी :  बड़ी बहन के साथ सेक्स

स्वाती कुछ बोल पाती, इसके पहले ही मैं अपना लण्ड हाथ में लेकर झट्से खडा हो गया और दूसरे ही पल मैंने मेरा लण्ड नेहा दीदी की नंगी चूत के ऊपर रख दिया और वो कुछ बोल पातीं, इसके पहले उनके मुँह मे मेरा मुँह था।

बिना टाईम बरबाद किये मैंने दीदी के मम्मे जोर-जोर से रगडने शुरु किये!!! !!

लोहा तो पहले से ही गरम था, बस मैंने सिर्फ हथोड़ा मारने का काम किया था।

अब मेरी स्वाती दीदी मेरे लण्ड को हाथ मे पकड कर नेहा दीदी की चूत मे डालने लगीं… !!!

नेहा दीदी ने अब कुछ ना कहते हुये मेरी कमर को पकड लिया और मुझसे बडी खुशी से चुदने लगीं!!! !!!

मैंने पहले नेहा दीदी को दिल भर के चोदा और बाद मे स्वाती दीदी को चोदा!!! !!

उस दिन पूरी रात हमारा नंगा नाच चलता रहा… … …

कहानी आपको कैसी लगी, बताना मत भुलना।

मुझे आपके मेल का इंतजार रहेगा।

तब तक सलाम, नमस्ते।

धन्यवाद मस्त कामिनी जी और सभी पाठकों… … …

आपका दोस्त – रवि…

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!