पड़ोस में आयी भाभी को चोदा

Pados mein aai bhabhi ko choda

अभिषेक ने अपनी पहली कहानी में ही पड़ोस की भाभी को पटा लिया। भाभी अभिषेक की इतनी देवानी हो गई की वो उसके साथ नाजायज़ सम्बन्ध बना बैठी। अब देखना ये है की अभिषेक ने पड़ोस में आयी भाभी को चोदा तो कैसे चोदा ?

हेलो दोस्तो आप सभी पाठको को मेरा प्यार भरा नमस्कार करता हूँ । यह मेरी पहली देसी कहानी है अगर कोई गलती तो माफ कर देना ।

मेरा नाम अभिषेक है मैं मुरादाबाद उत्तर प्रदेश का रहने वाला हूँ । मेरी उम्र 22 वर्ष है , मैं बी टेक फाइनल ईयर का छात्र हूँ , लंबाई 5 फुट 6 इंच और रंग हल्का गोरा है , शरीर सामान्य है , मेरे लंड की लंबाई 6 इंच और मोटाई 3.5 इंच है जो किसी भी लड़की को संतुष्ट करने के लिए काफी है।

मेरे परिवार में हम 4 सदस्य हैं , मेरे मम्मी और पापा , छोटा भाई आकाश और मैं ।
अब मैं अपनी कहानी पर आता हूँ , मेरे पड़ोस में एक मस्त सेक्सी भाभी किराए पर रहती थी, उनका नाम सपना था, उनके पति बैंक सरकारी नौकरी करते थे उनको आये हुए अभी एक महीना ही हुआ था ।

सपना भाभी दिखने मैं एकदम हीरोइन थी उनकी छाती भरी हुई थी उनकी गांड बहुत मस्त थी उनका फिगर 34-28-36 था । उनको जब मैंने पहली बार देखा तो देखता ही रह गया ,मेरा लंड मेरी पैंट में सलामी देने लगा , मैंने बाथरूम में जाकर मुठ मारकर अपने लंड को शांत किया ।

अब मैं जब भी उनको देखता तो मेरा लंड खड़ा हो जाता । मेरा मन करता कि उनके पास जाऊ और अभी चोद दु ,
सपना भाभी जब भी छत पर आती तो मैं उन्हें देखने लगता
उनकी मटकती गांड मुझे पागल कर देती थी ।

एक दिन जब मैं अपने कॉलेज से घर आया तो मैंने देखा कि सपना भाभी हमारे घर बैठी थी बो मम्मी से कुछ बात कर रही थी मैंने उनके पास जाकर उनको नमस्ते किया ।

मम्मी ने भाभी से कहा कि अगर तुझे किसी चीज की जरूरत पड़े तो अभिषेक से कहना ये तुझे लाकर दे देगा ।
मैंने कहा – हां क्यों नही वरना हमारे पड़ोसी होने का क्या फायदा ।
भाभी मुझे देखकर एक मुस्कान दी

हिंदी सेक्स स्टोरी :  आंटी की सुखी चूत को अपने लंड से चोद कर गिला किया-1

एक दिन भाभी ने मुझे अपने घर बुलाया । जब मैं उनके घर गया तो भाभी ने कहा – अभिषेक देखना हमारी टी वी नही चल रही है । मैंने देखा तो डिश के सिंग्नल नही आ रहे थे ।
मैंने उनकी डिश सही कर दी । भाभी मेरे लिए चाय बनाकर ले आयी । हम चाय पीने लगे और बातें करने लगे ।

मैं – भाभी भाईसाहब घर कब आएंगे ।
भाभी – वो तो शाम को ही घर आते हैं। और बताओ तुम्हारी पढ़ाई कैसी चल रही है ।
मैं – सही चल रही है ।
( जब मैं उनसे बात कर रहा था तो मैं भाभी को बहुत गौर से देख रहा था )

भाभी – क्या देख रहे हो ।
मैं – तुम्हे देख रहा हूँ भाभी
भाभी – क्या कोई लड़की देखी नही है
मैं – लडकियां तो बहुत देखी हैं पर आपके जैसी नही देखी ।
भाभी – ऐसी क्या बात है मुझमे
मैं – भाभी आप हीरोइन की तरह हो ।
कुछ टाइम बाद मैं अपने घर आ गया ।

एक दिन सपना भाभी के पति को किसी काम से दो दिन के लिए लखनऊ जाना पड़ा । सपना भाभी के पति ने मेरी मम्मी से कहा कि मैं दो दिन के लिए लखनऊ जा रहा हूँ सपना का खयाल रखना ।

शाम को मैं उनको स्टेशन छोड़ आया । जब मैं अपने घर आया मम्मी ने कहा कि तुम सपना भाभी के घर सो जाना सपना कह रही थी ।
यह बात सुनकर मेरे मन में लड्डू फूटने लगे । जब मैं सपना भाभी घर गया ।

भाभी – अभिषेक तुम मेरे कमरे में ही सो जाना मुझे अकेले सोने में डर लगता है ।
मैं – ठीक है भाभी
भाभी ने मेरा बिस्तर अपने डबल बेड पर ही लगा दिया ।
भाभी मेरे लिए चाय बनाकर ले आयी । हम चाय मिलकर चाय पीने लगे में और बातें करने लगे।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  सच्ची कहानी : एक असंतुष्ट भाभी की चुदाई की कहानी

भाभी – अभिषेक क्या तुम्हारी कोई गर्लफ्रैंड है
मैं – नहीं
भाभी – तुम तो बहुत हैंडसम हो कोई मिली ही नही
मैं – भाभी आपके जैसी नही मिली
हम बातें करते करते सो गए
मैं और भाभी बराबर में ही सो रहे थे । गर्मियों के दिन थे । भाभी साड़ी पहने हुए थी उनकी पेट साफ दिख रहा था ।

अपना लंड खड़ा करने के लिए हमें इंस्टाग्राम पर फॉलो करे !!

follow antarvasnastory on instagram
रात में जब मेरी आँख खुली तो भाभी सो रही थी ।
मैंने मौके का फायदा उठाना चाहा मैंने अपना हाथ उनके बूब्स पर रख दिया और उन्हें ऊपर से ही दबाने लगा ।
भाभी अभी सो ही रही थी । मुझे बहुत मजा आ रहा था तभी भाभी ने करबट ली । मैं डर गया ।

मैं ऐसे ही पड़ा रहा भाभी अभी भी सो रही थी मैंने अपना लंड पेंट से निकालकर भाभी की गांड़ पर लगा दिया और भाभी की गर्दन को चूमने लगा भाभी कुछ टाइम बाद सिसकारियां लेने लगी तभी उन्होंने मेरे लंड को पकड़ लिया मैं डर गया तभी भाभी ने कहा नाटक मत करो मुझे सब पता है

यह सुनकर मैंने उन्हें अपनी बाहों मैं भर लिया और उनके होटो को चूमने लगा । करीब 10 मिनट तक हम एक दूसरे को चूमने लगे । फिर मैंने एक हाथ भाभी उनके पेटीकोट में डाल दिया और अपनी उंगली भाभी की चुत अंदर बाहर करने लगा भाभी आह ऊह इह की आबाजे निकलने लगी ।

कुछ देर बाद मैंने भाभी के बिलाउच को उतार दिया भाभी अंदर लाल रंग की ब्रा पहने हुई थी फिर साड़ी और पेटीकोट को भी उतार दिया अंदर भाभी लाल रंग की पैंटी पहने हुए थी कुछ समय बाद हम दोनों नगें हो गए भाभी मेरे लंड को अपने हाथों में लेकर सहला रही थी मैं उनके बूब्स को चूस रहा था ।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  विधवा बहु का मुहं बंद किया

फिर मैंने दोनो टांगो को फैलाया उनकी चुत गुलाबी थी चुत पर एक भी बाल नही था ऐसा लग रहा था कि भाभी ने आज ही चुत के बाल बनाये हैं मैंने उनकी चुत को अपने मुंह में ले लिया और चूसने लगा वो पागल हो गई

भाभी – अभिषेक चोद दो मुझे डाल दो अपना लंड मेरी चुत में अब मुझे मत तड़पाओ

फिर मैंने अपना लंड भाभी की चूत पर लगाया और अंदर डाल दिया ।
भाभी – आह हह इह उयउ ऊ ई
मैं अपने लंड को चुत में अंदर बाहर करने लगा और भाभी के होटो को अपने होटो में लेकर चूसने लगा ।

करीब 20 मिनट तक चुदाई करने के बाद जब मैं झडने वाला था तो मैंने भाभी से कहा कहां निकालू भाभी ने कहा अंदर ही निकाल दो । मैंने लंड का सारा माल भाभी की गुलाबी चुत में ही निकाल दिया । फिर भाभी भी मेरे साथ ही झड़ गई ।

मेरा लंड मुरझा गया भाभी ने मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी मेरा लंड फिर सलामी देने लगा फिर मैंने भाभी को चोदा । मैंने भाभी को उस दिन पूरी रात चोदा ।
फिर हमने अगली रात भी चुदाई की ।
भाभी ने मुझसे कहा कि तुमसे चुदाई करवा के मुझे बहुत मजा आया ।

दो दिन बाद भाभी के पति वापस आ गए ।
अब मुझे जब भी मौका मिलता मैं भाभी की चुदाई कर देता था ।

दोस्तों यह मेरी पहली कहानी थी आपको किसी लगी मुझे मेल करके जरूर बताना ।

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!