पड़ोस वाली रांड की चूत में झटके-2

Pados wali rand ki choot me jhatke-2

फिर उन्होंने किस छोड़कर मेरी पेंट की चैन खोल दी और मेरा लंड बाहर निकाल लिया और मुझसे कहने लगी कि संजय तुम्हारा लंड बहुत अच्छा है, तो में शर्मा गया. फिर उन्होंने मेरी पेंट उतार दी. अब में आराम से खड़ा हुआ था और फिर उसके बाद उन्होंने मेरी शर्ट भी उतार दी. अब में उनके सामने नंगा खड़ा हुआ था, अब मुझको शर्म आ रही थी.

उन्होंने मेरा एक हाथ पकड़ा और अपने बूब्स पर रख दिया और कहा कि इसको दबाओ, तो में उसको दबाने लगा. अब मुझको बहुत मज़ा आ रहा था जिसकी वजह से मेरा लंड और भी तन गया था. फिर उन्होंने मेरा लंड पकड़ लिया और उससे खेलने लगी. फिर उसके बाद उन्होंने अपने कपड़े भी उतारने शुरू कर दिये. पहले तो उन्होंने अपनी कमीज उतारी, उन्होंने नीचे ब्रा पहनी हुई थी, वो भी उतारी और फिर मुझसे कहा कि अब इनसे खेलो.

अब में उनके बूब्स को पकड़कर खेलने लगा था और वो मुझको साथ में गाइड करने लगी थी. फिर थोड़ी देर के बाद उन्होंने मुझको एक गोली दी, जो मैंने खा ली.

उन्होंने मुझसे कहा कि मेरे बूब्स को चूसो, तो में बच्चों की तरह उनके बूब्स को चूसने लगा, तो कभी उनके एक निपल को अपने मुँह में लेता, तो कभी उनके दूसरे निपल को अपने मुँह में ले रहा था, उनके निपल बड़े-बड़े थे और तनकर खड़े हो गये थे, उनके निपल काले रंग के थे. अब में उनको चूस रहा था और वो मेरे लंड को अपने एक हाथ में पकड़कर मसल रही थी. फिर उन्होंने अपनी सलवार उतारी और फिर अपनी पेंटी भी उतार दी. तो मैंने देखा कि उनकी टांगो के बीच में काफ़ी बाल थे.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  भाभी मेरे सामने घोड़ी बन गई

फिर वो अपनी दोनों टाँगे खोलकर लेट गयी और फिर उन्होंने मुझको अपनी चूत दिखाते हुए बोला कि इसको चाटो. फिर मैंने उनका हुक्म सुनते ही उसको चाटना शुरू कर दिया. अब उनके मुँह से बहुत अजीब सी आवाज़े निकल रही थी, आह संजय मजा आ रहा है और फिर वो भी उल्टी हो गयी और मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया.

अब उनकी चूत मेरे मुँह पर थी और अब वो मेरा लंड चूस रही थी और में उनकी चूत को चाट रहा था. फिर तभी उन्होंने कहा कि संजय इसमें उंगली करो, मुझको पता नहीं था कि कहाँ उंगली करनी है? तो मैनें उनसे पूछा कि कहाँ?

फिर उन्होंने अपनी चूत में मेरी एक उंगली डालकर बताया कि यहाँ. फिर मैंने उनकी चूत में उंगली करना शुरू किया और वो मेरा लंड चूस रही थी. फिर थोड़ी देर के बाद उनकी चूत ने पानी छोड़ दिया, तो जब उनकी चूत में से पानी निकला, तो मैंने अपना मुँह हटा लिया और उनसे कहा कि आंटी आपने मेरे मुँह में पेशाब कर दिया है. फिर उन्होंने कहा कि ये पेशाब नहीं है, ये मेरी गर्मी थी जो निकल गयी है, तो मैंने कहा कि ठीक है.

फिर थोड़ी देर के बाद वो बेड पर लेट गयी और मुझको खड़ा होने को कहा. तो में उनकी चूत के पास खड़ा हो गया. फिर उन्होंने अपनी दोनों टाँगे उठाकर अपने एक हाथ से मेरा लंड पकड़ा और अपनी चूत में डाला और कहा कि संजय अब आराम से आगे हो जाओ.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  Makan Malik Ki Chudasi Beti Ke Sath Sex Kiya-1

में आराम से आगे हुआ तो मेरे लंड का टोपा उनकी चूत में चला गया, उनकी चूत इतनी गर्म थी कि जिस तरह कोई चीज आग से नीचे उतारी हो. फिर मैंने कहा कि आंटी ये तो बड़ी गर्म है. फिर उन्होंने कहा कि ये इसी तरह होती है और उनके मुँह से आह की आवाज निकली और मेरे लंड को पकड़कर और अंदर किया. फिर आहिस्ता-आहिस्ता मेरा पूरा लंड उनकी चूत में चला गया.

आंटी ने कहा कि अब आराम से आगे पीछे हो, लेकिन लंड चूत में से बाहर ना निकले. अब में आराम से झटके मारने लगा था. अब मुझको बहुत मज़ा आ रहा था और ऐसा लग रहा था कि जैसे में हवा में उड़ रहा हूँ. अब आंटी ने अपने हाथ हटा दिये थे और कहा कि हाँ संजय इसी तरह झटके मारो. फिर थोड़ी देर के बाद में झटके मारता-मारता थक गया तो मैंने कहा कि आंटी में झटके मार-मारकर थक गया हूँ.

फिर उन्होंने मुझको लेटा दिया और वो मेरे ऊपर आ गयी और अपनी चूत को मेरे लंड के ऊपर रख दिया और मेरा पूरा लंड अपनी चूत में ले लिया और अब वो ऊपर नीचे होने लगी थी. फिर क़रीब 45 मिनट तक वो इस तरह से करती रही और अब उनकी चूत से पानी निकल रहा था.

उन्होंने मुझसे उनकी निपल्स को अपने हाथ में पकड़कर चूसने के लिए कहा, तो मैंने ऐसा ही किया. फिर उसके बाद जब वो थक गयी तो फिर उन्होंने मुझको खड़ा किया और खुद बेड पर लेट गयी और अपनी दोनों टाँगे मेरे कंधे पर रख़ ली और मुझसे कहा कि झटके मारो, तो मैंने झटके मारने शुरू कर दिये. फिर मैंने आंटी से कहा कि मुझको पेशाब आ रहा है. तो वो समझ गयी की में झड़ने वाला हूँ, तो आंटी ने कहा कि मेरी चूत में ही छोड़ दो.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  किराये वाली सेक्सी पंजाबन आंटी

फिर जब में पूरी तरह से झड़ गया तो आंटी ने अपनी जीभ से मेरे लंड को साफ किया. फिर थोड़ी देर तक हम इसी तरह से पड़े रहे. फिर मैंने देखा कि 5 बजने वाले है तो मैंने आंटी से कहा कि भाई के आने का वक़्त हो गया है, अब आप जाओ. फिर उन्होंने अपने कपड़े पहने और चली गयी.

में रात को उन्ही के बारे में सोचता रहा और फिर सुबह भाई ने जबरदस्ती मुझे स्कूल भेजा. फिर जब में स्कूल से वापस आया तो आंटी फिर से मेरे घर आई और मैंने फिर से उसको चोदा. फिर यह सिलसिला करीब 2 साल चलता रहा और मैंने 12वीं क्लास पास कर ली और फिर भाई ने मुझको बरीपदा भेज दिया.

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!