सेक्सी पड़ोसन की सील तोड़ चुदाई-1

Padosan ki seal tod chudai-1

हैल्लो दोस्तों, में आज आप सभी चाहने वालों को अपना सेक्स अनुभव सुनाने जा रहा हूँ. दोस्तों में भी पिछले कुछ सालों से सेक्सी कहानियाँ पढ़कर उनके मज़े लेता आ रहा हूँ और में बहुत दिनों से अपनी भी वो कहानी आप सभी तक पहुँचाने के बारे में सोच रहा था, लेकिन ना जाने क्यों बार बार डरकर पीछे हट जाता और आज में बहुत कुछ सोचकर वो घटना आप लोगों तक पहुँचाने जा रहा हूँ.

में उम्मीद करता हूँ कि यह आप सभी को जरुर पसंद आएगी, क्योंकि यह कोई फेक कहानी नहीं मेरी सच्ची घटना है, जो कुछ समय पहले मेरे साथ घटी. अब में वो घटना सुनाने के सबसे पहले आप सभी को उस लड़की जो मेरी पड़ोसन है और जिसका नाम सोमी है उसके बारे में बात देता हूँ, जिसकी मैंने चुदाई करके उस अनुभव के मज़े लिए. दोस्तों सोमी एक गोरी और सेक्सी फिगर की लड़की है उसका साईज़ 36-26-36 बहुत कमाल का है.

दोस्तों वो मेरी पड़ोसन थी इसलिए हम दोनों बहुत अच्छे दोस्त थे और हम एक दूसरे के साथ बहुत सारी बातें किया करते थे, वो मुझसे अपनी हर एक बात किया करती थी और मुझसे वो कभी कुछ भी नहीं छुपाती थी. एक दिन उसे मुझसे अपनी पढ़ाई के बारे में कुछ पूछना था, इसलिए वो अपनी किताब लेकर आ गई और में उस समय अपने रूम में बैठा हुआ कम्पूटर पर फिल्म देख रहा था. फिर वो मुझसे बोली कि भैया मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा है, प्लीज आप मुझे समझा दो, में बहुत देर से इस सवाल को लेकर बहुत परेशान हूँ.

फिर मैंने उससे कहा कि ठीक है आ जा, में बता देता हूँ और फिर वो मेरे पास में आकर बैठ गई और मैंने उसे दो मिनट रुकने के लिए कहा और मैंने कम्पूटर को बंद करके उसे अपने सामने कुर्सी पर बैठा लिया, वो मुझसे उस सवाल का हल पूछने लगी, वो उस समय लाल कलर के टॉप में थी और बहुत ही अच्छी नजर आ रही थी. मैंने उसके सवाल का हल उसे बता दिया और फिर उससे कहा कि एक बार मेरे सामने हल करो, तो वो मुझसे ठीक है बोलकर उसे हल करने लगी और जैसे ही लिखने के लिए वो थोड़ा सा झुकी तो उसके बूब्स मुझे दिखने लगे मेरा लंड उसके बूब्स को देखकर तनकर खड़ा हो गया और वो जब तक सवाल करती रही में उसके बूब्स को देखता रहा.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  शालिनी भाभी की प्यासी चूत 2

फिर वो कुछ देर बाद अपना काम खत्म करके चली गई और उसके चले जाने के बाद मैंने उसको सोचकर मुठ मारी.

दोस्तों इससे पहले मेरे दिमाग़ में उसके लिए ऐसा कुछ नहीं था, लेकिन अब मेरी सोच उसके लिए एकदम बदल गई थी और अब धीरे धीरे मेरी नियत फिसलने लगी थी. में उसके साथ बहुत समय बिताने लगा था और हम साथ में क्लास जाते और वहां से आना भी हमारा साथ में ही होता था. फिर वो भी अब धीरे धीरे मेरे बहुत करीब आ गई थी, लेकिन उसके दिमाग़ में ऐसा कुछ नहीं था और उसकी हरकतो से मुझे साफ पता चलता था.

एक दिन हमारे घर के पास एक दीदी की शादी थी और मेरी मम्मी उसकी मम्मी और मेरा भाई और उसका भाई साथ में चले गए, इसलिए हम दोनों अपने घर पर एकदम अकेले थे. फिर वो उसके घरवालों के जाने के कुछ देर बाद मेरे पास आ गई और फिर वो मुझसे हंस हंसकर बातें करने लगी, लेकिन में उस समय उसको चोदने का विचार बना रहा था. अब हम बातें करने लगे और बहुत देर हंसी मजाक बातें करने के बाद वो मुझसे बोली कि आपने आज तक कोई गर्लफ्रेंड क्यों नहीं बनाई? तो मैंने उससे कहा कि मुझे आज तक कोई तेरे जैसी मिली ही नहीं और यह बात बोलकर में उसकी तरफ़ मुस्कुराने लगा और वो मुझसे ठीक है बोलकर बिल्कुल शांत हो गई.

अब मैंने उससे पूछा कि तूने आज तक कोई बॉयफ्रेंड क्यों नहीं बनाया? तभी वो मुझसे बोली कि आज तक आप जैसा मुझे भी कोई नहीं मिला और वो यह शब्द बोलकर ज़ोर ज़ोर से हंसने लगी. अब हम धीरे धीरे सेक्स सम्बन्ध के बारे में बातें करने लगे और तभी वो मुझसे कहने लगी कि मैंने अपनी कुछ दोस्तों से सुना है कि उन सभी कामों को करने में बहुत मज़ा आता है, क्या ऐसा सच में होता है?

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  मारवाड़ी आंटी को चोद कर माँ बनाया-1

दोस्तों उसके मुहं से यह बात सुनकर में पागल हो गया और अंदर ही अंदर बहुत खुश होने लगा था, क्योंकि मुझे उससे यह बातें सुनने की बिल्कुल भी उम्मीद नहीं थी, लेकिन मेरे लिए उसकी यह बातें आगे जाकर फायदा देने वाली थी और में भी खुद उसे इस दिशा में ले जाना चाहता था, लेकिन अब वो खुद मुझसे वो सब बातें पूछने लगी थी और धीरे धीरे आगे बढ़ती रही. फिर तभी वो मुझसे बोली, लेकिन यह सब ग़लत है, ऐसा नहीं करना चाहिये और यह बात सुनकर मेरा खड़ा लंड उदास होकर गिर गया. मैंने उससे पूछा कि इसमें क्या ग़लत है? दुनिया में सभी लोग अपनी लाइफ अपने अपने तरीके से जीते है, वो सब उनके ऊपर होता है और वो यह बात सुनकर थोड़ी शांत हो गई.

अब मैंने उससे पूछा कि क्या कभी तूने उसके बारे में सोचा है? मेरे मुहं से यह बात सुनकर वो चकित हो गई और कहने लगी कि यह आप क्या बोल रहे हो? अब मैंने उससे कहा कि बस मैंने तुमसे पूछा है, तो वो मुझसे कहने लगी कि नहीं और उसने वही सवाल मुझसे पूछा.

फिर मैंने तुरंत हाँ बोल दिया और फिर उसने मुझसे पूछा कि किसके साथ? मैंने झट से बोला कि तेरे साथ और वो डर गई. फिर मैंने उससे कहा कि तू डर मत. फिर वो शांत हो गई. अब मैंने उससे कहा कि में तुमसे सही में बहुत प्यार करता हूँ, उसने मेरी तरफ स्माइल किया और फिर उसने अपनी तरफ से मुझे जवाब दे दिया कि हाँ लेकिन में कुछ और समझती हूँ.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  करिश्मा की प्यारी सी कुंवारी चूत

यह बात सुनकर में थोड़ा गुस्सा होने का नाटक करने लगा और उसकी बातों का जवाब नहीं दे रहा था इसका मतलब वो तुरंत समझ गई और वो मुझसे बोली कि हाँ में भी आपसे बहुत प्यार करती हूँ, लेकिन डरती हूँ कि किसी को इस बात का पता ना चल जाए. फिर मैंने उससे कहा कि मेरे होते हुए तुझे किसी से डरने की ज़रूरत नहीं है. फिर उसने तुरंत मेरा हाथ पकड़ लिया और फिर वो मुझसे बोली कि प्लीज अब आप इतना गुस्सा मत करो. यह बात वो मुझसे बोलकर मेरे बहुत करीब आ गई और उसने मेरे कंधे पर अपना सर रख दिया.

फिर दोस्तों मैंने सही मौका देखकर उसका फायदा उठाते हुए अपना एक हाथ उसकी कमर के पीछे से ले जाकर उसकी कमर को पकड़कर अपनी बाहों में जकड़ लिया, जिसकी वजह से वो अब मेरे बहुत करीब थी और अब मुझे उसके सेक्सी बदन की गरमी महसूस हो रही थी और उसकी गरम गरम सांसे तेजी से और धड़कते दिल की धड़कने महसूस हो रही थी, वो पूरी पसीने से भीग चुकी थी.

तभी मैंने उसके माथे पर किस किया और उसने भी अपनी तरफ से जवाब देते हुए मुझे गाल पर किस किया और मुझे ज़ोर से हग कर लिया, जिसकी वजह से अब मेरी हिम्मत बढ़ गई थी. मैंने उससे अपनी आँखो में देखने के लिए कहा और उसके पास जाने लगा, तो उसने अपनी आखें बंद कर ली और मैंने धीरे से उसके होंठो पर किस किया. उसने भी मुझे किस किया और अब हम दोनों एक दूसरे को स्मूच करने लगे और बहुत देर तक किस करने के बाद हम दोनों अब मेरे रूम में चले गए.

अगले भाग में कहानी समाप्त-

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!