पड़ोसन ने मॉम को अपने पति और उसके बॉस से चुदवाया

(Padosan Ne Mom Ko Apne Pati Aur Usake Boss Se Chudwaya)

मेरा नाम रेशमा है और मेरी मॉम का नाम सरला है।
पहली कहानी में मैं आपको अपना परिचय करवा चुकी हूँ। मेरी मॉम दूध वाले से चुदवा चुकी हैं, यह घटना मैं आप सभी को
मेरी मॉम ने चूत चुदवा ली दूध वाले से
में बता चुकी हूँ।

उसके 2 महीने बाद बाजू वाली सुरेखा आंटी ने मॉम को उनके पति के बॉस से और पति से चुदवाया। आज मैं आपको उस कहानी को बताती हूँ।
अंकल जो करीब 40 साल के होंगे और आंटी मॉम की उम्र की ही हैं, वे थोड़ी मोटी थीं।

मैं पढ़ाई कर रही थी, तब आंटी मॉम से बात कर रही थीं।
‘दूध वाले ‘का’ कैसा लगा?’
तो मॉम मुस्कुरा दीं और कहा- मजा तो बहुत आया.. पर सुबह मुझे चलने में तकलीफ़ हो रही थी।

तब आंटी ने कहा- यार पति का प्रमोशन होने वाला है.. अगर तुम हेल्प करो तो काम बन सकता है।
मॉम बोलीं- मैं कैसे हेल्प करूँ?
‘मुझे आपके घर में बॉस को बुला कर पार्टी करनी है.. मेरा घर छोटा है न!’

पापा आउट ऑफ़ टाउन थे, तो मॉम मान गईं और उन्होंने पापा को फ़ोन करके पूछा- आप कब आने वाले हो?
पापा ने कहा- मैं तुम्हें फोन करने ही वाला था। मुझे कुछ काम और आ गया है.. मैं एक हफ्ते बाद आ पाऊँगा।
मॉम ने कहा- ठीक है।

उसके दो दिन उन लोगों ने पार्टी रात में रखी।
मॉम ने मुझसे कहा- तुमको सुबह जल्दी मौसी के घर जाना है इसलिए तुम खाना जल्दी खालो और सो जाओ।

रात को अंकल और उनके बॉस 10:30 बजे आना था। मैं चादर ओढ़ कर सोने का नाटक कर रही थी। मॉम ने मुझे आवाज़ दी.. जब मेरा कोई जवाब नहीं मिला तब वो खाना खाने बैठ गईं।

फिर मॉम और आंटी मस्त सज कर तैयार हुईं, वे दोनों बहुत मस्त दो रंडियां लग रही थीं।
खाना खाने के बाद सब सोफा पर बैठ गए, मॉम अंकल के बाजू में बैठी थीं, आंटी अपने पति के बॉस के बाजू में थीं।

तभी बॉस मेरी मॉम के बाजू में बैठते हुए आंटी से बोले- अरे भाभी जी आप अशोक के पास बैठ जाएं।
तब आंटी अंकल के पास बैठ गईं और मेरी मॉम बॉस के पास थीं।

बॉस ने मॉम के चूतड़ों को दबाते हुए कहा- वाव यार.. सरला तो मस्त टाइट माल है। वे मेरी मॉम के मम्मों को ज़ोर-ज़ोर से दबाने लगे।
तब मॉम ने उनकी शर्ट के बटन खोले और उनके सीने पर हाथ फेरने लगीं, बॉस मॉम को किस करने लगे।

तब आंटी ने अंकल को भी नंगा कर दिया और अंकल भी मॉम के पास आ गए। अंकल ने मॉम की साड़ी उतार दी। सुरेखा आंटी खुद ही नंगी हो गईं, वे बॉस का लंड चूसने लगीं, मॉम अंकल का लंड चूस रही थीं।
कुछ देर बाद दोनों लंड ने माल मॉम ओर आंटी के मुँह में छोड़ दिए।
अब उन आंटी और मॉम दोनों आपस में किस करके लंड के रस को चाटते हुए मजा ले रही थीं।

उसके बाद बॉस ने मॉम को और अंकल ने आंटी को सोफा पर लेटाया और वे लोग मॉम और आंटी की दोनों टांगों को उठा कर कन्धों पर रख कर चूत चूसने लगे।

मॉम और आंटी सीत्कार करने लगीं ‘आह्ह…. उहाह.. ओर ज़ोर से..’
कुछ ही देर में शायद उनकी चूतों का पानी भी निकल गया।

अशोक अंकल मेरी मॉम को चोदना चाहते थे.. पर मॉम को उनके बॉस ने सोफा पर बैठ कर अपने ऊपर बिठा लिया और मॉम की चूत में लंड सैट कर दिया।
बॉस का लंड सट से मॉम की चूत ने खा लिया और कूदने लगीं।

बॉस बोले- अशोक सरला तो मस्त रंडी है साली.. मस्त उछल-उछल कर लंड ले रही है।
यह हिंदी सेक्स स्टोरी आप HotSexStory.xyz पर पढ़ रहे हैं!

तब अंकल ने भी मॉम को रुकने को कहा। उन्होंने आंटी की चूत से लंड निकाला और मॉम की गांड में लंड सैट करके धक्का मार दिया।
मेरी मॉम अब दो लंडों से चुद रही थीं।

यह नजारा देख कर मैं अपनी बुर में उंगली कर रही थी।
मैंने देखा कि आंटी नीचे झुक कर मॉम की चूत और बॉस के लंड को चाट रही थीं।
वाव.. मॉम हचक कर चूत चुदवाते हुए सीत्कार कर रही थीं ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’

फिर कुछ देर बाद बॉस ने मॉम को कस कर पकड़ लिया और अंकल मॉम की गांड मारते रहे।
उन दोनों के लंड का जूस मॉम की गांड और चूत में गिर गया।

आंटी लंड से रस को चाटते हुए साफ कर रही थीं। अंकल ने जेब से कुछ निकाला और उनके बॉस को दिया।
आंटी समझ गई और उन्होंने एक गिलास दूध बॉस को दे दिया, बॉस ने दवा मिला कर दूध पिया।

फिर चूत चुदाई का दूसरा राउंड चालू हुआ। लंड चुसाई के बाद कभी अंकल मॉम की चूत में लंड डालते.. तो कभी उनके बॉस मेरी मॉम को चोदते।
इस तरह उनका सेक्स चालू रहा, करीब 4:30 बजे सुबह तक मॉम और आंटी कई बार चुदीं।

तब तक मैं भी सो गई थी।
इसके बाद वो लोग अपने घर चले गए। मैं सुबह 8 बजे उठी.. तो मॉम सोई हुई थीं। वहीं वियाग्रा का खाली पैकेट भी पड़ा था।
मॉम ज़ब जगीं.. तो मैंने पूछा- मॉम रात में क्या हुआ पार्टी में?

तब मॉम मुझसे खुलते हुए बोलीं- बेटे अभी तू भी जवान हो रही है। तेरे पापा मुझे ठीक से नहीं चोद पाते हैं.. इसलिए मैं दूध वाले से.. अशोक जी से ओर उनके बॉस से चुदवाया करती हूँ। तू अभी छोटी है और थोड़ी बड़ी हो जा.. जब तू 20 साल की हो जाएगी.. तब तक अपनी सील सही सलामत रखो। फिर ही सेक्स का मजा आता है। मैं तुझे सब मजा दिला दूँगी।

उसके बाद मॉम मेरे सामने ही चुदवाने लगीं और मुझे चूत चटवा कर शांत करने लगीं।
अगली स्टोरी में मैं आपको बताऊँगी कि जब मैं 21 साल की हुई.. तब मेरी सील किसने तोड़ी।

आप सबकी सेक्सी और हॉट रेशमा

Loading...