पड़ोसी भाभियों को जमकर बजाया–1

Padosi bhabhiyo ko jamkar bajaya-1

कहानी के सारे भाग देखने के लिए यहाँ क्लिक करे

चूत चुदाई के सभी खिलाड़ियों को मेरा प्रणाम। मैं रोहित एक बार फिर से,एक नई कहानी लेकर फिर से आप सबके बीच में हाज़िर हूं। मैं 26 साल का नौजवान लौंडा हूं।मेरा लन्ड 7 इंच लम्बा है जो किसी भी चूत को दिन में तारे दिखा सकता है। अब तक मेरा लन्ड कई नमकीन झीलों का पानी निकालकर पी चुका है। मेरे लन्ड को खासतौर पर पकी पकाई पुरानी झीले बहुत ज्यादा पसंद है।
मेरी ये कहानी मेरी पड़ोसी भाभियों के साथ अचानक हुई चुदाई के बारे में है जिनको मुझे बजाने का शानदार मौका मिला था। सबसे पहले मै आपको मेरी पड़ोसी भाभियों के बारे में बता देता हूं।
मेरी अर्पिता भाभी जिनके रूम में मुझे सभी भाभियों को चोदने का मौका मिला था, वो लगभग 35 साल की है।अर्पिता भाभी बहुत ज्यादा सेक्सी है।मतलब वो दिखने में बहुत ज्यादा हॉटी लगती है।उनका पूरा जिस्म बहुत ज्यादा रसदार है।अर्पिता भाभी बहुत ज्यादा चिकनी गौरी है।अर्पिता भाभी के बूब्स लगभग 34 साइज के है।जो भी उनके बूब्स को देख लेे तो उनके ऊपर फिदा हो जाए।भाभी की चिकनी कमर भी कमाल की है।उनकी कमर लगभग 32 साइज की है।

अर्पिता भाभी की गांड का तो कहना ही क्या।उनकी गांड़ लगभग 34 साइज की है।साड़ी में से भाभी के चूतड़ साफ़ साफ़ नजर आते है।जब भाभी चलती है तो उनकी गांड बहुत ज्यादा डांस करती है।
मैंने कई बार अर्पिता भाभी को चोदने की कोशिश की लेकिन उन्होंने मुझे चोदने का कोई मौका नहीं दिया। कई बार मै उन्हें चुदाई करवाने के लिए बोल चुका हूं लेकिन उनका हमेशा यही कहना होता है कि वो अपने पति के आलावा किसी से नहीं चुदवाना चाहती।

मेरी दूसरी पड़ोसी भाभी संगीता भाभी है।वो भी लगभग 35 साल की है।संगीता भाभी दिखने में बहुत ज्यादा गौरी चिकनी है।संगीता भाभी का जिस्म भी पूरा भरा हुआ सा है। संगीता भाभी के बूब्स लगभग 34 साइज के है।वो हमेशा अपने बूब्स को अच्छी तरह से ढककर रखती है जिसके कारण उनके बूब्स के थोड़े से नज़ारे भी नहीं दिखते है।संगीता भाभी की बल खाती हुई कमर लगभग 32 साइज की है और भाभी की गांड की साइज लगभग 32 की है। संगीता भाभी गांड़ को भी बूब्स की तरह ढककर रखती है।

संगीता भाभी सीधी साधी है और सिर्फ अपने पति के आलावा आज तक उन्होंने किसी दूसरे मर्द को अपने आस पास भटकने तक नहीं दिया है।संगीता भाभी को भी मैंने चोदने की कोशिश की लेकिन उन्होंने भी चुदाने से साफ मना कर दिया था।
मेरी तीसरी पड़ोसी भाभी शालिनी भाभी है।वो लगभग 40 साल की है।ये भी दिखने में बहुत ज्यादा गौरी चिकनी है।इनको देखते ही मेरा लन्ड हिचकोले खाने लगता है।शालिनी भाभी का जिस्म जौबन से भरपूर है।भाभी के बूब्स लगभग 32 साइज है।जब भी मेरी भाभी से बात होती थी तो मेरी नजर हमेशा भाभी के बूब्स पर ही रहती थी।भाभी भी कई बार इस बात को समझ चुकी थी कि मैं उनको ताड़ता हूं।

 

शालिनी भाभी की चिकनी कमर लगभग लगभग 30 साइज की है।कमर के नीचे भाभी की गांड लगभग 32 साइज की है।शालिनी भाभी के चूतड़ एकदम उठे हुए और भारी से है।मैंने कई बार भाभी की गांड टच करने की कोशिश की लेकिन मुझे भाभी की गांड टच करने का मौका नहीं मिला।
मेरी चौथी पड़ोसी भाभी शालू भाभी है।शालू भाभी लगभग 32 साल की है।शालू भाभी का जिस्म बहुत ज्यादा सेक्सी है।जब भी मै शालू भाभी को देखता था तो मेरे लन्ड में 200 वाट का करंट लग जाता था। शालू भाभी को भी मैंने कई बार पटाने की कोशिश की लेकिन शालू भाभी चुदाने के लिए तैयार नहीं हुई। एक बार मुझे शालू भाभी को चोदने का मौका भी मिल गया था लेकिन शालू भाभी की डर के मारे गांड़ फट गई और वो भाग गई।
शालू भाभी के बूब्स 34 साइज है।उनके बड़े बड़े बूब्स के कई बार मुझे दर्शन हो जाते थे।शालू भाभी के बूब्स को दबाने का मुझे बहुत ज्यादा मन करता था।जब भाभी चलती है तो उनके बूब्स बहुत ज्यादा हिलते है। शालू भाभी की गौरी चिकनी कमर लगभग 30 साइज की है।वहीं शालू भाभी की मस्त सेक्सी हॉट गांड़ लगभग 32 साइज की है।भाभी की गांड एकदम कसी हुई है। भाभी की गांड की कसावट साड़ी में से साफ़ साफ़ नजर आती थी।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Samne wali bhabhi ki chudai

मैंने कई बार इन चारो भाभियों को पटाने की कोशिश की लेकिन इन में से किसी भी भाभी ने मुझे चूत नहीं दी।शायद इसका एक बड़ा कारण ये था कि ये सब जानती थी कि मैं किन किन को चोद चुका हूं इसलिए ये सब भाभियां मुझसे चूत चुदवाने में डरती थी। मैं मेरे कॉलोनी की चार पांच भाभियों को तो पहले ही मेरे लन्ड का पानी पिला चुका था। अब मैं इन भाभियों को मेरे लन्ड के नीचे लाना चाहता था लेकिन कोई भी भाभी मेरे लन्ड के नीचे आने को तैयार नहीं हो रही थी।
शालू,शालिनी और संगीता भाभी अक्सर घर का काम खत्म कर ,बच्चो को स्कूल भेजने अर्पिता भाभी के घर आया करती थी।मेरी तरफ हमेशा इन पर रहती थी।अर्पिता भाभी दिन में घर पर अकेली ही रहती थी इसलिए सभी को उनके घर पर बाते करने का मौका मिल जाता था।

इस तरह से दो तीन महीने बीत चुके थे।सब कुछ ऐसे ही चल रहा था। मैं दूसरी चूत से काम चला रहा था।फिर एक दिन मैंने सोचा कि आखिरकार देखा तो जाए कि ये सभी भाभियां अर्पिता भाभी के घर ऐसी कौनसी बाते करती है? फिर एक दिन ऐसे ही जब शालू,शालिनी और संगीता भाभी अर्पिता भाभी के घर आई तो मैंने उन्हें देखने का प्लान बनाया।
जैसे ही सभी भाभियां अंदर गई तो मैं थोड़ी देर बाद हमारी छत पर से अर्पिता भाभी की छत पर आ गया।छत का गेट खुला हुआ था।फिर मैं धीरे धीरे अर्पिता भाभी के घर पहुंच गया।घर के अंदर कोई भाभी नजर नहीं आ रही थी।तभी मैं अर्पिता भाभी के बेडरूम की तरफ गया तो मुझे लगा सभी भाभियां बेडरूम के अंदर है।लेकिन बेडरूम का गेट बंद हो रहा था।
तभी मुझे शक हुआ दाल में कुछ काला है। अब मैं गेट के पास जाकर खड़ा हो गया और भाभियों की बात सुनने की कोशिश करने लगा।तभी मुझे पोर्न मूवी में चुदाई की आवाजे आने लगी। मैं तुरंत मांजरा समझ गया। अब मैं जल्दी से एक स्टूल लेे आया और रोशनदान से अंदर झांकने लगा।जब मैंने अंदर देखा तो दंग रह गया।

सभी भाभियां एक दूसरे से चिपक कर एलईडी टीवी में पोर्न मूवी देख रही थी।मूवी में धमाधम चुदाई चल रही थी।इधर अर्पिता भाभी शालू भाभी की चूत में उंगली घुसा रही थी और शालिनी भाभी संगीता भाभी की चूत को सहला रही थी। भाभियों का ये नज़ारा देखकर मेरा लन्ड खड़ा हो गया और मै पजामे में लंड को मसलने लगा।तभी मैंने अक्ल लगाते हुए भाभियों का ये नज़ारा मोबाइल में कैद कर लिया। थोड़ी देर बाद शालू भाभी शालिनी भाभी के बूब्स को मसलने लगी।
शालू भाभी– ओह भाभीजी आपके तो बहुत बड़े बड़े है।
शालिनी भाभी– हां ये सब उनका कमाल है।उन्होंने ही चूस चूस कर इतने बड़े किए है।
शालू भाभी– तो फिर इन्हें और बड़ा कर देती हूं।
तभी शालू भाभी ने शालिनी भाभी के ब्लाऊज को जल्दी से खोल दिया और भाभी के बड़े बड़े बूब्स को चूसने लगी। इधर संगीता भाभी ने भी अब अर्पिता भाभी की चूत में उंगली डाल डाली और उनकी चूत को सहलाने लगी।
अर्पिता भाभी– और ज़ोर ज़ोर से करो भाभीजी मज़ा आ रहा है।आह आह आह।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  जवानी की झलक दिखाई

थोड़ी देर तक मै भाभियों का ये नज़ारा देखता रहा। अब मेरा लन्ड बहुत बुरी तरह से तन गया था। अब मैंने सोच लिया था आज तो इन भाभियों की चूत का भोसड़ा बनाकर ही मानूंगा। अब आयेगा मज़ा। तभी मैं स्टूल लेे नीचे उतर गया और बेडरूम के गेट को नोक करने लगा।
गेट नोक करने की आवाज़ सुनते ही तुरंत पोर्न मूवी बंद हो गई।
अर्पिता भाभी– कौन है?
मैं– रोहित हूं भाभी, भैया गेट के बाहर खड़े है।आपने अंदर से गेट बंद कर रखा है।
अर्पिता भाभी– अभी आई मै।
अब कुछ ही पल में अर्पिता भाभी ने बेडरूम का गेट खोल दिया।जैसे ही भाभी ने गेट खोला तो मै तुरंत बेडरूम के अंदर घुस गया और वापस गेट बंद कर लोक कर दिया। ये देखकर सब भाभियां चौंक गई।

अर्पिता भाभी– ये क्या कर रहा है तू?
मैं– अभी तो कुछ नहीं किया है लेकिन अब करूंगा।
अर्पिता भाभी– क्या करेगा तू?
मैं– वो ही जो मै इतने दिनों से करना चाहता था।
तभी मैंने अर्पिता भाभी को धक्का देकर बेड पर पटक दिया।ये देखकर शालू और संगीता भाभी भागने लगी तभी मैंने उन्हें पकड़ लिया।
मैं– आप दोनों कहां भाग रही हो भाभी?असली मज़ा तो अब आयेगा।
शालू भाभी– कौनसे मज़े की बात कर रहा है तू और ये क्या बतमिजी है।
मैं– अच्छा, आप सब अंदर क्या गुल खिला रही थीं।सब पता चल चुका है मुझे।
शालू भाभी– क्या पता चला तुझे?
मैं– सब कुछ, अब चलाओ पोर्न मूवी,मै भी साथ में देखूंगा।
संगीता भाभी – ये कैसी बाते कर रहा है तू? होश में तो है तू?

मैं– मै सब होश में हूं और साथ में सबूत भी है मेरे पास।
तभी मैंने वीडियो चालू कर दिया।वीडियो देखकर सभी भाभियों की गांड फट गई।वो बुरी तरह से डर गई।
सभी भाभियां– यार रोहित प्लीज इस वीडियो को डिलीट कर दे। प्लीज।
मैं– डिलीट तो मैं कर दूंगा लेकिन आप सबको मुझे अपनी अपनी चीज देनी पड़ेगी।
मेरी बात सुनकर सभी भाभियों के चेहरे की हवाइयां उड़ गई।वो बिलकुल चुप हो गई।
मैं– बोलिए भाभियों कुछ तो कहो।
अर्पिता भाभी– यार प्लीज ऐसा मत कर ना।हम इसके बदले तुझे कैसे दे देंगी।
मैं– मुझे पैसे नहीं आपकी चीज़े चाहिए।
अर्पिता भाभी– प्लीज यार मान जा ना।
मैं– मैने एक बार बोल दिया।बस अब आप जल्दी से बताओ करना क्या है?
सभी भाभियां बिल्कुल चुप हो गई।कोई कुछ नहीं बोल रही थी।
मैं– भाभियों कुछ तो बोलो।
लेकिन कोई भी भाभी हां करने के लिए तैयार नहीं हो रही थी। अब मैं उनकी खामोशियों को समझ गया।तभी मैंने अर्पिता भाभी को फिर से पकड़कर बेड पर पटक दिया।

मैं– अब देखना असली पोर्न मूवी।
अब मैं तुरंत अर्पिता भाभी पर चढ गया और उनके रसीले होंठों पर मेरे प्यास होंठ रख दिए। अब मैं भूखे कुत्ते की तरह अर्पिता भाभी के होंठो को चूसने लगा।मुझे अर्पिता भाभी के होंठो को चूसने में बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था।अर्पिता भाभी चुपचाप होकर होंठ चुसवा रही थी। अब पूरे बेडरूम में आउच पुच्छ पुच्छ आउच पुच्छ पुच्छ आउच पुच्छ आह की आवाजें गूंजने लगी। मैं जल्दी जल्दी अर्पिता भाभी के होंठ चूस रहा था।तभी मैंने कुछ ही देर में अर्पिता भाभी के होंठो को लिपस्टिक को चूस डाला।
अब मैंने संगीता भाभी को भी खींचकर बेड पर पटक दिया और उनके ब्लाउज के ऊपर से ही संगीता भाभी के बड़े बड़े बूब्स का मज़ा लेने लगा।शर्म के मारे संगीता भाभी का चेहरा लाल हो चुका था। मैं ज़ोर ज़ोर से संगीता भाभी के बूब्स को मसलता हुआ अर्पिता भाभी के गले पर किस कर रहा था। अर्पिता भाभी के गौरे चिकने गले पर किस करने में मुझे बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Pados wali ladki ki seal todi

संगीता भाभी– आईईईई धीरे धीरे मसल रोहित। दर्द हो रहा है यार।
मैं– भैन की लौड़ी, भाभी दर्द तो होगा ही।
थोड़ी देर तक मैं ऐसे ही अर्पिता भाभी के गले को किस करता रहा और संगीता भाभी के बूब्स को दबाता रहा। अब मैंने जल्दी से अर्पिता भाभी के ब्लाऊज और ब्रा को उतार फेंका। ब्लाउज और ब्रा खुलते ही अर्पिता भाभी के गौरे चिकने बड़े बड़े बूब्स बाहर आ चमके। आह! कितने मस्त शानदार बूब्स है अर्पिता भाभी के! कितने दिनों से मै इनके लिए तड़प रहा था आह! आज जाकर इन्हें चूसने का मौका मिला है।आह मज़ा आ गया आज तो।
मै– आह भाभी! क्या मस्त बूब्स है आपके।
अब मैं अर्पिता भाभी के नंगे बूब्स को ज़ोर ज़ोर से मसलने लगा तभी अर्पिता भाभी की गांड फटने लगी।वो दर्द से कसमसाने लगी।मुझे अर्पिता भाभी के बूब्स दबाने में बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था।बड़ी मुश्किल से भाभी के बूब्स मेरे हाथ में आ रहे थे।
अर्पिता भाभी– आह आह आह आह ओह आह आह आह आह
तभी मैंने दूसरे हाथ से संगीता भाभी के बूब्स को ज़ोर से दबा दिया।संगीता भाभी की चीख निकल पड़ी।
संगीता भाभी– आईईईई।

मैं– आज तो गजब का मज़ा आ रहा है भाभियों।आज मै पहली बार आप सबको पेलूंगा।
थोड़ी देर में ही मैंने अर्पिता भाभी के बूब्स को अच्छी तरह से कस डाला।संगीता भाभी के चेहरे पर शर्म और डर की लकीरें उभर चुकी थी। अब मैं संगीता भाभी के ब्लाउज को भी खोलने लगा तो संहिता भाभी मना करने लगी।
संगीता भाभी– रहने दे ना यार रोहित।
मैं– साली रण्डी ,आज तो सबकुछ होगा।
तभी मैंने तुरंत भाभी के ब्लाउज और ब्रा को खोल दिया। अब संगीता भाभी के बड़े बड़े बूब्स भी उछल कर खुली हवा में सांस लेने लगे।
मैं– ओह भाभी आपके पास भी गजब का खजाना है।

अब मैं संगीता भाभी के बूब्स को ज़ोर ज़ोर से दबाने लगा।मुझे संगीता भाभी के बूब्स को बुरी तरह से कसने में बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था।संगीता भाभी दर्द से बुरी तरह से हिल रही थी।
संगीता भाभी– आईईईई आईईईई आईईईई ओह आह आह ओह।
मैं– आह! मज़ा आ रहा है भाभी।
संगीता भाभी– मेरी जान निकल रही है यार।
मैं– अभी तो कुछ नहीं हुआ जान आगे आगे देखिए आप।

भाभी बुरी तरह से दर्द से झल्ला रही थी। मैं झमाझम भाभी के बूब्स को रगड़ रहा था। इधर अर्पिता भाभी के बूब्स को भी मैंने अपने हाथो में लेे लिया। अब मैं अर्पिता और संगीता भाभी के बूब्स को एक साथ बजाने लगा।
अजब गजब नज़ारा था यारो जिन भाभियों को मै इतने दिनों से चोदने की कोशिश कर रहा था आज मै उन भाभियों के नंगे बूब्स के साथ खेल रहा था।मुझे भाभियों के बूब्स के साथ खेलने में बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था।ये मेरे लिए अद्भुत पल था।
कहानी जारी रहेगी……………….
आपको मेरी कहानी कैसी लगी मुझे मेल करके जरूर बताएं– [email protected]

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!