पड़ोसी भाभियों को जमकर बजाया–9

Padosi Bhabhiyo Ko Jamkar Bajaya-9

कहानी के आठवें भाग में आपने पढ़ा कि किस तरह से मैने शालिनी भाभी को पेलकर अर्पिता भाभी की गांड़ की बखिया उधेड़ दी। अब कहानी आगे………
अब शालिनी भाभी की गांड़ मारने की बारी आई चुकी थी। अब मैंने शालू भाभी से मेरे लन्ड पर तेल लगाने के लिए कहा। अब शालू भाभी ने मेरे लन्ड को पकड़ा और उसे अच्छी तरह से तेल लगा लगाकर मसलने लगी।इधर मै भी शालिनी भाभी की गांड़ को तेल लगा लगाकर मसलने लगा। मेरी उंगली आसानी से शालिनी भाभी के सुराख में घुस रही थी मैं उंगली को घुमा घुमाकर शालिनी भाभी की गांड़ में तेल ऊंग रहा था।
इधर शालू भाभी अच्छी तरह से मेरे लन्ड पर तेल लगा रही थी। अब तक शालू भाभी मेरे लन्ड को अच्छी तरह से तैयार कर चुकी थी।तभी मेरे दिमाग में खुरापाती आइडिया आया और मैंने लंड पकड़कर शालिनी भाभी की गांड़ में ठोकने के बजाय शालू भाभी के मुंह में डाल दिया।

अब मैं शालू भाभी का सिर पकड़कर शालू भाभी के मुंह को चोदने लगा। शालू भाभी कुछ समझ पाती इससे पहले ही मेरा लन्ड उनके मुंह में जा पहुंचा था। अब मैं अच्छी तरह से शालू भाभी को चोदने लगा।शालू भाभी ना नूकुर किए बगैर ही मेरे लन्ड को मुंह में ले रही थी। मैं सटासट भाभी के मुंह में लंड पेल रहा था।
मैं– ओह आह ओह शालू बहुत मज़ा आ रहा है।आह आह आह।
शालिनी भाभी– रोहित तू भी गजब है यार।मेरी गांड़ में लंड डालता डालता शालू के मुंह में डाल दिया।
मैं– बस थोड़ी देर रुक जाओ भाभी। मैं शालू के दांतों को अच्छी तरह से रगड़ देता हूं।
शालिनी भाभी– जल्दी कर यार।बहुत देर हो गई।कोई आ जाएगा तो हम सब पकड़े जाएंगे।
मैं– हां भाभी बस डाल ही रहा हूं।
अब मैं जल्दी जल्दी शालू भाभी के मुंह को चोदने लगा। मैं गांड़ हिला हिलाकर कर भाभी को मेरा लन्ड खिला रहा था।तभी मैंने ज़ोर से शालू भाभी के मुंह में लंड ठोक दिया। अब शालू भाभी से सांस लेना भी मुश्किल हो रहा था।कुछ ही देर में शालू भाभी हचकने लगी।
शालिनी भाभी– तू कभी नहीं सुधरेगा।

फिर मैंने थोड़ी देर लंड को शालू भाभी के मुंह में से बाहर निकाला।तब तक शालू भाभी की हालत खराब हो चुकी थी। अब शालू भाभी उठकर चुपचाप बेड पर बैठ गई।
शालू भाभी– बहुत खराब है यार तू।
मैं– आपको क्या हुआ?
शालू भाभी – कुछ नहीं।
मैं जानता था कि शालू भाभी मुंह में लंड ठोकने की वजह से गुस्सा हो गई थी।उनका चेहरा लाल सुर्ख हो चुका था।
अब मैंने मेरे लन्ड पर तेल लगाया और शालिनी भाभी की गांड़ में लंड को टिका दिया। अब मैंने अच्छी तरह से शालिनी भाभी की कमर पकड़ ली और फिर ज़ोरदार धक्का लगाया कर लंड शालिनी भाभी की गांड़ में पेल दिया।मेरा लन्ड एक ही शॉट में शालिनी भाभी की गांड़ के सभी झाड़ झंकाड़ों को चीरता हुआ उनकी गांड़ में अन्दर तक घुस गया।तभी शालिनी भाभी बुरी तरह से चीख पड़ी।
शालिनी भाभी– आईईईई।

मेरा लन्ड भाभी की गांड़ में अच्छी तरह से सेट हो चुका था।शालिनी भाभी दर्द से बुरी तरह से झल्ला रही थी।तभी मैंने भाभी की गांड़ में चार पांच ज़ोरदार धक्के और लगा दिए। अब तो शालिनी भाभी की आंखो में आंसू ही आ गए।वो दर्द से बुरी तरह से छटपटा उठी।
शालिनी भाभी– आईईईई आईईईई आईईईई आईईईई।
अब मैं ज़ोर ज़ोर से धक्के लगा कर शालिनी भाभी की गांड़ मारने लगा।मुझे शालिनी भाभी की गांड़ मारने में बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था।मेरा लन्ड शालिनी भाभी की हालत खराब कर रहा था।शालिनी भाभी की चीखे बुरी तरह से गूंज रही थी।
शालिनी भाभी– आईईईई आईईईई मर गई।आईईईई आईईईई।
मैं– हाय ! बहुत मज़ा आ रहा है ! क्या मस्त माल हो भाभी आप।
शालिनी भाभी– साले कुत्ते यहां मेरी गांड फट रही है। और तुझे मज़े की सूझ रही है।
मैं– तो साली रण्डी। मज़ा तो लूंगा ही ना।इतने दिनों बाद आज जाकर तुझे चोदने का मौका मिला है भैन की लौड़ी।
शालिनी भाभी– तो चोद लेे भड़वे जितना चोदना हो। मैं मना नहीं कर रही हूं। बस तेरा लंड कुछ ज्यादा ही भारी है।
मैं– साली रण्डी लंड भारी है तभी तो चोदने में बहुत ज्यादा मज़ा आता है।
मैं खचाखच शालिनी भाभी की गांड़ की बैंड बजा रहा था।आज शालिनी भाभी को पहली बार कोई इतना बड़ा लंड मिला था।भाभी से मेरे लन्ड को झेल पाना बहुत मुश्किल हो रहा था।वो ज़ोर ज़ोर से सिसकारियां भर रही थी।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  भाभी और किरायेदार का कामसूत्र

शालिनी भाभी– आईईईई आईईईई आईईईई।ओह आह। आईईईई।
मेरा लन्ड आज शालिनी भाभी पर कहर बनकर टूट रहा था। मैं फुल मस्ती में शालिनी भाभी की गांड़ मार रहा था। शालिनी भाभी की गांड़ मारने में मुझे जन्नत का मज़ा मिल रहा था।
शालिनी भाभी– आईईईई आईईईई ओह आह अहा अहा आईईईई।
मैं– ओह भाभी,सेक्सी हॉट माल की गांड मारने का मज़ा ही कुछ अलग होता है।
शालिनी भाभी– आईईईई आईईईई ओह आह आह आईईईई।
मेरा लन्ड फूल स्पीड में भाभी की गांड़ में अन्दर बाहर हो रहा था। मैं शालिनी भाभी की गांड़ मारने में कोई कसर नहीं छोड़ रहा था।मेरा लन्ड अभी तक भाभी की गांड़ के परखच्चे उड़ा चुका था। अब भाभी से मेरे लन्ड को और ज्यादा देर तक झेल पाना बहुत मुश्किल था।तभी शालिनी भाभी थर थर कांपने लगी और कुछ ही देर में शालिनी भाभी के भोसड़े में से गाड़ा माल बहने लगा।

 

अब मेरे लन्ड की स्पीड कम होने लगी।मेरा लन्ड भाभी की गांड़ में अच्छी तरह गीला हो चुका था। अब भाभी की दर्द भरी सिसकारियां मादक आहे में बदल चुकी थी।
शालिनी भाभी– आह आह आह ओह आह आह आह ऊंह अहा आह ।
संगीता भाभी– पहले तो हमे इतना ज्ञान दे रही थी अब क्या हुआ रोहित ने तेरी गांड़ फाड़ दी ना।
शालिनी भाभी– हां भाभी,इस कमिने का लंड ही बहुत ज्यादा मोटा तगड़ा है।आज से पहले कभी भी मेरी हालत इतनी खराब नहीं हुई जितनी इस कुत्ते ने की है।
संगीता भाभी– मै तो पहले ही कह रही थी ये कुत्ता हम सबको बुरी तरह से ही चोदेगा।क्योंकि इसके कारनामे मैंने सब रखे थे।
शालिनी भाभी– सुन तो मैंने भी रखे थे लेकिन क्या करे आज तो इस कुत्ते से चुदना ही पड़ा ।
संगीता भाभी– हां यार।
मेरा लन्ड आराम आराम से शालिनी भाभी को बजा रहा था। मैं पूरी शिद्दत से शालिनी भाभी को चोदने में लगा हुआ था।शालिनी भाभी मुझे गांड़ सौंपकर अच्छी तरह से गांड़ मरवा रही थी।

शालिनी भाभी– आईईईई आह आह। अहा अहा ओह आह आह आह।
मैं– ओह भाभी, बहुत अच्छा लग रहा है।
शालिनी भाभी– आह आह आह आह ओह आह आह।
फिर मैंने बहुत देर तक शालिनी भाभी की गांड़ मार दी।मेरे लन्ड ने शालिनी भाभी की गांड़ को लाल रंग में रंग दिया था। अब तो शालिनी भाभी से चलना भी मुश्किल हो रहा था।तभी मैंने शालिनी भाभी को उठाकर बेड पर पटक दिया। अब मैंने शालिनी भाभी को बेड पर भी घोड़ी बना दिया।
अब मैंने फिर से शालिनी भाभी की गांड़ में लंड रखा और ज़ोर ज़ोर शालिनी भाभी की गांड़ मारना शुरू कर दिया।शालिनी भाभी की फिर से सिसकारियां फुट पड़ी।
शालिनी भाभी– आह आह आह ओह आह ऊंह अहा आह आह।
मैं दे दना दन भाभी को बजा रहा था।आज तो शालिनी भाभी बुरी तरह से थक चुकी थी।मेरे लन्ड ने उन्हें नानी याद दिला दी थी।
अर्पिता भाभी– यार रोहित अब जल्दी से ख़तम कर।बच्चे आने वाले है।
मैं– हां भाभी बस कर रहा हूं।

बच्चो का स्कूल से वापस आने का टाइम होने वाला था। अब टाइम बहुत कम बचा था।तभी मैंने शालिनी भाभी को जल्दी जल्दी बजाना शुरू कर दिया।फिर मैंने थोड़ी देर और भाभी की गांड़ मारकर उन्हें पलट दिया। अब मैंने फिर से शालिनी भाभी की टांगे खोल दी और उसमे लंड ठोक कर भाभी के भोसड़े को फिर से चोदने लगा।
शालिनी भाभी– आईईईई आईईईई ओह अहा आहा ओह आह।
मैं– ओह मेरी सेक्सी भाभी। आह आह ओह।
अब मैं झमाझम भाभी के भोसड़े में धक्के लगा रहा था।भाभी सिसकारियां भरते हुए चुपचाप चुद रही थी।फिर मैंने थोड़ी देर में ही शालिनी भाभी को बुरी तरह से पेल डाला।
अब पास में ही शालू भाभी थी। अब मैंने तुरंत शालू भाभी को बेड पर पटक दिया और उनकी टांगो को खोलकर मेरे कंधो पर रख लिया।
शालू भाभी– यार रोहित रहने दे ना।
मैं– बस एक बार और भाभी।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Chocolate Kiss To Indian Bhabhi From Spain

अब मैंने जल्दी से शालू भाभी के भोसड़े में लंड रखा और दे दना दन शालू भाभी को बजाना शुरू कर दिया। भाभी के मुंह से तुरंत सिसकारियां फुट पड़ी।
शालू भाभी– आईईईई आईईईई ऊंह आह आह आह ऊंह आह आह।
मैं– आह आह भाभी।आज तो आपकी छोटी सी चूत भोसड़ा बन गई।
शालू भाभी– हां यार ये तेरा ही कमाल है।
मैं – कमाल तो बस हो ही जाता है।
मैं अच्छी तरह से शालू भाभी को पेल रहा था।मेरा लन्ड शालू भाभी के लाल सुर्ख भोसड़े को बुरी तरह से हिला रहा था। शालू भाभी आज जिंदगी में पहली बार इतनी बुरी तरह से चुदी थी। मैं अभी भी शालू भाभी के भोसड़े में खलबली मचा रहा था।
शालू भाभी– ऊंह आह आह ओह आईईईई आह आह ओह ऊंह आह आह।
मैं गांड़ हिला हिलाकर कर अच्छी तरह से शालू भाभी की क्लास लेे रहा था।फिर मैंने थोड़ी देर शालू भाभी को अच्छी तरह से बजा डाला।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

अब मैंने अर्पिता भाभी को तुरंत बेड पर खींच लिया।
अर्पिता भाभी– यार रोहित,बच्चे आने वाले है यार। थोड़ा तो समझ।
मैं– बस थोड़ी देर लगेगी भाभी।
अर्पिता भाभी– अरे यार तू भी……….. तूने हम सभी को तो चोद लिया फिर भी तेरे लंड की आग शांत नहीं हुई है।
मैं– क्या करू भाभी,लंड में बहुत ज्यादा आग लगी हुई हैं
तभी मैंने तुरंत अर्पिता भाभी को फोल्ड कर दिया और उनके रसीले भोसड़े में ज़ोरदार धक्का लगा कर लंड ठोक दिया।अर्पिता भाभी फिर से चीख पड़ी।
अर्पिता भाभी– आईईईई आईईईई अहा। अहा।
अब मैं फिर से मस्त होकर अर्पिता भाभी के भोसड़े को चोदने लगा।मेरा लन्ड भाभी के गरमा गर्म भोसड़े में लगातार अंदर बाहर हो रहा था।

अर्पिता भाभी– ऊंह आह आह आह आह ऊंह आह ।
मैं– भाभी,आज तो जिंदगी में पहली बार इतनी मस्त शानदार मालों को एक साथ पेला है।
अर्पिता भाभी– हां तेरी किस्मत अच्छी है जो इतनी मस्त मालों को एकसाथ बजा रहा है ।
मैं– हां भाभी।
मैने भाभी को कसकर दबा रखा था।मेरे लन्ड का कहर भाभी पर जारी था। मैं दे दना दन अर्पिता भाभी को चोद रहा था।
अर्पिता भाभी– आह आह आह ओह बस यार रोहित बहुत है।
मैं– बस थोड़ी देर और भाभी।
अर्पिता भाभी– अरे यार जल्दी कर।
भाभी को उठने की बहुत ज्यादा जल्दी लगी हुई थी। और मै भाभी को अभी और पेलना चाहता था। मैं झमाझम अर्पिता भाभी को बजा रहा था। आज तो अर्पिता भाभी मेरे लन्ड से बुरी तरह से चुद चुकी थी।
अब मेरा लन्ड भी अंतिम चरण में पहुंच गया था।तभी मैंने अर्पिता भाभी को कसकर दबा लिया और मेरे लन्ड का पूरा पानी भाभी के भोसड़े में ही भर दिया।

अब मैं पसीने में लथपथ होकर अर्पिता भाभी के जिस्म के ऊपर ही लेटा रहा।फिर थोड़ी देर बाद मैं भाभी के जिस्म पर से हटा।मेरा लन्ड अभी भी भाभी की सफेद चासनी में भीगा हुआ था।
अजब गजब नज़ारा था यारो चारो भाभियां मेरे सामने बिल्कुल नंगी खडी थी। सभी भाभियों की चूत आज भोसड़ा बन चुकी थी।पूरे बेडरूम में चारो तरफ कपड़े ही कपड़े बिखरे हुए पड़े थे। बेडशीट की हालत बहुत ही ज्यादा खराब हो चुकी थी।
चारो भाभियां कातिल जिस्म की मालकिन थी।आज तो मै इन चारो भाभियों को चोदकर धन्य हो गया।बहुत दिनों की प्यास आज जाकर बुझी थी। मैं बहुत ज्यादा लकी था जो मैने इन सभी भाभियों को एक साथ पेला।
अब सभी भाभियां कपड़ों के ढेर में से अपने अपने कपड़े ढूंढने लगी।फिर सभी भाभियां खुद के कपड़े पहचानकर पहन रही थी।फिर कुछ देर बाद सभी भाभियों ने कपड़े पहन लिए। अब केवल मै ही नंगा बेड पर पड़ा हुआ था।
अर्पिता भाभी– रोहित,तूने हम सबको ब्लैक मेल करके चोदा लेकिन हम सबने तुझसे प्यार से चुदवाया है।और तुझसे चुदाने में बहुत ज्यादा मज़ा आया है।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  स्वीटी भाभी की चुदाई का निमंत्रण-2

संगीता भाभी– हां यार रोहित,बहुत दिनों बाद मुझे कोई इतना बड़ा लंड मिला।तुझसे चुदाकर आज मै बहुत ज्यादा खुश हूं।
शालिनी भाभी– बहुत दिनों से मुझे अच्छा लंड नहीं मिला था लेकिन आज तेरे लंड ने मेरी उम्मीद से ज्यादा मज़ा दिया है।
शालू भाभी– रोहित का लंड और मेरी गांड़।क्या हालत की है रोहित तूने मेरी गांड़ की। दर्द तो बहुत हुआ लेकिन मज़ा भी बहुत आया।
मैं– वैसे मै सिर्फ अर्पिता भाभी को ही पेलना चाहता था लेकिन साथ में जब आप सभी मिल गई तो मेरा मज़ा चार गुना हो गया।आप सभी भाभियों को पेलने में मुझे बहुत ज्यादा मज़ा आया।
शालिनी भाभी–रोहित ये बात सिर्फ हम सबके बीच में रहनी चाहिए
मैं– चिंता मत करो भाभी, ये बात हम सबके बीच में ही रहेगी।
अब मैंने भी मेरे कपड़े पहन लिए। अब संगीता भाभी ने बेडरूम का गेट खोला।फिर सभी भाभियां एक एक करके घर जाने लगी।संगीता और शालू भाभी उनके घर निकल चुकी थी। अब शालिनी भाभी भी घर जाने लगी तभी मैंने शालिनी भाभी को पकड़ लिया।

मैं– अरे चल जाना भाभी,थोड़ी देर तो रुको।
अर्पिता भाभी– क्या कर रहा है रोहित जाने दे ना।
मैं–भाभी,अब आप बच्चो को सम्हालो, शालिनी भाभी थोड़ी देर बाद घर जाएगी।
तभी मैंने बेडरूम का गेट बंद लिया और शालिनी भाभी को उठाकर बेड पर पटक दिया।
शालिनी भाभी– रोहित,क्या कर रहा है यार।अब तो घर जाने दे।
मैं– चल जाना भाभी।
तभी मैंने जल्दी से मेरा पाजमा खोलकर लंड बाहर निकाल लिया और शालिनी भाभी की टांगो को हवा में लहरा दिया। अब मैंने तुरंत शालिनी भाभी की पैंटी को खोल फेंका। अब मैंने जल्दी से भाभी के भोसड़े पर लंड सेट कर दिया और भाभी की टांगो को पकड़कर शालिनी भाभी को फिर से चोदने लगा।

शालिनी भाभी– आईईईई आईईईई ओह आह आह आह आह ओह आह आईईईई।
अब मैं दे दना दन शालिनी भाभी को चोदने लगा।मेरा लन्ड फिर से शालिनी भाभी के लाल सुर्ख भोसड़े को पिघला रहा था।भाभी आराम से सिसकियां भरते हुए चुद रही थी।
शालिनी भाभी– आह आह आह आईईईए आह आह।
तभी बच्चो की आवाज़ आने लगी। अर्पिता भाभी बच्चो को सम्हाल रही थी।इधर मै शालिनी भाभी को जबरदस्त तरीके से ठोक रहा था। शालिनी भाभी की सिसकारियां बेडरूम में गूंज रही थी।
शालिनी भाभी– आईईईई आईईईई ऊंह अहा आह आह आह।
मैं– ओह भाभी बहुत कमाल की माल हो आप।आह बहुत मज़ा आ रहा है यार।
तभी शालिनी भाभी के भोसड़े में से फिर से लावा फुट पड़ा। अब शालिनी भाभी पानी पानी हो चुकी थी।वो पसीने से लथपथ हो चुकी थी। अब बेडरूम में लच्छ लच्छ पाछह पचग की ज़ोर ज़ोर से आवाजे गूंजने लगी। मैं शालिनी भाभी को अच्छी तरह से बजा रहा था।

तभी अर्पिता भाभी की आवाज़ आई– यार जल्दी से ख़तम करो।
मैं– हां भाभी बस हो गया।
तभी मैंने जल्दी जल्दी भाभी के भोसड़े में धक्के लगाए और फिर लंड का सारा माल भाभी के भोसड़े में भरकर शालिनी भाभी के ऊपर ही ढेर हो गया।
कुछ देर बाद हम दोनों उठे।अब मैंने शालिनी भाभी को पैंटी पहना दी।अब मैंने भी मेरा पजामा पहन लिया।
अब अर्पिता भाभी ने हम दोनो को तरीके से एक एक करके घर से बाहर निकाला।
आज मै चारो भाभियों को पेलकर बहुत ज्यादा खुश था। आज जिंदगी में पहली बार इतना मज़ा आया था।

आपको मेरी ये कहानी कैसी लगी मुझे मेल करके जरूर बताएं– [email protected]

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!