पल्लवी की कातिल जवानी-2

Pallavi ki katil Jwani-2

तभी मुझे जैसे हार्ट अटेक सा आ गया था.. उससे खूबसूरत कोई लड़की नहीं थी। फिर में जन्नत में था और में उसकी जांघ पर किस करने लगा और वो मोन कर रही थी ओह एसस्स ओह आआहह। तभी  उसकी पेंटी गीली हो चुकी थी। फिर मैंने उसे हग करते हुए उसके ब्रा की लेस खोल दी.. तभी एक जन्नत की परी मेरे सामने थी उसके निप्पल को में पागलों की तरह चूस रहा था और मैंने उसके निप्पल चूस चूसकर लाल कर दिए थे। तभी वो धीरे से बोली.. आज तुम मुझे मार डालोगे मेरे राज़ा.. में तुमसे बहुत प्यार करती हूँ जानू आज में तुम्हारी हूँ सिर्फ़ तुम्हारी.. प्लीज इसे मेरी सबसे खूबसूरत याद बना दो.. फिर क्या था रास्ता बिलकुल साफ हो चुका था मुझे उसकी तरफ से अब जवाब मिल चुका था जिसका मुझे बड़ी बेसब्री से इन्तजार था और तभी मैंने उसकी पेंटी भी खोल दी और वो एकदम नंगी थी लेकिन थोड़ी शरमा रही थी।

फिर मैंने भी अपने सारे कपड़े उतार दिए उसकी चूत एकदम, चिकनी गुलाबी थी और चूत पर एक भी बाल नहीं था जैसे वो सोने की चूत हो। तभी उसने मेरा लंड देखा और फिर अचानक से वो डर गई और फिर कहने लगी कि क्या ये अन्दर चला जाएगा? उसके माथे पर एक चिंता की लकीर थी फिर मैंने कहा कि हाँ तुम चिंता मत करो। फिर उसने कहा कि मैंने सुना है पहली बार बहुत ही दर्द होता है.. क्या ये बात सही है? तभी मैंने उसे बेफिक्र रहने को कहा और बोला कि क्या तुम मुझसे प्यार करती हो? फिर वो बोली कि हाँ अपने से भी ज्यादा। तभी मैंने उसे कहा कि बस तुम मुझ पर विश्वास रखो तुम्हे कुछ नहीं होगा।

फिर धीरे से उसे एक किस करके में उसकी चूत चाटने लगा और वो पागल हो रही थी और ज़ोर ज़ोर से मोन कर रही थी आह्ह्ह ऊऊऊऊओ माँ मरी में खा जाओ ये तुम्हारी है खा जाओ इसे। फिर उसकी चूत बहुत ही रसीली थी। वर्जिन चूत वैसे भी बहुत पानी छोड़ती है। फिर में बहुत देर तक उसकी चूत चूसता रहा और एक हाथ से उसके बूब्स को दबाता रहा और फिर करीब 20 मिनट के बाद वो झड़ गई। फिर में उसका सारा पानी पी गया और मैंने उसकी चूत को चाट चाटकर चुदने के लिये तैयार कर दिया। तभी मैंने उसे मेरा लंड चूसने को कहा और उसने बिना रुके मेरे एक बार कहने पर ही मेरे लंड पर किस किया और वो उसे बड़ी मुश्किल से मुहं में लेकर चूसने लगी लेकिन अब भी लंड उसके मुहं से थोड़ा बाहर था क्योंकि लंड और मुहं का साईंज मेल नहीं खा रह रहा था।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Gareeb Ladki Ki Majburi Ka Fayda Utha Ke Chut Peli-3

फिर भी उसने जितना मुहं में आ सकता था उतना मुहं में लेकर लंड चूस चूसकर लाल कर दिया था। फिर में भी झड़ने के अंतिम छोर पर था तभी मैंने उसका सर पकड़ कर जोर जोर से धक्के देने शुरू किये। फिर करीब 10 मिनट बाद में भी झड़ गया और वो मेरा सारा वीर्य पी गई लेकिन उसका गोरा और सेक्सी बदन बड़े बड़े बूब्स चकनी चूत देखकर मेरा लंड शांत ही नहीं हो रहा था और होता भी कैसे? पहली बार नंगी लड़की जो सामने थी। फिर मैंने ऊपर से नीचें तक एक बार फिर से चूमा और उसे बेड पर लेटाया और फिर धीरे से उसके दोनों पैर चौड़े कर दिये। फिर मैंने उससे कहा कि क्या तुम तैयार हो? तभी उसने बोला कि हाँ अब डाल दो.. में तुम्हारी हूँ अब मत तड़पाओ मुझे। क्योंकि वो वर्जिन थी.. फिर मैंने मेरा लंड उसकी चूत पर घिसना शुरू किया..  उसकी चूत और गीली हो गई और वो ज़ोर ज़ोर से मोन कर रही थी आआहहहह माअअअआ मरी में जानू।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

फिर बहुत देर तक घिसने के बाद मैंने मेरा लंड धीरे से एक धक्के के साथ थोड़ा अंदर डाला। तभी वो चिल्ला उठी.. फिर मैंने उसके गुलाबी होंठ मेरे होठों से दबा दिए। फिर वो कहने लगी प्लीज़ निकाल दो। तभी मैंने कहा कि रुक जाओ रानी अभी 10 मिनट में तुम खुद ही बाहर निकालने से मना करोगी। तभी मैंने एक और झटका लगाया और करीब आधा लंड अंदर डाल दिया लेकिन वो दर्द से चिल्ला उठी और उसकी चूत में से खून निकल आया। फिर मैंने उसे फिर से हग करके स्मूच किया.. उसने अपने बड़े बड़े नाखुनो से मेरी पूरी पीठ नोच डाली थी और में पूरा लाल हो चुका था और वो तो टमाटर हो गई थी। तभी उसके शरीर के हर एक हिस्से से पसीना बहने लगा.. वो ऊपर से नीचे तक पूरी लाल हो चुकी थी।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Naa Chahte Hue Maine Dekhi Apni Mummy Ki Chudai 1

फिर मैंने उसके बूब्स पर धीरे से हाथ फेरा और करीब दो मिनट बाद मैंने अपना पूरा लंड उसकी वर्जिन चूत में जोर के धक्को के साथ उतार दिया। तभी वो अब तड़पने लगी… अह्ह्हआ मरी में फाड़ दी मेरी चूत तुमने अहह माँ मार डाला अह्ह्ह। फिर करीब 5 मिनट बाद मैंने लंड हिलाना शुरू किया और फिर वो भी थोड़ी देर बाद मेरा पूरा पूरा साथ देने लगी। फिर पूरे कमरे में फच फच की आवाजें आ रही थी और करीब 10 मिनट उसे लगातार चोदने के बाद वो एक बार फिर से झड़ गई और वो ज़ोर ज़ोर से मोन कर रही थी.. मेरी पीठ नोच रही थी और चिल्ला रही थी कि चोदो मुझे चोदो मुझे तेज और जोर से और अंदर पूरा अंदर आह्ह्ह्ह अहहमाँ जानू आज ये रानी तुम्हारी है.. जितना मर्ज़ी चोदो अह्ह्ह और ज़ोर से अया और फिर में भी मेरी ट्रेन अपनी सही पटरी पर लगातार चलाता रहा।

फिर उसे करीब 25 मिनट लगातार चोदने के बाद में भी उसकी चूत में ही झड़ गया और सारा वीर्य उसकी चूत में ही छोड़ दिया। फिर में उसके ऊपर ही पड़ा रहा अब हम दोनों इस पहली चुदाई से बहुत थक गये थे। फिर हम दोनों 10 मिनट तक ऐसे ही लेटे रहे फिर उसने मेरे लंड को चाट चाट कर साफ किया और मैंने उसकी चूत को। फिर हम दोनों एक साथ नहाए और अपनी पहली बार की चुदाई के कारण हम बहुत तक गए थे इसलिए हम दोनों बाहों में बाहें डालकर सो गए और शाम को जब नींद खुली तो हम दोनों नंगे बदन एक दूसरे से लिपटे पड़े थे। फिर मैंने उसे उठाया और किस किया वो खुश थी फिर वो मेरे ऊपर बैठी और मेरा लंड पकड़कर अपने मुहं में ले लिया और जोर जोर से चूसने लगी शायद उसकी इस पहली चुदाई ने उसे बहुत कुछ सिखा दिया था। फिर उसने लंड को चूस चूस कर एक बार फिर से चुदाई के लिये तैयार कर दिया था। फिर उसने मेरे ऊपर बैठे बैठे ही अपनी चूत में लंड ले लिया और मुझे चुदाई के लिये इशारा किया में उसका इशारा जल्दी ही समझ गया और फिर करीब 1 घंटे तक हम दोनों ने दोबारा सेक्स किया। फिर अबकी बार मैंने उसकी चूत को चोद चोदकर पूरा खोल दिया। फिर उन 3 दिनों में हमने जी भरकर सेक्स किया.. कभी उसकी चूत, तो कभी गांड मारी ।

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!