पल्लवी की कातिल जवानी-1

Pallavi ki katil Jwani-1

Hot jawan chut ki chudai

हैल्लो दोस्तों मेरा नाम मिकी है और में इंदौर का रहने वाल हूँ में इस साईट का शुरू से रीडर हूँ और अब में पार्ट टाईम काम करता हूँ लेकिन आज में अपना पहला सेक्स अनुभव आप सभी से शेयर करने जा रहा हूँ। दोस्तों यह बात मेरे कॉलेज के दिनों की है जब में सिर्फ़ 19 साल का था और मेरी क्लास में वैसे तो कई लड़कियाँ थी लेकिन एक लड़की पर कॉलेज में सभी का दिल आता था और उसका नाम था पल्लवी। पल्लवी एक बहुत अच्छे स्वभाव की लड़की थी और उसका फिगर भी बहुत सेक्सी था। फिर उस पर कॉलेज के अधिकतर सभी लड़के मरते थे। फिर मेरी कुछ लडकियाँ दोस्त क्लास में होने से में उनसे ज़्यादा मिलता था और इसी तरह पल्लवी से मेरी बात शुरू हुई लेकिन पल्लवी बहुत डरी हुई सी लगती थी और वो बात करने में बहुत घबराती थी।

में उसके गालों पर मरता था.. उसकी आँखें जैसे मुझे एक मदहोशी का नशा देती थी। मेरा बहुत अच्छा व्यहवार होने की वजह से वो मुझसे बात करना पसंद करती थी और फिर हम एक दूसरे के बहुत करीब आ चुके थे। फिर एक दिन मैंने मौका देखकर उसे प्रपोज़ किया और फिर 7 दिन बाद उसने मुझे हाँ में अपना जवाब दिया और में उसके इस जवाब से बहुत ही ज्यादा खुश हुआ। क्योंकि में उससे बहुत प्यार करने लगा था और हम दोनों जितना टाईम हो सके साथ गुज़ारते थे और फिर उसके घर में बहुत ज्यादा समस्या होने की वजह से हम ज़्यादा नहीं घूमते थे लेकिन हम हमारे एक दोस्त के रूम पर जाकर साथ बैठा करते थे।

फिर में उसे वहाँ पर बहुत किस दिया करता था गालो पर, गर्दन पर और वो भी मुझे जवाब में किस देती। फिर कुछ दिनों तक ऐसे ही चलता रहा। फिर एक दिन मैंने उसे हग कर लिया और फिर वो अचानक थम सी गई थी। मैंने उसे बहुत किस किये लेकिन वो डर गई और उसने कुछ नहीं बोला और वो चली गई.. क्योंकि दूसरे रूम में मेरा एक दोस्त और उसकी गर्लफ्रेड रहते थे.. इसलिए हम कुछ भी करने से डरते थे। फिर वो दूसरे दिन आई और हम लोग कॉलेज बंक करके उस रूम पर पहुँच गए। फिर उसने मुझसे कहा कि कल जो भी हुआ ठीक नहीं था। फिर मुझे भी ग़लत लगा क्योंकि में भी उसके बारे में कभी भी ग़लत नहीं सोचता था। फिर मुझे भी लगा और मैंने उससे सॉरी बोला। फिर वो मान गई लेकिन मेरे मन में उसका वो मुलायम और सेक्सी तरीके से छूना नहीं जा रहा था। उसका फिगर 34-24-36 था और ना उसके बदन से उसके चिपके हुए कपड़े शामत ढाते थे।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  वेलेंटाईन डे का तोहफा-1

फिर उस दिन हम एक दूसरे की बाहों में बाहें डालकर बैठे हुए थे। तभी अचानक से वो बोली कि कल जैसे फिर से करो लेकिन यह आज हमारा आखरी बार होगा। तभी मैंने हाँ कर दी और उसे कसकर हग कर लिया और उसने भी कर लिया। फिर हम दोनों ने एक दूसरे को पहली बार स्मूच किया था वो भी 15 मिनट तक। फिर वो मदहोश हो रही थी और मेरे हाथ उसकी पीठ को सहला रहे थे। तभी उसने मुझे अचानक से अलग किया और फिर हम दोनों दोबारा से इधर उधर की बातें करने लगे लेकिन उसकी दीवानगी अब उसके कंट्रोल से बाहर निकल रही थी और मेरा भी कुछ यही हाल था और मैंने सोच लिया था कि मुझे अब कैसे भी करके इसके साथ सेक्स करना ही है। फिर मैंने ब्लू फिल्म बहुत देखी थी इसलिए मुझे थोड़ा बहुत अनुभव भी था।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

फिर मैंने उसे तीन दिन के लिये कहीं बाहर जाने के लिए कहा। तभी उसने कहा कि उसे घर वालोँ की सहमती नहीं मिलेगी लेकिन फिर भी वो जाना चाहती है। फिर हमने हमारी एक बहुत अच्छी दोस्त को अपनी सारी बात बताई और हमारी उस दोस्त ने बहाना बनाकर उसके घर वालोँ को समझा दिया। अब हम दोनों बाईक पर उज्जैन चले गए और वो बहुत खुश थी और उसे भी मुझ पर विश्वास था। फिर हमने एक रूम बुक किया और फिर उसमे चले गए और फ्रेश होकर हम दोनों ने ब्रेकफास्ट किया थोड़ा घूमने के बाद हम वापस रूम में आए।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  दीदी की शादी के बाद चुदाई-2

फिर मैंने घर के कपड़े पहने और उसने भी घर के कपड़े पहन लिए उसके खुले बाल और टाईट टी-शर्ट पर उभरे हुए बूब्स कयामत ढा रहे थे.. उसके पैर एकदम चिकने थे और वो बहुत ही सुंदर और हद से भी ज़्यादा सेक्सी लग रही थी। फिर बिना रुके मैंने उसे अपनी बाहों में भर लिया और हम दोनों एक दूसरे से लिपट गए हम दोनों का बदन एक दूसरे से पूरी तरह से चिपका हुआ था और फिर हमने स्मूच करना शुरू कर दिया। तभी वो बोली कि कोई आ जाएगा। फिर मैंने उससे कहा कि हम घर से दूर सिर्फ़ एक दूसरे के लिए यहाँ आए है और यहाँ पर कोई नहीं आ सकता। तभी वो खुश होकर मुझे पागलो की तरह किस करने लगी। फिर उसने मुझे 2-3 बार काट लिया था मेरे होंठो पर।

फिर मैंने उसकी गर्दन पर किस करना शुरू किया.. वो उत्तेजित हो रही थी। फिर बदन एक दूसरे से चिपके होने की वजह से वो मेरा खड़ा हुआ टाईट लंड महसूस कर सकती थी जो की 7 इंच लंबा और 3 इंच मोटा है। फिर उसकी भी टी-शर्ट गहरे गले की होने के कारण उसके बूब्स बहुत ही अच्छे और बाहर की और निकले हुए थे और उसने बिकिनी ब्रा पहनी थी वो कातिल लग रही थी। फिर मैंने उससे कहा कि में तुमसे बहुत प्यार करता हूँ और फिर उसने मुझे और ज़ोर से जकड़ कर कहा कि में भी तुमसे बहुत प्यार करती हूँ। फिर मैंने उसकी कमर पर एक हाथ रख दिया। फिर वो ज़ोर ज़ोर से साँसे लेने लगी आह्ह्ह्हह। फिर वो पागलों की तरह बार बार किस कर रही थी। तभी मैंने एक हाथ उसकी जांघ पर रख दिया और फिर उसके बदन में जैसे करंट सा दौड़ गया और कुछ ऐसा ही मेरे साथ भी हुआ में अपना हाथ धीरे धीरे में उसके बूब्स तक ले आया और धीरे से उसके बूब्स सहलाए उसने मुझे मेरी गर्दन पर काट लिया लेकिन में अपने आप को रोक नहीं पा रहा था और ना ही वो।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  वेलेंटाईन डे का तोहफा-2

फिर हमारी जवानी पूरे जोरो पर थी। तभी मैंने धीरे से मेरी टीशर्ट उतार फेंकी और उसे जकड़ लिया मौका पाते ही मैंने उसकी टीशर्ट भी उतार दी वाह क्या नज़ारा था.. उसके बूब्स के दाने उभर आए थे और वो एकदम सेक्सी लग रही थी लेकिन मैंने वैसे बूब्स किसी पॉर्न फिल्म में भी नहीं देखे थे.. वो बहुत खूबसूरत थे। फिर मैंने उन पर ब्रा के ऊपर से ही किस करना शुरू कर दिया.. वो कुछ नहीं बोल पा रही थी लेकिन उसके बदन में एक अजीब सा करंट दौड़ रहा था। फिर मैंने उसकी जिन्स खोल दी।

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!