परियों के साथ चुदाई का मजा-2

Pariyo ke saath chudai ka maja-2

राजकुमारी – मुझे ऐसा नज़ारा पहले किसी ने नहीं दिया, अब में तुम्हारी हूँ, मज़े से मेरी चूत मारो और खुद भी मजा लो.

अब मुझे जोश आ गया था तो मैंने कहा कि पहले मेरा लंड को चूसो, तो उसने मेरा लंड अपने मुँह में डाल दिया और अपना मुँह आगे पीछे करने लगी थी. अब मुझे बहुत मजा आ रहा था तो मैंने कहा कि और ज़ोर से चूसो मेरी रानी और ज़ोर से और फिर में उसका सिर पकड़कर धक्के मारने लगा.

अब मेरा माल निकलने वाला था तो मैंने थोड़ी देर में ही उसके मुँह में अपना माल छोड़ दिया और वो मेरा पूरा माल पी गयी. फिर मैंने उसे घुमाया और उसकी गांड को देखा तो मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया. फिर मैंने उसे अपनी टाँगें खोलने के लिए कहा और अपना लंड उसकी चूत के छेद पर रख दिया.

राजकुमारी – डाल दो अंदर, मुझे मजा दो, मुझे चोदो, मेरी चुदाई करो.

फिर मैंने एक ही धक्का मारा तो मेरा पूरा लंड उसकी मखमल सी चूत में चला गया. उसकी चूत बहुत मुलायम थी इसलिए मुझे बहुत मजा आ रहा था. अब मुझे एक परी की चूत मारकर बहुत मजा आ रहा था. अब में धक्के लगाए जा रहा था, अब में मजा ले रहा था उफफफफफफफ्फ, आह.

राजकुमारी – हाआआआअन, आहह, चुदाई करो और तेज मारो, हाआँ, आहह, म्म्ममममममम.

अब सभी परियों ने अपने कपड़े खोल दिए थे. अब में राजकुमारी के बूब्स दबा रहा था और बीच-बीच में उसके होंठो का रस भी पी रहा था, उसके निप्पल बहुत टाईट थे. अब में किसी बच्चे की तरह उसके दूध पी रहा था, एक परी के बूब्स का रस. अब वो भी अपनी गांड हिला-हिलाकर चुदवा रही थी. फिर मैंने उसको पकड़कर अपने ऊपर लेटा दिया.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  दीदी की सहेली को जमकर चोदा-2

अब मेरा माल फिर से निकलने वाला था, लेकिन उसका एक बार भी नहीं निकला था. फिर में नीचे लेट गया और वो मेरे ऊपर आ गयी और में उसके चूतड़ों को अपने दोनों हाथों से पकड़कर उसे ऊपर नीचे कर रहा था. फिर थोड़ी देर के बाद उसे भी समझ में आ गया और उसे मजा आने लगा. फिर वो खुद ही उछल-उछलकर मुझे चोदने लगी.

अब मेरा माल निकलने लगा था तो मैंने उसकी चूत में ही अपना माल छोड़ दिया, लेकिन वो उछलती रही और मेरे गर्म माल को अपनी चूत के अंदर महसूस करके उसे बहुत मजा आया. फिर तभी मैंने देखा कि उसका शरीर अकड़ रहा है. अब में समझ गया था तो मैंने भी धक्के तेज-तेज लगाने शुरू कर दिए, तो थोड़ी देर के बाद उसका भी माल निकला और वो मज़े से चिल्ला उठी.

राजकुमारी – आहह मालल्ल्ल्ल्लल्ल्ल्ल आहहहहहह गई.

अब उसने अपना माल छोड़ दिया था. फिर जब उसका गर्म-गर्म माल मेरे लंड को लगा, तो मेरा लंड फिर से तन गया. अब में उसके जिस्म के नज़ारे लूटकर मदहोश हो रहा था. फिर तभी वो उठी और उसने कहा कि तुमने मुझे संतुष्ट किया है, तुम्हें जो माँगना है माँगो. अब में तो उसके बदन पर फिदा था और मुझे उसकी गांड चाहिए थी तो मैंने उससे कहा कि मुझे आपकी गांड मारनी है.

राजकुमारी – अच्छा, लेकिन मजा जरूर देना.

तो मैंने कहा कि में आपको इससे भी ज़्यादा मजा दूँगा और फिर मैंने कहा कि अपनी गांड मेरी तरफ करके लेट जाओ और अपनी गांड को ऊपर रखना, तो वो लेट गयी, तो मैंने पहले अपनी जीभ से उसकी गांड के रस का स्वाद लिया और जब उसकी गांड गीली हो गयी, तो मैंने अपना लंड उसकी गांड के छेद पर रख दिया. अब मेरा लंड एकदम तना हुआ था, फिर मैंने एक हल्का सा धक्का मारा.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Maa Nei Apne Yaar Se Meri Choot Ko Thanda Karvaya-2

राजकुमारी – आहह, धीरे-धीरे आआआहहहहहह.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

फिर मैंने एक और धक्का लगाया तो मेरा आधा लंड उसकी रेशम जैसी गांड के अंदर चला गया.

राजकुमारी – आहह में मर गयी, हाईईईईईईईईई धीरे.

फिर मैंने एक और धक्का मारा तो मेरा पूरा लंड अंदर चला गया और मेरे मुँह से आहह, उम्म्म्मममम की आवाज़ें निकलने लगी.

राजकुमारी – आहह फाड़ दी मेरी गांड, धीरे आहह.

फिर में कुछ देर ऐसी ही रुका, तो उसकी गांड और मेरे लंड का मिलन ठीक तरह से हो गया और फिर में धीरे- धीरे अपने लंड को अंदर बाहर करने लगा. अब उसे भी बहुत मजा आ रहा था.

राजकुमारी – हाँ आह चोदो मेरी गांड को, अभी तक मेरी गांड किसी ने नहीं मारी है, मजा दो, आह, आहह, आई लव यू, आहह मेरे राजकुमार मेरी गांड मारते रहो.

अब में ऐसा सुनकर और भी मज़े में आ गया था और उसके चूतड़ो को अपने दोनों हाथों से कस-कसकर धक्के मारने लगा था, आआआहहहहहहह क्या गांड है? मैंने ऐसी गांड पहले किसी की नहीं मारी थी, मेरी राजकुमारी ऐसी ही चुदवाओ मुझसे, आहह, आई लव गांड, आहह.

अब पच-पच की आवाजे आने लगी थे, मुझे सचमुच ही उसकी गांड बहुत अच्छी लग रही थी. अब वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी. फिर मैंने देखा कि वो अपना पानी निकाल चुकी है, तो मैंने अपनी स्पीड बढ़ाई और ज़ोर-ज़ोर से राजकुमारी परी की गांड फाड़ने लगा था और फिर कुछ देर के बाद मैंने अपना पूरा माल उसकी गांड के अंदर ही छोड़ दिया और फिर में उसके ऊपर ही लेट गया. फिर थोड़ी देर के बाद राजकुमारी उठी और बोली.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Pub se room jaa kr chudwaya

राजकुमारी – तुमने मुझे बहुत अच्छा चोदा है, कई सालों के बाद मेरी प्यास बुझी है, में तुमको छोड़ देती हूँ और इतना कहकर राजकुमारी अपने कमरे में चली गयी.

फिर बाकी परियाँ मेरे लंड के पास आ गयी, तो मैंने देखा कि वो 3 परियाँ थी. अब एक परी मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी थी, दूसरी मुझे अपने होंठो का रस पिला रही थी और तीसरी मेरी गांड को चाट रही थी. अब मुझे इतना माज़ा आया था कि मैंने उसके मुँह में ही अपने लंड का माल छोड़ दिया था. तो तभी मुझे सोनू की आवाज़ सुनाई दी.

सोनू – उठो हैरी, उठो, सुबह हो गयी है, जल्दी उठो यार, में तुम्हारे लिए चाय लाता हूँ.

अब में सोच रहा था कि यार क्या सपना था? वो सपना आज भी मुझे याद है.

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!