पति के साथ मेरी पहली सुहागरात-1

Pati ke saath meri pahali suhagraat-1

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम लीना है, मेरी उम्र 25 और मेरे फिगर का आकार 36-29-38 है. दोस्तों यह मेरी पहली मस्ती की रात, मतलब मेरी सुहागरात की कहानी है. दोस्तों आज तक मैंने  बहुत सारी सेक्सी कहानियाँ पढ़ी वो सभी मुझे बहुत मस्त मजेदार लगी और उन कहानियों से मुझे बहुत कुछ सीखने को मिला.

मैंने अपने पति के साथ ठीक वैसे ही बहुत बार अलग अलग तरह से चुदाई के मज़े लिए और हम दोनों बड़े खुश हुए, लेकिन आज पहली बार में उनके कहने पर अपनी भी एक सच्ची घटना को लिखने जा रही हूँ. दोस्तों में अपनी इस कहानी में आज आप सभी को वो मेरी पहली सुहागरात को मेरे साथ कैसे और क्या क्या हुआ, वो सब पूरी तरह विस्तार से बताने आई हूँ और मुझे उम्मीद है कि यह आप लोगो को जरुर पसंद आएगी.

दोस्तों मेरी शादी से पहले मेरा बहुत समय तक एक सुंदर अच्छे दिखने वाले लड़के से प्यार चलता रहा और किस्मत की बात देखो उसके बाद मेरी उसी लड़के से शादी भी हो गई, मतलब जिसके साथ मैंने पूरे एक साल तक प्यार का चक्कर चलाया वो अब मेरे पति बन चुके है और मेरे पति का नाम सुनील है.

मेरी तरह वो भी दिखने में और वो व्यहवार के बहुत अच्छे है और वो मुझे बहुत प्यार भी करते है. उनकी तरह में भी बहुत सेक्सी हूँ और में भी उनको बहुत प्यार करती हूँ, उन्हे मेरी गोरी उभरी हुई सुंदर छाती बहुत पसंद है जिसको देखकर वो हमेशा अपने होश खो बैठते थे और अपनी चकित ललचाई नजरों से वो मेरे बूब्स को घूर घूरकर देखा करते थे, जब भी मौका मिलता मेरे बूब्स को पकड़कर दबाने निप्पल को मसलने लगते और अगर उनका बस चलता तो वो मुझे मेरी शादी से पहले ही चोदकर अपने बच्चो की माँ बना देते, लेकिन मेरे आगे उनकी एक भी ना चली और उन्होंने अपनी मर्जी का काम सुहागरात को किया.

दोस्तों हम दोनों का प्यार करीब एक साल पहले से चल रहा था और उस बीच हम दोनों ने बहुत घूमना फिरना और बड़े ही मज़े मस्ती करके उन दिनों के मज़े लिए. हम दोनों के एक दूसरे के साथ बैठना बातें करना अपना समय बिताना बहुत अच्छा लगता था और बिना मिले हमें बिल्कुल भी अच्छा नहीं लगता था.

फिर एक दिन बहुत हिम्मत करके अपने अपने घर वालों को हमारे मन की सभी सच्ची बातें बताने के बाद उनकी तरफ से कुछ सोचा विचारी करने के बाद हमारी शादी भी हो गयी.

दोस्तों उस एक साल तक जब तक हमारी शादी नहीं हुई थी तब तक हम दोनों ने सिर्फ़ ऊपर से ही मज़े किए थे मतलब एक दूसरे को चूमना, बूब्स को कपड़ो के ऊपर से दबाना मसलना, बहुत देर तक एक दूसरे से हम चिपकर मज़े करते और कभी भी हमने इससे ज्यादा मतलब अंदर से कुछ भी नहीं किया था, बस वो मेरे कपड़ो के ऊपर से मेरे बूब्स की निप्पल को दबाकर सहलाकर मुझे जोश से भर देते, लेकिन फिर एक दिन जब हमारी शादी की बात होने के बाद उन्होंने मुझसे कहा कि अब तो हमारी शादी भी होने वाली है इसलिए हम पहले से ही थोड़ा सा उसका अनुभव ले लेते है और ऐसा करने से तुम्हे पहली रात को ज़्यादा दुःख दर्द नहीं होगा और हम दोनों हमारी उस पहली रात को पूरी तरह से मज़े मस्ती करेंगे, हम दोनों को इसका अनुभव हो जाएगा.

फिर मैंने उनको कहा कि नहीं यह सब अभी करना गलत होगा, इसलिए हम शादी के बाद ही यह काम करेंगे, शादी के पहले नहीं वैसे भी में पहली रात को ही सेक्स का सही मतलब और उसके मज़े के बारे में जानना चाहती हूँ. आप मुझे उस रात को सब कुछ सिखा समझा देना, में आपको तब मना नहीं करूंगी.

दोस्तों अब इसके आगे है मेरी उस मजेदार मस्त सुहागरात से हनिमून तक का सफ़र जिसमें मेरे पति ने अपनी मन मर्जी के सभी काम किए और में उनको अपनी तरफ से मना भी ना कर सकी. तो दोस्तों अब आप सभी थोड़ा ध्यान से मन लगाकर पढिये मेरी सुहागरात की वो सच्ची घटना मेरे सच्चे प्यार के साथ जिसमे उसने मुझे वो सब मज़े दिए.

दोस्तों उस रात को करीब 11 बज़े थे में अपने बेडरूम में गयी, वो मेरा वहां पर बड़ी ही बेसब्री से इंतज़ार कर रहे थे. उस समय मेरे हाथ में दूध से भरा हुआ एक गिलास था और वो गिलास मैंने जाकर उन्हे दिया. तो वो मुझसे बोले कि इतने से दूध से मेरा क्या होगा जानेमन आज में तो बहुत सारा दूध पीने वाला हूँ?

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

तभी में उनकी उस बात का मतलब तुरंत समझ गयी थी कि उनका इशारा किस तरफ है वो मुझसे क्या चाहते है, उनके इरादे मेरे साथ क्या काम करने के है? इसलिए में भी मुस्कराते हुए उनको बोली कि हाँ ठीक है आज आप जितना भी चाहे पी लो मुझे उससे कोई भी आपत्ती नहीं है और वैसे भी अब तो यह सब कुछ तुम्हारे लिए ही है.

फिर उन्होंने उस समय झटके से मेरा हाथ पकड़कर मुझे बेड पर बैठा लिया और वो दूध का गिलास अपने हाथ में ले लिया और थोड़ा सा दूध पीकर उन्होंने वो गिलास मुझे दे दिया और फिर मैंने भी उसको पीकर उस गिलास को एक साइड टेबल पर रख दिया और फिर उन्होंने मुझसे कहा.

सुनील : लीना मेरी जान आज तुम इस साड़ी में बहुत सेक्सी लग रही हो, आज तो में पूरी रात तुम्हे सोने नहीं दूँगा, क्योंकि आज तो तुम्हारा एक एक अंग मुझे देखना होगा और में तुम्हे नीचे लेकर ऊपर तक जी भरकर देखना चाहता हूँ. आज तुम मेरी इस इच्छा को जल्दी से पूरी कर दो.

में : क्या तुम आज पूरी रात भर करोगे? तुम बहुत सेक्सी हो और मुझे बहुत पसंद हो, में तुमसे बहुत प्यार करती हूँ.

सुनील : हाँ मेरी जान में भी तुम्हे बहुत प्यार करता हूँ.