पति के साथ मेरी पहली सुहागरात-2

Pati ke saath meri pahali suhagraat-2

फिर इतना कहकर उन्होंने मेरे गले में हाथ डालकर मुझे वो किस करने लगे, पहली बार फ्रेंच किस करके उन्होंने ही मुझे करना सिखाया था और वो बहुत ही अच्छा किस करते है. मेरे होंठो को अपनी जीभ से चाटते हुए मज़े से चाटते है और फिर अपने दांतों से धीरे धीरे दबाते भी है और मेरी जीभ को वो मज़े से चूसते भी है वो मेरे साथ जब भी ऐसा करते है तब मुझे बहुत मज़ा आता है और जब भी वो किस करते है तब उनका एक हाथ मेरे बूब्स पर ही रहता है इसलिए वो अपने साथ से बहुत धीरे धीरे मेरे बूब्स को मसलते भी रहते है अहह्ह्हह उफफ्फ्फ्फ़ मुझे यह सब बहुत अच्छा लगता है और जब वो मेरे बूब्स को दबाते है तब उन्हे भी बड़ा मज़ा आता है, क्योंकि उन्हें भी मेरे बूब्स बहुत पसंद है. दोस्तों मेरे ही नहीं बल्कि सभी लड़कियों के बड़े आकार के सुंदर आकर्षक बूब्स उनको बहुत लुभाते है. अब उन्होंने मेरे गहनो को उतारना शुरू किया और जहाँ जहाँ मेरे शरीर का हिस्सा उनको खुला हुआ दिखता वो वहीं पर किस भी करते जा रहे थे.

उन्होंने मेरी गर्दन पर, कंधो पर, मेरे होंठो पर अपने होंठो से मुझे कई बार चूमा और उसके बाद वो मेरे बूब्स को भी दबा रहे थे और तभी एकदम से उन्होंने ज़ोर से मेरे बूब्स को दबा दिया, जिसकी वजह से मुझे बड़ा दर्द हुआ मेरे मुहं से अहहह्ह्ह्हह स्सीईईईइ की आवाज निकल गई और में उनको कहने लगी कि प्लीज थोड़ा धीरे से करो ना मुझे बहुत दर्द होता है.

सुनील : मेरी जान तुम बस इतने से दर्द से ही घबरा गई, अभी तो तुम्हे और भी ज्यादा दर्द होगा जब में तुम्हारी सील तोड़ूँगा तो तुम्हे वो सब आज सहना पड़ेगा.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  पति के साथ मेरी पहली सुहागरात-3

में : सील का क्या मतलब होता आप किस सील को तोड़ने की बात मुझसे कह रहे है?

सुनील : मेरी जान आज जब तुम्हारी चूत में पहली बार मेरा लंड जाएगा, तब उन धक्को से तुम्हारी कुंवारी चूत की सील टूट जाएगी और उसके बाद तुम वर्जिन नहीं रहोगी, अब तुम देखती जाओ मेरी जान में क्या क्या करता हूँ और शादी के पहले तो तुमने कभी मुझे कुछ करने नहीं दिया, इसलिए आज में तुम्हे एक कुंवारी लड़की से शादीशुदा औरत बनाने वाला हूँ.

में : में अपने पति की वो सभी बातें सुनकर शरमाते हुई बोली तुम बहुत शरारती हो तभी तो देखो तुम मुझसे कितनी गंदी गंदी बातें करते हो? तुम्हे बिल्कुल भी शरम नहीं आती.

सुनील : मेरी जान इसी में तो असली मज़ा आता है देखना तुम्हे भी थोड़ी देर के बाद मेरे साथ बड़ा मज़ा आएगा और अभी तो तुम कुँवारी हो इसलिए तुम्हे इतना डर लग रहा है, लेकिन एक बार मेरे साथ चुदाई के मज़े लेने के बाद तुम भी मुझसे खुद आगे होकर अपनी चुदाई करने के लिए कहोगी और मेरे साथ बहुत मज़े करोगी.

दोस्तों मुझसे इतना कहकर उन्होंने तुरंत मुझे बेड पर लेटा दिया और वो भी मेरे पास में लेट गये. उसके बाद वो मुझे किस करने लगे और कुछ देर मुझे चूमने के बाद उन्होंने मेरी साड़ी को मेरे बूब्स के ऊपर से हटा दिया और अब वो मेरे ब्लाउज के ऊपर से ही मेरे दोनों बूब्स को चूमने लगे, अहहह्ह्ह मुझे उनका मेरे साथ यह सब करना बहुत अच्छा लगा और फिर उन्होंने मुझसे कहा कि आज में तुम्हे बहुत जमकर चोदने वाला हूँ.उससे में तुम्हारा सारा दर्द मिटा दूँगा और वैसे भी तुमने मुझे इसके लिए बहुत बार सताया है, में आज तुम्हारे बूब्स के निप्पल को काटने भी वाला हूँ.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  सेक्सी बीवी का गुलाम 🥵🥵

फिर मैंने उनकी बातें सुनकर शरमाते हुए उनसे पूछा कि आप आज मेरे साथ और क्या क्या करोगे?

सुनील : में आज तुम्हारे बूब्स को चूसूंगा और इनका रस पीऊँगा और ऊपर से लेकर नीचे तक तुम्हे किस करूँगा, तुम्हारे हर एक अंग को में किस करूँगा.

फिर मुझसे इतना कहकर उन्होंने मेरे ब्लाउज के बटन खोल दिए और फिर ब्रा के ऊपर से वो मेरे बूब्स को दबाने लगे और उनको सहलाने लगे.

कुछ देर बाद उन्होंने मेरे ब्लाउज को पूरा उतार दिया, जिसकी वजह से अब में ब्रा थी और उसी समय उन्होंने मेरी कमर के पीछे अपने एक हाथ को ले जाकर मेरी ब्रा के हुक को भी खोल दिया, जिसकी वजह से अब मेरे दोनों एकदम गोरे मुलायम बूब्स उनके सामने आ चुके थे और वो बहुत ही सेक्सी उनकी निप्पल जोश में आकर तनकर खड़ी थी. फिर अपने आप को वो रोक ना सके और तुरंत मेरे निप्पल को अपने मुहं में लेकर वो चूसने लगे और साथ में दूसरे बूब्स को वो अपने एक हाथ से दबाते भी रहे और अब में आहें भरने लगी उफफफ्फ़ अहहह सुनिल आहहहह स्सीईईई.

तभी सुनील ने अपने मुहं से निप्पल को बाहर निकालकर मुझसे पूछा क्यों कैसा लगा? मैंने कहा कि बहुत अच्छा और अब मैंने उनको कसकर पकड़ लिया और फिर वो मुझे धीरे धीरे किस करते हुए मेरे गोरे मुलायम पेट पर किस करने लगे और अब उनका एक हाथ मेरे पेटिकोट के अंदर जा रहा था और वो मेरी गोरी गोरी और मोटी जांघो पर घूम रहा था.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  ठाकुर की बीवी की बुर

दोस्तों में अपने मन की सच्ची बता कहूँ तो में अब उनके यह सब काम करने की वजह से बहुत गरम हो चुकी थी, तब उन्होंने अपनी शर्ट को उतार दिया और लूँगी के अंदर हाथ डालकर अपनी अंडरवियर भी उन्होंने उतारकर दूर फेंक दिया, क्योंकि वो भी अब तक बहुत जोश में आ गये थे और तभी मेरे पेटिकोट का नाड़ा खोल दिया और उसको उतारकर नीचे डाल दिया, जिसकी वजह से अब में सुनील के सामने सिर्फ़ पेंटी में लेटी हुई थी और फिर उन्होंने मुझसे कहा.

सुनील : हाँ ऐसे तुम कुछ ज़्यादा ही अच्छी लग रही हो देखो तुम्हारा यह फिगर तो मुझ पर क्या मस्त कयामत ढा रहा है मेरी जान और तुम्हारे बूब्स तो बहुत ही अच्छे आकर्षक है और उस पर यह हल्के काले रंग के निप्पल, वाह मज़ा आ गया आज पहली बार तुम्हे मैंने पूरी नंगी देखा है वाह तुम्हारी क्या मस्त जवानी है? में आज चूम चूमकर तुम्हारे इस गोरे जिस्म को एकदम लाल कर दूँगा पहले कभी मैंने तुम्हे ऐसे देखा होता तो तुम अभी तक वर्जिन नहीं होती, मैंने तुम्हे कब का चोद दिया होता.

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!