प्लान बना के मामी को चोदा

Plan Bana ke mami ko choda, हेलो दोस्तो मेरा नाम योगेश शर्मा हैं और मे इंदौर का रहने वाला हूं । मेरी उम्र 19 साल की है और मेरा लन्ड 6.5 इंच लंबा और 3 इंच मोटा है। ये कहानी मेरी और मेरी मामी की है। मेरी मामी का नाम अर्चना है और दिखने में बेहद सुंदर मानो स्वर्ग की अप्सरा हो । उनकी उम्र 32 साल की है और उनके दो बच्चे भी हैं । लेकिन उनको देख कर कोई नही कह सकता की वो दो बच्चो की मां है ।

दोस्तो बात है 2 महीने पहले की जब मेरी नानी और मेरे बड़े मामा मेरी मौसी के यहां गए हुए थे। मेरे दो मामा है और दोनो शादीसुदा है लेकिन मेरा दिल तो बड़ी मामी पे फ़िदा है ।मेरा परिवार गांव से संबंध रखता है । सभी गांव की भाषा में बात करते हैं। तो उस दिन मेरे मामा और नानीजी मोसी के यहां गए हुए थे , और घर में नानाजी , छोटे मामा , छोटी मामी , बड़ी मामी और उनके बच्चे थे। मेने सोच लिया था की अभी मोका है फिर मामाजी आ जाएंगे तो फिर मोका नही मिलेगा । तो में उस रात नानीजी के यहां जबरन ही रुक गया बिना किसी कारण के । लेकिन सब मुझे लाड करते हैं इसलिए ज्यादा कुछ नहीं पूछा की यहा किस काम से आया था । दोस्तो रात के करीब 9.30 बज रहे थे सब ने खाना खा लिया और छत पर टहलने चलें गए । मेरे छोटे मामा जी तो अपने दोस्तो के पास चले गए थे और नानाजी tv देख रहे थे। में ,बड़ी मामी , छोटी मामी,और उनके बच्चे हम सब छत पर ही थे । टहलते – टहलते कब 11.30 बज गए मालूम ही नहीं चला । इतने में छोटे मामाजी अपने दोस्तो के पास से आ गए और अपने रूम में चले गए और छोटी मामी भी चली गई , बच्चे नानाजी के पास सो गए थे । अब बस छत में और बड़ी मामी हम दोनो अकेले थे । बड़ी मामी को नींद नहीं आ रही थी क्योंकि मामाजी नही थे न इसलिए तो हम दोनो आपस मैं बात कर । जब मेरी मामी बात करती है तब जी चाहता है की उनके गुलाबी होटों को चूम लू । मेने पहले से ही प्लान बना लिया था कि मुझे आज रात किसी भी कीमत पर मामी को चोदना है । फिर मैने धीरे से मामी को बोला , “मामी आपको एक बात बताऊं”।

मामी – बताओं न क्या बात है ।
में – आप किसी को बताओगी तो नही ।
मामी – नही बताऊंगी । बे फिकर होके बताओ मुझे ।
में – आपने गुप्त रोग का नाम सुना है ।
मामी – हां ( चिंता करते हुए) । किसे हुआ है ।
में – मुझे ।
(इतने में तो मामी टेंशन में आ गई , और ऊपर से में लाड का ठहरा)
मामी – क्या हुआ बाबू ।मुझे सब – सब बताना , डरना मत । में किसी को कुछ नही बताऊंगी ।
में – वो मामी ये बात आज से एक हफ्ते पहले की है । जब रात को अपने लिंग के साथ खेल रहा था । ऐसा नॉर्मली सभी लड़के करते हैं ।

मामी – हा फिर
में – तो में अपने लिंग को हिला के खड़ा कर रहा था । लेकिन वो हुआ नही और ढीला – ढीला हो रहा था ।
मामी – अरे बाप रे । फिर बाबू ।
में – तो अगले दिन मेने डॉक्टर को बताया तो उसने कहा की ये नपुंसकता के लक्षण है ।
मामी चिंता करते हुए बोली ” फिर बाबू “।
तो मामीजी वो डॉक्टर ने कहा की तुम्हारी मर्दानी ताकत जा रही है ।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मामी के साथ कामुक रात

मामी – तो बाबू तुम अच्छे डॉक्टर को बताओना ।
में – मामी मेने गुप्त रोग के सबसे अच्छे डॉक्टर को ही बताया । लेकिन उन्होंने मुझे एक कठिन इलाज बताया है ।
मामी – क्या है वो ।
में – मामी वो डॉक्टर कहता है कि मेरी मर्दाना ताकत तब आएगी जब में किसी महिला के साथ में सेक्स करूंगा । वो कहता है की मेरे लिंग में उत्तेजना की कमी है । यदि समय पर सेक्स नहीं किया तो में नपुंसक बन जाऊंगा । लेकिन मामी मेरी कोई गर्लफ्रेंड भी नहीं है , में किसके साथ करूंगा । में बहुत परेशान हो रहा हु मामी।
मामी – बाबू तुम्हे ये पहले बताना चाहिए था न । तुम टेंशन मत लो ।
में – मामी मुझे बहुत शर्म आ रही थी । इसलिए ये बात में सिर्फ आपको बता रहा हु ।

मामी – बाबू तुम घबराना मत । एक काम करो तुम मेरे साथ सेक्स कर लो ।
में – लेकिन आप मेरी मामी हो । में आपके साथ ये कैसे कर सकता हूं।
मामी – में तुम्हारी मामी बाद में और दोस्त पहले हु । तुम मुझे अपनी गर्लफ्रेंड समझकर सेक्स कर सकते हो ।
‘ लेकिन मामी ”
लिकन – वेकिन कुछ नही । कमरे में चलो , सब सो गए है और आज तुम्हारे मामा भी नहीं है ।
में – लेकिन मामी मुझे सेक्स करना नहीं आता ।
मामी – में हु ना । तुम चुप चाप कमरे में चलो।

( में और मामी कमरे में आ गए और मामी ने गेट भी बंद कर दिया । रात के करीब 1 बज रहे थे।
अचनाक मामी मेरे तरफ़ देखते हुए बोली -” योगेश तुम झूठ तो नही बोल रहे हो ।
मेने कहा मामी में झूठ क्यों बोलूंगा । और आप तो मुझे बचपन से जानती हो । इतना कहते ही मामी ने मुझे अपने गले लगा लिया और मेरे माथे पर किस किया । मेने भी मामी को कस के पकड़ लिया । फिर मामी बोली -” योगेश जैसा मे बोलूंगी तुम्हे वैसा ही करना है । मेने हा में गर्दन हिला दी । फिर मामी ने मुझे पलंग पर बिठाया और मेरे गाल पर हाथ फेरने लगी । में क्या बताऊं दोस्तो मेरा सपना पूरा हो रहा था और मेरा लन्ड तो मानो पेंट फाड़कर बाहर निकल रहा था। मेरा बनाया हुआ प्लान कामयाब हो रहा था । और मेरी मामी भी भोली है ।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

मामी बोली -” योगेश तुम मुझे किस करो होट पर ।
फिर मैने मामी को किस किया वो भी लगभग 5 मिनट तक । फिर मैने मामी को खड़ा कर दिया पलंग से और दीवार के सहारे उन्हें किस करने लगा ।उनकी मस्त गान्ड पर हाथ फेरने लगा । उनको चूमते चूमते उनकी चूची को दबाने लगा । उस रात मेरी मामी ने नीली कलर की साड़ी पहन रखी थी । क्या माहोल था दोस्तो ,मानो जन्नत । फिर मैने उनका पल्लू हटा दिया और उनका ब्लाउज दिख रहा था । फिर उनका मुंह दीवार की तरफ करके , कंधे को चूमते हुए उनके ब्लाउज की रिबन खोल दी , मामी ब्रा नही पहनती है । मामी सिसकारियां ले रही थी वो भी धीमे धीमे । मामी ने कहा -” तुम्हे तो सब आता है योगेश , कहा से सीखा ये । मेने कहा -” में mobile में कभी कभी ब्लू फिल्म देख लिया करता था । उसमे ऐसा ही करते हैं। में सही कर रहा हूं ना मामी ।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  गर्लफ्रेंड की माँ की चुदाई की

मामी -” हा योगेश ऐसे ही करते रहो ।
फिर मैने मामी को अपनी तरफ घुमा लिया क्या चूचे थे दोस्तो एक दम दूध जैसे मानो अभी जवान हुए हो । उनको बड़े प्यार से चूसने लगा ,मामी सिसकारियां ले रही थी और अब रात के करीब 2.30 बज चुके थे । फिर मैने मामी को धक्का देकर पलंग पर लेटा दिया और मेने अपनी t shirt निकाल फेंकी । अब हम दोनो आधे नंगे हो चुके थे । फिर में मामी के उपर चढ़ गया और उन्हें किस करने लगा । मुझसे अब रहा नही गया और मेने अपनी लोअर भी निकाल दी और साथ में अंडरवियर भी । मामी मेरे लन्ड को देखकर शोक हो गई और बोली ,योगेश तुम्हारा लन्ड इतना बड़ा , तुम क्या लगाते हो इस पर । मेने बोला -” कुछ नही मामी बस मुठ मारते मारते इतना बड़ा हो गया । फिर मामी ने मेरा लन्ड अपने हाथ में लिया और जैसे ही उन्होंने मेरा लन्ड पकड़ा एक करंट का झटका सा लगा । मेरे लन्ड को पहली बार कोई ओरत हाथ लगा रही थी । फिर मामी मेरे लन्ड को उपर निचें करने लगी और कहने लगी की ” योगेश मुझे नही लगता की तुम्हे कोई रोग है , तुम झूठ बोल रहे थे ना । मेने कहा “_ हा मामी मेने आपसे झूठ बोला ।मेने ऐसा इसलिए करा क्युकी में आपको चोदना चाहता हूं , इसलिए मेने ये प्लान बनाया । और तुम्हारे इस प्लान में मामी फस गई , बड़े चालक हो तुम । तो क्या अब में इसे अपने मुंह में लेलु । हा मामी बिलकुल आज रात के लिए ये तुम्हारा है ।

ऐसा कहते ही मामी ने मेरा लन्ड मुंह में ले लिया और लोलीपॉप की तरह चूसने लगी । क्या मजा आ रहा था दोस्तो में बता नही सकता । थोड़ी देर तक मेरे लन्ड को चूसने के बाद मेने मामी के मुंह में ही अपना वीर्य निकाल दिया । उन्होंने आधा वीर्य पी लिया और वीर्य अपनी साड़ी पर गिरा लिया और कहा बस योगेश इतना ही । मेने कहा मामी ये मेरा फर्स्ट टाइम हैना इसलिए में जल्दी झड़ गया । फिर मामी उठी और अपनी साड़ी उतारने लगी और अब पेटीकोट में आ गई । मामी को सिर्फ पेटीकोट में देख कर मेरा लन्ड फिर से तन गया और मामी ने उसे हाथ में लेकर कहा की अब ये तुम्हारी मामी को चोद कर ही मानेगा । मेने मामी को पलंग पर लेटा दिया और उनके पेटीकोट के अंदर अपना मुंह दे दिया और उनकी पेंटी को थोड़ा साइड में करके उनकी चूत को चाटने लगा । आह्ह्ह्ह क्या स्वाद था उनकी चूत का । उन्हे भी मजा आ रहा था । फिर मैने उनका पेटीकोट और पेंटी भी निकाल फेंकी और अब हम दोनो पूरे नंगे थे । फिर मैने मामी को बोला की “_ मामी अब हम दोनो 69 पोजीशन में करेंगे । वो बोली ये क्या होता है । मेने कहा “_ में आपकी चूत चाटूंगा और आप मेरा लन्ड चूसना ok । वो तैयार हो गई और वो मेरे मुंह के उपर अपनी चूत रख दी और वो मेरा लन्ड चूस रही थीं । थोड़ी देर ऐसा करने के बाद इस बार मामी झड़ गई । और उन्होंने अपना सारा माल मेरे मुंह के उपर छोड़ दिया । अब वो सीधी होकर बोली “- योगेश कब तक तड़पाओगे , डालो ना अब इसे मेरी चूत में , फिर मैने देरी न करते हुए उनकी दोनो टांगे मेरे कंधे पर रख ली और तीन – चार बार लन्ड को उनकी चूत पर मारते हुए एक ही बार में पूरा अंदर घुसा दिया । वो चिलाने वाली थी की मेने अपना मुंह उनके मुंह में दे मारा और उन्हें किस करने लगा चोदते – चोदते । कमरे में फच – फ़च की आवाज आने लगी । मामी सिसकारियां ले रही थी । आह्ह्ह्हह , आआहहह, आआहह बाबू और जोर से करो फाड़ दो अपनी मामी की चूत । आआहह्ह आआआआह्हह्ह , आआआआआ आज तो मर गई आह ।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मामीजी एक रजाई के चक्कर में चूत ठुकवा बैठी–1

और एक बार फिर मामी झड़ गई । इस बार मेने उन्हे डोगी स्टाइल की पोजिशन में बैठा दिया और इस बार उनकी गान्ड के छेद मे लन्ड डालने वाला था लेकिन छेद बहुत छोटा था तो दिक्कत हो रही थी तो पास ही में पड़ी खोपरे के तेल की डब्बी उठा लिया और उनकी गान्ड के छेद में डाल दिया और थोड़ा मेरे लन्ड पर , अब लन्ड और गान्ड दोनो चिकने हो गए फिर मैने जोर का धक्का दिया और पूरा लन्ड मामी की गान्ड में । मामी चिला रही थी और में जोर जोर से गान्ड मारे जा रहा था ।

आआआआह्हह्ह्ह उई मां आआह्हह आआआआअ आह्ह्ह्ह्ह आह्ह्ह मजा आ रहा है योगेश । ये रात में कभी नहीं भूलूंगी । हा मामी में भी ये रात कभी नही भूलूंगा । मामी में झड़ने वाला हूं । झड़दो अपना सारा माल अपनी मामी की गान्ड में । और मेने अपना सारा वीर्य मेरी प्यारी मामी की गान्ड में डाल दिया और एक बार फिर मामी भी झड़ गई , मामी तीसरी बार झड़ गई थी । और करीब 3.30 बजे हम दोनो नंगे ही सो गए । सुबह उठे तब तक सब सो ही रहे थे । और मामी मुस्कुरा कर बोली “- और योगेश कोई कसर तो नही रह गई न तुम्हारे गुप्त इलाज में । मेने कहा “- अगला डोज कब दोगे डॉक्टर साहब ।

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!