प्यासी बहू को खुश किया-1

Pyasi Bahu Ko Khush Kiya-1

इमरान
यह कहानी मेरे खास दोस्त फ़रहान की है। यह सारी बात मुझे फ़रहान की दूसरी बीवी ने खुद सुनाई थी मुझसे चुदते हुए !

एक भरा पूरा सुखी परिवार था फरहान का, उसकी उम्र 42 साल, उसकी बीवी मरजीना 39 साल की थी, उनके 2 बच्चे फ़ैज़ 21 साल और सानिया 18 साल साथ में बच्चों के बड़े अब्बू करीब साठ साल के सलमान मियाँ ! अच्छा खासा कारोबार था फ़रहान का, सलमान मियां ने ढलाई का कारखाना खोला था अपनी जवानी में, खूब पैसा कमाया था, खूब ऐश की थी। फ़रहान उसी कारोबार को देखता था।

खुले विचारों वाला परिवार था, घर में परदा नहीं था, फ़ैज़ और सानिया तो होस्टल में रह कर पढ़ रहे थे।

सब कुछ बहुत अच्छा चल रहा था कि अचानक उनके हंसते खेलते परिवार में एक हादसा हो गया। फरहान की बीवी मरजीना की मौत सीढ़ियों में फ़िसल कर सिर फ़टने से हो गई। जैसे तैसे वक़्त कटने लगा गया। घर में खाना पकाने के लिए एक बुजुर्ग औरत रख ली।

दो महीने बाद सलमान मियाँ ने फ़रहान से कहा- मुझसे तेरा अकेलापन देखा नहीं जाता, तू अभी जवान है.. दूसरी शादी क्यों नहीं कर लेता…

अब्बू के बहुत ज़ोर देने पर फरहान ने दूसरी शादी कर ली, उसकी नई बीवी रुखसाना की उम्र करीब 23 साल रही होगी ! लंबी चौड़ी काया, गोरी, भरी पूरी जवान लड़की थी रुखसाना ! फ़ैज़ और सानिया भी नई अम्मी पाकर बहुत खुश थे। शादी के कुछ दिन बाद बच्चे वापस चले गये और फरहान भी दिन भर अपने ढलाई के कारखाने में मसरूफ़ रहता ,घर में सिर्फ़ ससुर सलमान और बहू रुखसाना रह जाते थे !

रुखसाना पर तो अभी जवानी का पूरा जोर था, पर उसका शौहर उससे लगभग दोगुनी उम्र का, सारा दिन काम में थक हार कर रात को आता तो वह रुखसाना के जवानी से उबलते जिस्म की प्यास बुझा नहीं पाता था। इसलिए रुखसाना कुछ उदास सी रहती थी।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  ससुर ने मुझे सारी रात चोदा और एक पल के लिए भी सोने नही दिया

सलमान मियाँ की पारखी नज़रों ने रुखसाना की उदासी भांप ली और वो उसको खुश रहने की सलाह देने लगे कि ‘बहू बोला करो, पर भला बोलने से कहीं चूत की खुजली मिटती है।

शादी को छः महीने हो गये पर रुखसाना की चूत की गर्मी बजाए ठंडी होने के और भड़कती जा रही थी। ऐसे में एक दिन उसने अपने सौहरे सलमान मियाँ का नहाते वक्त उनका तौलिया नीचे गिर जाने से उनका लंड देख लिया जो आकार में उसके शौहर के लण्ड से डेढ़ गुना बड़ा था यानी की पति का 5′ था तो उनका 7-8’ !

उनका लंड देख कर रुखसाना की प्यास और भड़क गई और उसके मन में अपने ससुर के प्रति गंदे विचार आने लगे। पर बहू होने के नाते उसकी हिम्मत नहीं हो रही थी पर उसने मन ही मन अपने ससुर से अपने बदन की प्यास बुझवाने की ठान ही ली थी।

पर सलमान मियाँ बहुत धार्मिक किस्म के थे। वो बात अलग है कि टीवी पर वो हमेशा ही नंगे-पुंगे प्रोगाम देखना पसंद करते थे।

अब रुखसाना उनके सामने पल्लू नहीं लेती थी और झाड़ू-पौचे के वक़्त तो वो पूरी तरह से पल्लू गिरा देती थी जिससे उसकी चूचियाँ साफ़ नज़र आती थी, पर सलमान मियाँ उस तरफ देख कर फ़ौरन ही नज़र घुमा लेते थे।

पर रुखसाना ने भी ठान ही लिया कि आख़िर कब तक इनके अंदर का शैतान मर्द नहीं जागेगा !

अब तो वो बदन उघाड़ू लिबास पहनती थी और जिस रात को फरहान उसे चोदता था तो खूब जम कर आहें सिसकारियाँ भर भर कर चुदवाती थी। हाँलाकि उसकी प्यास बुझती नहीं थी पर वो जानती थी कि बगल में अब्बू का कमरा है और वो उनकी मादक सिसकारियाँ, वासना भरी आवाजें ज़रूर सुन रहे होंगे यही सोच कर वो अपने मुख से जानबूझ कर किसी चुदाई वाली फ़िल्म की तरह आअहह… ऊऊहह… उउउ… फ़फ्फ़.. की आवाज़ें निकालती थी।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  शादी में माल पटा मैंने पेल दी उसकी गांड

फ़रहान कहता भी था- प्लीज रुखसाना, धीरे आवाज़ करो, बगल में अब्बू जी सुनेंगे तो क्या सोचेंगे !

पर रुखसाना तो यही चाहती थी !

एक बार फरहान को 15 दिन के लिए बाहर जाना पड़ गया तो अगले दिन रुखसाना ने मन में ठान ही लिया कि अब चाहे कुछ भी हो, मैं अब्बू से चुदवा कर ही दम लूँगी..

सुबह नहाने के बाद उसने बहुत ही सेक्सी नाईटी निकाली और उसने नीचे ब्रा भी नहीं पहनी सिर्फ़ नीचे मैरून पेंटी पहन कर वो अब्बू के कमरे में नाश्ता देने गई तो सलमान मियाँ बहू के इस रूप को देखकर सन्न रह गये पर उन्होंने झट से नज़र दूसरी तरफ फेर ली पर रुखसाना वहीं बैठ गई और रोने लगी।

तो सलमान मियाँ बोले- क्या हुआ बहू? तुम रो क्यों रही हो ! अरे… फरहान सिर्फ़ 15 दिन के लिए ही तो गया है… चुप हो जाओ प्लीज रो मत ! मैं हूँ ना…

रुखसाना- अब्बू, मैं फरहान के लिए नहीं रो रही ! अब मैं आपको कैसे बताऊँ?
सलमान मियाँ- क्या हुआ बेटी, मुझे बताओ तो, शायद मैं कुछ कर सकूँ…
रुखसाना- आपको बताने वाली बात नहीं है, अगर सासू माँ होती तो शायद वो मेरा दर्द समझ सकती…

सलमान मियाँ- बेटा, मुझे तुम अपना दोस्त समझ सकती हो, अब तेरी सासू माँ तो है नहीं तो मुझे बता कि क्या परेशानी है…
रुखसाना- अब्बू, आप तो जानते ही हैं कि अभी मेरी उम्र ही कितनी है और आपका बेटा..

सलमान मियाँ- हाँ, तो क्या हुआ मेरे बेटे को…?
रुखसाना- अब्बू, आप बुरा तो नहीं मानेंगे…?
अब्बू- नहीं बेटी, तू बोल ना मैं बुरा नहीं मानूँगा।
रुखसाना- अब्बू, आपका बेटा मुझे खुश नहीं कर पाता है…

हिंदी सेक्स स्टोरी :  आंटी ने कहा तुम बड़े चोदु हो

बहू की बात सुन कर सलमान का चेहरा लटक गया, बोले- बहू, अब भला इसमें मैं क्या कर सकता हूँ? तू बता, जो तू बोले वो कर दूँ…

रुखसाना- अब्बू, मुझे कहना तो नहीं चाहिए पर कह रही हूँ कि मुझे आप !

उसकी बात भी अभी पूरी नहीं हुई थी कि सलमान मियाँ गुस्से से गर्म हो गये- बहू… तुम्हारा दिमाग़ तो खराब नहीं हो गया? ऐसी बात सोचने की हिम्मत भी कैसे हुई तुम्हारी ! मैं तेरे बाप के बराबर हूँ…

जब सलमान मियाँ गर्म हुए तो रुखसाना के एक बार तो होश ही उड़ गये पर उसने भी अपने तेवर गर्म कर लिए- ठीक है, अगर आप मेरी बात नहीं मानते तो मुझे तलाक़ दिला दीजिए और अपने घर के लिए किसी और का इंतज़ाम कर लीजिए, मैं सिर्फ चूल्हा चौका करने में अपनी जवानी नहीं गंवा सकती ! मेरे भी कुछ अरमां हैं, अपनी जवानी मैंने अभी तक अपने शौहर के लिए कुर्बान नहीं होने दी थी पर मेरे अम्मी अब्बू ने आपकी दौलत देखकर मुझे ऐसे दुहाजू से ब्याह दिया जो मेरी जैसी हसीना का संभालने के लायक ही नहीं है ! मैं आज ही यह घर छोड़ कर जा रही हूँ…

अगले भाग में कहानी समाप्त-

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!