रंगीन चुदाई

(Rangeen Chudai)

दोस्तों नमस्कार ये मेरे जीवन की पहली कहानी है जो मैं आपके साथ साझा करने जा रहा हूं। ये कहानी सच्ची घटना पर आधारित है केवल नाम ओर स्थान बदले गए है।मेरा नाम पंकज शर्मा है और मैं मध्यप्रदेश का रहनेवाला वाला हूं।
बात उन दिनों की है मेरी नोकरी मात्र 21 वर्ष की उम्र मे लग गयी और मेरी पहली पोस्टिंग आदिवासी क्षेत्र मे हुई। मैने किराये पर कमरा लिया और एक छोटी सी बस्ती मैं रहने लगे। हमारे मकान के ठीक सामने एक परिवार रहता था जिसमे एक इंजीनियर अंकल ओर उनकी दो लड़की रहती थी।दोनो बहुत ही सुंदर और सभ्य बड़ी वाली का नाम डिम्प्पल और छोटी का नाम चिंटू बड़ी वाली की उम्र 23 साल ओर छोटी वाली की उम्र 17 साल।

शुरुआत मे सब कुछ सामान्य रहा लेकिन धीरे-धीरे जान पहचान हो गयी और एक दूसरे के यहां आने जाने लगे 1 दिन की बात है अंकल और आंटी को कहीं शादी में जाना था दिल्ली और बड़ी लड़की के एग्जाम होने के कारण वह नहीं जा पा रही अंकल आंटी वाले परेशान थे और मुझसे बोले राम बड़ी दुविधा में फंस गए हैं मैंने पूछा क्या बात है उन्होंने बोला हमें शादी में जाना है और डिंपल के एग्जाम मैंने बोला ऐसा कीजिए आप दोनों चले जाइए और डिंपल और चिंटू दोनों को छोड़ दो दोनों एक साथ रह जाएंगे उन्होंने बोला अच्छी बात है और वो शादी में चले गए दोस्तों मैं शुरू से सीधा साधा मैंने इतना खासा ध्यान नहीं दिया लेकिन उस रात डिंपल का फोन आया मैं गहरी नींद में सो रहा था उसने बोला की लाइट चली गई है मुझे डर लग रहा मैंने बोला कि कोई बात नहीं है मैं अभी आता हूं और मैं हाफ पैंट पहना हुआ था और और टीशर्ट उसी में चला गया मैंने लाइट जाकर चेक तो फ्यूज उड़ा हुआ था मैंने फ्यू सही किया और जैसे वापस मुड़ा तुम मेरी नजर डिंपल ले गए नाइटी पहने हुए थे उसका गोरा बदन एकदम पतला अगर यही हुई 30 32 मैं मेरी और उसकी जैसी नजरों में तेरे मिले वो शर्मा गई और उसने नजरे झुका ली मानव मन ही मन कुछ कहना चाहती हैं उसने बोला आज रात आप यही रुक जाइए मुझे बहुत डर लग रहा है

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Gareeb Ladki Ki Majburi Ka Fayda Utha Ke Chut Peli-2

मैंने बोला ठीक है चिंटू कहां है उसने बोला वह अपने कमरे में सो रही है मैंने बोला ठीक है मैंने बोला मैं कहां सोऊंगा उसने बोला आप मेरे कमरे में ही सो जाइए जैसे वह मुझको इशारों इशारों में ही निमंत्रण दे रही थे हम दोनों उसके कमरे में चले गए मेरा मन भी उसको देखकर बेकाबू हो रहा था हम दोनों एक ही बेड पर लेट गए मानो मन ही मन एक दूसरे की बात समझ गए उसका बदन देखकर मेरा लंड मेरे पेंट मैं टक्कर दे रहा था वह भी मुझको देखकर शर्मा गए अब मुझसे रहा नहीं गया और मैंने उसके सीने पर हाथ रख दिया जैसे ही मैंने उसके बूब्स पर हाथ रखा एकदम से चटपटा गए उसके बूब्स संतरे के आकार के थे और एकदम टाइट मानो उससे पहले उनको किसी ने हाथी नहीं लगाया मैंने उसको अपनी बाहों में भर लिया और उसके होठों पर किस करने लगा अपनी जीभ मेरे मुंह में डाल कर किस करने लगी मैंने उसकी नाइटी निकाल दे अब उसके बूब्स साफ साफ दिखने लगे

उसकी ऐसी सुंदरता मानो कोई परी जमीन पर उतर आई हो आप उसका पूरा शरीर मेरे आंखों के सामने तो एकदम तो दिया रोशनी की तरह आप मुझसे कंट्रोल नहीं हो रहा था मैंने उसके बिना चालू कर दिया उसके मुंह से सिसकियां निकलने लगी और होते झटपट आने लगी मैंने उसकी पैंटी में हाथ डाल दिया उसकी इतनी कोमल मुलायम चूत उसको जूते अनु अनु मानो ढाई सौ बोल्ट का झटका लगा हो हमें उसकी च** पर अपने उंगलियां फिराने लगा वो सिसकियाँ लेने लगी अब उसका मन भी मेरे लंड को देखने के लिए मचल रहा था उसने मेरा हाफ पैंट हटा दिया और मेरी चड्डी निकाल दी वो मेरा लंड अपने हाथों में लेकर सहलाने लगी मैं भी उसकी चूत में उंगली दाल कर सहलाने लगा और उसकी कोमल चूत चाटने लगा मेने अपनी जीभ उसकी चूत में डाल दी और वो झटपट आने लगी और उसके मुंह से सिसकियां निकलने लगे वह भी मेरे ल** को अपने मुंह में लेकर चूसने लगे और भी गुस्सा हो रहे थे

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  Mira Ke Saath First Experience-3

उत्सुक हो रहे थे और अपनी चरम सीमा पर से जा रहे थे मैं उसके ऊपर आ गया और अपना लैंड उसकी दोनों टांगो कंधे पर रखकर उसकी च** के छेद पर दिखा दिया और धीरे-धीरे रहने लगा कहने लगे अब क्या मेरी जान ही लोगे प्लीज जल्दी करो मैं कॉल नहीं कर सकती मैंने तेरे से उसकी च** में ब******* कर दिया अभी मेरा आधा ही लड गया था और उसके मुंह से चीख निकल ले ले मैंने अपना मुंह उसके होठों पर रखते हो उसको किस करना चालू कर दिया और तेरे से झूठ सेट कर लगाया मेरा पूरा ल** से च** में घुस गया और मैंने धीरे धीरे लंडन दरबार करना चालू कर दिया थोड़ी देर बाद उसको भी मज़ा आने लगा और बिछड़ने वाली थी और उसने पूरा माल मेरे ऊपर ही निकाल दिया और उसके थोड़ी देर बाद में भी झड़ गया और मैं उसके ऊपर ही लेटर रह गया

वह मुझे प्यार से चूमने लगी और बोलिए ऐसा तो मैंने केवल पिक्चर में देखा था ऐसा मैंने कभी सोचा भी नहीं था कि हमें सेक्स करूंगी आप मेरे ढीले पड़ चुकी ल को सहलाने लगे थोड़ी देर बाद मेरा फिर से खड़ा होने लगा अब हम दोनों ने पोजीशन बदले मैंने उससे कहा मैं तुमको डॉगी स्टाइल में जो जो दूंगा का उसने अपना सर हिला दिया मैंने उसको घोड़ी बना लिया और धीरे-धीरे उसकीचूत में पूरा लंड डाल दियाल वो सिसकारियां भरने लगी दोस्तों उसकी चूत एकदम टाइट थी। पूरा कमरा आह ऊह की आवाज से गूंज उठा।म रात भर तीन बार सेक्स किया और मैं सुबह वहां से अपने कमरे में आ गया ।अगले दिन उसके मम्मी पापा आ गए।ओर कुछ दिनों बाद मेरा तबादला दूसरी जगह हो गया।
आपको मेरी पहली कहानी कैसी लगी कमेंट करके बताएं मैं आप लोगो को तबादले की नई कहानी मेरे साथ काम करने वाली मेडम की सुनाऊंगा।मेरे पास ऐसी ढेर सारी कहानियां जिनको मैं आपको बीच शेयर करूंगा।

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!