रसीली जवानी मेरी बीवी सुषमा की

RASILI JAWANI MERI BIWI SUSHMA KI

यह कहानी मेरा और मेरी बीबी सुषमा की है हम दोनों एक दूसरे से बहुत प्यार करते है बहुत जयदा इतना प्यार वह हमको करती है और हम भी उसको बहुत प्यार करते है मेरा नाम संदीप और मेरी बीबी का नाम सुषमा है ऐसे मेरी बीबी बहुत ही सुन्दर और पूरी हॉट पॉट है उसका फिगर बहुत ही मस्त है क्या बताऊ उसके होठ पर जब लाल रंग का होंठलाली लगाती है यार क़यामत लगती है आज की बात है जब वह लाल रंग की होंठलाली लगाई थी अंडरवियर के अंदर लण्ड राजा तूफान मार रहा था अपनी बुर रानी से मिलने के लिए और मज़ा दिया मैं सुषमा से बहुत ज्यादा खुश हैं।

मैं जिस तरीके से सुषमा के साथ शादी के पहले सेक्स किया वाह वाह हम दोनों बहुत ज्यादा खुश हैं और कहीं ना कहीं हम दोनों का प्यार काफी ज्यादा है एक दूसरे के प्रति सुषमा को मुझ पर बहुत ज्यादा भरोसा करती है और हमको सुषमा पर बहुत ज्यादा भरोशा है जब शादी से पहले एक दिन मैंने सुषमा के साथ सेक्स करने के बारे में सोचा और सुषमा को बोला तो सुषमा भी तैयार थी।

हम दोनों साथ सेक्स करने के लिए तडपने लगे थे। हम असल में मेरी बीबी झारखण्ड के सरायकेला की रहने वाली थी सुषमा ने अपने दोस्त का शादी का बहना बनाया घर पर और वह चली आई उसकी एक बहुत अछि दोस्त थी नाम है शिल्पी वह हम दोनो का साथ दी ऎसे मेरी बीबी उसकी प्यार से परी बुलाती है हम दोनों ने एक होटल में रुके और हम दोनों ने साथ में रात भर समय बिताने का फैसला कर लिया था।

मेरे सामने सुषमा बैठी हुई थी मैंने उसको अपने सामने बैठा कर देखता ही रह गया बहुत खूबसूरत यार क्या तारीफ करू फिर उसमे मुझको झकझोर तो मेरा ध्यान हटा तो मैं उसको अपने सीने से लगाया और उसको चूमा और उसका ड्रेस बहुत मस्त था वह लहँगा में थी पिला और लाल कलर का था आज हम दोनों पहली बार आमने सामने थे मैंने उसकी जांघों को सहला कर उसकी गर्मी को बढा दिया । सुषमा भी गर्म होती जा रही थी वह मुझे कहने लगी मेरी गर्मी को तुम ऐसे ही बढ़ाते जाओ मैंने उसको बिस्तर पर लीठाया।

उसके बाद उसके बेलायुज खोला और निचे से लहँगा खोल कर हटा दिया अब वह सिर्फ ब्रा और पेंटी वाह क्या मस्त दिख रही थी अब मुझसे बर्दाश नहीं हो रहा था मेने उसका होठ चूसन शुरू किया तब तक चूसा जब तक होठ से खून ना निकला और उसका पेंटी धीरे धीरे से हटा दिया वाहह उसका बुर जैसे आज ही साफ की हो बहुत सुन्दर एक दम चिकन चाकन अब मैंने सुषमा का दोनों पेर फैला दिया और उसका बुर को अपने जीभ से चूमने और चाटने और चोदने लगा उसके बुर के ऊपर इतना चाट चाट कर कला से लाल हर दिया उसको भी बहुत मज़ा आ रहा था हम दोनों पहली बार सेक्स कर रहे थे उसके बाद उसके बुर में ऊँगली से चोदने लगा मैंने उसकी गीली चूत में ऊँगली घुसेड दी और ऊँगली से उसकी चूत चोदने लगा |

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मेरी अधूरी जवानी की बेदर्द चुदाई-5

वो बड़े मादक ढंग से आ आआअ ह्ह्ह्ह ह ह्ह्ह्ह ह ऊ ऊऊऊउ ई इ इ ईई इ ई इ ई ई इ इ ई इ ऊ उ उ ऊ उ ऊऊउ उ ई इ ईई इ इआआ ह हह हह ह ह हह ह ओह्ह ह हह ह ह हह ह्ह्ह ह ऊऊ ऊऊ उ ऊ इ इ इ ईई ई इ इ ई ईईइ इ ईईई उह ह्ह्ह ह हह ह ह ह ह ह ह्ह्ह्ह करने लगी | फिर वो बोली की उससे कंट्रोल नही हो रहा और उसे तुरंत अपनी चूत में मेरा लंड चाहिए | मैंने बोला ठीक है | अभी इतनी जल्दी क्या है सुषमा फिर मैंने ब्रा खोली और उसका बुम्स वाह जन्नत उसके सामने फेल उसके बुम्स को मैं दबने और मसलने लगा सुषमा बैचेन होने लगी चुदने के लिए मै ने उसको बहुत दबाया और चूसा मालदा आम की तरह उसके सामने सेब नांरगी सब फेल वह क्या बुम्स है मैं वाकई में धन्य हो गया ऐसे बीबी पाकर अब वह झड़ने वाली थी उसके बुर में मॉल आ गया और मैंने सारा मॉल उसके बुर में से अपने जीभ को लगाया और पूरा चाट गया नमकीन जैसा लग रहा था पर मज़ा बहुत आ रहा था अब मैंने उसको फिर से गर्म किया और फिर मैंने अपना लंड उसकी चूत पर टिकाया और हल्का सा धक्का दिया | अभी मेरा बस टोपा ही अन्दर हुआ था की वो चिल्ला पड़ी और दर्द से रोने लगी क्योकि हम दोनों पहला सेक्स कर रहे थे | मैंने लंड निकाला नही और डाले हुए ही उसके दूध यानि बुम्स दबाने लगा और उसे किस करने लगा |

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  AnJaan Auraton ki Chudai kar Bachche paida kiya-1

अब मैंने थोडा और धक्का दिया और अपना आधा लंड उसकी चूत में घुसेड दिया | अब वो दर्द से कराहने लगी | मैंने बिना देर किये एक ही झटके में बाकी बचा हुआ लंड भी उसकी चूत में डाल दिया | वो चुहुंक पड़ी और चिल्ला कर ऊऊउ ईईइ इ ईईई आह्ह्ह मर गयी मई.. उईईई ह्ह्ह्हह्ह हह ह हह अ आह हह हह ह्ह्ह्ह ह हह ह हह ऊऊ उई इ ई इ ह ह हह ह ह ह हह ह करने लगी | फिर में उसके बुर में अपने लण्ड को डाले रहा जब थोडा शांत हुई तो मैंने अपना लंड अन्दर बाहर करना शुरू किया आकर दिया | थोड़ी देर बाद उसे भी मजा आने लगा और वो बड़ी मस्ती से चुदवाने लगी और आह ऊऊ ऊऊ ईई ह्ह्ह आह करने लगी | फिर मैंने उससे घोड़ी बनने को बोला और फिर उस पोजीशन में चोदा और बहुत चोदा उसके उसकी गांड में अपना लण्ड वह क्या टाइट गांड अंदर जा ही नहीं रहता और सुषमा दर्द से कराह रही थी उसका गांड वह स्वर्ग | करीब आधे घंटे की जोरदार चुदाई के बाद वो झड गयी दुबारा | थोड़ी देर और चोदने के बाद मैं भी झड़ने वाला हुआ तो मैंने लंड उसकी चूत से निकल आकर उसके मुंह में घुसेड दिया और उसके मुंह में अपना सारा माल निकाल दिया | और वह पि गई

अब वह मेरे लंड को बाहर निकालने लगी थी। जब उसने मेरे लंड को बाहर निकाल कर अपने मुंह में लेकर उसे चूसना शुरू किया उसे मजा आने लगा था और मुझे भी अच्छा लग रहा था जिस तरीके से वह मेरे लंड को चूस रही थी और मेरी गर्मी को बढाए जा रही थी। मैंने और सुषमा ने एक दूसरे की गर्मी को बहुत ज्यादा बढ़ा दिया था अब हम दोनों पूरी तरीके से गर्म होते जा रहे थे और हमारी गर्मी बहुत ज्यादा बढ़ चुकी थी। मैंने सुषमा कपडे पहले ही उतार चूका था जब उसके स्तनों को देखा तो मुझे मजा आने लगा और मैं उसके स्तनों को दबाने लगा था। मैंने अपने बीबी सुषमा के स्तनों को चूसना और दबाना और मिसना शुरू किया वह गर्म होने लगी थी वह बहुत ज्यादा गरम हो चुकी थी। वह मुझे कहने लगी मेरी गर्मी को तुमने बहुत ज्यादा बढ़ा दिया है अब हम दोनों बिल्कुल भी रह नहीं पा रहे थे मैं अपने आप को रोक नहीं पाया। मैंने जैसे ही सुषमा की चूत बुर पर अपनी जीभ को लगाकर फिर से उसे चाटना शुरू किया तो उसको मजा आने लगा और वह बहुत ज्यादा गरम होने लगी थी।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  फोटोग्राफर ने बीवी को चोदा

सुषमा की चूत से निकलते हुए पानी को देखकर मै बहुत ज्यादा गर्म होता जा रहा था। मैंने सुषमा से कहा मेरी गर्मी बहुत ज्यादा बढ़ने लगी है मैंने सुषमा के चूत बुर के अंदर अपने लंड फिर से घुसाया। जब मैंने सुषमा की चूत के अंदर अपने लंड को डाला तो मैं खुश हो गया उसकी योनि से बहुत ज्यादा खून बाहर निकलने लगा था। मैंने उसको बेड पर एक दम चीते सुताया और उसके बुर में रासगुला का रास और बुर का रास बहुत मज़ा उसके बुर चूत को चाटने का उसके बुर को बहुत चाट चाट के लाल कर दिया उसका दोनों बुम्स के निपल को चूस चूस के फूला दिया और उसके बुर चूत से चोदने लगा बहुत तेज़ ठुकाई उसके बुर बहुत मस्त था मेरी बीबी के बुर को बहुत तेज़ रफ़्तार से चुदाई कर रहा था

उसकी चूत से खून निकलने लगा था मुझे मजा आने लगा था जब मैं और सुषमा एक दूसरे की गर्मी को बढ़ाए जा रहे थे। हम दोनों ने एक दूसरे की गर्मी को बहुत ज्यादा बढ़ा दिया था। मैं सुषमा  को धक्के मारता वह कहती तुम मुझे बस ऐसे ही धक्के मारते जाओ। मैं उसे तेजी से धक्के मारे जा रहा था। जिस तरीके से मैंने उसे धक्के दिए उससे वह बहुत ज्यादा खुश हो गई थी और मैं भी बहुत ज्यादा खुश था उसकी सिसकारियां बढ़ती जा रही थी। उसकी सिसकारियां इतनी अधिक बढ़ चुकी थी अब हम दोनों बिल्कुल भी रह नहीं पा रहे थे। मैंने सुषमा की इच्छा को पूरा कर दिया था सुषमा की चूत में मेरा वीर्य गिर चुका था दुबारा उसके बाद वह बड़ी खुश थी और मैं भी बहुत ज्यादा खुश था जिस तरीके से हमने सेक्स किया था। मैं अब वापस लौट आया था। बहुत मज़ा आया सुषमा तू सी ग्रेट हो

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!