साले की बेटी की गांड चोदी

Saale ki beti ki gand chodi

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम राजा है और में नेपाल का रहने वाला हूँ. अब तो आप जान ही गये होंगे कि में कितना सेक्सी हूँ. अबकी बार मैंने अपने साले की खूबसूरत लड़की को फँसाकर जमकर अपने लंड की प्यास बुझाई थी.

दोस्तों अब में आपको ज्यादा बोर ना करते हुए सीधा अपनी स्टोरी पर आता हूँ. एक बार में अपने ससुराल गया तो मुझे पता चला कि घर के सारे लोग शादी में गये है और घर में केवल मेरी बीवी की भतीजी थी. फिर में सीधा उसके रूम में पहुँच गया तो मुझे वहाँ कंचन अकेले मिली, वैसे मुझे कंचन की आवाज़ और उसकी हँसी बहुत अच्छी लगती थी. में कब से उसकी चूत को चूस लेना चाहता था और उसकी नर्म-नर्म गांड मारना चाहता था. अब उसको रूम में अकेला देखकर मेरे दिल की धड़कन बहुत तेज हो गयी थी, लेकिन में समझ नहीं पा रहा था कि आगे कैसे बात बढ़ेगी? कहीं ये नाराज़ हो गयी? या इसने किसी से कह दिया तो बड़ी गड़बड़ हो जाएगी?

फिर मैंने सोचा कि चलो देखते है, आगे क्या होता है? फिर हम दोनों काफ़ी देर तक बातें करते रहे तो तभी मेरी वाईफ का फोन आया. मैंने थोड़ी देर तक उससे बातें करके बाय गुडनाईट कर दिया, तो कंचन ने कहा कि अच्छा किया फुफाजी आपने बुआ को नहीं बताया, कहीं उनको पता चल जाए कि में रात को आपके कमरे में हूँ, तो वो कहीं नाराज़ ना हो जाए?

फिर मैंने कहा कि उनको पता कैसे चलेगा? क्या तुम बताओगी? तो उसने कहा कि नहीं नहीं भाई. फिर मैंने कहा कि में भी नहीं बताऊँगा, अब मुझे उम्मीद जाग रही थी कि बात बन सकती है, लेकिन में हिम्मत नहीं कर पा रहा था. फिर थोड़ी देर में मैंने कहा कि कंचन मेरे सिर में हल्का सा दर्द हो रहा है. तो उसने कहा कि लाइए फूफाजी में आपको विक्स लगा देती हूँ. फिर में बेड पर लेट गया और वो मेरे माथे पर विक्स मलने लगी. फिर मैंने हल्के से उसकी गोरी कलाई पर अपना हाथ टच किया, तो उसने अपना हाथ दूर खींच लिया.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Bhanji Ki Chut Boobs Dono Bahut Rasbhari Hai

फिर मैंने हल्के से फिर से उसकी कलाई के ऊपर टच किया, तो वो कुछ नहीं बोली. अब मेरी हिम्मत थोड़ी बढ़ गयी थी, फिर मैंने धीरे-धीरे उसका बदन सहलाना शुरू कर दिया. फिर तो उसने अपना हाथ अलग कर लिया. फिर मैंने लेटे हुए ही सोने का नाटक करते हुए अपनी आँखे खोलकर उसके गाल पर अपना हाथ टच कराया और उसकी कलाई पकड़ ली और कहा कि कंचन आई लाईक यू. तो वो घबराकर बोली कि फुफाजी ये सही नहीं है अगर किसी को मालूम पड़ गया तो बहुत गड़बड़ हो जाएगी. अब मेरी हिम्मत खुल चुकी थी, फिर मैंने कहा कि हम किसी को बताएगें ही नहीं, तो मालूम कैसे पड़ेगा? और फिर मैंने उसकी कलाई और हथेली पर किस कर लिया और फिर मैंने उसके माथे पर किस किया.

अब उसकी सासें भारी हो गयी थी, अब वो विरोध करने की नाकाम कोशिश करने लगी थी. फिर मैंने उसकी सुंदर आँखों को एक के बाद एक किस किया और प्यार से उसको बेड पर लेटा दिया. अब उसकी आँखे बंद थी और उसकी छाती जल्दी-जल्दी उठ बैठ रही थी. फिर मैंने धीरे-धीरे उसकी गर्दन पर किस करते हुए उसका टॉप उतारा और उसकी ब्रा भी उतार दी.

फिर मैंने जैसे ही उसकी चूची देखी तो में दंग रह गया, वो इतनी गोरी थी कि प्रीति ज़िंटा भी उसके आगे कुछ नहीं थी. अब उसकी चूची तनी हुई थी, फिर मैंने हल्के से उसकी चूची को अपने होठों से चूमा और अपने एक हाथ से उसकी स्कर्ट उतारकर उसकी पेंटी पर अपना हाथ फैरा. अब वो मौन कर रही थी अयाया फुफाजी ये क्या कर रहे है? प्लीज़ मुझे छोड़ दीजिए, उम्म्म्ममम प्लीज. फिर मैंने उसके होंठो पर किस करते हुए उसकी पेंटी को आहिस्ता से उतारा, ओहह क्या चीज़ थी वो? उसके अंदर जैसे करोड़ो का खजाना था, एकदम पिंक, चिकनी गांड थी और उसकी गांड एकदम मुलायम थी.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  कड़क मर्द देखते ही चूत मचलने लगती है-1

फिर मैंने उसकी चूत को अपने हाथ से सहलाना शुरू किया तो उसे भी मज़ा आने लगा. फिर मैंने अपनी एक उंगली उसकी चूत में डाली तो मेरी उंगली जल्दी से उसकी चूत में नहीं घुस रही थी. फिर मैंने उसकी चूत चोदने के प्लान को कैंसिल करके उसकी नर्म-नर्म गांड मारने का प्लान बनाया, ताकि आगे उसे कोई दिक्कत ना हो. फिर मैंने उसे पेट के बल लेटाकर उसकी गांड को चूम लिया और उसकी चूत को अपनी जीभ से चाटने लगा.

उसकी चूत का स्वाद एकदम बटर जैसा था. अब में उसकी चूत को कस-कसकर चूस रहा था. अब वो तो बस चिल्ला रही थी उउउईईईई माँ, फुफा जी ये क्या कर दिया आपने आईईईईईईईई? फिर मैंने सोचा कि अब लोहा गर्म है और देर करना ठीक नहीं है, तो मैंने पहले अपनी उंगली को उसकी गांड में धीरे-धीरे घुसाया, उसकी गांड बहुत टाईट थी.

फिर मैंने थोड़ी क्रीम उसकी गांड में अंदर तक लगाई और फिर मैंने अपने कपड़े उतारे तो उसने भी मेरी छाती पर अपना हाथ फैरना शुरू किया और किस भी किया. लेकिन जैसे ही उसने मेरा 9 इंच का लंड देखा, तो वो घबरा गयी और बोली कि नहीं फूफाजी ये मत करिएगा, प्लीज़ ये अंदर नहीं जाएगा, में वर्जिन हूँ. फिर मैंने अपनी उंगली की स्पीड बढ़ा दी और फिर मैंने उसको बहुत प्यार से बेड पर लेटाया और उसके कूल्हों के नीचे दो तकिए लगाए, जिससे उसकी गांड और निखर गयी.

फिर मैंने अपने लंड और उसकी गांड पर खूब क्रीम लगाकर अपने लंड के टॉप को उसकी गांड से लगाया और धीरे-धीरे अंदर पुश किया तो वो चिल्लाने लगी कि नहीं फुफाजी लग रही है, उई माँ दुख रहा है आआआआआआ, दर्द हो रहा है उईईई, प्लीज़ लीव मी प्लीज़ प्लीज़. फिर थोड़ी देर के बाद मैंने एक ज़ोर का धक्का लगाया तो मेरा पूरा लंड उसकी गांड के अंदर चला गया था और उसकी गांड से खून बाहर आ गया था, लेकिन में उसके चिल्लाने की परवाह किए बगैर अपने धक्को की स्पीड धीरे-धीरे बढ़ाता रहा. अब वो जोर-जोर से चिल्ला रही थी और अब मैंने उसके होंठ अपने होंठ से फिट कर दिए थे.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Didi Aur Bhanji Ki Chut Ki Bhaji Banayi 3

अब वो चिल्ला रही थी उईईईई माँ में मर गयी, बाहर निकालो फुफाजी, अब में कभी आपकी बात नहीं मानूंगी, उईईईईईई आहह में मर गयी, आअहह आहह आअहह ऊऊऊ आआईईईईईईई मजा आ रहा है फुफाजी और ज़ोर से करिए उुउउहहहहहहहह उईईईईई ऊऊऊहहहहहह फुफ़ाजी और और आहहहाह. अब में भी अपने धक्के जोर-जोर से लगा रहा था और उसकी गांड से फचा फच फचा पच पच की जैसी आवाज़ आ रही थी.

अब वो नीचे से उछलने लगी थी, मज़ा आ गया उईईइ माँ, फुक मी हार्ड फुफाजी यू आर डार्लिंग, आई लव यू उईईईईईईईईईईई में गयी, ये क्या हो रहा है? अया आअहह उूउऊहह और इसके साथ ही मेरी स्पीड भी राजधानी एक्सप्रेस की हो गयी और मैंने अपना सारा वीर्य उसकी गांड के अंदर ही निकाल दिया. फिर थोड़ी देर तक हम एक दूसरे को अपनी बाहों में लिए पड़े रहे. फिर वो उठी और शरमाते हुए बाथरूम में गयी और वॉश किया. फिर वो मेरे माथे पर किस करके बोली कि यू आर डार्लिंग फूफाजी, आई रियली लव यू. फिर हमने 4 दिन तक खूब मज़े किए और बहुत बार चुदाई भी की और एक दूसरे को चुदाई का आनंद दिया.

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!