सास को चुदवाते हुए देखा-1

Saas ko chudwate huye dekha-1

हैल्लो दोस्तों, में आशु, एक बार फिर से आप सभी लोगों के लिए अपनी दूसरी कहानी लेकर आया हूँ जिसमें मेरी सासूजी ने अपनी चुदाई बड़े मज़े लेकर करवाई और चुदाई में उन्होंने पूरा पूरा साथ दिया वो बहुत खुश थी, लेकिन दोस्तों इस बार मैंने अपनी चुदक्कड़ सास की चुदाई के मज़े नहीं लिए और इस बार उसकी चुदाई उसी की बहन के लड़के ने की और उसको चोदकर बहुत मज़े लिए. में आज अपनी सास की उस सच्ची करतूत को आज आप सभी को बताने जा रहा हूँ.

दोस्तों आप सभी को मेरी सास ज्योति के बारे में तो याद होगा ही कि वो चुदाई की कितनी प्यासी है और उसको हमेशा लंड की याद सताती है वो इतनी उम्र होने के बाद भी हर एक कुंवारी चूत को अपने सामने फेल कर दे. उसका गोरा सेक्सी बदन हर किसी को अपना दीवाना बना दे, उसके बूब्स, गांड और कामुक चूत को देखकर किसी का भी लंड अपना पानी छोड़ दे वो अपने शरीर की बहुत देखरेख करती और बहुत सुंदर भी है आप जब भी उसको चुदाई के लिए कहोगे वो तुरंत बिना देर किए तैयार हो जाएगी, क्योंकि मेरे ससुरजी ने कभी भी उसको अच्छी तरह से चोदकर संतुष्ट नहीं किया था वो हमेशा प्यासी रही और इसलिए में भी मेरे ससुर जी की मौत के बाद उसका चुदाई का इशारा पाकर दो बार चोद चुका था.

दोस्तों मैंने उसकी बहुत मज़े लेकर चुदाई की और उसकी चूत को शांत किया, पहली बार चुदाई पसंद आने पर मैंने उसको दोबारा भी चोदा इसलिए उसने मेरा पूरा साथ दिया, लेकिन मुझे बिल्कुल भी पता नहीं था कि वो क्या कभी ऐसा भी कर सकती है या वो अपनी चूत को शांत करवाने के लिए इतनी हद तक नीचे भी गिर सकती है.

दोस्तों मेरे ससुर जी की मौत के चार महीने बाद अचानक से मुझे एक दिन अपनी कंपनी के काम से बाहर जाना पड़ा और कुछ दिन बाद मेरा काम खत्म हो जाने के बाद जब में वापस अपने घर आया तो मैंने देखा कि मेरे घर पर उस समय ताला लगा हुआ था, क्योंकि मेरी बीवी मेरी माँ के पास दिल्ली चली गयी थी, वैसे तो मुझे भी दिल्ली जाना था, लेकिन में अपनी सास को अपनी पत्नी के पीछे से अकेले में चोदने के मूड में था, इसलिए में वहीं पर रुका रहा और में मन ही मन अपनी सास की होने वाली चुदाई की बात को सोचकर बहुत खुश था और इसलिए मैंने उसी दिन दोपहर को दो बजे अपने ससुराल जाने का प्रोग्राम बना लिया और में बहुत खुश होता हुआ अपने ससुराल पहुँच गया.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मामीजी के घर मौसी को बजाया–3

दोस्तों मेरे पास उस घर की एक और चाबी थी जिसकी मदद से में पहले भी अपने ससुराल में जाकर अपनी सास को चोद चुका था और वो चाबी मुझे मेरी सास ने ही दी थी और उन्होंने मुझसे कहा था कि जब भी तुम्हारा मन करे तुम मेरी चुदाई करने यहाँ पर आ सकते हो.

फिर मैंने चुपचाप घर का दरवाजा खोल दिया तभी मुझे अंदर की तरफ से कुछ आवाज़ आने लगी और में उस आवाज को सुनकर चुपचाप उसके बेडरूम के पास में पहुँच गया और फिर मैंने अंदर की तरफ झांककर देखा, लेकिन वहाँ पर कोई भी नहीं था और तब मैंने महसूस किया कि वो आवाज़ें ड्रॉयिंग रूम से आ रही थी, इसलिए में उधर की तरफ चला गया. तो तब मैंने क्या देखा कि मेरी सास ज्योति उस समय अपनी बहन के लड़के अवी की बाहों में है और वो दोनों ख़ुशी से नाच रहे है और उस समय ज्योति बहुत ही सेक्सी लग रही थी उसने काले रंग का एकदम टाइट सूट पहना हुआ था जिसमें से उसके बड़े बड़े बूब्स का आकार एकदम साफ दिखाई दे रहा था. अब मैंने देखा कि अवी अपना एक हाथ ज्योति की मटकती हुई कमर पर फिरा रहा था और वो बीच बीच में उसकी गांड को भी मसल रहा था इन सभी में ज्योति को भी बहुत मज़ा आ रहा था.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

फिर उसके बाद तो अवी ने अपना एक हाथ उसकी गांड पर रख दिया और धीरे धीरे मसालते हुए वो मेरी सेक्सी सास के साथ मज़े लेने लगा, वो अपने हाथों से मेरी सास के सेक्सी बदन को मसलने लगा और मेरी सास भी उसके साथ पूरा मज़ा ले रही थी वो धीरे धीरे गरम होकर सिसकियाँ ले रही थी.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  मेरी मां और मौसी की वासना

कुछ देर बाद उसने मेरी सास के बूब्स को पकड़ लिए और अब वो उन्हे भी ज़ोर ज़ोर से मसलने लगा दबाने लगा कि तभी ज्योति ने अपना सर उसके कंधे पर रख दिया और उसने अपनी दोनों बाहें उसी समय उसके गले में डाल दी. दोस्तों में उस समय उस कमरे के बाहर एक खिड़की के पास में खड़ा हुआ था और वो दोनों अंदर थे जहाँ से में उन्हे बहुत आराम से देख सकता था मुझे सब कुछ साफ साफ दिखाई दे रहा था, लेकिन वो दोनों मुझे नहीं देख सकते थे. तभी मेरी सास ने अपना चेहरा मेरी तरफ कर लिया और अवी ने अब उसको चूमना शुरू कर दिया और वो भी अवी को चूम रही थी दोनों बहुत गरम थे और पूरे जोश में आ चुके थे. वो एक दूसरे को पागलों की तरह चूम रहे थे.

उसने सही मौका देखकर तुरंत ज्योति की कमीज़ को उतार दिया, जिसकी वजह से वो एक पतली सी अंडरशर्ट में रह गई थी, लेकिन अवी ने ज्यादा देर ना करते हुए जल्दी से ज्योति की उस अंडरशर्ट और उसके साथ साथ उसकी सलवार को भी उतार दिया जिसकी वजह से वो अब काले रंग की ब्रा और पेंटी में रह गई थी, जिसमें वो बहुत ही सेक्सी लग रही थी और उसके गोरे गोरे बूब्स पर वो हल्के भूरे रंग के निप्पल पूरे तन गये थे, वो दूर से दिखने में बहुत आकर्षक नजर आ रहे थे.

तभी अवी ने अपने सारे कपड़े उतार दिए और वो भी अब पूरा नंगा हो गया. फिर मैंने देखा कि उसका लंड बहुत बड़ा था और वो तनकर खड़ा हुआ बहुत अच्छा लग रहा था, अवी ने ज्योति की ब्रा, पेंटी को भी उतार दिया और उसको पूरी नंगी कर दिया, जिसको देखकर ऐसा लग रहा था कि ज्योति ने अपनी चूत की साफ सफाई अवी के लिए ही की थी. अब अवी ने उसको अपनी गोद में उठा लिया और वो उसको कमरे के बीच में पड़े लकड़ी की एक टेबल पर लेटा दिया, अब मेरी सास ज्योति उससे बोली कि में कब से तड़प रही हूँ.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  रूपाली की मदमस्त जवानी

अब वो भी ज्योति को बुरी तरह से किस कर रहा था. फिर वो उसके एक बूब्स को चूसने लगा और दूसरे से खेलने लगा जिसकी वजह से वो बुरी तरह से उसके बूब्स को मसलने लगा और निप्पल को रगड़ रहा था. वो अब मेरी सास के बड़े बड़े बूब्स को चूम रहा था और बीच बीच में उसकी चूत में अपनी एक उंगली भी डाल रहा था, जिसकी वजह से ज्योति जोश में आकर सिसकियाँ भर रही थी अह्ह्ह्हह्ह ऊआहह उफ्फ्फ्फ़ ज्योति ने अब उसका लंड अपने हाथ में पकड़ लिया और वो उसको सहलाने लगी. उस समय मेरी सास पूरी तरह नंगी थी और अवी ने उसके दोनों पैर पूरी तरह फैला दिए थे.

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!