समुद्र के बीच रोशनी को चोदा

(Samudra ke bich roshni ko choda)

हैल्लो फ्रेंड्स.. मेरा नाम समीर है और मेरी उम्र 26 साल की है और दिखने में बहुत खूबसूरत हूँ. दोस्तों में यह बातें इसलिए नहीं बता रहा कि में किसी लड़की को पटाना चाहता हूँ.. लेकिन में सच में बहुत हेंडसम हूँ और में एक जहाज बनाने वाली कंपनी में काम करता हूँ.. मेरे काम की साईट जहाज पर है जहाँ पर समुद्र की ऊँची ऊँची लहरे उठती है और ठंडी हवा के साथ पूरा दिन कैसे निकल जाता है पता ही नहीं चलता. अब में अपनी स्टोरी पर आता हूँ. दोस्तों अभी कुछ दिन पहले की बात है में जिस जहाज़ पर काम करता हूँ वहाँ पर कुछ लोग जिन्होंने कभी समुद्र नहीं देखा था वो लोग देखने आए. जिसमे कुल 10 लोग थे.. उनमे 5 औरते थी. 5 आदमी थे जो कपल थे. उन सभी की उम्र 40 साल से ज्यादा थी.. लेकिन आदमी के मुकाबले सभी औरते जवान लग रही थी. फिर मैंने उन लोगो से बात करते हुए पूछा कि आप लोग कहाँ से आए हो? तो उन्होंने बताया कि वो लोग दिल्ली से आए है. उनमें से एक औरत जो बहुत सेक्सी थी और मेरा ध्यान उस पर गया और मैंने उसे देखा तो वो मेरी तरफ हंस दी.. उसकी क्या बॉडी थी एकदम सेक्सी. फिर मैंने जैसे ही देखा तो मेरा लंड एकदम से खड़ा हो गया.. लेकिन उसने मेरी तरफ ज्यादा ध्यान नहीं दिया.

फिर मैंने बातों बातों में उसका नाम पूछा तो उसने अपना नाम रोशनी शर्मा बताया. तो मैंने कहा कि मेरा नाम समीर है तो उसने कहा कि ठीक है और उसने कहा कि उन लोगो को समुद्र की सैर करनी है और कहा कि हम लोग समुद्र में घूमने आये है.. तुम हमे घुमा दो प्लीज. तो मैंने कहा कि नहीं में आप लोगो को नहीं ले जा सकता ऐसे में रोशनी ने कहा कि प्लीज़ हमे ले चलिए ना.. उसने ऐसा कहा और मेरा लंड एकदम टाईट हो गया और फिर मैंने कहा कि ठीक है में आप लोगो को एक टापू पर ले चलता हूँ.. वो बीच समुद्र में है जहाँ पर बहुत सारी सुन्दर मछलियाँ और बहुत से समुद्र के जीव देखने को मिलेंगे और हम एक छोटी बोट लेकर वहाँ पर चलेगे. फिर मैंने बीच समुद्र में चलते चलते रोशनी से दोस्ती की बात कही तो उसने स्वीकार किया. फिर बातों बातों में मैंने उससे पूछा कि तुम्हारे पति की उम्र क्या है? वो तो आप से बड़े लग रहे है. तो उसने बताया कि उसके पति की यह दूसरी शादी है. तो मैंने कहा कि यह अच्छी बात है.

फिर ऐसे ही बातें करते करते मैंने कहा कि आप जब फ्री होती हो तो घर पर क्या करती हो? तो उसने बताया कि में फ्री होती हूँ तो लॅपटॉप पर चेटिंग करती हूँ.. क्योंकि मेरे पति बाहर काम से चले जाते है और कई कई महीनों तक वापस नहीं आते. फिर मैंने कहा कि क्या में आपको मेरी अपनी मेल आईडी दूँ? तो उसने कहा कि हाँ बताइए. तो मैंने कहा कि लिखिए मेरी आईडी.. और जैसे ही मैंने अपनी आईडी दी तो वो बोली कि क्या तुम समीर हो? फिर मैंने कहा कि हाँ.. तो उसने कहा कि मैंने आपको वेबकेम पर देखा है चेहरा नहीं.. लेकिन आपका वो देखा है.

तो मैंने कहा कि वो का क्या मतलब? फिर वो शरमाकर बोली कि मैंने आपका लंड देखा है. में तो हैरान हो गया और फिर मैंने कहा कि हाँ मैंने आपको अपना लंड दिखाया था और मेरे मन में तो लड्डू फूटने लगे और में सोचने लगा कि कुछ भी हो आज तो इसको चोदना ही है. फिर एक घंटे के बाद हम लोग उस जगह पहुंचे और वहाँ पर घूमते घूमते सब लोग थक गये और वहाँ पर कुछ कमरे है जो किराए पर मिलते है. तो मैंने सब लोगो को वहाँ पर आराम करने के लिए कहा और बोला कि हम आज रात यहीं पर रुक जाते है. हम साथ में खाना भी लाए थे तो सभी ने कहा कि ठीक है. फिर मैंने रोशनी को इशारा किया तो वो मेरा इशारा समझ गई और जब रात को सब लोग सो गए.. तब हम दोनों उठकर बीच पर चले गये और हम जैसे ही बीच पर गये मैंने रोशनी को अपनी बाहों में ले लिया. उसने पहले तो विरोध किया और बाद में वो मेरा साथ देने लगी और मेरे मुहं पर किस करने लगी जैसे जन्मो की प्यासी हो. फिर में भी किस करता रहा और उसने बताया कि समीर मुझे एक साल हो गया है और मेरे पति ने अभी तक नहीं चोदा है और जब से मैंने वेबकेम पर तुम्हारा लंड देखा है तब से में चूत में ऊँगली करती रहती थी. तुम आज मुझे इतना चोदो कि मेरी चूत का भोसड़ा बन जाए. तो यह सुनकर मेरा लंड उछलने लगा और में उसके बड़े बड़े बूब्स को दबाने सहलाने लगा और फिर मैंने उसके कपड़े निकाल दिए.

वो अब मेरे सामने ब्रा और पेंटी में खड़ी थी जैसे कि कोई काम की देवी हो.. में तो हैरान ही रह गया फिर मैंने अपने कपड़े निकाल दिए और मैंने उसकी ब्रा और पेंटी को भी निकाल दिया और उसकी चूत को चूसने लगा.. तो वो अहह उफ्फ्फ माँ मरी प्लीज और जोर से करने लगी.. दोस्तों उसकी क्या चूत थी? जैसे कुंवारी दुल्हन की होती है. में चूत को बहुत देर तक चूसता ही रहा और वो आहें भर रही थी आह उफ्फ्फ और फिर उससे रहा नहीं गया तो उसने मेरा लंड मुहं में ले लिया और पागलो की तरह जोर जोर से लंड चूसने लगी.. जैसे उसने कभी देखा ही नहीं हो वैसे ही चूस रही थी और हम दोनों 69 की पोजिशन बनाकर एक दूसरे को चूस रहे थे. फिर मैंने अपना बड़ा लंड उसके मुहं से निकाला तब वो तड़प रही थी और बोल रही थी कि आह्ह समीर मुझे चोदो प्लीज़.. तुम्हारा बड़ा सा लंड मेरी प्यासी चूत में डालो मुझसे अब रहा नहीं जाता.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

तो मैंने अपना लंड उसकी चूत में डाला तो वो अंदर नहीं जा रहा था फिर मैंने अपने मुहं में से थोड़ा थूक निकाल कर अपने बड़े लंड पर लगाया और एक ज़ोर से धक्का मारा तो लंड एक बार में सीधा चूत में चल गया और मैंने चोदना शुरू किया. तो बोल रही थी कि मारो और जोर से मेरी चूत को आज फाड़ दो ना प्लीज़.. चोदो और ज़ोर से पूरे जोश से लंड डालो. तो मैंने अपनी स्पीड बड़ा दी और में बोल रहा था कि हाँ रोशनी आज चुदवा मुझसे मर्जी पड़े जितना. तो वो कहने लगी कि हाँ और जोर से चोदो मुझे और तेज़ और तेज़ चोदो मुझे कुतिया बना दो आज मुझे चोद चोदकर. फिर मैंने उसे उल्टा किया और कुतिया बनाकर पीछे से चोदना शुरू किया और चोदते चोदते मैंने अपनी एक उंगली उसकी गांड में डाल दी तो वो एकदम दर्द से चीखकर उछल पड़ी. फिर वो कहने लगी कि तुम यह क्या कर रहे हो? में फिर उंगली उसकी गांड में डालकर जोर जोर से आगे पीछे करके हिलाने लगा और साथ में चोदता भी रहा.

फिर मैंने कहा कि रोशनी में तुम्हारी गांड भी मारना चाहता हूँ.. तो उसने कहा कि नहीं मुझे बहुत दर्द होगा.. तुम पहले मेरी प्यासी चूत की प्यास बुझा दो.. तो में उसकी यह बात सुनकर पूरे जोश में आकर चोदता रहा और फिर मैंने चोदते चोदते एकदम से लंड को बाहर निकालकर लंड उसकी गांड में डाल दिया.. जिससे वो बहुत जोर से चीखी और रो पड़ी और वो बोल रही थी कि आह्ह माँ मरी प्लीज जल्दी से बाहर निकालो मेरी गांड में बहुत दर्द हो रहा है. तो मैंने कहा कि रुको में निकाल दूंगा.. लेकिन अभी नहीं अभी मुझे बहुत मज़ा आ रहा है. फिर थोड़ी देर धीरे धीरे धक्के देने के बाद उसका दर्द थोड़ा कम हुआ और वो भी कहने लगी कि मारो मेरी गांड और जोर से. तो में जोश में उसकी गांड चोदने लगा और मेरा बड़ा लंड उसकी गांड में जाने की वजह से उसकी गांड लाल होने लगी थी और फिर भी में उसे जोर जोर से धक्के देकर चोद रहा था. फिर थोड़ी देर बाद मैंने कहा कि में अब झड़ने वाला हूँ और वो कहने लगी कि और मारो मेरी गांड.. फाड़ दो प्लीज़ मेरी गांड.. चोदो मुझे और जोर से. तो मैंने कहा कि हाँ में अभी फाड़ता हूँ तुम्हारी गांड और फिर पानी का फव्वारा ऐसा छूटा कि उसकी गांड मेरे वीर्य से भर गई. दोस्तों उस रात मैंने रोशनी को तीन बार चोदा और उसकी चूत और गांड की प्यास बुझा दी और फिर सुबह वो लोग दिल्ली के लिए रवाना हो गए.