सेक्सी माँ और बहन की चुदाई की-1

(Sexy ma aur bahan ki chudai ki-1)

हैल्लो दोस्तों मेरा नाम राहुल है और में 20 साल का हूँ. आज में अब आप सभी के सामने अपनी एक सच्ची घटना पेश कर रहा हूँ और में उम्मीद करता हूँ कि यह भी आप सभी को यह बहुत पसंद आएगी.

दोस्तों मेरे घर में मम्मी, पापा में और मेरी एक छोटी बहन है. मेरे पापा एक सरकारी विभाग में नौकरी करते है और उन्हें रहने के लिए कॉलोनी में मकान मिला हुआ है. पापा अधिकतर समय बाहर टूर पर रहते है.. मेरे पापा का नाम हरीश है और उनकी उम्र 50 साल. मेरी माँ का नाम मीना और उनकी उम्र 45 साल और बहन का नाम कुसुम और उसकी उम्र 19 साल की है. में एक अच्छे कॉलेज में पड़ रहा हूँ. जिस कॉलोनी में हम लोग रहते है उसी में छज्जे पर फ्लेट बने हुए है.. हमारे छज्जे में 10 फ्लेट है. हमारा फ्लेट थोड़ा छोटा है और सारी कॉलोनी एक लाईन में बनी है. हमारी छत सड़क से लगभग दूसरी मंजिल पर है और हमारे फ्लेट के पीछे 10 फीट लम्बाई का एक खम्बा लगा है.. खम्बे और घर की पिछली दीवार के बीच 3 फीट की जगह है जिसमे एक नाली बनी है.

दोस्तों यह दिसम्बर 2013 की घटना है. वो सर्दियों का समय था और हम लोग 8 बजे खाना खाकर 9 बजे तक बिस्तर में चले जाते है. हमारे घर में 2 बेडरूम है.. माँ, पापा एक रूम में सोते है और मेरी छोटी बहन दूसरे बेडरूम में सोती है. घर में एक और बड़ा रूम है जिसे स्टोर के लिए काम लेते है और में उस रूम में सोता हूँ. मुझे सिगरेट पीने की आदत है और में घर के सभी लोगो से छुपकर सिगरेट पीता हूँ.. में ज्यादातर सोने से पहले घर की पिछली साईड की गली में जाकर सिगरेट पीता हूँ. हमारे घर के दोनों बेडरूम की खिड़की पिछली साईड गली की तरफ़ है और एक बेडरूम जिसमे मेरी बहन सोती है.. उसमे एक दरवाजा भी है.

10 दिसम्बर 2011 को शनिवार का दिन था और पापा को शनिवार और रविवार की छुट्टी थी.. तो पापा हमारे गावं वाले घर पर दो दिन के लिए चले गये थे.. क्योंकि उन्हें कुछ जरूरी काम था. तो में रात को 9 बजे के लगभग सिगरेट पीने गली में गया तो मैंने देखा कि कुसुम किसी से फोन पर बात करती हुई सुनाई दी. तो में सिगरेट जलाने के बाद कुसुम के बेडरूम की पिछली साईड के दरवाजे के साथ खड़ा हो गया था.. लेकिन कुसुम को पता था कि में सिगरेट पिता हूँ. में पापा और माँ से बहुत डरता था कि कहीं उन्हें पता ना लगे कि में सिगरेट पीता हूँ.

कुसुम फोन पर बोली कि में अभी नहीं आ सकती हूँ घर में मम्मी और भाई जाग रहे है. दूसरी तरफ से फोन पर कौन बोल रहा था.. यह मुझे कुछ नहीं पता था और में तो सिर्फ़ कुसुम की बात सुन पा रहा था. फिर कुसुम बोली कि एक तो तुम हर बार मुझे सुरेश अंकल के घर बुलाते हो और तुम्हे पता है कि सुरेश अंकल मुझे कितना तंग करते है? तो यह सुनकर मेरा माथा ठनका.. सुरेश अंकल 35-40 साल के हैं और उनकी वाईफ 3-4 साल पहले शांत हो चुकी है और उनके दोनों बच्चे उनकी मम्मी, पापा के पास रहते है. सुरेश अंकल पापा के ऑफीस में काम करते है और उनका फ्लेट बिल्कुल आख़िर में था और उसके पास एक नाला था. कुसुम की आवाज़ फिर सुनाई दी कि.. ठीक है में मम्मी और भाई के सोने के बाद आती हूँ. तो मैंने सोचा कि आज कुसुम का पीछा करता हूँ और में सिगरेट को फेंककर अपने रूम में आया और अपने रूम की लाईट बंद करके फिर बाहर निकल गया. करीब 9:30 बजे का टाईम हो चुका था और माँ के रूम की लाईट भी बंद हो चुकी थी.. शायद वो सो गई थी.

कुसुम ने उसके बाद बड़े आराम से गली वाला दरवाजा खोला और गली से होती हुए सुरेश अंकल के बेडरूम के पिछली साईड के दरवाजे से अंदर चली गई. फिर में भी कभी दरवाजे से तो कभी रूम में लगी खिड़की से अंदर देखने लगा.. लेकिन परदा लगा होने कि वजह से मुझे जगह नहीं मिली. फिर खिड़की में थोड़ी सी जगह नज़र आई जिससे सारा रूम नज़र आ रहा था.. अंदर दो लड़के राज और अमन थे. राज और अमन मेरे साथ पड़ते थे और मेरे बहुत अच्छे दोस्त थे और में तो उन्हें देखकर पागल हो गया कि राज और अमन ऐसा कैसे कर सकते है? तभी सुरेश अंकल रूम में आ गये.

कुसुम : रोते रोते बोलने लगी प्लीज़ क्यों मेरे पीछे पड़े हो? राज मैंने तुमसे सच्चा प्यार किया था और तुम मुझे बर्बाद करने पर लगे हो.

राज : देख कुसुम लाईफ बहुत छोटी है पता नहीं किस टाईम क्या हो जाए? तो हम बस ऐसे ही एंजाय करते है.

कुसुम : राज तुम और अमन तो ठीक है.. लेकिन सुरेश अंकल.. में उनका लंड नहीं ले सकती क्योंकि उनका लंड बहुत बड़ा है और में उनका आखरी टाईम भी नहीं ले पाई थी तो मुझे उनका लंड मुँह में लेना पड़ा.

राज : कुसुम तुम चिंता मत करो हम आराम आराम से करेंगे और पिछली बार भी तुमने सुरेश अंकल का लंड लेने से मना कर दिया था.. तो तुझे मैंने बोला था कि मुँह में लेकर उनका वीर्य निकाल दे.

राज : कुसुम आज हम तुझे एक नई बात बताते है.

कुसुम : वो क्या?

राज : तुम्हे पता नहीं सुरेश अंकल तुम्हारी माँ को भी चोदते है.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

कुसुम एकदम से चौंक गई और में भी यह बात सुनकर सोचने लगा कि यह तो बिल्कुल भी नहीं हो सकता है.

कुसुम : नहीं राज.. यह तो कभी हो ही नहीं सकता है.

राज : में तुझे अभी इसका का पक्का सबूत दे देता हूँ.. सुरेश अंकल अभी तेरी माँ को भी चोदेंगे और तुम्हे हम फोन पर स्पीकर चालू करके सुनाएँगे.

फिर सुरेश अंकल ने माँ के मोबाईल पर कॉल किया और स्पीकर चालू कर दिया.

माँ : हैल्लो कैसे हो सुरेश?

सुरेश : हाँ में बिल्कुल ठीक हूँ और तुम सुनाओ.

माँ : में भी ठीक हूँ.

सुरेश : तो फिर आज का क्या प्रोग्राम है.. क्या में आ जाऊँ अभी?

माँ : हाँ आ जाओ.

फिर सुरेश ने फोन बंद कर दिया और राज को बोला कि में मीना के रूम में जाकर तेरे मोबाईल पर कॉल करूँगा तुम फोन चालू कर देना और स्पीकर भी चालू कर देना. तो में खिड़की से सब कुछ देख रहा था अब मुझे पता लग चुका था कि आज मेरी माँ और बहन दोनों की चुदाई होने वाली है. फिर 5 मिनट के बाद राज के फोन की घंटी बजी और उसने स्पीकर चालू कर दिया. राज, अमन और कुसुम रूम में सुनने लगे और मुझे भी बाहर सुनाई दे रहा था. फिर उधर से माँ की आवाज़ आई कि सुरेश तुम्हे किसी ने आते हुए तो नहीं देखा? सुरेश अंकल बोले कि नहीं मेरी जान. फिर उनकी इधर उधर की बातें होने के बाद किस करने की आवाज़े आने लगी और माँ की गरम गरम सांसो की आवाज़े आने लगी और शायद दोनों के कपड़े उतर चुके थे. तो माँ बोली कि सुरेश तुम्हारा लंड बहुत बड़ा है और मुझे अंदर लेने में बहुत मुश्कील होती है तुम थोड़ा आराम आराम से देना. तो सुरेश बोला कि डार्लिंग मेरा लंड पूरा 7 इंच का है.. कुसुम, राज और अमन बिल्कुल चुप होकर बैठे थे और मोबाईल की बातें सुन रहे थे.

तभी मोबाईल पर माँ की चीख सुनाई दी.. उईईई माँ प्लीज़ बाहर निकालो फट गई मेरी चूत प्लीज बाहर निकालो. तो सुरेश बोला कि अभी तो आधा ही लंड अंदर गया है अभी से ही तुम्हारा यह हाल है तो फिर आगे क्या होगा? फिर माँ की एक और आवाज़ आई उईईई उफफ्फ्फ्फ़ माँ मेरी चूत फट गई बस करो.. अब नहीं प्लीज निकाल दो. लगता था कि सुरेश ने अब पूरा लंड अंदर डाल दिया था और फिर माँ की चीखने की आवाजें और जोर जोर से आती रही.. उईईई उई हाअह्ह्ह्ह माँ मज़ा आ रहा है और फिर थोड़ी देर बाद में माँ कहने लगी कि और ज़ोर से करो में अब झड़ने वाली हूँ.

फिर फोन बंद हो गया.. शायद उनका खेल ख़त्म हो चुका था. तो राज ने कुसुम से बोला कि अब बोल? कुसुम बोली कि अब क्या बोलू सारी चुदाई का नज़ारा सुन लिया और कुसुम बोली कि सुरेश अंकल का लंड बहुत बड़ा है.. तेरी माँ भी कितनी जोर जोर से चिल्ला रही थी. तो राज बोला कि यार तुम तो ऐसे ही सोचती हो.. उन्हें भी मज़ा दे दो वो हमारे लिए इतना कुछ करते है हमे ऐश करने के लिये अपना पूरा घर दे दिया. फिर राज ने धीरे धीरे कुसुम के बूब्स पर हाथ घुमाना शुरू कर दिया और अमन कुसुम को चूमने लगा.

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!