सर्दी में प्रिंसिपल मेम ने चुदवा लिया–6

Shardi Me Principal Madam Ne Chudwa Liya-6

मेम– आह आह आह आह आज तो कड़क सर्दी में चुदाने में बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा है।आह आह आह ओह मेरे सैंया और ज़ोर ज़ोर से चोद तेरी रण्डी को।आह आह आह आह।
मैं– हां साली कुत्तिया। ले और ले लंड।आह आह आह।

थोड़ी देर बाद मेम आनंद की चरम सीमा पर पहुंच गई और उन्होने चूत में गर्म पानी की जलधारा बहा दी। अब फाचफाच फ्फाच फ्फाचक की आवाज़ ऑफिस में गूंजने लगी।फिर मैंने मेम को बहुत देर तक सोफे पर चोदा। अब मैंने मेम की चूत में से लंड निकालकर उनके मुंह में डाल दिया और मै सोफे पर चढ़कर सोफे को पकड़कर मेम के मुंह को चोदने लगा।मेरा लन्ड फूल स्पीड में मेम के मुंह में अन्दर बाहर हो रहा था।आज तो मेम की बुरी तरह से गांड़ फट चुकी थी। अब मेरा निकलने वाला था।फिर मैंने मेम के मुंह में ही सारा लावा भर दिया।मेम मेरे पूरे लावे को पी गई। अब मै थक हारकर सोफे पर ही पड़ गया।मेम भी बुरी तरह से थक चुकी थी। हम दोनों भयंकर सर्दी में पसीने में नहा चुके थे।

कुछ देर बाद मैं उठा और मेम को बाहों में उठाकर टॉयलेट में लेे गया। अब मै टॉयलेट का गेट बंद करके मेम को चूमने चाटने लगा।फिर मैं मेम के गले पर किस करने लगा।मेम फिर से गर्म होने लगी। अब मैंने उन्हें पलट दिया और मेम की गौरी चिकनी पीठ और गांड़ को रगड़ने लगा।मुझे मेम को टॉयलेट में रगड़ने में बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा।मेम चुपचाप टॉयलेट की दीवार से चिपकी हुई थी।फिर मैं मेम की चूत में उंगली करने लगा।मेम एकदम से सिहर उठी।
मेम– आईईईई ओह मेरे सैंया अब इसमें मत डाल ना।मेरी चूत सूज गई है।
मैं– डालने दे मेरी रण्डी।
फिर मैंने मेम की चूत को अच्छी तरह से सहला दिया। अब मेरा लन्ड फिर से मेम की चूत मारने के लिए तैयार हो चुका था। अब मैने मेम को वापस पलट दिया और उनकी चूत में लंड घुसा दिया। अब मै खड़े खड़े ही मेम को चोदने का मज़ा लेने लगा। मैं ज़ोर ज़ोर से मेम की चूत में धक्के लगाने लगा।
मेम– ओह आह आह आह आह आह ओह आह।मत चोद अब मेरे सैंया।तेरे लंड ने मेरे जिस्म के कतरे कतरे को हिला दिया है। अब मेरे बस की बात नहीं है।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  होम ट्युसन सेक्स : मेरे चारो स्टूडेंट मुझे रोज चोदता है

लेकिन मैं कहां मानने वाला था मैंने मेम को टॉयलेट में बहुत देर तक बजाया। अब मै मेम को उठाकर सीढ़ियों पर ले आया।सीढ़ियां बहुत ज्यादा ठंडी हो रही थी। अब मेम को सीढ़ियों पर लेटाया और उनकी चूत में लंड फांदकर अच्छी तरह से बजाने लगा।इतनी देर तक चुदाई होने की वजह से मेम बुरी तरह से बेहाल हो चुकी थी। मैं उन्हें सीढ़ियों पर जमकर चोद रहा था। थोड़ी देर बाद मेरा लन्ड अंतिम पड़ाव पर पहुंच गया था। अब मै मेम की चूत में सारा लावा भरकर वहीं पर ढेर हो गया।मेम ने मुझे बाहों में समेट लिया।
मेम– चल अब उठ जा।बहुत देर हो गई है।मुझे भी घर वापस जाना है।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

अब मेम ने मुझे उठा दिया। अब हम दोनो क्लासरूम में आ गए। यहां पूरी क्लास में हमारे कपड़े इधर उधर पड़े हुए थे। अब हमने सारे कपड़े इकठ्ठे किए। अब मेम पैंटी पहनने लगी तो मैंने मेम की पैंटी को पकड़ लिया और उन्हें मेरी अंडरवियर पहना दी।मेम ने ना नू करते हुए मेरी अंडरवियर पहन ली। अब मेम ने पेटीकोट ,ब्लाउज , साड़ी पहनकर जैकेट पहन लिया। अब मैंने मेम की पैंटी पहनकर सारे कपड़े पहन लिए और जैकेट पहन लिया। अब मेम ने बालो और होंठो पर फैली हुई लिपस्टिक को सही किया। अब हम दोनों तैयार होकर ऑफिस में आने लगे।मेम से बड़ी मुश्किल से चला जा रहा था।आज उनकी जबरदस्त ठुकाई हुई है थी। अब मेम चेयर पर बैठकर थोड़ा सा वर्क करने लगी। मैं मेम के सामने ही सोफे पर बैठा हुआ था।
मेम– इतनी खतरनाक चुदाई का तरीका तीन कहां से सीखा।
मैं– कल्पना मैडम को चोदते चोदते सब सीख गया।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  कोचिंग टीचर को ग्राउंड में चोदा-1

मेम–अच्छा। आज तो मज़ा आ गया रोहित।तेरा लंड वाकई में घोड़े का लंड है।
तभी मैंने मेम पर पंच मारते हुए कहा– तो फिर एकबार और ठुकवा लो।
मेम–नहीं,अब नहीं। तूने तो पहले ही मेरी हालत खराब कर दी है।
मैं– कोई बात नहीं थोड़ी सी और सही। और मज़ा लेे लेते हैं।
मेम– नहीं। वैसे भी आज तो बहुत ज्यादा मज़ा ले लिया।
मैं– ओके जैसी आपकी इच्छा।
अब मेम ने ऑफिस बंद किया और हम मेन गेट की तरफ चलने लगे।तभी मेम ने कहा– तेरी इच्छा है क्या?
मैं मेम की बात सुनकर समझ गया कि मेम फिर से मेरा लन्ड चूत में ठुकवाने के लिए तैयार है।तभी मैंने मेम को वहीं मेन गेट के पास नीचे पटक दिया और फटाफट लंड निकालकर उनकी टांगो को हवा में लहरा दिया।

अब मैंने मेम की अंडरवियर को ऊपर सरकाया और उनकी गुलाबी चूत में लंड डालकर जल्दी जल्दी मेम को चोदने लगा।
मेम– आह आह आह आह ओह आह आह ओह आह ओह आह ओह।
मैं– दिल को कर रहा है आज आपको पूरी दिन भर चोदु।आह आह आह ओह मेम।
मेम– आह आह आह ओह आह मन तो मेरा भी कर रहा है लेकिन……आह आह आह ओह।
फिर मैंने मेम को अच्छी तरह से चोदा और दोनों ही झड़कर शांत हो गए। अब हम दोनों उठे और खुद को ठीक करके स्कूल से निकल आए। अब मेम उन्हें घर और मै अपने घर चल पड़ा।
आज मै मेम की भयंकर चुदाई करके बहुत ज्यादा खुश था।
आपको मेरी ये कहानी कैसी लगी मुझे मेल करके जरूर बताएं– [email protected]

आपने HotSexStory.xyz में अभी-अभी हॉट कहानी आनंद लिया लिया आनंद जारी रखने के लिए अगली कहानी पढ़े..
HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!