सुहागन की सील तोड़ी-1

Suhagan ki seal todi-1

हैल्लो दोस्तों, जैसा कि आप सभी लोग जानते है कि मेरा नाम राहुल है और में दिल्ली का रहने वाला हूँ, में एक जवान और सुंदर लड़का हूँ और मेरी उम्र 24 साल और में अपनी बी.ए. की पढ़ाई एक अच्छे कॉलेज से कर रहा हूँ, मेरे लंड की लम्बाई 6 इंच लंबा और 4 इंच मोटा है. दोस्तों अब आप सभी को ज़्यादा बोर ना करते हुए में सीधा अपनी कहानी पर आता हूँ. दोस्तों आप लोगों की तरह मुझे भी सेक्सी कहानियों को पढ़ने का बहुत मस्त शौक लगा और में पढ़ने लगा.

उसके बाद मैंने अपनी कहानियाँ भी लिखकर आप तक पहुंचाई, जिसके लिए मुझे आप लोगों के बहुत सारे मैल मिले और में उम्मीद करता हूँ कि इस कहानी के लिए भी आप मुझे मैल जरुर करेंगे, क्योंकि आपके साथ की वजह से ही हमें आगे बढ़ने की हिम्मत मिलती है. दोस्तों यह कहानी करीब पांच महीने पहले की है, जिसमें मैंने अपने पड़ोस में रहने वाली एक सेक्सी टीचर की चुदाई के बहुत जमकर मज़े लिए.

मैंने उसको अपनी चुदाई से पूरी तरह से खुश कर दिया और मुझे उसकी चुदाई करने के बाद पता चला कि वो पूरी चुदाई उसके सोचे समझे एक विचार का नतीजा थी, जिसको मैंने अपना मन लगाकर पूरा किया. दोस्तों में वैसे हर रोज़ सुबह आठ बजे अपने घर से अपने कॉलेज के लिए निकल जाता था और फिर दोपहर तक में वापस भी आ जाता था. उसके बाद में कुछ देर आराम करता और उसके बाद अपने दूसरे काम किया करता था. दोस्तों मेरे एक पड़ोसी है मिस्टर शर्मा वो एक बहुत बड़े कारोबारी है और उनकी एक मस्त, सुंदर सी पत्नी है, जिसका नाम अंकिता है, जो अपना समय बिताने के लिए पास ही के एक स्कूल में टीचर का काम करती है, वो भी हर सुबह आठ बजे अपने स्कूल जाती है और वो करीब एक बजे वापस अपने घर आ जाती है और उसके बाद वो पूरे दिनभर घर में अकेली ही रहती, क्योंकि उसके घर में अब तक कोई छोटा बड़ा बच्चा नहीं था.

एक दिन मेरे कॉलेज की छुट्टी का दिन था, तो में अपने घर में आराम से सो रहा था और तभी मुझे मेरी मम्मी ने उठाया और वो मुझसे बोली कि तुम उठकर दरवाजा बंद कर लो में ऑफिस जा रही हूँ. फिर मैंने उनके कहने पर उठकर दरवाजा बंद कर दिया और में दोबारा से सो गया. मेरे सोने के करीब तीस मिनट के बाद एक बार फिर से घंटी बजी, तो मैंने दरवाजा खोला और देखा तो अंकिता सामने खड़ी थी.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Maine girlfriend ki gaand maari-1

फिर में उसको अपने सामने देखकर थोड़ा सा हैरान हो गया और में मन ही मन में सोच रहा था कि यह हॉट सेक्सी औरत आज मेरे घर पर कैसे किस काम से आ गई? उस समय में भी बहुत गहरी नींद से उठकर आया था, इसलिए में यह बात भूल गया कि में सिर्फ़ अंडरवियर में हूँ, वो मुझे बहुत घूर घूरकर देख रही थी कि तभी वो अचानक से हंसने लगी और मुझसे पूछने लगी क्या घर में कपड़े भी नहीं है क्या? तभी मैंने अपने नीचे की तरफ देखा और में तुरंत भागकर अपने रूम में चला गया और शर्ट और बरमूडा पहनकर आ गया, तब तक वो हॉल में बैठ गयी थी. फिर मैंने उनसे पूछा कि हाँ कहिए आपका कैसे आना हुआ?

तब वो बोली कि कल हमारे स्कूल में फ़न पार्टी है और में उसकी टिकट बेच रही हूँ, मेरे पास अब दो टिकट बची थी और इसलिए मैंने सोचा कि में यह आपको दे दूँ. फिर मैंने कहा कि आपने बिल्कुल ठीक सोचा और मैंने उनसे टिकट ले ली और थोड़ी देर हमारे बीच इधर उधर की बातें हुई और हमारे बीच हंसी मजाक चलने लगा, जिसकी वजह से उससे मेरी अच्छी दोस्ती हो गयी थी और हमारी उस दिन की मुलाकात के करीब 15 दिन बाद वो एक दिन मेरे कमरे में बैठी हुई थी और में उसके साथ मस्ती कर रहा था. मस्ती मस्ती में मैंने उसके बूब्स को छू लिया और फिर वो उठकर चली गयी. फिर दूसरे दिन वो मेरे कमरे में फिर से आई, लेकिन जब वो आने वाली थी, उससे पहले मैंने अपने कंप्यूटर पर एक सेक्सी फिल्म लगाकर में देख रहा था और जब वो कमरे में आई तो उसने देखा कि सेक्सी फिल्म चल रही है.

तभी मैंने उस फिल्म को तुरंत बंद कर दिया और मुझे बहुत अच्छी तरह से पता था कि वो मुझसे जरुर पूछेगी कि तुम क्या देख रहे थे? और अब उसने मुझसे वही बात पूछी, तो मैंने उससे कहा कि कुछ नहीं वो तुम्हारे काम की चीज़ नहीं है, तो वो अब मुझसे ज्यादा ज़िद करने लगी और तब मैंने उससे कहा कि में सेक्सी फिल्म देख रहा था. तब वो मुझसे बोली कि वो मुझे भी देखनी है. फिर मैंने उस फिल्म को दोबारा से शुरू कर दिया और थोड़ी देर के बाद में उसके करीब जाकर बैठा तो उसने मुझसे पूछा क्या तुमने कभी ऐसा किया है? तो मैंने कहा कि हाँ किया है और अब में तुरंत समझ गया कि वो मुझसे अपनी चुदाई करवाना चाहती है और में यह बात सोचकर उसको झट से पकड़कर किस करने लगा और शुरू में वो ना नहीं करने लगी, लेकिन में नहीं माना तो वो थोड़ी ही देर बाद शांत हो गयी और में धीरे धीरे उसको चूमता रहा, जब मुझे एहसास हुआ कि वो अब पूरी तरह से गरम हो चुकी थी. तब मैंने उसके कपड़े उतारना शुरू किया और उसने उस समय बहुत टाईट साड़ी बाँध रखी थी, जिसमें वो बहुत सेक्सी लग रही थी.

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  नौकरानी ने कहा- मार डाला रे!

दोस्तों उसके थोड़ा सा विरोध करने के बाद भी उसके कपड़े उतारने के बाद में पहली बार अपनी चकित आखों से उसकी कोमल, नाज़ुक जवानी को देखकर थोड़ी देर तक बिल्कुल दंग सा रह गया. दोस्तों उसका फिगर बिल्कुल मस्त आकार का था और उसका फिगर यही कोई 36-28-34 था और उसके वो दोनों बूब्स तो बड़े बड़े आकार के और गोरे भी थे. तब मैंने देखा कि उसकी चूत पर एक भी बाल नहीं था और उसकी बड़ी मस्त गुलाबी रंग वाली एकदम रसीली चूत थी, जिसको देखकर में अपने पूरे होश खो बैठा था. फिर मैंने सही मौका देखकर अपने कपड़े भी उतार दिए और फिर जैसे ही मैंने अपनी अंडरवियर को उतारा, तो वो मेरा 6 इंच लंबा और 4 इंच मोटा लंड देखकर एकदम दंग रह गई और उसके मुहं से एक ही शब्द हाए राम इतना लंबा मोटा निकला और वो मुझसे पूछने लगी क्या में इसको झेल सकती हूँ.

मैंने इससे पहले कभी भी ऐसा कुछ काम इतने मोटे, लंबे से नहीं किया है, में यह सब कैसे कर सकती हूँ? नहीं तुम रहने दो वरना मुझे बहुत दर्द होगा. फिर में उससे बोला कि मेरी जान अगर आज में तुम्हें इतना मस्त मज़ा देकर खुश कर दूंगा, जिसकी वजह से तुम खुद अपने कूल्हों को उठा उठाकर मेरा पूरा लंड अपनी चूत में ना ले लो, तो मेरा नाम बदल देना. फिर मैंने उससे अपना लंड उसके मुहं में लेने के लिए कहा, तब वो कहने लगी कि नहीं मैंने ऐसा पहले कभी भी नहीं किया है और वैसे भी में इतना बड़ा, मोटा कैसे ले सकती हूँ? नहीं में तुम्हारा लंड नहीं ले सकती, मेरा दम घुट जाएगा, में तो मर ही जाउंगी.

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Ek Dost Ki Biwi Ko Dusre Dost Ke Saath Choda

फिर मैंने उससे कहा कि तुम इस बात की बिल्कुल भी चिंता मत करो मेरी जान, में बड़ी धीरे धीरे करूँगा, जिसकी वजह से तुम्हें दर्द नहीं मज़ा ज्यादा आएगा और फिर वो मेरे बहुत बार कहने समझाने के बाद मेरी बात को सुनकर मेरा लंड अपने मुहं में लेकर करीब बीस मिनट तक चूसती रही, क्योंकि उसको ऐसा करने में बड़ा मज़ा आने लगा था.

दोस्तों वो आज पहली बार यह सब कर रही थी, लेकिन किसी वो अनुभवी लड़की की तरह यह सब कर रही थी. फिर थोड़ी देर बाद हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गए और उस समय वो मेरे ऊपर थी और मेरा लंड बहुत ज़ोर ज़ोर से जितना हो सकता था उतना अपने मुहं में लेकर चूस रही थी, उसको ऐसा करने में बड़ा मज़ा आ रहा था और में भी उसकी चूत को चाटने, चूसने लगा.

फिर वो कुछ देर बाद छटपटाने लगी और में अपनी जीभ को उसकी चूत में डालकर उसको अपनी जीभ से चोदने लगा और वो अपने मुहं से आह्ह्ह्हह् उह्ह्हह्ह कर रही थी, उसको आज पहली बार एक साथ दो मज़े मिल रहे थे, एक तो अपनी चूत को मुझसे चटाने का और दूसरा मेरा लंड चूसने का, जिसकी वजह से मेरा लंड लोहे की तरह सख़्त हो गया था.

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!