ट्रेन का सफर -1

(Train Ka Safar-1)

नमस्कार दोस्तों में अभिषेक औरंगाबाद, महाराष्ट्रसे हु में फिर आपके लिए मेरी एक सच्ची कहानी लेकर आया हु जो मेरे बारे में नही जानते उन्हें बात दु में 21 वर्ष का युवक हु कसरती बदन का मालिक हु मेरा लिंग 7″ का है और 2.5″ जाड़ा है, में पेशे से एक कॉल बॉय हु और मेरी पाठकों से विनंती है कृपया करके मुझे कोई लड़की या आंटी का नंबर ना मांगे हर किसी की अपनी जिंदगी और प्राइवेसी रहती है आप मुझे नंबर मांग कर आपको शर्मिंदगी हो ऐसे बात करने पर मजबूर ना करे मेरी इस बात का आपको बुरा लगा होंगे तो माफी चाहता हु, सबकी अपनी अपनी निजी जिंदगी होती है।
तो चलिए कहानी पर आते है यह बात अभी कुछ दिन पहले 13 मार्च 2020 की है, में किसी काम से हैदराबाद गया हुआ था लौटते समय मेरी गाड़ी नारसापुर-नागरसोल थी, जो कि अपने निर्धारित समय पर चल रही थी, में कुछ जल्दी ही चला गया जल्दी जा कर मैने रात के लिए कुछ सेक्सी वीडियो डाऊनलोड कर लिए थे, में ट्रेन चढ़ गया और अपने सीट पर जा कर बैठ गया, ट्रेन चल पड़ी मैने खाना खाया, कुछ देर व्हाट्सएप्प चलाने के बाद मैने बाथरूम में जाकर अपना नाईट ड्रेस पहन लिया जो कि बॉक्सर और टी-शर्ट था।

फिर में आ कर अपनी सीट पर लेट गया और हैडफोन लगा कर डाऊनलोड किये हुए सेक्सी वीडियो देखने लगा, मेरी मुठ मारने की इच्छा होने लगी, और में मुठ मारने के लिए बाथरूम में गया।
मैने साथ मे मोबाइल और हैडफोन ले गया, कुछ देर मुठ मारने के बाद मुझे सेक्स करने का सुरूर चढ़ा मैंने एक प्लान बनाया क्यों ना किसी औरत या लड़की को अपना लंड दिखा कर उकसाया जाए, आप सभी को पता है ट्रैन के बाथरूम में दो कुंडी होती है, एक दोनो तरफ से खुलती है और दूसरी सिर्फ अंदर से, और दरवाजे पर एक खिड़की होती है जो कि बाहर से नीचे की तरफ झुकी होती है, जिनकी हाईट अछि होती है उन्हें पता है दरवाज़े के उस खिड़की से बाहर का देख सकते है।

तो हुआ यह कि मैंने अपने सारे कपड़े उतार कर बाथरूम के कहती को लगा दिए और में पूरा नंगा हो गया और मैंने दोनों कान में हैडफ़ोन लगा दिए और सेक्सी विडियो बीच मे लाकर पॉज कर दिया, और मैने जो अंदर से खुलने वाली कुंडी को खोल दिया और अपना पैर दरवाज़े से सटा दिया जिसे क्योकि कोई पुरुष आ गए तो परेशानी ना हो में खिडकी से कुल 15 मिनट तक बाहर देखता रहा 15 मिनट बाद एक लड़की फ़ोन पे बात करते हुए आयी और बोगी के दरवाजे के पास जा कर फ़ोन पे बात करने लगी कुछ देर बाद वो फ़ोन कट करके बाथरूम के लिए आने लगी और उसने मेरे ही बाथरूम के तरफ कदम बढ़ाए में पिछे हैट गया और वीडियो प्ले कर के मुठ मारने लगा जैसे ही दरवाजा खुला मैंने उसकी झलक देख कर सिर नीचे कर के वीडियो देखते हुए मुठ मारने लगा मैने ऐसे जताया कि मुझे कुछ पता ही नही चला दरवाजा खुलने का अभ्यास ही नही हुआ और जब तक वो आदे से ज्यादा दरवाजा खोल चुकी थी उसने एक पैर अंदर डाला उसकी नजर मुझ पर पड़ी तभी मैने अपना सिर ऊपर उठा कर घबराते हुए दरवाजा बंद करने का नाटक किया वो वहा से चली गयी उसने मेरे खड़े लंड को देख लिया था।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।

में हाथ धोकर बाहर आया और अपने सीट पर पर बैठ गया मैने देखा की मेरे बाजू वाले सीट पर वही लड़की थी मुझे देख रही थी मेरा पहला प्लान तो ठीक से चल गया।
आगे क्या हुआ जान ने के लिए अगले भाग में देखिए
कृपया कर के मुझे मेल कजिए
[email protected]