ट्रेन के ठंडी हवा में पूजा की चूत फाड़ी

Train ki thandi hawa me pooja ki chut fadi

हाय दोस्तों, में अभि, में फिर हाजिर हु अपनी कहानी लेकर, मेरी उमर 24 वर्ष है, मैं औरंगाबाद, महाराष्ट्र का रहने वाला हूँ और पिछले बचपन से यही रह रहा हूँ, मेरी हाइट 6 फुट है रोजाना जिम जाता हूं सेहत भी अच्छी है।

में पिछले 3 सालों से जीगोलो का काम कर रहा हु कई कस्टमर को सर्वीस दी है, वो सभी मेरे सर्विस से खुश है, मेरा लंड 8 इंच लंबा और 2.5 इंच मोटा है, एक बार कोई मुझसे चुदा ले वो खुद मुझे दुबारा बुला लेती है, हुआ यह कि मे हमारी गली में सबके छोटे मोटे ऑनलाइन काम करता हु ट्रेन टिकेट काढ़ना, बस टिकेट काढ़ना, लाइट बिल भरना वैगेरे,
तो बात पिछले महीने की है मेरे नानीजी का देहांत हुआ था उस कारणसे मुझे हैदराबाद जाना था में अपने ऑनलाइन टिकेट काढ़ने ही वाला था कि उसी के आधा घंटा पहले पूजा की माँ मेरे पास आई और मुझे बोली कि पूजा और मुझे कल मेरी बड़ी बेटी के घर हैदराबाद जाना था और तुरंत दूसरे दिन मुझ अकेली को वापस आना है क्या तुम हमारे टिकेट काढ़ सकते हो। में बोला ठीक है में आज रात के अजंता एक्सप्रेस से हैदराबाद ही जा रहा हु तो उन्होंने मुझसे पूछा कि तुम किसके साथ जा रहे हो। मैने उन्हें बताया कि में अकेला ही जा रहा हु। तो वो बोले यह तो बहुत अच्छा हुआ मेरा जाना बच जाएगा क्या तूम अपने साथ पूजा को ले जाओंगो कल स्टेशन पर उसे लेने दामादजी आ जाएंगे।  मैं बोला मुझे कोई प्रोब्लेम नही है वैसे भी मुझे अकेले जाने से बोर हो जाऊंगा पूजा का साथ होंगी तो बात हो जाएंगी। वो बोली कि ठीक है तुम टिकेट निकल लेना पैसे कितने होंगे । मैंने उन्हें बताया कि आप पैसे रहने दो वैसे भी मै मेरे लिए AC 2 क्लास का टिकेट काढ़ रहा हु आपसे जितना होंगा आप पूजा के हाथों कल भिजवा देना।

अरे में पूजा के बारे में बताना ही भूल गया उसकी उम्र 25-26 के करीब होंगी फिगर 32-30-32 है हाइट 5.6 उसका रंग गोरा है वह अपने मम्मी के साथ कपड़े के दुकान पर काम करती है।
अब आगे में रात को जाने वाला था। पूजा के मम्मी को बता रखा था कि आप उसे सतीश (पूजा का छोटा भाई) के हाथों रेलवेस्टेशन भेज देना 10 बजे मुझे अपने दोस्त ने छोड़ दिया वो कुछ देर रुखा और फिर पूजा भी आ गयी फिर मेरा दोस्त और सतीश साथ मे चले गए में पूजा से बात कर रहा था। 10.40 को ट्रेन आ गयी हम ट्रेन में चढ़ गए अपनी केबिन में घुस गए हमारी केबिन 4 लोगो की थी मगर आप सभी को पता है अभी ट्रैन कितने खाली चल रहे है। हमने अपना लगेज रखा और बातें करने लगे मैने रास्ते से आते हुए बिरयानी लाई थी वो खोली हम दोनों ने खाई फिर बातें करने लगे। उसने अपने बूब्स के अंदर हाथ डालकर पैसे निकले और मुझसे पूछने लगी टिकेट के पैसे कितने देने है। में बोला रहने दो में बाद में ले लूंगा।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  ट्रैन में चोदा बहन की बुर उसकी मर्ज़ी से-1

हम सोने की तैयारी कर रहे थे बारिश का मौसम था तो बाहर ठंड थी मैने अपनी शाल निकली और सोने की तैयारी करने लगा। वो उसके बैग में कुछ ढूंढ रही थी। मैने उसे पूछा तुझे कुछ चाहिए क्या तो वो बोली शायद में अपनी शाल भूल गयी में बोला एक काम करो तुम मेरी शाल ओढ़ लो तो वो बोली फिर तुम में बोला मेरा जैकेट है गरम है। हम सोने लगे मगर थोड़ी देर बाद मेरे पैर खुले होने की वजह से मुझे भी ठंड लगने लगी इस बात को पूजा ने भी गौर कर लिया वो बोली एक काम करो शाल बड़ी है ना इसे आड़ी कर के आप आपके पैरों पर डाल लो में भी अपने पैरों पर डाल लेती हूं। हमने डाल ली मगर फिर उसे ठंड लगने लगी में बोला ऐसे से तुम्हे भी ठंड लगेगी और मुझे भी हम एक काम करते है दोनों भी एक ही बर्थ पर सोते है और दोनो भी शाल ओढ़ लेते है फिर हम करीब सो गए और आपको पता है ट्रेन की बर्थ कितनी होती है । कुछ देर बाद पूजा सो गई मेरे आंखोसे नींद गायब थी जब इतनी सेक्सी लड़की पास सोई हो वो भी एक ही शाल में तो किसे नींद आएगी। वो मेरे तरफ पीठ कर के सोई थी। मेंने उसकी तरफ करवट ली मेरा लंड खड़ा होना सुरु हुआ मैंने ठंड का नाटक करते हुए उसे चिपक कर सो गया। मगर वो सो चुकी थी।

मैने धीरे से उस पर एक हाथ डाला जैसे कोई नींद में डालता हो और उसे थोड़ा चिपक कर सोने लगा जिसे मेरा खड़ा लंड उसके गांड में लगें कुछ देर पड़े रहने के बाद मैंने होले से उसका एक बूब्स दबाया जब कोई हरकत नही की उसने तो धीरे धीरे दबाने लगा। कुछ देर बाद मुझसे रहा नही गया मैंने अपने शॉर्ट नीचे कर के लंड को बाहर निकल लिया और उसकी गांड पर अपना लंड दबाने लगा । इतना कर के भी मेरा मन नही भरा मैने हाथ उसके सामने ले जाकर चूत पर रखा हल्के से दबाया फिर भी पूजा ने कोई हलचल नही की मैने उसके पाजामे का नाड़ा ढीला किया उतने में उसने पेरी तरफ करवट ली उसने मेरा हाथ हटाया और नीचे पाजामे कुछ किया में बुरी तरह डर गया मेरा लंड वैसे ही नंगा छोड़ कर सोने की एक्टिंग करने लगा फिर उसने मेरे गले मे हाथ डाला और सो गई कुछ देर रुकने के बाद मैंने शॉर्ट ऊपर लेने के लिए नीचे हाथ डाला तो दंग रह गया। उसका पजामा गुटनो तक नीचे किया हुआ था मेरा हाथ उसकी चूत पर जाकर लगा जो गीली थी में समाज गया ये सोने का नाटक कर रही है और मजे ले रही है।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  Karina Kapoor (Film actress) Ke Pyar Sex ke 24 ghante

मैंने भी अपना लंड उसकी चूत पर लगा कर घिसने लगा। और ऊपर उसके ओंठों पर किस करना सुरु किया और एक हाथ से बूब्स दबाने लगा। उसकी सासें बढ़ने लगी मैने किस तोड़ी और उसके कान में कहा मजे लेने हो तो खुल के लो । उसने आंखे खोली मेरी तरफ देखा और जोर से हग किया मैंने मेरे सारे कपड़े उतार दिए और उसके भी सारे कपड़े उतार दिए में उसके बूब्स चूसने लगा उसे भी मजा आने लगा मैंने धीरे धीरे नीचे जाकर उसकी चूत चाटने लगा उसे मजा आने लगा मेरा सर वो उसके चूत पर दबाने लगी मैने देख लिया लोहा गरम है हतोड़ा मार देना चाहिए में उसे किस करने ऊपर आया और उसे किस करने लागा और उसके चूत पर अपना लंड सेट करके डालने लगा मैंने जैसे ही धक्का लगाया उसने आंखे बड़ी कर दी और मुझे धक्का देने लगी में किस कर रहा था तो चीख नही पा रही थी।

वो मैने और एक धक्का लगाया पूरा लंड अंदर चले गया वो सिसकारियां लेने लगी में किस कर रहा था उसे कुछ देर आराम मिलने के बाद उसे धीरे धीरे धक्के लगाने लगा था उसे भी मजा आने लगा था वो भी साथ दे रही थी मैंने उसे उस रात चलती ट्रेन में 4 बार चोदा उसकी चूत फूल के डबल रोटी हो चुकी थी, सुबह उसे चलने भी नही आ रहा था उसके जीजाजी आये उसकी ऐसी हालत देख कर बोले क्या हुआ उसने बताया रात में बाथरूम में गिर गयी जाते वक्त मुझे आंख मारी और किस दी 19 तारिक उसकी मम्मी मेरे पास फिर आयी थी पूजा की आने की टिकट काढनी है में बोला 22 तारिख को में फिर जा रहा हु आते वक्त ले आऊंगा पूजा को वो बोले ठीक है में आज जा रहा हु अजंता एक्सप्रेससे हैदराबाद आते वक्त साथ मे क्या होंगे सब कुछ बताऊंगा टब तक के लिए धन्यवाद।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  Train mein Nayi Dulhan ki Chudai-2

दोस्तो, आप सभी को यह चोदन स्टोरी कैसी लगी? अपनी प्रतिक्रिया मेरे ईमेल आईडी पर अवश्य दें। [email protected]

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!