ट्स ऐप पर भाभी पटा कर मस्ती की सेक्सी कहानी

(Whatsapp Par Bhabhi Pat Kar Masti Ki Kahani)

पड़ोसन सेक्सी भाभी को व्ट्स ऐप से पटा कर मौज मस्ती की सेक्सी कहानी आपके सामने पेश कर रहा हूँ…

हेलो दोस्तो, बूब्स वाली गर्ल, भाभी और लेडीज, मेरा नाम समर है, मैं देवास का रहने वाला हूँ. यह बात उस समय की है जब मैं 21 साल का था. मैं दिखने में स्मार्ट हूँ, हाइट 5’8″ और साइज़ 6 इंच.
मैं 5 साल बाद अपनी पढ़ाई खत्म कर के घर वापस आया था. घर में और मेरी सोसाइटी में सब लोग खुश थे क्योंकि मैं सब से मिलजुल कर और हंसी मज़ाक के साथ रहता था. लोगों को मेरे साथ रहना पसंद था.

तभी मैंने देखा कि मेरे ऊपर वाले फ्लॅट में एक मस्त भाभी शादी करके आई हुई थी. मैं तो उसे देख के दंग ही रह गया क्योंकि जिससे उसने शादी की थी वो एकदम मोटा और ज़रा भी अच्छा नहीं दिखता था. मैं तो उसके नसीब की दाद देने लगा कि क्या हूर की परी लेकर आया है वो!

भाभी का नाम मिताली था, 26 साल, 5’5″ कद और मस्त 32-28-32 का फिगर. एकदम गोरी चिट्टी… और कोई भी देखे तो उसका दीवाना हो जाए!
जब भी वो जीन्स और टीशर्ट पहन कर बाहर निकलती तो सबके अरमान हिल जाते!

धीरे धीरे मैंने भाभी से जान पहचान बढ़ाई और बातें शुरू की. वो भी मुझसे मस्त बातें करती थी, और मुझसे मिलने का मौका ढूँढती रहती थी.

फिर एक दिन वो व्ट्सऐप वाला मोबाइल लाई और मुझे बोली- समर, प्लीज तुम मुझे सिखाओ कि व्ट्सऐप कैसे यूज करते हैं.. तो मैंने उसे सिखाया और उस दिन से हम व्ट्सऐप पर चैट करने लगे.

एक दिन उसका रात को 1-30 बजे मैसेज आया, मैं अपनी गर्लफ्रेंड से चैट कर रहा था.
मैंने उनको रिप्लाई दिया और पूछा- इतनी लेट तक क्यों जाग रही हो?
तो उन्होने बताया- नींद नहीं आ रही!
फिर मैंने उसको उसके पति के बारे में पूछा तो उसने बताया- वो तो रोज 11-11-30 बजे सो जाते हैं.

मैंने कहा- अगर इतनी मस्त पत्नी हो तो नींद किसको आएगी.
तो उसने पूछा कि सपोज़ उसके पति की जगह मैं होता तो क्या करता?
मैं तो हैरान रह गया, फिर सोचा ट्रेन पटरी पे आ रही है और ग्रीन सिग्नल भी मिल रहा है. तो मैंने उसे रिप्लाई दिया- मैं तुमसे बहुत प्यार करता, पूरी रात प्यार करता!
उसने मुझे एक किस्सिंग वाली स्माइली भेजी.

फिर अगले दिन उसका काल आया और पूछा- कब आ रहे हो मुझसे प्यार करने?
मैंने कहा- जब भी आप इज़ाज़त दो, तब मैं हाज़िर हो जाऊँगा.
फिर हम दोनों रोज रात को फोन सेक्स चैट करते थे, एक दूसरे की सेक्सी पिक्स एक्सचेंज करते थे और दोनों मौका ढूंढने लगे. हम लोग रोज़ रात को बात करते थे और यह हमारी ज़रूरत और आदत बन गई थी.

हमारी बातचीत कुछ ऐसे होती थी-
मिताली- हाइ जान..
समर- बोलो मेरी जानेमन!
मिताली भाभी- आओ ना घर पे… मैं बहुत बोर हो रही हूँ!
मैं- जान समझो कि मैं आपके बाजू में ही हूँ.
भाभी- ओ जान… मुझे किस करो ना!
मैं- मैं आपको किस कर रहा हूँ, मेरे होंठ अपने होंठों पे महसूस करो.
भाभी- आआहह मुझे बहुत अच्छा लग रहा है.

मैं- आपने अभी क्या पहना है?
भाभी- में नाइटी में हूँ!
मैं- सिर्फ़ नाइटी?
भाभी- हट शैतान!
मैं- अरे बोलो ना भाभी?
मिताली भाभी- मुझे शर्म आ रही है.
मैं- अब हमसे कैसे शरमाना?
भाभी- ब्रा और पेंटी भी पहनी है.

मैं- कौन से रंग की?
भाभी- ब्लैक
मैं- ऊओ मेरा फेव कलर!
भाभी- तुम्हारे लिए तो पहनी है!

मैं- तो फिर उतार दो ना!
मिताली भाभी- तुम आकर उतारो!
मैं- समझो, मैं ही उतार रहा हूँ, अपनी ब्रा खोलो और बूब्स से खेलो!
भाभी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… बहुत मजा आ रहा है…
मैं- मेरा लंड भी आपका वेट कर रहा है!

भाभी- ऊओ मेरा बेबी, मैं कब से उसे मिलने के लिए बेकरार हूँ!
मैं- तो फिर आओ ना, इसको आपके साथ खेलना है!
भाभी- तुम मुझे अभी उसकी फोटो भेजो, मैं भी तुम्हें अपनी फोटो भेजती हूँ!

फिर हम दोनों मुठ मार कर सो जाते थे, यही हमारा डेली रुटीन था. हम लोग रोल प्ले भी करते थे.

हम दोनों मौके की तलाश में थे. हम एक ही सोसाइटी में रहते थे और हमारे परिवार भी बड़े थे इसलिए हम लोग कोई जल्दबाज़ी नहीं कर सकते थे. और तब तक हम लोग फोन सेक्स चैट से ही खुश थे.

आख़िर एक दिन वो मौका हमें मिल ही गया. हमारी सोसाइटी का फन्क्शन था, सब लोग नीचे जमा हो गये थे. मैं सबको गेम खिला रहा था तब मिताली बोली- ऐसी क्या बोरिंग गेम खेल रहे हो, चलो तम्बोला खेलते हैं
तो मैंने कहा तम्बोला की टिकेट्स और टोकन नहीं हैं.
तो भाभी ने कहा- मेरे घर पर है, तुम साथ आओ, हम लेकर आते हैं.
और एक नॉटी सी स्माइल दी.

मैं समझ गया कि आज कुछ तो सेक्सी होने वाला है, पर सब लोग नीचे थे तो हम जल्दी वापिस आना पड़ेगा.

मैं और मिताली फ्लॅट की तरफ गये और लिफ्ट में घुसे तो उसने कहा- आज कुछ ज़्यादा ही हैण्डसम दिख रहे हो!
मैंने कहा- तुम भी कुछ कम सेक्सी नहीं हो!

हम उसके घर में गये, वहाँ उसने मुझे टेबल दिया और बोली- ऊपर चढ़ जाओ, वो सामान का बॉक्स अलमारी के ऊपर है.
मैं टेबल के ऊपर चढ़ा और उसने टेबल आगे से पकड़ा हुआ था. उसका मुँह बिल्कुल मेरे लंड के पास था और यह देख मेरा लंड तन गया.

उसने अपनी चुन्नी भी उतार दी थी तो मुझे उसकी क्लीवेज भी साफ नज़र आ रही थी. मेरा तना हुआ लंड देख कर उसने पैंट के ऊपर से ही हाथ फिराया और बोली- मेरे राजा को तम्बोला में क्या गिफ्ट चाहिए?
अब मेरा भी सब्र का बाँध टूट गया, मैंने टेबल से नीचे उतर कर उसको पकड़ा और उसके लिप्स के ऊपर मेरे लिप्स रख दिए. हम दोनों किस कर रहे थे, और फिर किस स्मूच में तब्दील हो गई.
हमने 10 मिनट तक स्मूच किया, और इस दौरान मैं उसके बूब्स को भी दबा रहा था. हम दोनों एकदम गर्म हो गये थे.

इतने में भाभी बोली- नीचे सब इंतज़ार कर रहे हैं, जल्दी चलो, वरना सब शक करेंगे…
मैंने कहा- जानेमन, ऐसे कैसे नीचे जा सकते हैं, तुम्हारे राजा को तम्बोला में कुछ तो मिलना चाहिए ना?

तो उसने कहा- क्या चाहिए, जल्दी बोलो?
मैंने कहा- एक मस्त ब्लो जोब…
मैंने सोचा कि वो नहीं मानेगी पर जैसे ही मैंने कहा ब्लोजोब… मेरी सेक्सी कहानी बन गई, वो तुरंत नीचे बैठ गई, मेरी पेंट की ज़िप खोली और लंड को बाहर निकाल लिया. उसने सबसे पहले टोपे की ऊपर अपनी जीभ फिराई और मैं सातवें आसमान पर पहुंच गया.

फिर उसने एक ही झटके में मेरा पूरा लंड अपने मुंह के अंदर ले लिया, मैं तो जैसे जन्नत की सैर कर रहा था… मुझे बहुत मजा आ रहा था. वो मेरा लंड किसी पोर्नस्टार की तरह चूस रही थी. यह हिंदी चुदाई की सेक्सी कहानी आप HotSexStory.xyz पर पढ़ रहे हैं!

उसके इस हमले को मैं सिर्फ़ 5 मिनट ही झेल पाया और मेरा निकलने वाला था, मैंने उसको बताया, फिर भी भाभी ने चूसना चालू रखा और मैं उसके मुँह में ही झड़ गया… वो मेरा सारा माल पी गई…
हमने जल्दी से अपनी हालत ठीक की और तम्बोला किट लेकर नीचे पहुँच गये.
अब मुझे तम्बोला में कोई इंटेरेस्ट नहीं था क्योंकि मुझे मेरी गिफ्ट तो पहले ही मिल चुकी थी!

मेरी सेक्सी कहानी पसंद आई या नहीं, तो अपने सुझाव मुझे मेल कर सकते हैं.

Loading...