आंटी ने मम्मी को मालिश वाले से चुदवाया-3

Aunty ne ma ko chudwaya-3

Hot Indian Aunty, मम्मी अब भी लेटी हुई थी। फिर दयाल ने पास में ही पड़ी मम्मी की साड़ी को उठाया और मम्मी उसे देख रही थी। दयाल ने मम्मी को देखते हुए अपना लंड साड़ी से साफ किया और फिर अपना पसीना भी साफ किया और फिर मम्मी के ऊपर फेंक दिया और उठकर दूसरे रूम में जहाँ पर आंटी थी उनके पास चला गया। बिस्तर की हालत खराब थी और बिस्तर पर सलवटे पड़ी हुई थी और मम्मी के बाल बिखरे हुए थे और बदन पर दयाल के दातों के निशान थे और मम्मी की चूत से निकला पानी और मम्मी के पानी से बेड शीट पर निशान हो गए थे मम्मी इस सब को देखकर रोने लगी। तभी उधर दूसरे कमरे में दयाल आंटी से बोला कि क्या औरत थी? पतिव्रता बनती थी लेकिन जब लंड घुसा तो सब भूल गयी और आहें भर रही थी.. लेकिन मज़ा आ गया.. मुझे आज बड़ा सुख मिला है। तभी आंटी ने कहा कि अच्छा तू अब कपड़े पहन में उसके पास से आती हूँ और आंटी बेडरूम में आ गई। मम्मी ने चादर अपने ऊपर डाल ली थी और अपना सर घुटनो पर रखकर बैठी थी। आंटी मम्मी के पास आई और कहा कि क्या हुआ? फिर मम्मी उसे देखकर रोने लगी और बोली कि तूने क्यों एसे आदमी से मिलवाया अब में किसी को मुहं दिखाने लायक नहीं रही और रोने लगी।

तभी आंटी ने मम्मी को गले लगा लिया और कहा कि तू रो मत रो मत किसी को कुछ पता नहीं चलेगा तू चुप हो जा और में किसी को कुछ नहीं बताउंगी और ना ही दयाल किसी को कुछ बताएगा। तभी थोड़ी देर में मम्मी का रोना कम हुआ आंटी ने कहा कि देख तेरे बेटे के आने का टाईम हो गया है तू जल्दी से कपड़े पहल ले जब तक में ये सब बिस्तर को सही करती हूँ वरना तेरा बेटा क्या सोचेगा? फिर मम्मी ने यह सुनकर उठी और कपड़े पहनना शुरू किया आंटी ने बिस्तर सही किया। फिर सब कुछ काम होने के बाद आंटी ने मम्मी से पूछा कि उन्हें कैसा लगा? और दयाल ने तुझे संतुष्ट किया या नहीं? लेकिन मम्मी कुछ नहीं बोली। आंटी ने फिर पूछा और कहा कि तू मुझे तो बता ही सकती है तब मम्मी ने कहा कि हाँ दयाल ने मुझे बहुत अच्छे से संतुष्ट किया है और दयाल वहीं दरवाजे पर खड़ा था। वो मम्मी के पास आया और उनसे कहा कि क्या सच भाभी?

हिंदी सेक्स स्टोरी :  गर्लफ्रेंड की रंडी माँ को खूब चोदा-3

तभी मम्मी ने दयाल को देखकर अपना मुहं अपने हाथों से छुपा लिया और दयाल मम्मी की इस हरकत को देखकर पागल सा हो गया उसने मम्मी को पकड़ा और गोद में उठाकर हवा में घुमाया और फिर नीचे उतार कर मम्मी को गले लगाया मम्मी भी उसके गले लग गयी। तभी घर के सामने बाईक रुकने की आवाज़ आई आंटी ने खिड़की में से देखा तो पापा आ गये थे मम्मी और आंटी दोनों ड्रॉयिंग रूम में आकर बैठ गये और दयाल भी आकर जमीन पर बैठ गया। फिर पापा अंदर आए तो उन्होंने दयाल को देखा और पूछा कि अब तक वो यहाँ पर कैसे? तभी आंटी बीच में बोल पड़ी की आज मैंने भी यहाँ पर दयाल से मालिश करवा ली है इसलिए इसे देर हो गई। फिर पापा ने कहा कि ठीक है और पापा ने कहा कि में अभी 5 मिनट में आया और पापा अपना हेलमट रखकर बाथरूम में चले गये। तभी दयाल ने यह देखा और मम्मी के पास गया और उनके होंठ चूसने लगा लेकिन मम्मी ने कहा कि मेरे पति आ जायेंगे.. लेकिन दयाल नहीं माना और बोला कि बस एक छोटा सा किस फिर में चला जाऊंगा और फिर मम्मी ने उसे होंठ चूमने दिए।

तभी दयाल चला गया और अगले दिन दयाल अपने टाईम पर आया और उस टाईम घर पर मम्मी के अलावा कोई और नहीं था। पापा ऑफीस चले गये थे और में अपने एक दोस्त के साथ मार्केट चला गया था। घर पर मम्मी को अकेला देखा दयाल खुश हो गया। तभी मम्मी उसकी खुशी देखकर समझ चुकी थी कि दयाल क्या चाहता है और मम्मी भी दयाल के साथ सेक्स करना चाहती थी.. क्योंकि दयाल ने उन्हें पहले ही बहुत अच्छे से संतुष्ट किया था और मम्मी के मन में सेक्स की भूख जगा दी थी.. लेकिन मम्मी ने दयाल के इशारे को ना समझने का नाटक किया। जब दयाल मम्मी के पास आया तो मम्मी ने दयाल को एक धीरे धक्का देकर हसंते हुए बेडरूम में भाग गयी। जब दयाल बेडरूम में पहुंचा तो उसने देखा कि मम्मी बिस्तर पर लेटी हुई है और दयाल को स्माईल दे रही है।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  प्यासी गर्लफ्रेंड की चुदी हुई चूत

दयाल जल्दी से गया और मम्मी के ऊपर कूद गया और दोनों एक दूसरे को किस कर रहे थे। कभी मम्मी दयाल के ऊपर और कभी दयाल मम्मी के ऊपर, दोनों के कपड़े इस बीच उतार गये थे। दयाल मम्मी के पूरे बदन को चूम रहा था और फिर मम्मी ने भी दयाल के पूरे बदन को चूमा और चाटा। दयाल और मम्मी बहुत उत्तेजित हो गये थे। अब दयाल ने मम्मी को लेटाया और मम्मी की चूत में लंड घुसाने लग गया। मम्मी भी उसका पूरा पूरा साथ देने लगी थी और पूरा रूम फच फच की आवाज़ से गूँज रहा था। तभी 10 मिनट की चुदाई के बाद दयाल का वीर्य मम्मी की चूत में गिर गया। दयाल और मम्मी दोनों एक साथ ही झड़े और दयाल मम्मी के ऊपर ही गिर गया और फिर थोड़ी देर बाद दयाल मम्मी को किस करने लगा और किस करते करते सो गया। जब दयाल सो कर उठा तो मम्मी उसकी छाती पर हाथ फैर रही थी। फिर दयाल उठकर बैठ गया और मम्मी ने उसे दूध का ग्लास दिया। दयाल ने ग्लास लिया और दूध पीने लगा और दूध पीकर उसने मम्मी को पीने को कहा और दयाल के कहने पर मम्मी ने दयाल का झूठा दूध पी लिया।

दूध पीने के बाद दयाल ने मम्मी को होंठ पर चूमना शुरू किया और दोनों के बीच एक बार फिर सेक्स हुआ। फिर एक महीने के बाद मालिश वाले की ज़रूरत नहीं रही डॉक्टर ने मम्मी को कहा कि अब वो बिल्कुल सही हो गयी है। फिर इसलिए पापा ने दयाल को आने को मना कर दिया। फिर जिस दिन दयाल को आने को मना किया उस दिन से मम्मी बहुत उदास हो गयी। फिर अगले दिन मम्मी आंटी के घर गयी और उन्हें सारी बातें बताई तो आंटी ने कहा कि बस इतनी सी बात है और तुम उदास हो गयी लो अभी तुम्हारी उदासी दूर करते है और आंटी ने दयाल को फोन किया और 15 मिनट के बाद ही दयाल वहाँ पर आ गया। तभी मम्मी दयाल को देखकर बहुत खुश हुई और मम्मी भाग कर दयाल के गले लग गयी और रोने लग गई। दयाल ने मम्मी को चुप करवाया और कहा कि हम इस घर में मिल लिया करेंगे और मम्मी ये बात सुनकर खुश हो गयी और वहीं पर दयाल को चूमने लग गयी। फिर दयाल शहर में तीन साल और रहा और तब तक वो मेरी मम्मी और आंटी से शारीरिक संबंध बनाता रहा ।

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!