बाबा ने कुंवारी लड़की के साथ सेक्स वाली पूजा की-1

Baba Ne Kunwari Ladki Ke Sath Sex Wali Puja Ki-1

दोस्तों यह कहानी मेरे गाँव के एक अंकल आंटी और आंटी की बहन से जुड़ी हुई है, मेरी उस आंटी की उम्र करीब 26 साल है उसके बड़े बड़े बूब्स, मोटी सी गांड उनका पूरा भरा हुआ गोरा बदन देखने पर वो एकदम हॉट सेक्सी माल लगती है। उसकी बहन जो आंटी के पास ही रहकर घर के काम के अलावा कुछ इतना खास काम नहीं करती जिसकी उम्र 18 साल गोरा रंग बड़े आकार के बूब्स जैसे कि उसने इसने सालों से उनके ऊपर ही ध्यान देकर उनको इतना बड़ा किया हो और वो दिखने में इतनी सुंदर थी जैसे कि कामवासना तो उसके कामुक जिस्म में कूट कूटकर भरी हो। Baba Ne Kunwari Ladki Ke Sath Sex Wali Puja Ki.

कोई भी लड़का एक बार अगर उसको देख ले तो वहीं पर उसके सामने ही मुठ मारने के लिए मजबूर हो जाए। हर कोई उसके गोरे सुंदर बदन का दीवाना होकर उसकी तरफ आकर्षित हो जाए। दोस्तों मेरी उस आंटी की शादी को बहुत साल निकल जाने के बाद भी कोई भी बच्चा नहीं हुआ था इसलिए वो हमेशा बड़ी परेशान रहा करती थी वरना उनको इसके अलावा कोई भी दुःख समस्या नहीं थी और एक दिन अपनी कुछ सहेलियों से एक बाबा का नाम सुना। उस बाबा के चमत्कार से बहुत लोगो के काम सफल हुए थे और जिस किसी भी औरत के बच्चे नहीं होते थे वो उस औरत को बच्चा देने का वादा करता था और इस काम में वो बड़ा प्रचलित भी था।

एक दिन आंटी और उसकी बहन उस बाबा का नाम और उसके कामो को सुनकर उसके पास पहुंच गई और फिर उसने बाबा को अपनी पूरी कहानी विस्तार से बता दी जिसके बाद वो रोने लगी। तो बाबा ने उन दोनों को बहुत ध्यान से पहले ऊपर से नीचे तक देखा जिसके बाद उसकी आखों में कामवासना की एक चमक सी दौड़ गयी और उसने जब आंटी की बहन को देखा तब उसने नाटक करते हुए तुरंत ही कहा कि यह बहुत ही तुम्हारा बड़ा मुश्किल समय है यह सब तुम्हारी बहन के दोष से हो रहा है क्योंकि तुम्हारी बहन की कुंडली में दोष है, जिसकी प्रभाव से तुम्हारी अब तक कोई भी संतान नहीं है और अब इस काम को सफल करने के लिए मुझे एक पूजा करनी पड़ेगी, जिसकी वजह से तुम्हारी बहन का यह दोष खत्म हो सके और इसके साथ रहने वाले सभी बुरी शक्तियाँ इसके साथ साथ तुम्हारा भी हमेशा के लिए पीछा छोड़ देगी।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  हॉट जूनियर के साथ सेक्सी मीटिंग किया होटल में

उसके बाद तुम हंसी ख़ुशी अपना जीवन जीना कभी कोई परेशानी तुम्हे नहीं आने वाली। अब आंटी ने बाबा से पूछा कि मुझे कब से इस पूजा के लिए आना पड़ेगा? तभी वो बाबा कि इस पूजा के लिए तुम्हे नहीं आना इसके लिए तुम्हारी बहन को ही अकेले कल से अकेले यहाँ पर आना पड़ेगा। फिर आंटी ने भी तुरंत उसकी हाँ में हाँ मिलाकर कहा कि हाँ ठीक है बाबा में इसको कल से आपके पास भेज देती हूँ और वो वहीं पर प्रिया से कहने लगी कल से कोई भी काम नहीं करोगी बस सबसे पहले तुम कल से बाबा के साथ पूजा करोगी और इसकी वजह से तुम्हारे साथ साथ मेरा भी भला होगा।                                                        “Kunwari Ladki Ke Sath Sex Wali Puja”

अब बाबा के चेहरे पर आंटी के मुहं से यह सभी बातें सुनकर मन ही मन खुश होकर एक बड़ी ही गंदी सी मुस्कान आ गई, बाबा ने सोचा कि चलो कई बार शादीशुदा औरतो को चोद ही चुका हूँ, अब पहली बार एक कुंवारी कमसिन कली की भी चुदाई के मस्त मज़े लिए जाए और इसकी कुंवारी चूत को अपने लंड से चोदकर पूरी तरह से संतुष्ट करके इसको कुंवारी कली से एक फूल बनाने का अब वो ठीक समय आ गया है। फिर कुछ देर बाद आंटी अपनी उस कुंवारी बहन को अपने साथ लेकर बड़ी खुश होती हुई अपने घर चली आई।

यह कहानी आप HotSexStory.xyz में पढ़ रहें हैं।
हिंदी सेक्स स्टोरी :  गर्लफ्रेंड की सेक्सी बहन को चुदाई करना सिखाया

उनकी ख़ुशी का कोई ठिकाना नहीं था और फिर दूसरे दिन जल्दी सुबह ही प्रिया बिल्कुल अकेली बाबा के पास पूजा करने के लिए पहुंच गई और उसने सबसे पहले जाते ही बाबा को प्रणाम करते हुए नीचे झुककर उनके पैरों को छुआ जिसकी वजह से उसके दोनों बूब्स बड़े गले के सूट से उभरकर बाहर आ गए और उस मनमोहक द्रश्य को देखकर बाबा एकदम तिलमिला उठा और उसकी आखों में एक बड़ी अजीब सी चमक आ गई। फिर कुछ देर उसके जिस्म को ऊपर से लेकर नीचे तक घूरकर देखने के बाद बाबा उससे बोले बैठो बेटी और वो तुरंत नीचे बैठ गई उसके बाद बाबा मन में मन्त्र पढ़ने लगा और थोड़ी देर के बाद वो उससे बोले लो बेटी इसको तुम एक ही साँस में पी लो यह अमृत रस है।                                                                                      “Kunwari Ladki Ke Sath Sex Wali Puja”

फिर प्रिया ने उसका कहना मानकर वो पी लिया और कुछ देर बाद उसके ऊपर धीरे धीरे नशा चढ़ने लगा कुछ देर बाद बाबा ने उसको अपनी गोद में बैठने के लिए कहा, लेकिन वो इस काम को करने के लिए थोड़ा सा शरमा रही थी। फिर बाबा ने उससे कहा कि तुम अगर अपनी दीदी की पुत्र प्राप्ति चाहती हो तो बैठ जाओ और फिर वो डरते हुए उसकी गोद में आकर बैठ गई और कुछ देर बाद बाबा का लंड अब खड़ा होने लगा था और वो प्रिया की गांड में चुभने लगा, प्रिया उस समय थोड़ा नशे में थी इसलिए अब उसको भी मज़ा आने लगा था।

हिंदी सेक्स स्टोरी :  कुँवारी चूत की सीलतोड़ चुदाई-4

बाबा अपनी मंद आवाज से कुछ फुसफुसाते हुए उसके बालो पर हाथ फेरने लगा जिसकी वजह से कुछ देर बाद उसके मुहं से सिसकियाँ निकलने लगी थी और बाबा एक घंटे तक उसको गोद में बैठाकर उसके बदन से खेलता रहा और जब वो होश में आने लगी तो उसको लगा कि उसकी पेंटी अब गीली हो चुकी है। फिर उसने बाबा से कहा कि बाबा मेरी पेंटी गीली हो गई है। तो बाबा ने उससे कहा कि यह अमृत रस और पूजा का प्रभाव दिखने लगा है जाओ बेटी तुम अब अपने घर चली जाओ और कल फिर से आ जाना, यह बात सुनकर पूजा ने बाबा के पैर छुए। तो बाबा ने उसकी पीठ को सहलाते हुए उससे हंसकर बोला कि जाओ तुम सदा ही जवान रहो और वो यह बात सुनकर शरमाते हुए चली गई और फिर दूसरे दिन सुबह नहा धोकर उसने एक फ्रोक पहन ली और उसके बाद वो पूजा करने के लिए बाबा के पास चली गई।

HotSexStory.xyz में कहानी पढ़ने के लिये आपका धन्यवाद, हमारी कोशिश है की हम आपको बेहतर कंटेंट देते रहे!